Submit your post

Subscribe

Follow Us

मिलिए वर्ल्ड फेमस पाकिस्तान की 'लेडी गागा' उरवाह खान से

उरवाह खान एक पाकिस्तानी-कैनेडियन पंक सिंगर है. उरवाह का मेन मकसद पूरी दुनिया में फैले कट्टरवाद को अपने म्यूजिक के माध्यम से खत्म करना है. उरवाह के फैन उसके मनमोहक अदा, और अंदाज को खूब पसंद करते हैं. एक पॉप सिंगर और हिप-हॉप डांसर के तौर पर वो यूरोप और अमेरिका में बहुत ही मशहूर है. वेस्टर्न मीडिया अक्सर उरवाह को पाकिस्तान की ‘लेडी गागा’ के नाम से नवाजते है.  14 जनवरी को उसके अपने शहर कराची में कॉन्सर्ट है. पाकिस्तान के उसके तमाम फैन इस कॉन्सर्ट को लेकर बहुत ही ज्यादा उत्साहित हैं. 23 साल की उरवाह खान का लुक आम पाकिस्तानी महिला से बिल्कुल अलग है. वो काफी वेस्टर्न है. उनके पूरे शरीर पर टैटूज बने हैं. और उनका अंडरकट हेयरस्टाइल जो उसे रॉक एंड रोल लुक देता है.

उरवाह खान
उरवाह खान

उरवाह खान का म्यूजिक स्टाइल ईस्ट और वेस्ट दोनों से ही इंस्पायर्ड है और उसका बैंड एक नया कॉकटेल बैंड है. उरवाह का मकसद पाकिस्तान को रि-डिस्कवर करना है. जहां से उरवाह के रूट्स हैं. उरवाह की पैदाइश कराची की ही है. बहुत ही कम उम्र में वो अपने पेरेंट्स के साथ कनाडा आ गई थीं. और वहीं उनका म्यूजिकल सफर शुरू हुआ था. कराची में होने वाले अपने कॉन्सर्ट में वो तीन पाकिस्तानी म्यूजिशियन को डेब्यू भी कराने वाली है. और तीनों ही टीनएजर लड़कियां हैं.

उरवाह खान ने अपने इस पाकिस्तान में होने वाले कॉन्सर्ट को लेकर कहा है, “पंक को नए तरीके से पेश करके इसे अब टोरंटो से पाकिस्तान तक पहुंचना है.” उरवाह के बैंड का नाम ‘द स्क्रैप आर्मी’ है. इसके नाम के पीछे भी एक कहानी है. उरवाह की बैंड का म्यूजिक आया था “स्क्रैप्स ऑफ रॉक”. ये काफी हिट हुआ था. इसके लिरिक्स के ‘स्क्रैप’ वर्ड लोगों के जुबां पर आ चढ़ गए थे. इसी पॉपुलैरिटी की वजह से  उरवाह ने अपने बैंड का नाम  ‘द स्क्रैप आर्मी’ रख लिया. उरवाह के गाने BBC और  the Winter X Games में दिखाए जा चुके हैं. कराची में होने वाले कॉन्सर्ट के बाद लाहौर और इस्लामाबाद में भी उनके कॉन्सर्ट होने वाले हैं.

13754138_10154304027258058_3702515641998030829_n-768x512

उरवाह बचपन में कनाडा बसने के बाद 2015 में पहली बार पाकिस्तान वापस आई थीं. फिर सितम्बर 2016 में दूसरी बार आईं. इस पर उरवाह ने बताया, ” मैं सितम्बर से ही अपने कॉन्सर्ट को लेकर तैयारी में लगी हुई हूं. इसके लिए मुझे पाकिस्तानी म्यूजिशियन सैय्यद सरवान शाह, शाहवल हसन और जीशान अतहर का पूरा सपोर्ट मिला. 14 जनवरी को कराची के बेस रॉक कैफे पर परफॉर्म करना है, जिसको लेकर मैं खुद बहुत एक्साईटेड हूं.”

