Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

नोटबंदी का फैसला किसका था, जानने के लिए अक्कड़-बक्कड़ करें?

एटीएम की लाइन में लगे लोगों से लेकर संसद में हंगामा कर रहे विपक्ष तक सबको दो महीनों से एक चीज़ का जवाब चाहिए था. नोटबंदी का फैसला अच्छा या बुरा जैसा भी हो, लिया किसने था? रिज़र्व बैंक ने? या भारत सरकार ने? अब एक और जवाब आ गया है.

‘फैसला’ सरकार का ही था. ये बात रिज़र्व बैंक ने 22 दिसंबर को बाकायदा लिखित में संसद की ‘डिपार्टमेंट रिलेटेड कमिटी ऑफ़ फाइनांस’ को बताई थी.

भारत सरकार ने रिज़र्व बैंक को 7 नवम्बर को ‘सलाह’ दी थी कि नकली नोट, टेरर फाइनेंसिंग और काले धन से निपटने के लिए बैंक को 1000 और 500 के नोटों को चलन से बाहर करने के बारे में ‘सोचना’ चाहिए.

– रिज़र्व बैंक के कमिटी को भेजे नोट का हिस्सा

चूंकि सरकार ने इस मसले पर बैंक से जल्द से जल्द कुछ करने को कहा था, सरकार की ‘सलाह’ पर राय-मशविरा करने के लिए रिज़र्व बैंक का सेंट्रल बोर्ड अगले ही दिन मिला और ‘विचार-विमर्श’ के बाद ये तय पाया गया कि 500 और 1000 के नोटों का ‘लीगल टेंडर स्टेटस’ तुरंत ख़त्म कर दिया जाए. इसके बाद रिज़र्व बैंक ने सरकार को हरी झंडी दिखा दी और प्रधानमंत्री ने 8 तारीख की शाम को नोटबंदी का ऐलान कर दिया.

pm-narendra-modi-650_650x400_71478615878
8 नवम्बर को नोटबंदी का ऐलान करते प्रधानमंत्री मोदी

अब तक इस बारे में सिर्फ इतनी जानकारी थी कि फैसला रिज़र्व बैंक का है और सरकारी मशीनरी ने उस पर अमल किया. रिज़र्व बैंक ने इस से जुड़ी RTI एप्लीकेशन का जवाब देने से भी इनकार कर दिया था. इस नोट में जिस तरह ‘पड़ोसी देश’ और ‘काला-धन’ शब्द इस्तेमाल किए गए हैं, उस से ये नोट इन मुद्दों पर सरकार की आधिकारिक लाइन के काफी करीब लगता है.

रिज़र्व बैंक के भेजे नोट में और भी कई बातें गौरतलब हैं:

1. रिज़र्व बैंक ने इस नोट में सिलसिलेवार तरीके से बताया है कि 2000 का नोट लाने का फैसला कैसे लिया गया. अक्टूबर 2014 से रिज़र्व बैंक सरकार को नए ‘हाई-डिनॉमिनेशन’ नोट लाने के बारे में लिख रहा था. इस साल 18 मई 2016 को सरकार ने 2000 के नोट लाने के लिए हामी भरी और जून से करेंसी प्रेस को नए नोट छपने की तैयारी करने को कहा गया था.

2. नोटबंदी के ऐलान के वक़्त के लिए रिज़र्व बैंक ऐसा मौका चाहता था, जब चलन से बाहर किए जा रहे नोटों का ताज़ा छपा स्टॉक ‘क्रिटिकल मिनिमम’ पर हो.

3. नोटबंदी का ऐलान जब हुआ, तब बंद किए जा रहे नोटों का महज़ 6 फ़ीसदी नए नोटों की शक्ल में रिज़र्व बैंक के पास था. बावजूद इसके, बैंक ने 8 नवंबर की तारीख को नए नोटबंदी के हिसाब से ‘ऑपरच्यून’ (बिलकुल सही मौके पर) बताया है.

4. बैंक जानता था कि एक तय समय में चलन से बाहर हुए सभी नोटों के बदले नए नोट देना संभव नहीं भी हो सकता है.

