Submit your post

Follow Us

भारत का सामान बॉयकॉट करने की धमकी देने वाले पाकिस्तानी ये बात नहीं जानते हैं

117
शेयर्स

27 अगस्त, 2019 की रात से पाकिस्तान में लोग #BoycottIndianProducts पर ट्वीट कर रहे हैं. 28 अगस्त, 2019 से ये ट्रेंड भारत में भी नज़र आने लगा. दोपहर बाद तक ये हैशटैग भारत में टॉप 5 ट्रेंड्स में नज़र आया. इसपर तकरीबन 1 लाख ट्वीट किए गए थे. कश्मीरियों के समर्थन के नाम पर पाकिस्तान नित नए प्रयोग करता रहता है. 5 अगस्त के बाद से वो ट्रेनें बंद कर चुका है, सुरक्षा परिषद में जाकर देख चुका है, अंतरराष्ट्रीय बिरादरी के सामने हाथ फैलाकर देख चुका है. लेकिन उसकी दाल गल नहीं रही. तो अब ट्विटर का सहारा लिया है. इस ट्रेंड के पीछे पाकिस्तान के लोग हैं, न कि वहां की सरकार. लेकिन लाज़मी है कि इमरान खान इस ट्रेंड को देखकर खुश ही हुए होंगे. लेकिन ये खुशी है कितनी बड़ी? क्या इस ट्रेंड को पाकिस्तान की सफलता माना जा सकता है? भारत का सामान पाकिस्तान में बॉयकॉट होने से भारत को कितना नुकसान होगा? और सबसे बड़ा सवाल ये, कि क्या इस ट्विटर ट्रेंड को पाकिस्तान के आम आदमी की राय माना जा सकता है? इन सभी सवालों के जवाब हम आपको देंगे, आसान भाषा में.

#1.ट्विटर पर कैसे ट्रेंड होता है कोई टॉपिक?

ये तो आप जानते ही हैं कि ट्विटर पर कोई टॉपिक तब ट्रेंड करता है जब एक साथ कई लोग उसे अपने ट्वीट में इस्तेमाल करने लगें. हैशटैग किसी एक टॉपिक पर किए जा रहे ट्वीट बटोरने का काम कर रहा है. हैशटैग पर क्लिक करके आप उस टॉपिक पर किए गए सारे ट्वीट एक जगह पा सकते हैं.

#2.ट्विटर ट्रेंड का फायदा क्या होता है?

ट्रेंड पर ट्वीट करके आप अपनी बात ऐसे लोगों तक भी पहुंचा सकते हैं, जिन तक आम तौर पर आपकी पहुंच नहीं होती. वो न आपको फॉलो करते हैं, न आपके दोस्तों को. फिर भी आपके ट्वीट पढ़ पाते हैं. ट्विटर पर सादा ट्वीट पर स्कूल के माइक पर बोलने की तरह होता है. असेंबली की आखिरी लाइन तक तक कभी-कभी इस माइक की आवाज़ नहीं पहुंच पाती है. ट्रेंडिंग टॉपिक लल्लनटॉप की तरह है. आपकी आवाज़ दुनिया सुनती है. ट्रेंडिंग टॉपिक आमतौर पर तब ज़्यादा कामयाब होते हैं जब वो कोई अपील कर रहे हों. मिसाल के लिए #DonateforKerala. इस हैशटैग से केरल के बाढ़ पीड़ितों के लिए मदद करने की अपील की गई थी.

ट्विटर के ट्रेंडिंग टॉपिक में लोगों की राय की जगह उस राय को बनने में लगने वाले समय को तरज़ीह दी जाती है.
ट्विटर के ट्रेंडिंग टॉपिक में लोगों की राय की जगह उस राय को बनने में लगने वाले समय को तरज़ीह दी जाती है.

#3. ट्विटर कैसे तय करता है कि क्या ट्रेंड होगा, क्या नहीं?