उरवाह खान अपनी मां के साथ
उरवाह खान अपनी मां के साथ

उरवाह ने बताया कि कैसे पाकिस्तान के लोग चीजों को एक ही नजरिए से देखते हैं. बावजूद इसके पाकिस्तानी म्यूजिक इंडस्ट्री बेइंतहा खूबसूरत है. सभी तरह के पाकिस्तानी म्यूजिक ‘पॉप’ म्यूजिक की तरह साउंड करते हैं. और ये उर्दू जुबां में होते हैं. मैं इंग्लिश में गाती हूं, पर वक्त आने पर उर्दू में भी गाऊंगी. एक बड़ा तबका है जिसे लगता है कि मैं वेस्टर्न हूं. और पाकिस्तान में मेरा क्या काम है. मैं अपने म्यूजिक के थ्रू और उर्दू में गाकर उस तबके को गलत साबित करना चाहती हूं. वेस्टर्न होना गलत नहीं है. और मेरा अपना तरीका है. डाइवर्सिटी अपने आप में सबसे खूबसूरत चीज है. मैं पाकिस्तान के लोगों को इस बात का अहसास कराना चाहती हूं कि वो भी आजादी की अहमियत को समझें. चाहे वो कोई लड़का हो या लड़की, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता. और जैसे भी म्यूजिशियन वो बनना चाहते हैं, वो बन सकते हैं.”

बॉलीवुड के बारे में उरवाह ने बताया कि “मैं बॉलीवुड को लेकर काफी एक्साइटेड हूं. मैं इंडियन म्यूजिक बेहद पसंद करती हूं. और मैं इंडियन क्राउड के सामने परफॉर्म करना चाहूंगी. सबसे खास बात ये है कि मैं खुद ए आर रहमान की बहुत बड़ी फैन हूं. और इंतजार में हूं कि उनकी तरफ से कोई कॉल आए.” साथ ही उरवाह ने लेडी गागा से अपनी तुलना को गलत बताया और कहा कि उसकी खुद की अपनी एक अलग पहचान है उरवाह खान की, जिस पर उसे फख्र है.

महिलाओं से जुड़े मुद्दे पर उरवाह खान की म्यूजिक “Playground (I am free)” देखिए :

 


 ये स्टोरी आदित्य प्रकाश ने की है 

इस लड़की ने ‘मेहर’ में ऐसा क्या मांग लिया, जो हंगामा बरपा है

जिन्ना होते तो इस मौलवी की तकरीर सुनकर अपना सर पीट लेते

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

1965 की भारत-पाक लड़ाई में था ये सैनिक, 52 साल बाद अपना हक मांग रहा

मुहम्मद नसीम परमवीर चक्र विजेता अब्दुल हमीद के ड्राइवर थे.

15 की उम्र में रेप हुआ, आज हजारों की जिंदगियां बदल रहीं 'पद्मश्री' सुनीता

अपनी बात सुनाने आज बड़ी कंपनियों को इंडिया खींच लाई हैं.

'कुछ लोग यूपी में हिंदुत्व की जीत और धर्मनिरपेक्षता की हार नहीं पचा पा रहे'

यूपी में भाजपा की निर्णायक जीत के बाद राजनीति के नए समीकरण उभरे हैं.

'मुझसे शादी नहीं करोगी? तेज़ाब पी लो!'

लड़के ने लड़की को झुलसा दिया और लोग देखते रहे.

ट्विटर से इंसाफ दिलाने वालों में योगी आदित्यनाथ भी हुए शामिल

यूपी में दबंगों की दबंगई का शिकार हुए परिवार को वाया ट्विटर मिल रहा है इंसाफ.

CM आदित्यनाथ वही कर रहे हैं जो दादरी में राजनाथ ने किया था

इनके फैसले एकदम नए नहीं हैं जैसी उनसे अपेक्षा थी.

तेजबहादुर के मरने की बताई जा रही है ये वायरल तस्वीर, क्या है सच?

इसी जवान ने बताया था उसे सेना में घटिया क्वालिटी का खाना मिलता है.

कैफ़ ने योगी आदित्यनाथ के बारे में सलीके की बात कही है, पढ़ो

कैफ़ ने फिर से ट्विटर का सहारा लिया है.

अखिलेश यादव हैं योगी आदित्यनाथ के बेस्ट फ्रेंड, ये रहा प्रूफ

अखिलेश यादव दो साल से योगी आदित्यनाथ को क्यों बचा रहे थे?

मनोज तिवारी ने इस बार कुछ ऐसा किया, जो दिल जीतने वाला काम है

वीडियोज और दिल्ली में एमसीडी चुनाव के चलते चर्चा में रहने वाले मनोज इस बार फिर खबरों में है.

टॉप खबर

क्या आतंक ने एक महीन और खतरनाक चादर ओढ़ ली है?

