Submit your post

Follow Us

अमेरिका के एरिया-51 में एयर फोर्स से पंगा लेकर भी जाने की तैयारी में क्यों जुटे हैं लोग?

उत्तरी गोलार्ध में दिन होता है तब दक्षिणी गोलार्ध में रात होती है. उधर लोग स्कूल-दफ़्तर जाते हैं, तो इधर लोग सोने के लिए आंखें बंद करते हैं. दिन और रात के इस फर्क में कुछ घड़ी सब विश्राम करते हैं. सिवाय सोशल मीडिया के. ये हमेशा सुपर बिज़ी रहता है. इसी व्यस्तता में पिछले दिनों चला- एरिया 51 चलो. इसकी टैगलाइन है- Storm Area 51, They Can’t Stop All of Us. ये ‘एरिया 51’ एक जगह है अमेरिका में. बहुत मिस्ट्री है इस जगह को लेकर. कुछ कहते हैं, यहां एलियन्स रहते हैं. कुछ कहते हैं, अमेरिका कोई बड़ा सीक्रेट रिसर्च करता है यहां. ये बेहद टॉप सीक्रेट एरिया है. अमेरिका किसी को यहां पांव तक नहीं रखने देता.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

इलेक्शन कवरेज

इन महिलाओं को मिली है मोदी कैबिनेट में जगह

नए मंत्रिंंडल में 24 कैबिनेट मंत्री हैं. इनमें केवल तीन महिलाएं हैं.

सुषमा स्वराज की जगह जिसने ली, उन्होंने कभी चुनाव नहीं लड़ा है

पहली बार है जब किसी ब्यूरोक्रेट को सीधे कैबिनेट मिनिस्टर बना दिया गया हो.

मोदी सरकार 2.0 में इन सांसदों को इनाम दिया गया है

कुछ का प्रमोशन हुआ है और कुछ नए आए हैं.

वो 4 पूर्व मुख्यमंत्री जिन्हें मोदी 2.0 कैबिनेट में मिली जगह

खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी सीएम रह चुके हैं.

साइंस को ज्योतिष के सामने बौना बताने वाले कवि 'निशंक' बने मोदी के मंत्री

रमेश पोखरियाल ने 2014 में विधायकी छोड़कर हरिद्वार से लोक सभा चुनाव लड़ा था.

यूपी में करारी हार के बाद मुलायम सिंह ने अखिलेश यादव को क्या-क्या सुनाया?

सपा की हार पर मंथन को मीटिंग हुई, मुलायम ने अखिलेश को झाड़ के रख दिया.

शिवसेना के खिलाफ खड़े थे शिवाजी महाराज के वंशज, हारे या जीते?

उदयनराजे छत्रपति शिवाजी महाराज की तेरहवीं पीढ़ी से हैं.

जिन्हें दबी ज़ुबान में पीएम पद का कैंडिडेट कहा जाता था, वो गडकरी जीते या नहीं?

कहा जा रहा था नितिन गडकरी पीएम बनेंगे.

दी लल्लनटॉप शो

मोहम्मद शमी के खिलाफ अरेस्ट वॉरंट और हसीन जहां के आरोपों की पूरी कहानी। दी लल्लनटॉप शो| Episode 294

शमी ने कैसे की थी एक्सिडेंट के बाद करियर में वापसी?

कुलभूषण को कॉन्सुलर एक्सेस लेकिन भारतीय डिप्लोमैट से मीटिंग में पाकिस्तान का अड़ंगा। दी लल्लनटॉप शो|Episode 293

आसमान से आईं भारत के लिए दो अच्छी खबरें.

क्या है S-400 मिसाइल सिस्टम, जिसे रूस से खरीदने के लिए भारत ने अमेरिका को ठेंगा दिखा दिया है। दी लल्लनटॉप शो|Episode 292

भारत को गज़नवी का इलाज मिल गया है.

गज़नवी मिसाइल का टेस्ट क्या पाकिस्तान के इंडियन एयरस्पेस क्लोज़र की धमकियों से जुड़ा है?|दी लल्लनटॉप शो|Episode 291

कच्छ की खाड़ी से घुसपैठ रोकने का इंतज़ाम हो गया है!

कश्मीर में पैलेट गन चल रही है फिर हालात सामान्य कैसे? ज़्यादती के आरोप सच हैं क्या?|दी लल्लनटॉप शो|Episode 290

जम्मू-कश्मीर से आईं इंसानियत की कहानियां.

RBI मोदी सरकार को 1 लाख 76 हज़ार करोड़ ट्रांसफर करेगी, क्या ये मंदी की आहट है?|दी लल्लनटॉप शो|Episode 289

अगर ऐसा हुआ तो 1.76 लाख करोड़ बर्बाद हो जाएंगे!

G7 समिट में मिले नरेंद्र मोदी और ट्रंप तो कश्मीर पर क्या बात हुई?|दी लल्लनटॉप शो|Episode 288

ट्रंप ने क्यों कहा- मोदी बहुत अच्छी अंग्रेजी बोलते हैं?

बिहार: मोकामा विधायक अनंत सिंह ने सरेंडर किया, लालू यादव-नीतीश से कैसे जुड़ी है ये कहानी? |दी लल्लनटॉप शो|Episode 287

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अर्थव्यवस्था को लेकर प्रेस कांफ्रेस में क्या कहा?

पॉलिटिकल किस्से

अमित शाह के खास स्वतंत्र देव सिंह की RSS से होते हुए यूपी बीजेपी चीफ बनने की कहानी

जानिए एक पत्रकार रहे कांग्रेस सिंह कैसे बने यूपी बीजेपी चीफ स्वतंत्र देव सिंह.

अटल के मंत्री जसवंत सिंह को परवेज मुशर्रफ ने कैसे धोखा दिया?

भारत के इस विदेश मंत्री पर अमेरिका का पिट्ठू होने का आरोप क्यों लगा?

नरेंद्र मोदी ने भारत रत्न से पहले प्रणब मुखर्जी से क्या अफसोस जताया?

भारत रत्न के ऐलान से पहले प्रणब मुखर्जी और नरेंद्र मोदी में ये बात हुई.

नरेंद्र मोदी के सरकारी बंगले की सुरंग कहां जाती है?

आखिरी में सुरंग का दूसरा दरवाजा भी खुल जाएगा.

राजीव और सोनिया के करीबी बूटा सिंह, जिनके कृपाण से चीफ मिनिस्टर्स डरते थे

वो नेता जो देश का राष्ट्रपति बनते-बनते रह गए.

कहानी MQM के अल्ताफ हुसैन की, जिसे सपोर्ट करने का आरोप भारत पर लगता था

पाकिस्तान की हुकुमत का एक ऐसा दुश्मन, जिससे पड़ोसी मुल्क के हुक्मरान सख्त नफरत करते हैं.

इंदिरा गांधी का वो मंत्री जिसने संजय गांधी को कहा- मैं तुम्हारी मां का मंत्री हूं

जिसे टॉर्चर किया गया, जिसके फेफड़े गल गए और जो ज़्यादा दिन ज़िंदा न रह सकी.

घनश्याम तिवारी और वसुंधरा की अदावत की असल कहानी

तिवारी जब तक पार्टी में रहे वसुंधरा से भिड़ते रहे, लेकिन हर बार वसुंधरा ही भारी पड़ीं.