Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

नोटबंदी का फैसला किसका था, जानने के लिए अक्कड़-बक्कड़ करें?

एटीएम की लाइन में लगे लोगों से लेकर संसद में हंगामा कर रहे विपक्ष तक सबको दो महीनों से एक चीज़ का जवाब चाहिए था. नोटबंदी का फैसला अच्छा या बुरा जैसा भी हो, लिया किसने था? रिज़र्व बैंक ने? या भारत सरकार ने? अब एक और जवाब आ गया है.

‘फैसला’ सरकार का ही था. ये बात रिज़र्व बैंक ने 22 दिसंबर को बाकायदा लिखित में संसद की ‘डिपार्टमेंट रिलेटेड कमिटी ऑफ़ फाइनांस’ को बताई थी.

भारत सरकार ने रिज़र्व बैंक को 7 नवम्बर को ‘सलाह’ दी थी कि नकली नोट, टेरर फाइनेंसिंग और काले धन से निपटने के लिए बैंक को 1000 और 500 के नोटों को चलन से बाहर करने के बारे में ‘सोचना’ चाहिए.

– रिज़र्व बैंक के कमिटी को भेजे नोट का हिस्सा

चूंकि सरकार ने इस मसले पर बैंक से जल्द से जल्द कुछ करने को कहा था, सरकार की ‘सलाह’ पर राय-मशविरा करने के लिए रिज़र्व बैंक का सेंट्रल बोर्ड अगले ही दिन मिला और ‘विचार-विमर्श’ के बाद ये तय पाया गया कि 500 और 1000 के नोटों का ‘लीगल टेंडर स्टेटस’ तुरंत ख़त्म कर दिया जाए. इसके बाद रिज़र्व बैंक ने सरकार को हरी झंडी दिखा दी और प्रधानमंत्री ने 8 तारीख की शाम को नोटबंदी का ऐलान कर दिया.

pm-narendra-modi-650_650x400_71478615878
8 नवम्बर को नोटबंदी का ऐलान करते प्रधानमंत्री मोदी

अब तक इस बारे में सिर्फ इतनी जानकारी थी कि फैसला रिज़र्व बैंक का है और सरकारी मशीनरी ने उस पर अमल किया. रिज़र्व बैंक ने इस से जुड़ी RTI एप्लीकेशन का जवाब देने से भी इनकार कर दिया था. इस नोट में जिस तरह ‘पड़ोसी देश’ और ‘काला-धन’ शब्द इस्तेमाल किए गए हैं, उस से ये नोट इन मुद्दों पर सरकार की आधिकारिक लाइन के काफी करीब लगता है.

रिज़र्व बैंक के भेजे नोट में और भी कई बातें गौरतलब हैं:

1. रिज़र्व बैंक ने इस नोट में सिलसिलेवार तरीके से बताया है कि 2000 का नोट लाने का फैसला कैसे लिया गया. अक्टूबर 2014 से रिज़र्व बैंक सरकार को नए ‘हाई-डिनॉमिनेशन’ नोट लाने के बारे में लिख रहा था. इस साल 18 मई 2016 को सरकार ने 2000 के नोट लाने के लिए हामी भरी और जून से करेंसी प्रेस को नए नोट छपने की तैयारी करने को कहा गया था.

2. नोटबंदी के ऐलान के वक़्त के लिए रिज़र्व बैंक ऐसा मौका चाहता था, जब चलन से बाहर किए जा रहे नोटों का ताज़ा छपा स्टॉक ‘क्रिटिकल मिनिमम’ पर हो.

3. नोटबंदी का ऐलान जब हुआ, तब बंद किए जा रहे नोटों का महज़ 6 फ़ीसदी नए नोटों की शक्ल में रिज़र्व बैंक के पास था. बावजूद इसके, बैंक ने 8 नवंबर की तारीख को नए नोटबंदी के हिसाब से ‘ऑपरच्यून’ (बिलकुल सही मौके पर) बताया है.

4. बैंक जानता था कि एक तय समय में चलन से बाहर हुए सभी नोटों के बदले नए नोट देना संभव नहीं भी हो सकता है.