5. रिज़र्व बैंक पहले से उम्मीद कर रहा था कि इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट के ज़रिए करेंसी की कमी से पैदा हुई मुश्किल कुछ कम होगी.

rbi_647_062115061845_062515101951_062915092920_080415081557

इंडियन एक्सप्रेस  के हवाले से खबर है कि मोइली की अध्यक्षता में कमेटी 18 जनवरी को फिर मिल रही है. इस दिन वहां रिज़र्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल के साथ वित्त मंत्रालय के अफसर भी होंगे. साथ ही SBI, पंजाब नेशनल बैंक, ओरिएंटल बैंक ऑफ़ कॉमर्स के लोग भी होंगे. इन सभी को कमेटी के सामने नोटबंदी के असर पर बयान देना है.

सरकार ने रिजर्व बैंक पर डाली थी फैसले की जिम्मेदारी

रिज़र्व बैंक के इस नोट के मीडिया में आने से सरकार की परेशानी बढ़ना तय है क्योंकि 16 तारीख को केंद्रीय कोयला मंत्री पीयूष गोयल ने राज्य सभा में कहा था कि नोटबंदी का फैसला रिज़र्व बैंक बोर्ड का था. कैबिनेट ने इस पर सिर्फ हामी भरी थी. एक केंद्रीय मंत्री का संसद में बयान सरकार का आधिकारिक बयान समझा गया. अब रिज़र्व बैंक का एक संसद समिति को दिया लिखित बयान इसके ठीक उलट सामने आया है. सरकार इस बात पर फिलहाल चुप है.


ये भी देखें:

 

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

अब घर बैठे आप करवा सकेंगे कॉन्डम की फ्री होम डिलीवरी

कॉन्डम भी मुफ्त में मिलेगा. यानी बिना एक भी पैसा दिए करिए सेफ सेक्स.

सिर्फ 25 बरस थी कुपवाड़ा में शहीद हुए कैप्टन आयुष की उम्र

एलओसी के पास आर्मी कैंप पर तड़के हुआ टेररिस्ट अटैक.

ये वो सिस्टम है जिसमें शहीद के शव को रोक सीएम के काफिले को हरी बत्ती दी जाती है

सिर्फ़ लाल बत्ती हटा देने से VIP कल्चर नहीं ख़त्म हो जाता.

पायलट ने भारतीयों को गाली दी तो हरभजन ने उसकी ऐसी की तैसी कर दी

एयर इंडिया के बाद अब जेट एयवेज़ में बवाल.

क्या आप बता सकते हैं कि इस हाथ में क्या गड़बड़ है?

500 इंसानों में से 1 के हाथ में ऐसी गड़बड़ होती है.

इस स्पेस शिप की कहानी सुनकर 'तेरी मेहरबानियां' गाना डेडीकेट करने का मन करेगा

शनि ग्रह से वो जानकारियां आयेंगी जो अब तक नहीं आ पाई थीं.

शहीदों की 7 कहानियां, एक कहानी मारने वाले नक्सली हिडमा की

सुकमा हमले में 26 जवानों की शहादत के पीछे हिडमा का ही नाम आ रहा है.

बाहुबली-2 के विजुअल्स को और मजेदार बनाने वाले इस इंसान से मिलिए

600 दिन तक लगातार शूट करने वाले सेंथिल कुमार ने बताया क्या है इस बार नया.

राहुल गांधी की दादी का देहांत, उनकी जीवन कहानी थी बहुत निराली

नेहरू परिवार की पहली विदेशी बहू थीं मगडॉलना

सलमान की वो फिल्म जो 'बजरंगी भाईजान' को भी पीछे छोड़ सकती है

इसमें उनके साथ शाहरुख खान भी नजर आऩे वाले हैं. दोनों दस साल बाद साथ दिखेंगे.

पाकी टॉकी

भीड़ इस आदमी को मार डालती, अगर मौलवी और एक जवान उसे नहीं बचाता

वीडियो में उन्मादी भीड़ देखकर खौफ आता है. कौन सी दुनिया रच रहे हैं ये लोग.

