Submit your post

Subscribe

Follow Us

BSF के अफसर बाज़ार में आधे दाम पर बेच रहे हैं राशन!

BSF जवान तेज बहादुर के बनाए वीडियो को सामने आए कुल चौबीस घंटे भी नहीं हुए थे जब BSF की तरफ से आए आधिकारिक बयान में ‘जांच करवाई जाएगी’ के राग के ठीक साथ बाकायदा ये लिखा आया था कि तेज बहादुर का ‘अपना इतिहास’ गड़बड़ है. उन्हें अनुशासनहीन, शराबी और बदतमीज़ बताया गया. ताकी BSF की ओर उठी ऊंगलियां तेज बहादुर की तरफ मुड़ जाएं.

लेकिन इस बात की पूरी सम्भावना है कि तेज बहादुर की बात पूरी तरह गलत न हो. आज के टाइम्स ऑफ़ इंडिया के हवाले से खबर है कि जम्मू-कश्मीर में पैरामिलिट्री कैम्प के आस-पास रहने वाले लोगों के लिए वहां के अफसरों से आधे दाम में राशन खरीदना आम बात है.

bsf_story_647_091115054013

श्रीनगर एयरपोर्ट के करीब ही BSF का हमहमा कैम्प है. कैम्प के आस-पास के दुकानदारों का कहना है कि उन्हें कैम्प से बाहर आने वाला राशन बाज़ार के मुकाबले आधे दाम में मिल जाता है. एक ठेकेदार ने यही बात पेट्रोल-डीज़ल को लेकर कही. एक फर्नीचर डीलर ने यहां तक कहा कि BSF के अफसर जब अपने ऑफिस के लिए फर्नीचर खरीदते हैं तो इतना कमीशन खाते हैं, जितना बेचने वाले का मार्जिन भी नहीं होता. BSF में ‘ई-टेंडर’ (ऑनलाइन टेंडर) नहीं होते. इसलिए जितना चाहे हेर-फेर की जा सकती है. कॉन्ट्रैक्टर कमीशन देकर घटिया माल भी बेच जाते हैं. कमोबेश यही हाल CRPF के भी बताए जाते हैं.

tej-bahadur_090117-022259

एक और BSF जवान ने इस बात की तस्दीक की है, मगर वो सामने नहीं आना चाहते. क्यों? ये तेज बहादुर के किस्से से साफ़ है.

CRPF के IG रविदीप सिंह साही ने अपनी ओर से कह दिया है कि उनके यहां इस तरह की घटनाएं नहीं होतीं. लेकिन अगर ऐसा होता है, तो वो मामले को दिखवाएंगे. तेज प्रताप मामले में BSF ने भी जांच शुरू की है, लेकिन जिस जल्दबाज़ी में तेज प्रताप का रिकॉर्ड खंगाला गया है, उस से यही लगता है कि BSF की दिलचस्पी अपनी खामियों में कम है. इस मामले में BSF को अपनी जांच रिपोर्ट आज गृह मंत्रालय को सौंपनी है.

ये समझें कि तेज बहादुर 29वीं बटालियन का हिस्सा हैं और वीडियो बनाते वक़्त वो कैंप से दूर नियंत्रण रेखा (LOC) की तरफ तैनात थे, जहां हालात कैंप से अलग (और थोड़े दुश्वार) होते हैं. ताज़ा खुलासा श्रीनगर शहर में एक BSF कैंप के हालात बताता है. लेकिन उनके कहे और इस खुलासे में जितनी करीबी है, वो यही बताती है कि BSF में काम करने के तौर-तरीकों में बड़ी खामी है और तेज प्रताप के इलज़ाम कतई बेबुनियाद नहीं हैं.


 

ये भी पढ़ें:

बख्श दो, सरहद पर खड़ा ये जवान गोलियों से नहीं गालियों से मर जाएगा

तेज बहादुर शराबी, बदतमीज़ और आदतन अनुशासनहीन: BSF

इस BSF जवान को जली रोटी खाकर ड्यूटी देनी पड़ रही है: वायरल वीडियो

सीमा पर लड़कर नहीं, इस वजह से मारे जाते हैं सबसे ज्यादा BSF जवान

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

पायदान पर झंडे से हमें दिक्कत है, तो कच्छे पर दूसरों के झंडे से क्यों नहीं?

सुषमा स्वराज की ऐमज़ॉन से नाराजगी के बाद ये सवाल उठता है.

अमृतसर से बीजेपी ने उस नेता को मैदान में उतारा है, जिससे सिद्धू बहुत चिढ़ते थे

बीजेपी ने गोवा और पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए पहली लिस्ट जारी कर दी है.

राहुल गांधी का हाथ, बलात्कारियों के साथ!

कल तक जिसका हाथ शिव की फोटो में था, आज उसका हाथ रेपिस्ट के साथ है.

दो दिन तक लटकी रही लड़की की लाश, पुलिस देखती रही

कैसे संवेदनहीन लोग हैं हम.

पाकी टॉकी

पाकिस्तान की बजबजाती गंदगी का ये एक नमूना है

इस शायर ने कट्टरपंथियों को सुलगा के रख रखा था.

मिलिए वर्ल्ड फेमस पाकिस्तान की 'लेडी गागा' उरवाह खान से

ए आर रहमान की तरफ से कॉल आया तो बॉलीवुड में भी देंगी दस्तक.

बंद हो गईं वो अदालतें, जो आतंकियों को मौत की सज़ा सुना रही थीं

इन अदालतों में 275 केस की सुनवाई हुई और 161 को मौत की सज़ा दे दी गई.

'मुझे यकीन नहीं हो रहा, ओम पुरी दुनिया छोड़ कर चले गए'

ये वो एक्टर है जो सरहदों को पार कर गया. पाकिस्तान में भी मायूसी है.

इस लड़की ने 'मेहर' में ऐसा क्या मांग लिया, जो हंगामा बरपा है

उम्र को लेकर भी बवाल किया जा रहा है. मगर जवाब सुनकर आप भी खुश हो जाएंगे.

भौंचक

ये टॉपलेस फोटो पॉर्न साइट पर नहीं, एग्जाम के एडमिट कार्ड पर लगी है

बिहार में नकल की तस्वीर वायरल होने के बाद एक और करामात. शराबबंदी के बाद भी नशे हैं हैं स्टाफ सेलेक्शन कमीशन.

मुबारक हो, भोपाल में एटीएम से पहली बार 'व्हाइट मनी' निकली है

पूरा व्हाइट नहीं है लेकिन एक तरफ तो है. एसबीआई के एटीएम का पता लिख लीजिए.

छोटे छोटे कई चांद टकराए तब बना है ये धरती का चांद!

इजराइली वैज्ञानिकों ने चांद की उत्पत्ति पर नई थ्योरी दी है.

जल्दी ही खेतों में तकरीबन हाथी के बराबर की गौमाता चरती मिलेंगी

औरॉक नाम था. 1627 में विलुप्त हो गई ये किस्म. साइंटिस्ट जुटे हैं इसे फिर से जिंदा करने में.

20 साल का लड़का प्रेग्नेंट हो गया, प्रेगनेंसी का सोलहवां सप्ताह चल रहा है

"मैं थोड़ा सा चिंतित हूं कि मैं कैसा दिखूंगा और लोग मेरे बारे में क्या सोचेंगे"