5. रिज़र्व बैंक पहले से उम्मीद कर रहा था कि इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट के ज़रिए करेंसी की कमी से पैदा हुई मुश्किल कुछ कम होगी.

rbi_647_062115061845_062515101951_062915092920_080415081557

इंडियन एक्सप्रेस  के हवाले से खबर है कि मोइली की अध्यक्षता में कमेटी 18 जनवरी को फिर मिल रही है. इस दिन वहां रिज़र्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल के साथ वित्त मंत्रालय के अफसर भी होंगे. साथ ही SBI, पंजाब नेशनल बैंक, ओरिएंटल बैंक ऑफ़ कॉमर्स के लोग भी होंगे. इन सभी को कमेटी के सामने नोटबंदी के असर पर बयान देना है.

सरकार ने रिजर्व बैंक पर डाली थी फैसले की जिम्मेदारी

रिज़र्व बैंक के इस नोट के मीडिया में आने से सरकार की परेशानी बढ़ना तय है क्योंकि 16 तारीख को केंद्रीय कोयला मंत्री पीयूष गोयल ने राज्य सभा में कहा था कि नोटबंदी का फैसला रिज़र्व बैंक बोर्ड का था. कैबिनेट ने इस पर सिर्फ हामी भरी थी. एक केंद्रीय मंत्री का संसद में बयान सरकार का आधिकारिक बयान समझा गया. अब रिज़र्व बैंक का एक संसद समिति को दिया लिखित बयान इसके ठीक उलट सामने आया है. सरकार इस बात पर फिलहाल चुप है.


ये भी देखें:

 

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

जिस नेता को लालू के बेटे ने पीटा, वो बीजेपी में शामिल होने चल दिए

सनोज यादव टीवी डिबेट में चले गए, लौटे तो तेज प्रताप के हत्थे चढ़ गए.

100 दिन का हिसाब लेकर आए योगी, बोले सबके लिए काम किया

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपना रिपोर्ट कार्ड पेश किया है.

माओवादी मामा को पकड़ने के लिए पुलिस में भर्ती हुआ, उठा ली बंदूक

एक वक़्त था, जब भांजा मामा के लिए कुछ भी कर जाता. मगर अब नहीं.

इस होटल ने कमरा लेने गई लड़की के साथ जो किया, शर्मनाक है

अकेली, नौकरीपेशा लड़की को होटल असुरक्षित महसूस करवाने में कोई कसर नहीं छोड़ता.

दो सौ लोगों की मौजूदगी में उसने दम तोड़ा, कोई गवाह बनने को तैयार नहीं

भीड़ बोली, ये बीफ खाने वाले देशद्रोही हैं, इन्हें मार दो.

एक्ट्रेस को मॉलेस्ट करने के केस में फंसे मलयाली सुपरस्टार दिलीप

ये वो एक्टर है, जो मलयाली फिल्म इंडस्ट्री में सबसे ज्यादा मेहनताना वसूलता है.

बेटे के बर्थडे पर आना था, लेकिन पाक हमले से तिरंगे में लिपटकर लौटा ये सोल्जर

परिवार से किया हुआ वादा निभा तो दिया, लेकिन....

पेड न्यूज़ छपवाने पर मध्यप्रदेश में भाजपा के नंबर दो की विधायकी गई

इनकी विधायकी के साथ-साथ और भी बहुत कुछ डूब सकता है.

पहले दिन ‘ट्यूबलाइट’ ने कितनी कमाई की?

ये न आपने सोचा होगा, न सलमान ने.

पाकी टॉकी

'मैं अल्लाह के घर से चोरी कर रहा हूं, तुम कौन होते हो बीच में नाक घुसाने वाले'

चोर का ये ख़त पढ़ लीजिए. सोच में पड़ जाएंगे!

छिड़ी बहस, क्या सच में डॉल्फिन से सेक्स कर रहे हैं पाकिस्तानी?

रमज़ान के पाक महीने में डॉल्फिन को बचाने की बात हो रही है.

