Submit your post

Subscribe

Follow Us

फोन पर फोटो खींचने से पहले देख लें कहीं आपको ये बीमारी तो नहीं है

18 साल की रिया (बदला हुआ नाम) एम्स में अपनी नाक की सर्जरी करवाने पहुंची. सर्जन ने उससे सायकॉल्जी वॉर्ड में जाने को कहा. चेक-अप के बाद पता चला कि दिक्कत नाक में नहीं उसके मन में थी. उसे वहम था कि उसकी नाक का शेप बदला हुआ लग रहा है. डॉक्टर के मुताबिक ये एक डिसऑर्डर है.

इस तरह की ये अकेली लड़की नहीं है. इस तरह के और भी कई केस पिछले दो महीनों में सामने आए हैं जिनमें मरीजों को सायकोलॉजिकल दिक्कतें थीं. एम्स में 2 और सर गंगा राम हॉस्पिटल में ऐसे 3 केस आए. इन सभी को मोबाइल में सेल्फी लेकर और उसे फेसबुक पर पोस्ट करने की बहुत बुरी तरह लत लग चुकी थी.

एम्स के डॉक्टर नन्द कुमार ने कहा, ”ये मरीज अपनी बॉडी में आए बदलावों के इलाज के लिए आए थे. लेकिन पता चला, वो अपने शरीर को लेकर बहुत ज्यादा पजेसिव हैं. उन्हें Body Dysmorphic Disorder था. ”


ये वायरल का ज़माना है. बुखार नहीं, स्मार्टफोन वाला. लोग फोन में बिजी रहते हैं. मौक़ा देखकर कई सारी नई तरह की बीमारियों ने घुसपैठ कर ली है. एक नई बीमारी आई है. नाम है, ”सेल्फीसाइड”. सुसाइड का पैरोडी नाम लगता है लेकिन इसके लक्षण कतई सामान्य नहीं हैं. सेल्फी लेने की लत बढ़ती जा रही है, जो लोगों को डिप्रेशन की तरफ ले जा रही है.


Symbolic Image
Symbolic Image

इस Disorder के लक्षण

1. इस डिसऑर्डर में कोई भी शख्स अपने शरीर को शीशे या फोटो में देखता रहता है.

2. वो बार-बार अपनी सेल्फी खींचता है और उन्हें देखता रहता है.

यंगस्टर्स इसके ज्यादा शिकार हैं. लड़कियों को इसकी लत ज्यादा है. इनके पैरेंट्स ने भी बताया कि जब उन्हें सेल्फी लेने से और उन्हें सोशल मीडिया पर अपलोड करने से रोका जाता है तो ये लड़के/लड़कियां अजीब तरह से व्यवहार करते हैं. उन्हें फेसबुक, इन्स्टाग्राम का चस्का होता है. इससे उनकी पढ़ाई-लिखाई और रोज के रूटीन पर भी असर पड़ता है.

रिया को लगता है कि वो सारा दिन खूबसूरत दिखे और सोशल मीडिया पर उसकी फोटो बढ़िया आए. वो फोटो अपलोड करने और उस पर आए लाइक्स-कमेन्ट देखने के चक्कर में खाना-पीना भूल जाती है. इससे उसके सेहत पर भी बुरा असर पड़ा है.

ये नए जमाने की बीमारी है. ये तो सिर्फ एक साइड इफ़ेक्ट है, फ़ोन से ज्यादा चिपके रहने की वजह से इंसोम्निया, एंग्जायटी, बात-बात पर गुस्सा करना जैसी चीजें भी होती हैं.

अमेरिका की एक एसोसिएशन है. अमेरिकन सायकोलॉजिकल एसोसिएशन. उसका कहना है कि लगभग 60 फीसदी औरतें ‘सेल्फीसाइड’ से ग्रसित हैं लेकिन उन्हें इसकी जानकारी नहीं है. उन्हें डिप्रेशन और स्ट्रेस भी इसी बीमारी की वजह से होते हैं पर उन्हें पता ही नहीं चलता. इसकी वजह से लोग क्राइम की तरफ भी बढ़ सकते हैं.