लंदन का हमला आतंकवाद के नए पैटर्न की ओर इशारा करता है.

'लोग जब लड़की पैदा होने पर मिठाई बांटने लगेंगे, मैं फीस लेना बंद कर दूंगा'

पुणे के डॉक्टर गणेश राख का ये काम लोगों के लिए मिसाल है.

'बीफ की झूठी खबर से एक और दादरी होते-होते रह गया'

जयपुर के एक होटल मालिक ने प्रेस कांफ्रेंस में लगाया आरोप. क्या है सच?

सभी क़त्लखाने बंद कर देने से यूपी को हर साल होगा 11 हज़ार 350 करोड़ का नुकसान

मौजूदा टाइम में भारत सरकार से एप्रूव्ड 72 कत्लखाने हैं, इनमें से 38 तो यूपी में ही हैं.

ये नेता जनरल का टिकट लेकर चढ़े थे और अब एसी का सफर करेंगे

इन नेताओं की किस्मत की दाद देनी चाहिए.

योगी आदित्यनाथ के मंत्रिमंडल का जातीय समीकरण

मंत्रियों की फेहरिस्त देखकर लगता है. मंत्रिमंडल तैयार नहीं किया गया बल्कि 2019 की तैयारी की गई है.

इस राज्य में साढ़े-चार महीने लंबी नाकेबंदी खत्म हो गई है

ताज़ा-ताज़ा सरकार का पहला बड़ा फैसला आया है.

सीएम बनने के बाद पहली बार क्या बोले योगी आदित्यनाथ!

उत्तर प्रदेश के नए मुख्यमंत्री के अंदाज पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस से ही बदले-बदले नज़र आ रहे हैं.

सुरेश राणा मंत्री भी बन गए, क्या दंगों के आरोपी अब जेल जाएंगे?

द लल्लनटॉप से सुरेश राणा ने कहा था, दंगे के आरोपी कितनी भी प्रभावी हो, बीजेपी की सरकार आई तो जेल जाएंगे.

भौंचक

एक पत्रकार ने चीटिंग की, फोटो का स्क्रीन शॉट चला और पकड़ी गई

महंगी घड़ी पहनो तो सोच-समझ कर पहनो.

दुनिया पर दबंगई दिखाने चली चीन सरकार को टॉयलेट में आराम नहीं है

हिंदुस्तानी तरीका अपनाते तो बच जाते.

तो अमेरिका में मास्टरबेट करने वाले मर्दों को देना पड़ेगा 100 डॉलर जुर्माना!

ये हैं डेमोक्रेट सांसद जेसिका फर्रार, इन्हीं ने बिल पेश किया है. फायर होने से पहले इनके लॉजिक जरूर पढ़ो.

सद्दाम हुसैन के नाम ने इस लड़के का करियर सत्यानाश कर दिया

इतना नुकसान तो अमेरिका ने इराक का नहीं किया जितना एक नाम की वजह से इस लड़के का हुआ.

कोर्ट ने किसान के नाम कर दी 'एक्सप्रेस ट्रेन'

किसान को बोल दिया गया, 'घर ले जाओ ट्रेन.' केस लुधियाना का है.

'कश्मीर', 'पाकिस्तान' और 'जापान' ने हमारे पुलिसवाले के कपड़े फाड़ डाले

'शराबी' में अमिताभ बच्चन का 'मूंछें हो तो नत्थूलाल जैसी' वाला डायलॉग बदलने का वक्त आ गया है.

अइयो! इस टोल से गुजरने की कीमत, 4 लाख रुपये!

डिजिटल पेमेंट के साइड इफेक्ट्स!

ये घर ब्राज़ील के राष्ट्रपति को 'अजीब' लगता है!

ये एक देश के राष्ट्रपति हैं, और बातें निरे अनपढ़ सी करते हैं.

हिजबुल मुजाहिदीन के ट्विटर हैंडल पर बैठा शांतिप्रिय हैकर, सफेद झंडा लहराया

अचानक इस ट्विटर हैंडल की गंगा उल्टी बहने लगी. बम बंदूकों और आजादी की बातें खत्म.

Xvideos ने ले ली बिलबोर्ड पर चढ़े फायरफाइटर की जान

बुरे लोगों के हाथ में थोड़ी सी पावर चली जाए तो वो दूसरों के लिए मुसीबत खड़ी करते हैं. ये सबूत है.