Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

आरुषि मर्डर केस में हाईकोर्ट ने तलवार दंपती को किस वजह से छोड़ा

आरुषि-हेमराज डबल मर्डर में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सीबीआई कोर्ट के फैसले को पलटते हुए तलवार दंपती को बरी कर दिया है. कोर्ट ने तलवार दंपती को बेनिफिट ऑफ डाउट का फायदा दिया है. कोर्ट का कहना था मामले में सीबीआई को तलवार दंपती के खिलाफ पर्याप्त सबूत नहीं मिले हैं. कोर्ट ने सीबीआई जांच में भी कई तरह की खामियां पाईं. कोर्ट ने इसमें वही रुख अपनाया कि चाहे 100 दोषी छूट जाएं मगर एक निर्दोष नहीं फंसना चाहिए. दोनों की उम्रकैद की सजा को खारिज कर दिया गया है. कहा कि ऐसे मामलों में सुप्रीम कोर्ट भी इतनी बड़ी सजा नहीं देता है. राजेश और नूपुर को जेल से फौरन रिहा करने के आदेश भी कोर्ट ने जारी किए हैं. जस्टिस बीके नारायण और जस्टिस एके मिश्रा की खंडपीठ ने सात सितंबर को यह फैसला सुरक्षित रख लिया था. तलवार दंपती फिलहाल गाजियाबाद की डासना जेल में बंद हैं. बैरक में लगे टीवी पर दोनों ने ये फैसला सुना. नूपुर ने फैसला सुनने के बाद कहा- हमें इंसाफ मिला है.

14 साल की उम्र में हो गई थी आरुषि की हत्या.
14 साल की उम्र में हो गई थी आरुषि की हत्या.

नोएडा के एक घर में 16 मई 2008 को 14 साल की आरुषि का शव मिलने के बाद ये मामला सामने आया था. अगले दिन घर में काम करने वाले हेमराज का शव छत पर मिला था. उत्तर प्रदेश पुलिस ने पहले तो केस सुलझाने का दावा किया और राजेश तलवार के नौकरों को संदिग्ध माना. फिर कहा कि राजेश तलवार ने कथित तौर पर आरुषि और हेमराज को आपत्तिजनक स्थिति में देखा और गुस्से में दोनों की हत्या कर दी. फिर मामला सीबीआई के पास पहुंचा. पांच साल बाद यानी 26 नवंबर 2013 को एक बड़ा फैसला आया. सीबीआई अदालत ने तलवार दंपती को हत्या का दोषी करार दिया. उम्र कैद की सजा सुनाई गई. इसके बाद तलवार दंपती मामले को लेकर इलाहाबाद हाईकोर्ट गए, जिस पर कोर्ट ने फैसला सुनाया है.

9 साल से चल रहा केस, कई मोड़ आए और उलझता गया मसला

# 15-16 मई, 2008 की दरमियानी रात को आरुषि की लाश नोएडा में अपने घर में बिस्तर पर मिली. इसके बाद एक-एक कर इतनी नाटकीय घटनाएं सामने आईं कि पूरा मामला क्रिसी क्राइम थ्रिलर की फिल्म में बदल गया.

कत्ल के फौरन बाद शक घर के नौकर हेमराज पर जाहिर किया गया. लेकिन अगले दिन जब हेमराज की लाश घर की छत पर मिली तो ये पूरा मामला ही चकरघिन्नी की तरह घूम गया.

# नोएडा पुलिस ने फिर दावा किया कि आरुषि-हेमराज का कत्ल उसके पिता डॉक्टर राजेश तलवार ने किया था. इस थ्योरी के पीछे पुलिस ने ऑनर किलिंग की दलील रखी. 23 मई, 2008 को पुलिस ने राजेश तलवार को गिरफ्तार कर लिया.

5 साल बाद 2013 में हत्याकांड में तलवार दंपति को हुई थी सजा.
5 साल बाद 2013 में हत्याकांड में तलवार दंपती को हुई थी सजा.

# 31 मई, 2008 को केस सीबीआई के हवाले कर दिया गया. तलवार का नार्को टेस्ट हुआ, मगर कुछ नहीं निकला. तब तक शक की सुई तलवार से हटकर उनके नौकरों और कंपाउंडर तक पहुंच गई थी. तलवार परिवार के करीबी दुर्रानी परिवार के नौकर राजकुमार को गिरफ्तार कर लिया गया.

# केस की जांच सितंबर 2009 में सीबीआई की दूसरी टीम ने शुरू की. इस टीम ने तीनों नौकरों को क्लीन चिट दी और साक्ष्यों के आधार पर तलवार दंपती को ही मुख्य आरोपी माना. इस बीच तलवार 50 दिन जेल में गुजार चुके थे. उन्हें जमानत मिल गई.

सीबीआई की दो टीमों ने की थी मामले की जांच.
सीबीआई की दो टीमों ने की थी मामले की जांच.