मेल टुडे को डॉक्टर मेहता ने बताया,”मैंने एक मरीज को देखा, जो बिना कपड़ों के सेल्फी लेती थी. उसकी दोस्तों ने उससे कह दिया था कि तुम्हारा फिगर बहुत अच्छा है. उसने अपने बॉयफ्रेंड के साथ ऐसी ही एक सेल्फी शेयर कर दी, जिसने उसका गलत इस्तेमाल कर लिया. वो डिप्रेशन में चली गई और उसके पैरेंट्स उसे लेकर इलाज के लिए लाए. हालांकि बाद में हमने केस को संभाल लिया.” 

डॉक्टर मेहता बताते हैं कि बहुत सी ऐसी लड़कियों से मैं मिला जिन्हें शीशे की जगह अपने स्मार्टफोन पर ही फोटो खींचकर अपना चेहरा देखना पसंद था. डॉक्टर देसाई ने  एक 12 साल के लड़के के बारे में बताया कि स्मार्टफोन ने उसकी पढ़ाई चौपट कर दी थी. पैरेंट्स परेशान थे.

इससे पहले भी कुछ ऐसे मामले आए जिसमें लोगों ने सेल्फी के चक्कर में जान तक दे दी. बढ़िया बैकग्राउंड, ऊंचाई, थ्रिल के चक्कर में उनके साथ हादसे हो गए. कुछ लोगों ने सेंसिटिव जगहों से भी अपनी सेल्फी सोशल मीडिया पर चिपका दी थीं.

एक डेटा के हिसाब से देश के शहरों में चालीस से पचास लाख स्मार्टफ़ोन हैं. 2012-14 के बीच इनमें 40 से 50 फीसदी की बढ़ोत्तरी हुई है. तब से नई-नई बीमारियां भी वजूद में आ गई हैं. अगली बार ‘पाउट’ बनाकर बार-बार सेल्फी खींचने से पहले रूकिए और सोचिए, कहीं आपको ‘सेल्फीसाइड’ तो नहीं.


  ये स्टोरी निशांत ने की है.


ये भी पढ़ें-

इस सेल्फी ने केरल के सीएम को भी झंझट में डाल दिया है

वीडियो: आतंकवादी ने सेल्फी ली और उससे जुड़ा बम फट गया

सेल्फी विद कोबरा इंस्टाग्राम पर, फोटो खींचक जेल में

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या आतंक ने एक महीन और खतरनाक चादर ओढ़ ली है?

लंदन का हमला आतंकवाद के नए पैटर्न की ओर इशारा करता है.

'लोग जब लड़की पैदा होने पर मिठाई बांटने लगेंगे, मैं फीस लेना बंद कर दूंगा'

पुणे के डॉक्टर गणेश राख का ये काम लोगों के लिए मिसाल है.

'बीफ की झूठी खबर से एक और दादरी होते-होते रह गया'

जयपुर के एक होटल मालिक ने प्रेस कांफ्रेंस में लगाया आरोप. क्या है सच?

सभी क़त्लखाने बंद कर देने से यूपी को हर साल होगा 11 हज़ार 350 करोड़ का नुकसान

मौजूदा टाइम में भारत सरकार से एप्रूव्ड 72 कत्लखाने हैं, इनमें से 38 तो यूपी में ही हैं.

ये नेता जनरल का टिकट लेकर चढ़े थे और अब एसी का सफर करेंगे

इन नेताओं की किस्मत की दाद देनी चाहिए.

योगी आदित्यनाथ के मंत्रिमंडल का जातीय समीकरण

मंत्रियों की फेहरिस्त देखकर लगता है. मंत्रिमंडल तैयार नहीं किया गया बल्कि 2019 की तैयारी की गई है.

इस राज्य में साढ़े-चार महीने लंबी नाकेबंदी खत्म हो गई है

ताज़ा-ताज़ा सरकार का पहला बड़ा फैसला आया है.

सीएम बनने के बाद पहली बार क्या बोले योगी आदित्यनाथ!

उत्तर प्रदेश के नए मुख्यमंत्री के अंदाज पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस से ही बदले-बदले नज़र आ रहे हैं.

सुरेश राणा मंत्री भी बन गए, क्या दंगों के आरोपी अब जेल जाएंगे?