कौन है ये पाकिस्तानी पत्रकार, जिसने पूरी टीम के बदले 3 साल के लिए विराट कोहली को मांगा है

दोनों देशों में ट्रोल हुई हैं. ट्रोल करने वालों को इनके ये पांच ट्वीट देख लेने चाहिए.

क्या पाकिस्तान से कुलभूषण जाधव की मौत की खबर आने वाली है?

पाकिस्तान की हरकतें इसी तरफ इशारा कर रही हैं.

पाकिस्तान में रमज़ान को लेकर ऐसा कानून बनाया गया है जो बेहूदा है

'पाकिस्तान में आतंकी घूम सकते हैं, लेकिन रोजेदार के सामने कुछ खाया तो जेल में होगा.'

'द गॉडफादर' ने इस्लामिक पाकिस्तान की राजनीति में बवाल मचा दिया

पाक पीएम नवाज़ शरीफ के लिए ये नई मुसीबत है.

आज जिसको पहला पाकिस्तानी बताया जा रहा है, वो बैल की चमड़ी में सिलकर सीरिया भेजा गया था

पाक के मुताबिक मुहम्मद अली जिन्ना नहीं थे पहले पाकिस्तानी.

भीड़ इस आदमी को मार डालती, अगर मौलवी और एक जवान उसे नहीं बचाता

वीडियो में उन्मादी भीड़ देखकर खौफ आता है. कौन सी दुनिया रच रहे हैं ये लोग.

इमाम के कहने पर बुर्कापोश तीन बहनों ने 'कथित ईशनिंदा' करने वाले को मार डाला

जिसे मारा, पहले उसके बाप से आशीर्वाद लिया. फिर सामने ही उनके बेटे को गोलियों से भून दिया.

जब आप भीड़ बनते हैं, तब आपके अंदर का राक्षस जल्दी बाहर आता है

पाकिस्तान में ईशनिंदा के शक़ में छात्र को पीट-पीट कर मार डाला गया.

भौंचक

क्या है इस नाटक में कि देखने वाले विचलित होकर उलटी कर देते हैं

एक बार तो नाटक के दौरान बहस इतनी बढ़ी कि पुलिस बुलानी पड़ी.

जानकर विश्वास नहीं होता, टीचर ने बच्चों को ऐसा होमवर्क दिया

कोई मां-बाप नहीं चाहेंगे कि उनके बच्चे ऐसे विषय पर निबंध लिखें.

केजरीवाल ने दिल्ली के पेड़ों पर भी लगवा दिए CCTV कैमरे, वजह जानकर आप सिर धुनेंगे

और अगर आपको लग रहा है कि ये वो वाले कैमरे हैं तो आपके चौंकने की बारी है.

चिकन के धोखे में कुत्ते का मांस खा रहे हैं लोग

वीडियो से हुआ खुलासा. सड़क से कुत्तों को पकड़कर काटा जा रहा है. और झूठ बोलकर बेचा जा रहा है.

एयरलाइन ने फ्लाइट में मरे कुत्ते का भाव 900 रुपए किलो लगाया है

ये मुआवज़े के नाम पर भावनाओं से खिलवाड़ है.

मां के साथ सेक्शुअल रिलेशन की चुगली से परेशान होकर काटा अपना लिंग, पता चला बीमारी कुछ और थी

इस बीमारी से वो पिछले 15 साल से जूझ रहा था लेकिन किसी को पता नहीं था.

बेटी ने कार में सेक्स करते अपने ही पिता का वीडियो बना लिया

और इस बात को जायज ठहराने के लिए उसने तर्क भी दिए हैं.

BSF की मीटिंग में चल गया पॉर्न, वो भी पूरा एक मिनट तक

एक गलत क्लिक ने बंटाधार कर दिया.

दिल्ली की गलियों में घूमता है सचमुच का सुपरहीरो, नाम है मटका मैन

जैसे हर सुपरहीरो एक बार चोट खाकर फिर बहुत बड़ा बन जाता है, बिलकुल वही कहानी है.

इस गधे की लाइफस्टाइल देखकर घोड़ों को भी जलन होगी

'टिप्पू' के खाने का एक दिन का बिल देख लोगे तो सांस अटक जाएगी.