टीम के अनुसार वारदात के बाद आरुषि के शव को ढकने, बिस्तर पर चादर को ठीक करने, प्राइवेट पार्ट्स को साफ करने और हेमराज की बॉडी को छिपाने का काम कोई बाहरी नहीं करेगा. हालांकि, इस टीम ने माना कि हेमराज का खून दंपती के कपड़ों पर नहीं मिला. वारदात के शामिल हथियार भी नहीं मिले. तलवार दंपती पर किए गए साइंटिफिक टेस्ट भी किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सके.

# 2010 में दो साल बाद सीबीआई ने क्लोजर रिपोर्ट दाखिल की. गाजियाबाद कोर्ट ने तलवार दंपती को सबूत मिटाने का दोषी पाया. दोनों के खिलाफ मर्डर में शामिल होने के आरोप तय किए गए.

# 2012 में आरुषि की मां नूपुर तलवार ने कोर्ट में सरेंडर किया और जेल गईं. नवंबर 2013 में तमाम जिरह और सबूतों को देखने के बाद सीबीआई कोर्ट ने राजेश और नूपुर तलवार को जुर्म का दोषी माना.

सीबीआई ने इन दलीलों के आधार पर लगाए थे आरोप

वारदात की रात घर में सिर्फ चार लोग थे. आरुषि-हेमराज-राजेश और नूपुर तलवार. इन चार में से दो की हत्या हो गई और दो बच गए.

सीबीआई ने कहा कि घर में किसी बाहरी शख्स के होने या आने के सबूत नहीं मिले हैं. इस आधार पर सीबीआई ने तलवार दंपती पर आरोप लगाया कि उन्होंने ही आरुषि-हेमराज की हत्या की.

पुलिस गिरफ्त में तलवार दंपति.
पुलिस गिरफ्त में तलवार दंपती.

आरुषि के कमरे से आवाज आने पर राजेश तलवार उठे और हेमराज के कमरे में गए. वहां हेमराज के नहीं होने पर वो आरुषि के कमरे में गए और दोनों को आपत्तिजनक हालत में देख कर गॉल्फ स्टिक से उस पर वार किया. पहला वार हेमराज के सिर के पिछले हिस्से पर लगा, दूसरे हमले के दौरान गॉल्फ स्टिक आरुषि के सिर पर लगी.

#गॉल्फ स्टिक के हमले से हेमराज की मौत होने के बाद राजेश और नूपुर तलवार उसकी लाश को चादर में लपेटकर घसीटते हुए छत पर ले गए. उसके बाद सर्जिकल ब्लेड से दोनों का गला रेत दिया गया. राजेश गोल्फर भी हैं और डेंटिस्ट भी.

#हेमराज की लाश को छत पर रखने के बाद राजेश तलवार वापस फ्लैट में आए और सबूत मिटाने के दौरान उन्होंने लगातार शराब पी.


दो जबराट पुलिस अधिकारियों का लल्लनटॉप सेशन देखिए- 

ये भी पढ़ें

सुप्रीम कोर्ट ने रेप को लेकर सबसे वाहियात कानून पलट दिया है

दिल्ली के एक लड़के के साथ बेरहमी से रेप किया गया है और रेपिस्ट को कोई सजा नहीं होगी

चमचमाती दिल्ली का एक स्याह कोना, जहां डर पसरता है

 

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

बच्ची का रेप किया, केस दर्ज करवाने पर छेड़खानी की और बच्ची ने डरकर जान दे दी

वारदात उत्तर प्रदेश के बागपत की है, जिसके लिए पुलिस का निकम्मापन भी जिम्मेदार है.

आशीर्वाद के बहाने रेप करने के आरोप में इस बार एक जैन मुनि धरा गया है

राम रहीम और फलाहारी बाबा के बाद अब सूरत में दिगंबर मुनि पर 19 साल की लड़की ने रेप का आरोप लगाया है.

जिसके लिए शिकारी लगाए गए, 78 दिन में दो करोड़ रुपये खर्च हुए, वो बिजली से झटके से मर गई

कहानी उस बाघिन की, जो 78 दिन में 500 किमी का रास्ता तय कर घर लौटी थी.

भारत को विकसित देश बना सकते हैं चुनाव, ये रहे सुबूत

ये आंकड़े देखकर आप कहेंगे कि हर महीने चुनाव होने चाहिए.

NIT अरुणाचल प्रदेश के छात्र पांच दिन से प्रोटेस्ट कर रहे हैं, आपको पता चला?

ये छात्र पढ़ना चाहते हैं, लेकिन सड़क रोकने को मजबूर हैं.

18 दिसंबर को पता चलेगा कि हिमाचल और गुजरात में किसकी सरकार बनेगी

चुनाव आयोग ने हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव का कार्यक्रम तय कर दिया है.

मंदिर का दरवाजा खोलते ही केरल में इतिहास बन गया, वजह सुकून देने वाली है

पहली बार हुई है किसी दलित पुजारी की नियुक्ति.

गोधरा कांड: सबकी फांसी को हाई कोर्ट ने उम्रकैद में बदल दिया

63 लोगों की रिहाई के फैसले को हाई कोर्ट ने बरकरार रखा है.