द लल्लनटॉप से सुरेश राणा ने कहा था, दंगे के आरोपी कितनी भी प्रभावी हो, बीजेपी की सरकार आई तो जेल जाएंगे.

पाकी टॉकी

असली शेर पर सवार होकर बारात में पहुंचा दूल्हा, लेकिन एक लोचा हो गया

पूरा सोने के गहनों से लद फंद के छम्मा छम्मा करते हुए गए थे. वीडियो देखो.

खड़ी सवारियां ले जा रही है पाकिस्तान एयरलाइंस

लगता है धंधा मंदा चल रहा है. जो ओवरलोड मामला चल रहा है.

पाक ने हाफ़िज़ सईद को आतंकी माना, बस एक काम बाकी है

खुद की बिल्ली खुद को ही नाखून मारने लगी तो कलस कर पाकिस्तान ने कड़े कदम उठाए.

पाकिस्तान जो अब कर रहा है वो पहले ही कर देना चाहिए था

हमें भी दुआ करनी चाहिए कि जो कर रहा है उसका सफाया हो जाए.

एक दिन 'नैचुरल डेथ' न बन जाए हर पाकिस्तानी का अधूरा सपना!

जिस पाकिस्तान में ओसामा बिन लादेन सेफ नहीं, वहां जनता क्या होगी.

पाकिस्तान में बन रहा नया उसूल, रसूल के नाम पर किसी को जान से ना मारो

पाकिस्तानी सरकार ईशनिंदा कानून पर दोबारा सोच रही है पर हजारों लोग एक हत्यारे की मजार पर शीश नवाने जा रहे हैं.

इससे अच्छी लव स्टोरी इस वैलेंटाइन्स वीक नहीं मिलेगी

सनोबर और उनके पति संघर्ष और जिंदगी की मिसाल हैं.

भौंचक

एक पत्रकार ने चीटिंग की, फोटो का स्क्रीन शॉट चला और पकड़ी गई

महंगी घड़ी पहनो तो सोच-समझ कर पहनो.

दुनिया पर दबंगई दिखाने चली चीन सरकार को टॉयलेट में आराम नहीं है

हिंदुस्तानी तरीका अपनाते तो बच जाते.

तो अमेरिका में मास्टरबेट करने वाले मर्दों को देना पड़ेगा 100 डॉलर जुर्माना!

ये हैं डेमोक्रेट सांसद जेसिका फर्रार, इन्हीं ने बिल पेश किया है. फायर होने से पहले इनके लॉजिक जरूर पढ़ो.

सद्दाम हुसैन के नाम ने इस लड़के का करियर सत्यानाश कर दिया

इतना नुकसान तो अमेरिका ने इराक का नहीं किया जितना एक नाम की वजह से इस लड़के का हुआ.

कोर्ट ने किसान के नाम कर दी 'एक्सप्रेस ट्रेन'

किसान को बोल दिया गया, 'घर ले जाओ ट्रेन.' केस लुधियाना का है.

'कश्मीर', 'पाकिस्तान' और 'जापान' ने हमारे पुलिसवाले के कपड़े फाड़ डाले

'शराबी' में अमिताभ बच्चन का 'मूंछें हो तो नत्थूलाल जैसी' वाला डायलॉग बदलने का वक्त आ गया है.

अइयो! इस टोल से गुजरने की कीमत, 4 लाख रुपये!

डिजिटल पेमेंट के साइड इफेक्ट्स!

ये घर ब्राज़ील के राष्ट्रपति को 'अजीब' लगता है!

ये एक देश के राष्ट्रपति हैं, और बातें निरे अनपढ़ सी करते हैं.

हिजबुल मुजाहिदीन के ट्विटर हैंडल पर बैठा शांतिप्रिय हैकर, सफेद झंडा लहराया

अचानक इस ट्विटर हैंडल की गंगा उल्टी बहने लगी. बम बंदूकों और आजादी की बातें खत्म.

Xvideos ने ले ली बिलबोर्ड पर चढ़े फायरफाइटर की जान

बुरे लोगों के हाथ में थोड़ी सी पावर चली जाए तो वो दूसरों के लिए मुसीबत खड़ी करते हैं. ये सबूत है.