इमाम के कहने पर बुर्कापोश तीन बहनों ने 'कथित ईशनिंदा' करने वाले को मार डाला

जिसे मारा, पहले उसके बाप से आशीर्वाद लिया. फिर सामने ही उनके बेटे को गोलियों से भून दिया.

जब आप भीड़ बनते हैं, तब आपके अंदर का राक्षस जल्दी बाहर आता है

पाकिस्तान में ईशनिंदा के शक़ में छात्र को पीट-पीट कर मार डाला गया.

यहां गलती मर्द करे, हर्जाना औरत या बच्ची को शादी करके चुकाना पड़ता है

क्या है ये 'वानी' रस्म, जिसमें अपनी घर की लड़की या बच्ची को दुश्मन के हवाले कर दिया जाता है

ये पाकिस्तानी बंदा कुलभूषण को फांसी के खिलाफ है और गाली खा रहा है

कहीं आप भी इस बंदे का मजाक तो नहीं उड़ाते थे?

पेट दर्द का बहाना लेकर देश से भाग जाने की फ़िराक में है पाकिस्तानी पीएम!

क्या सच में शरीफ बहाना ले रहे हैं.

अप्रैल फ़ूल पर सबसे गंदा मजाक पाकिस्तान के पूर्व मंत्री से हुआ है

एक साथ तीन लोगों के साथ कांड हो गया. आपको पता चला?

उसने कहा- हम पर ज़ुल्म हो रहा है, अगले दिन उसे मार दिया गया

इनके लिए खुद को मुसलमान कहने का मतलब है मौत को दावत देना.

इस पाकिस्तानी औरत का घर है या फिर 'मुग़ल गार्डन'?

लुबाबा अब्बास पौधों को ऐसे रखती हैं जैसे बच्चों को.

पाकिस्तान में एक खास तरह के पोस्ट डिलीट कर रहा फेसबुक

25 एक्सपर्ट्स की एक टीम लगी है काम पर.

भौंचक

106 साल की उम्र में आंध्र प्रदेश की ये नानी यूट्यूब क्वीन हैं

खाना बनाने की विधि यूट्यूब पर डालती हैं.

ये है दुनिया का सबसे बड़ा रुपैया

नोट बहुत बड़ा था लेकिन उसकी कीमत ना बराबर थी. अब ये नोट केवल दीवारों पर सजाने के ही काम आता है.

पानी को उड़ने से बचाने के लिए मंत्री जी ने डैम को थर्मोकॉल से ढंक दिया

तमिलनाडु के इस मंत्री ने जो किया वो बताता है कि स्कूल में साइंस की क्लास में क्यों सोना नहीं चाहिए.

जर्मनी वालों ने उड़ती कार बना ली, एक 'लेकिन' के साथ

'एक दिन कारें उड़ेंगी' ये सपना है, जो हर साल की शुरुआत में वैज्ञानिक हमें दिखाते हैं.

रातोरात 40 लाख लोग अंधेपन से मुक्त हुए, ऐसा क्या कर दिया मोदी सरकार ने

अचानक अंधे लोगों की संख्या 1.2 करोड़ से घटकर 80 लाख हो गई है.

झारखंड का 'गूगल बॉय', जिसकी याददाश्त हैरान करने वाली है

होनहार वीरवान के होत चीकने पात.

गुमशुदा हुई सड़क को ढूंढ निकालने पर 10 हज़ार रुपये का इनाम

दिल्ली की एक सड़क तीन साल से लापता है.

राष्ट्रपति, चिप, हाई कोर्ट, सिम कार्डः ये इस गांव के लोगों के नाम हैं

और आपको लगता था कि 'टैंजेंट' और 'डेफिनेट' ही क्रांति लाएंगे.

अब रविंद्र गायकवाड़ वो काम कर रहे हैं, जो 70s का विलेन करता था

आसमान में उड़ना तो दूर, उनका जमीन पर चलना भी मुश्किल हो गया है.