The Lallantop
Advertisement

NEET पेपर लीक पर बड़ा अपडेट, गिरफ्तार अनुराग यादव का कबूलनामा सामने आया

NEET Row: ग्रेस मार्क्स रद्द कराने वाले अभ्यर्थियों को 23 जून को दोबारा परीक्षा देनी है. इसके लिए एडमिट कार्ड भी जारी हो गया है.

Advertisement
NEET Question Paper Leak
EOU ने सबूतों की लिस्ट बना ली है. (तस्वीर: PTI/इंडिया टुडे)
pic
आदित्य वैभव
font-size
Small
Medium
Large
20 जून 2024
Updated: 20 जून 2024 12:11 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

NEET Paper Leak Update: NEET-UG परीक्षा को लेकर चल रहा विवाद अभी थमा नहीं है. पहले तो इस मामले में पेपर लीक से इनकार किया गया था. लेकिन अब इस मामले में एक अभ्यर्थी का कबूलनामा सामने आया है. केंद्र सरकार ने बिहार पुलिस की आर्थिक अपराध इकाई (EOU) से इस मामले पर विस्तृत रिपोर्ट मांगी है. शिक्षा मंत्रालय ने पटना में हुई कथित गड़बड़ी पर जानकारी मांगी है. इस रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी.

इस मामले में पुलिस ने अनुराग यादव नाम के एक अभ्यर्थी को गिरफ्तार किया है. अनुराग यादव ने इस बात को स्वीकार किया है कि उसे परीक्षा के पहले एक प्रश्न पत्र दिया गया था. जो असली क्वेश्चन पेपर से बिल्कुल मेल खाता था. उसे सवालों के जवाब भी उपलब्ध कराए गए थे. इंडिया टुडे से जुड़े आदित्य वैभव की रिपोर्ट के अनुसार, अनुराग यादव का पुलिस को दिया गया इकबालिया बयान सामने आया है. 

यादव बिहार के दानापुर नगर परिषद में तैनात एक इंजीनियर का भतीजा है. 22 साल के अनुराग यादव ने कहा कि उसके रिश्तेदार सिकंदर प्रसाद यादवेंदु ने उसे बताया था कि परीक्षा के लिए सभी व्यवस्थाएं कर ली गई हैं. इस कबूलनाम में यादव का हस्ताक्षर भी है.

NEET Paper Leak
अनुराग यादव का कबूलनामा. (तस्वीर साभार: इंडिया टुडे/आदित्य वैभव)

इससे पहले अनुराग के रिश्तेदार सिकंदर प्रसाद यादवेंदु का कबूलनामा भी सामने आया था.

EOU ने सबूतों की लिस्ट बनाई

EOU ने पेपर लीक से जुड़े सबूतों की पूरी लिस्ट तैयार कर ली. इस मामले में हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में कई याचिकाएं दायर हुई हैं. EOU इनकी सुनवाई के दौरान भी सबूतों के बारे में जानकारी दे सकता है. EOU के अधिकारियों ने हर स्तर पर तथ्य रखने के लिए अपनी तैयारी पूरी कर ली है. पेपर लीक से जुड़े सबूतों में जला हुआ प्रश्नपत्र, OMR शीट, बुकलेट नंबर, पोस्टडेटेड बैंक चेक, पेपर लीक माफिया से रिकवर फॉर्मेट किया हुआ मोबाइल फोन और अभ्यर्थियों का डॉक्यूमेंट शामिल है.

इसके अलावा EOU को उस लोकेशन की भी जानकारी मिली है जहां अभ्यर्थियों को प्रश्न पत्र रटवाये गए. पेपर लीक में शामिल कुछ अभ्यर्थियों के कबूलनामे और आरोपियों की तरफ से पूछताछ में दी गई जानकारी को भी शिक्षा मंत्रालय को भेजा जा सकता है. पेपर लीक में शामिल माफिया के पुराने ट्रैक रिकार्ड की भी जांच की जा रही है. EOU ने 11 अभ्यर्थियों को पूछताछ के लिए बुलाया था. इनमें से दो अभ्यर्थी जांच एजेंसी के दफ्तर पहुंचे थे और उनसे तकरीबन 3 घंटे तक पूछताछ की गई थी.

क्या है पूरा मामला?

NEET के 67 अभ्यर्थियों को 720 में से 720 अंक मिले थे. इस परीक्षा को कंडक्ट कराने वाली संस्था NTA से इस बारे में सवाल पूछा गया. NTA ने बताया कि ऐसा ग्रेस मार्क्स की वजह से हुआ है. कुछ एग्जाम सेंटर्स पर लॉस ऑफ टाइम की वजह से कुल 1563 छात्रों को ग्रेस मार्क्स दिए गए हैं. टॉप 67 में से 44 अभ्यर्थियों को भी ग्रेस मार्क्स दिए गए हैं. इसके बाद NTA ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि वो ग्रेस मार्क्स रद्द करके इन छात्रों का री-एग्जाम 23 जून को आयोजित करवाएंगे. जो अभ्यर्थी अपने पुराने स्कोर के साथ ही आगे बढ़ना चाहते हैं वो ऐसा कर सकते हैं. लेकिन उनके स्कोर कार्ड से ग्रेस मार्क्स हटा दिए जाएंगे.

23 जून को होने वाली परीक्षा का एडमिट कार्ड जारी हो गया है. स्टूडेंट्स इसे NTA की आधिकारिक वेबसाइट https: //nta.ac.in/ से डाउनलोड कर सकते हैं.

Supreme Court 8 जुलाई को करेगी सुनवाई

इस बीच NTA ने NEET शिकायतों से संबंधित मामलों को हाई कोर्ट से ट्रांसफर करने की याचिका दायर की है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि इस बारे में नोटिस जारी की जाए और सिमिलर केसेज के साथ टैग किया जाए. कोर्ट इस पर 8 जुलाई को सुनवाई करेगा. कोर्ट में कहा गया कि मेघालय के एक परीक्षा केंद्र में 45 मिनट की देरी हुई थी, उन्हें भी ग्रेस मार्क्स मिलने चाहिए. साथ ही एक स्वतंत्र समिति बनाने की भी मांग की गई है. कोर्ट ने कहा है कि केंद्र सरकार और NTA को जवाब देने दें. इसके बाद 8 जुलाई को जवाब दाखिल किया जाएगा.

वीडियो: NEET NTA पर आरोप लगाने वाली आयुषी पटेल का कौन सा झूठ कोर्ट ने पकड़ा और क्या आदेश दिया?

thumbnail

Advertisement

Advertisement