Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

'मनमोहन थे मौन, सोनिया थीं पीएम,' मोदी सरकार के हाथ लग गईं फाइलें

राजनीति में किस्सों को मौत नहीं आती. कब गढ़े मुर्दे उखाड़ कर सामने रख दिए जाएं नहीं पता. और ये मुर्दे आपका पीछा नहीं छोड़ते. अब मोदी सरकार कुछ खुलासा करने वाली है. और ये खुलासा वही है जो आपने खुद कई बार सुना होगा. वो ये कि यूपीए के दौरान प्रधानमंत्री मनमोहन नहीं बल्कि सोनिया गांधी सरकार चला रही थीं. मोदी सरकार को कुछ फाइलें हाथ लग गई हैं.  

मनमोहन सिंह सोनिया गांधी के दबाव में काम कर रहे थे. इस बात को साबित करते हुए मोदी सरकार 710 फाइलें सामने लाने के लिए सोच विचार कर रही है. ये फाइलें सोनिया गांधी की अध्यक्षता में बनी राष्ट्रीय सलाहकार परिषद (NAC) की हैं. जानकारी के मुताबिक इन फाइलों से ये क्लियर हो जाएगा कि मनमोहन किस तरह सोनिया गांधी के दबाव में काम कर रहे थे. और सोनिया गांधी का ये दबदबा पूरे 10 साल बना रहा. काम सोनिया गांधी करती रहीं और गलतियों का ठीकरा मनमोहन सिंह पर फूटता रहा.

2004 से 2014 तक चली राष्ट्रीय सलाहकार परिषद् की चेयरमैन खुद सोनिया गांधी थीं. द न्यू इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक यूपीए सरकार के दौरान में ‘NAC’ कोयला, उर्जा, डिसइन्वेस्टमेंट, रियल एस्टेट, गवर्नेंस, सोशल और इंडस्ट्रियल सेक्टर के लिए बनने वाली सरकारी पॉलिसी में दखलअंदाजी करती थी. यानी सोनिया गांधी बिना किसी जवाबदेही के ही सरकार को पूरी तरह कंट्रोल किए हुए थीं.

खबर में दावा किया गया है कि यूपीए सरकार NAC के ही इशारों पर चल रही थी. NAC सेंटर गवर्मेंट के किसी भी अफसर को 2 मोती लाल नेहरू प्लेस में बने ऑफिस में हाजिर होने का ऑर्डर जारी कर देती थीं. मंत्रियों को लैटर लिखकर उनसे रिपोर्ट मांगी जाती थी. जबकि NAC को गठित करते हुए कहा गया था कि यह सिर्फ सरकार को सलाह देने के लिए बनाई गई है. खबर में ये भी दावा किया गया है कि फाइलों से मिली जानकारी के मुताबिक मनमोहन सरकार के पास NAC के ऑर्डर को मानने के अलावा कोई दूसरा रास्ता नहीं था. और परिषद की सिफारिशों को लागू कर दिया जाता था.

एक फाइल के हवाले से छापा गया है कि 29 अक्टूबर 2005 को राष्ट्रीय सलाहकार परिषद की बैठक हुई, जिसमें फैसला लिया गया, ‘समिति की तमाम सिफारिशों को लागू कराने की ज़िम्मेदारी सरकारी एजेंसियों और संस्थाओं की होगी. साथ ही इसकी स्वतंत्रतापूर्वक निगरानी और मूल्यांकन भी किया जाएगा.’ सवाल ये भी है कि क्या कांग्रेस अध्यक्ष और NAC की चेयरमैन सोनिया गांधी प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर यकीन नहीं करती थीं, क्योंकि सिफारिशें लागू करने के ऑर्डर के अलावा परिषद उन पर निगरानी भी रखने की बात कहती थी.

फाइलों में स्पष्ट है कि राष्ट्रीय सलाहाकार परिषद कई एजेडों पर अपनी सिफारिशें सरकार को भेजती थी. जैसे 21 फरवरी 2014 में सरकार को एक चिट्ठी लिखी गई, ‘जिसमें लिखा था, ‘NAC चेयरमैन की ओर से नॉर्थ-ईस्ट में खेलों को बढ़ावा देने से संबंधित सिफारिश सरकार को भेज दी गई है.’ रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि देश में सहकारिता के विकास पर भी सिफारिशें सरकार को भेजी जाती रही हैं. जिसे सोनिया गांधी ने इजाज़त दी थी.

ये खुलासे कांग्रेस के लिए मुसीबत खड़ी कर सकते हैं, क्योंकि पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव सिर पर आ गए हैं. ऐसे में गढ़े मुर्दे बाहर आते हैं तो घबराहट बढ़नी तो तय है.


 

पहली बार सोनिया गांधी ने शेयर किए अपने पर्सनल किस्से

इमरजेंसी के ऐलान के दिन क्या-क्या हुआ था, अंदर की कहानी

अंदर की कहानी: जब गांधी परिवार की सास-बहू में हुई गाली-गलौज

क्या सच में इंदिरा गांधी को ‘दुर्गा’ कहा था अटल बिहारी वाजपेयी ने?

खुद को ‘बदसूरत’ समझती थीं इंदिरा गांधी

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

'इस्लाम कुबूल कर लो, नहीं तो हाथ और टांग काट दी जाएगी'

अब इस राइटर ने ऐसा क्या लिख दिया, जो धमकी मिली है

इस वीडियो में जो बात सबसे ज्यादा परेशान करने वाली है, उसे कम ही लोग देख पाएंगे

मियां-बीवी का मामला है, कहकर कब तक कन्नी काटेंगे आप?

ये जान लेंगे, तो ट्रेन में कभी खाना नहीं खाएंगे

अगली बार सफ़र करने निकलना, तो टिफ़िन ज़रूर रख लेना.