एक स्टिंग ऑपरेशन ने करणी सेना को नंगा करके रख दिया है

ये वही हैं जिन्होंने संजय लीला भंसाली के सेट पर तोड़-फोड़ की थी.

छेड़खानी के विरोध में BHU की दीवारें हिला दी हैं लड़कियों ने

पीएम मोदी को बदलना पड़ा रास्ता.

पाकी टॉकी

70 साल बाद पाकिस्तान गए इस शख्स की कहानी हम सबके काम की है

दोनों मुल्कों के दरमियान कड़वाहट का जवाब भी मिलेगा.

पाकिस्तान में जिसे अब प्रधानमंत्री बनाया गया है, वो दो साल जेल में रह चुके हैं

जेल से छूटकर चुनाव लड़े और हार गए थे. अब 45 दिन के लिए पीएम बन गए.

मनी लॉन्ड्रिंग केस में नवाज शरीफ दोषी करार, नहीं रहेंगे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री

पनामा पेपर्स लीक ने दुनियाभर में हलचल मचाई थी.

जब अफरीदी ही औरतों को चूल्हे में झोंकना चाहते हों, इस खिलाड़ी पर ये भद्दे कमेंट हमें हैरान नहीं करते

पिता के साथ एयरपोर्ट से बाइक पर घर जाती इस पाक खिलाड़ी को निशाना बनाया जाना शर्मनाक है.

गोरमिंट को गालियां देकर वायरल हुईं इन आंटी के साथ बहुत बुरा हो रहा है

'ये गोरमिंट बिक चुकी है. अब कुछ नहीं बचा.' कहने वाली आंटी की ये बुरी खबर है.

क्या जिन्ना की बहन फातिमा का पाकिस्तान में कत्ल हुआ था?

उनके जनाज़े पर पत्थर क्यों बरसे?

'मैं अल्लाह के घर से चोरी कर रहा हूं, तुम कौन होते हो बीच में नाक घुसाने वाले'

चोर का ये ख़त पढ़ लीजिए. सोच में पड़ जाएंगे!

छिड़ी बहस, क्या सच में डॉल्फिन से सेक्स कर रहे हैं पाकिस्तानी?

रमज़ान के पाक महीने में डॉल्फिन को बचाने की बात हो रही है.

कौन है ये पाकिस्तानी पत्रकार, जिसने पूरी टीम के बदले 3 साल के लिए विराट कोहली को मांगा है

दोनों देशों में ट्रोल हुई हैं. ट्रोल करने वालों को इनके ये पांच ट्वीट देख लेने चाहिए.

क्या पाकिस्तान से कुलभूषण जाधव की मौत की खबर आने वाली है?

पाकिस्तान की हरकतें इसी तरफ इशारा कर रही हैं.

भौंचक

लोन लेने से पहले इस खबर को पढ़ लो, फिर आगे बढ़ना

उदयपुर के बीजेपी नेता परिवार समेत घर में बने बंधक, देर रात ताला तोड़कर निकाला गया.

इस लड़की का पेट निकाला जा चुका है, खाना बनाती है और इसका खाना दुनिया देखती है

नताशा के इंस्टाग्राम पर 46 हज़ार से ज़्यादा फॉलोअर्स हैं. पेट खोने की वजह स्ट्रेस था.

रेलवे ने गलती से दिया 99 परसेंट डिस्काउंट, लेकिन एक चीज अच्छी हुई!

टिकट और पेमेंट की रसीद सब है, खुद देख लो.

एक आदमी सैकड़ों लोगों की जान दाव पर लगा सकता है, वजह यकीन करने लायक नहीं है

शराब की लत किसी से क्या करवा सकती है, इस आदमी को देखकर जान लीजिए.

25 फीट लंबे अजगर से भिड़ गया सिक्युरिटी गार्ड, दोनों में से जान किसकी गई?

अजगर इतना बड़ा था कि लग रहा था सीधे एनाकोंडा फिल्म के सेट से चला आ रहा हो.

इतनी भयंकर एलर्जी कि लगता है किसी ने जिंदा शरीर को 'आग' लगा दी

स्टीवन्स-जॉनसन सिंड्रोम. ऐसी एलर्जी जिसमें छिलके की तरह खाल उतर जाती है.

'बाहुबली' फिल्म फिर से ख़बरों में है, वजह बड़ी प्यारी है

इस बार मामला पैसे नहीं, पुण्य कमाने का है.

'इस चेहरे के साथ क्या मैं कभी दुल्हन नहीं बन पाऊंगी?'

एक लाइलाज बीमारी से जूझ रही लड़की की मार्मिक कहानी.

'गेम ऑफ थ्रोन्स' का बाहुबली सीरीज की फिल्मों से ये कनेक्शन हैरान करेगा

सीज़न-8 अभी दूर है. तब तक ये बात मज़ा देगी.

जंगल वो जगह है, जहां बिल्ली भी लोमड़ी को घुड़क देती है

तस्वीरों में देखिए, जंगल कितना सुंदर होता है.