The Lallantop
Advertisement

खर्चा पानीः भारत का विदेशी कर्जा बढ़ा, जानिए आप पर क्या असर पड़ेगा?

भारत का विदेशी कर्जा मार्च 2024 में बढ़कर 663.8 अरब डॉलर पर पहुंच गया है. पिछले साल मार्च से ये करीब 3 लाख 32 हजार करोड़ रुपये ज्यादा है. इतना ही नहीं देश का विदेशी कर्ज अब देश के विदेशी मुद्रा भंडार से भी ज्यादा निकल गया है. RBI के आंकड़े बताते हैं कि विदेशी कर्जा कुल विदेशी मुद्रा भंडार से करीब 91 हजार करोड़ रुपये ज्यादा है. विदेशी कर्जा बढ़ने से खासकर विकासशील देशों की इकोनॉमी पर प्रभावित होती है. देश की सॉवरेन रेटिंग पर असर पड़ने की आशंका रहती है.

Advertisement
26 जून 2024
Updated: 26 जून 2024 19:39 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

आज खर्चा पानी के एपिसोड में बात होगी-

-भारत पर कुल विदेशी कर्जा कितना हो गया है?
-पिछले एक साल में भारत पर कर्ज कितना बढ़ा है?
-विदेशों से कर्ज लेनी की नौबत क्यों आती है? 
-विदेशी लोन बढ़ने से देश की इकॉनमी पर कोई असर पड़ेगा? 
-विदेशी लोन का बढ़ना आम आदमी पर कैसे असर डालेगा?
 

thumbnail

Advertisement

Advertisement