जियो का नया फ्री फोन लेने से पहले उसके बारे में ये बातें जान लीजिए

फोन की दुनिया का रजनीकांत आ रहा है.

मुस्लिम औरतों के लिए हलाल सेक्स गाइड आई है

और ये अच्छी बात है.

वायरल: ये खेलों की दुनिया की सबसे ताकतवर तस्वीर है

जानिए कहां की है ये फोटो.

हाथ से चाकू छीनकर गोडसे को फेंक दिया था, नहीं रहे गांधी को बचाने वाले भिलारे

क्या गोडसे गांधी को पिस्तौल की जगह खंजर से मारना चाहता था?

ये भाजपा नेता 5.60 करोड़ लेकर MCI का लाइसेंस दिला रहा था, खुद पार्टी ने दोषी पाया!

घूस लेने को बिज़नेस बताने के लिए जितना स्वैग चाहिए, वो इनके पास है.

दुश्मन से बम छीनकर सांसद के घर पहुंचा, बोला, क्या करूं इस बम का?

पहले भी इसी सांसद के घर पर बम फेंका जा चुका है.

पाकी टॉकी

क्या पाकिस्तान में एक इस वजह से तख्तापलट होने वाला है!

पनामा पेपर्स लीक के अलावा भ्रष्टाचार के वो पांच मामले जब पाकिस्तान की सत्ता को हिलाकर रख दिया.

गोरमिंट को गालियां देकर वायरल हुईं इन आंटी के साथ बहुत बुरा हो रहा है

'ये गोरमिंट बिक चुकी है. अब कुछ नहीं बचा.' कहने वाली आंटी की ये बुरी खबर है.

क्या जिन्ना की बहन फातिमा का पाकिस्तान में कत्ल हुआ था?

उनके जनाज़े पर पत्थर क्यों बरसे?

'मैं अल्लाह के घर से चोरी कर रहा हूं, तुम कौन होते हो बीच में नाक घुसाने वाले'

चोर का ये ख़त पढ़ लीजिए. सोच में पड़ जाएंगे!

छिड़ी बहस, क्या सच में डॉल्फिन से सेक्स कर रहे हैं पाकिस्तानी?

रमज़ान के पाक महीने में डॉल्फिन को बचाने की बात हो रही है.

कौन है ये पाकिस्तानी पत्रकार, जिसने पूरी टीम के बदले 3 साल के लिए विराट कोहली को मांगा है

दोनों देशों में ट्रोल हुई हैं. ट्रोल करने वालों को इनके ये पांच ट्वीट देख लेने चाहिए.

क्या पाकिस्तान से कुलभूषण जाधव की मौत की खबर आने वाली है?

पाकिस्तान की हरकतें इसी तरफ इशारा कर रही हैं.

पाकिस्तान में रमज़ान को लेकर ऐसा कानून बनाया गया है जो बेहूदा है

'पाकिस्तान में आतंकी घूम सकते हैं, लेकिन रोजेदार के सामने कुछ खाया तो जेल में होगा.'

'द गॉडफादर' ने इस्लामिक पाकिस्तान की राजनीति में बवाल मचा दिया

पाक पीएम नवाज़ शरीफ के लिए ये नई मुसीबत है.

आज जिसको पहला पाकिस्तानी बताया जा रहा है, वो बैल की चमड़ी में सिलकर सीरिया भेजा गया था

पाक के मुताबिक मुहम्मद अली जिन्ना नहीं थे पहले पाकिस्तानी.

भौंचक

इस बच्ची का शरीर बीमारी की वजह से पेड़ जैसा बनता जा रहा है

इस बीमारी के अब तक सिर्फ 4 केस सामने आए हैं.

इस आदमी की टट्टी ने 27 गाड़ियों में आग लगा दी

प्रेम, रॉकेट और टट्टी इंसान को कहीं भी ले जा सकते हैं.

बिहार के इस गांव में एक भी टॉयलेट नहीं है, वजह जानकर सिर पकड़ लोगे

1984 से कितने ही क्लीन इंडिया और स्वच्छ भारत आए गए, यहां कुछ नहीं बदला.

दिमाग निकल कर नाक पर लटक गया, 10 घंटे लगे ऑपरेशन में

5000 में से एक मामले में ऐसा होता है.

क्या है इस नाटक में कि देखने वाले विचलित होकर उलटी कर देते हैं

एक बार तो नाटक के दौरान बहस इतनी बढ़ी कि पुलिस बुलानी पड़ी.

जानकर विश्वास नहीं होता, टीचर ने बच्चों को ऐसा होमवर्क दिया

कोई मां-बाप नहीं चाहेंगे कि उनके बच्चे ऐसे विषय पर निबंध लिखें.

केजरीवाल ने दिल्ली के पेड़ों पर भी लगवा दिए CCTV कैमरे, वजह जानकर आप सिर धुनेंगे

और अगर आपको लग रहा है कि ये वो वाले कैमरे हैं तो आपके चौंकने की बारी है.

चिकन के धोखे में कुत्ते का मांस खा रहे हैं लोग

वीडियो से हुआ खुलासा. सड़क से कुत्तों को पकड़कर काटा जा रहा है. और झूठ बोलकर बेचा जा रहा है.

एयरलाइन ने फ्लाइट में मरे कुत्ते का भाव 900 रुपए किलो लगाया है

ये मुआवज़े के नाम पर भावनाओं से खिलवाड़ है.

मां के साथ सेक्शुअल रिलेशन की चुगली से परेशान होकर काटा अपना लिंग, पता चला बीमारी कुछ और थी

इस बीमारी से वो पिछले 15 साल से जूझ रहा था लेकिन किसी को पता नहीं था.