Submit your post

Subscribe

Follow Us

क्या आप जाबड़ किताबी कीड़े हैं?

1. काशीनाथ सिंह को किस किताब के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार मिला था ?
  1. रेहन पर रघ्घू
  2. काशी का अस्सी
  3. उपसंहार
  4. अपना मोर्चा
2. गोदान किताब किस उपन्यासकार ने लिखी थी ?
  1. शरतचंद चट्टोपाध्याय
  2. काशीनाथ सिंह
  3. प्रेमचंद
  4. मंटो
3. गोदान किताब के मुख्य किरदार का नाम क्या था ?
  1. धनिया
  2. होरी
  3. शनिचर
  4. चंदर
4. सआदत हसन मंटो ने इनमें से कौन सी कहानी नहीं लिखी थी?
  1. ठंडा गोश्त
  2. खोल दो
  3. काली सलवार
  4. लिहाफ
5. गयादीन श्रीलाल शुक्ल के किस उपन्यास के किरदार का नाम है?
  1. राग दरबारी
  2. अंगद का पांव
  3. अज्ञातवास
  4. आदमी का जहर
6. फणीश्वरनाथ रेणु का मशहूर उपन्यास बिहार के किस ग्रामीण क्षेत्र की पृष्ठभूमि पर आधारित है?
  1. पूर्णिया
  2. दरभंगा
  3. भागलपुर
  4. सीवान
7. धर्मवीर भारती का नॉवेल गुनाहों का देवता की नायिका का नाम क्या होता है ?
  1. सुलेखा
  2. सुजाता
  3. सुनीता
  4. सुधा
8. 'कितने पाकिस्तान' किताब के लेखक कौन हैं ?
  1. कमलेश्वर
  2. रेणू
  3. कुलदीप नैयर
  4. धर्मवीर भारती
9. धर्मवीर भारती की पहली किताब का नाम क्या था ?
  1. गुनाहों का देवता
  2. ग्यारह सपनों का देश
  3. सूरज का सांतवां घोड़ा
  4. प्रारंभ व समापन
10. चेतन भगत ने इनमें से कौन की किताब नहीं लिखी है?
  1. फाइव प्वॉइंट समवन
  2. हाफ गर्लफ्रेंड
  3. टू- स्टेट्स
  4. इंडिया 2020
लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

न्यू मॉन्क

अपनी चतुराई से ब्रह्मा जी को भी 'टहलाया' नारद ने

नारद कितने होशियार हैं इसका अंदाजा लगा लो.

इस गांव में द्रौपदी ने की थी छठ पूजा

छठ पर्व आने वाला है. महाभारत का छठ कनेक्शन ये है.

नारद के खानदान में एक और नारद

पुराणों में इन दोनों नारदों का जिक्र है एक साथ.

नारद कनफ्यूज हुए कि ये शाप है या वरदान

नारद को मिला वासना का गुलाम बनने का श्राप.

अर्जुन ने तीर मारकर, घोड़ों के लिए बना दी मिनरल वाटर वाली झील

अर्जुन के पास टास्क था जयद्रथ वध का, लेकिन उसी टाइम उनके घोड़ों पर आ गई आफत. फिर क्या हुआ?

लल्लन ख़ास

वो बॉलीवुड एक्टर जो गूगल पर खोजने से भी नहीं मिलता

और फ़िल्में की हैं 200 से भी ऊपर.

सलमान की सबसे भरोसेमंद दोस्त हैं ये पूर्व-मंत्री!

स्टार्स को एेसे दोस्तों की जरूरत पड़ती है. कभी फंस जाएं तो एक कॉल करनी पड़ती है बस.

बशीर बद्र शायर हैं इश्क के, और बदनाम नहीं!

आज बशीर बद्र साहब का हैप्पी बड्डे है. लल्लन विश करने के लिए तैयार बैठा है.

झूठे कमांडो ट्रेनर शिफूजी शौर्य भारद्वाज की असलियत : दूसरा पार्ट

छाती पर भगत सिंह और मुंह पर गाली. सेना के नाम पर खुद की झूठी इमेज बनाई.

क्या होता है जब द्रौपदी दु:शासन बनती है?

पढ़िए, राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय के सालाना थिएटर फेस्टिवल भारत रंग महोत्सव यानी 'भारंगम' के 19वें संस्करण के 14वें रोज़ का हाल.