ट्विटर एक सोशल मीडिया कंपनी है. वो अपने काम से पैसे बनाती है. कैसे बनाती है, ये उसका ट्रेड सीक्रेट है. इसीलिए ये दावे से बताना बहुत मुश्किल है कि कोई टॉपिक ट्विटर पर ट्रेंड कैसे करता है. ट्विटर इतनी बात सार्वजनिक तौर पर बताता है कि ट्रेंड एक ऑटोमैटिक अल्गॉरिदम से तय होता है. माने एक तरह का कंप्यूटर प्रोग्राम. लेकिन ऑटोमैटिक होने का मतलब ये नहीं कि ये सबके लिए समान होता हो. ट्विटर के ट्रेंडिंग टॉपिक टेलर्ड होते हैं. माने आपकी पसंद के मुताबिक़ (पढ़ें ट्विटर की पसंद के मुताबिक) गढ़े जाते हैं. आपको नज़र आने वाला ट्रेंड इन कुछ चीज़ों पर आधारित होता है –

– आप किसे फॉलो करते हैं;

– आपकी रुचि किस चीज़ में है, आपकी पसंद के इर्द-गिर्द टॉपिक ट्रेंड हुआ तो आपको नज़र आएगा;

– आपकी लोकेशन: ट्रेंड का ताल्लुक एक खास लोकेशन से होता है. आप चाहें तो अपने शहर का ट्रेंड देखें या अपने देश का फिर किसी और देश का.

लेकिन बात बस इतनी ही नहीं है. कई डेटा साइंटिस्ट्स ट्विटर के ट्रेंड पर लिख चुके हैं. इससे एक अंदाज़ा हो जाता है कि ये खेल चल कैसे रहा है. ऐसे ही ये बात मालूम चली कि ट्विटर अपने प्लैटफॉर्म पर लोगों की गतिविधियों पर लगातार नज़र रखता है. ट्विटर को मिलने वाले कुल ट्रैफिक में कोई शब्द या जुमला कितनी बार आ रहा है, इसका हिसाब कंपनी लगाती रहती है. जब किसी टॉपिक पर हो रहे ट्वीट्स की संख्या अचानक से बढ़ जाती है, तो ट्विटर उसे अपनी ट्रेंडिंग लिस्ट में शामिल कर लेता है.

यहां समझने वाली बात ये है कि ज़्यादा ट्वीट करने भर से कोई टॉपिक ट्रेंड नहीं करता. उस टॉपिक पर होने वाले ट्वीट्स में एकदम से उछाल आएगा, तभी वो ट्रेंड करेगा. उदाहरण के लिए एक ऐसे टॉपिक को लेते हैं जिसपर हर रोज़ 100 ट्वीट होते हों. लेकिन तभी एक टॉपिक पैदा होता है जिसपर कल तक 4 ट्वीट ही थे और फिर अचानक से 90 ट्वीट हो जाते हैं. तो 100 ट्वीट वाले टॉपिक की जगह 90 ट्वीट वाला टॉपिक ट्रेंड करेगा. मर्म ये कि ट्रेंड की ये जंग अचानक बहुत बड़ा हमला करके जीती जाती है.

पाकिस्तान में ट्विटर पर भारतीय सामानों को बायकॉट करने के लिए ट्रेंड चल रहा है.
पाकिस्तान में ट्विटर पर भारतीय सामानों को बायकॉट करने के लिए ट्रेंड चल रहा है.

#4. ट्रेंडिंग से आम आदमी का क्या लेना देना?

ट्विटर के ट्रेंडिंग टॉपिक में लोगों की राय की जगह उस राय को बनने में लगने वाले समय को तरज़ीह दी जाती है. इसका एक नुकसान ये है कि कई बड़े टॉपिक जिनपर कई सारे लोग नियमित रूप से ट्वीट कर रहे हों, या जिनपर लोगों की राय धीरे-धीरे आकार लेकर बड़े आंदोलन में तब्दील होने की ओर हो, वो कभी ट्रेंड नहीं हो पाते. ये बात स्थापित है कि ट्विटर और सोशल मीडिया के दूसरे प्लैटफॉर्म लोगों की राय को बड़े पैमाने पर प्रभावित करते हैं. ऐसे में ट्विटर का ट्रेंड अल्गॉरिदम सोशल मीडिया पर पूरे के पूरे आंदोलन को बनाने और मिटाने का दम रखता है.

अमेरिका में ट्विटर यूज़र्स की सबसे बड़ी संख्या बसती है. वहां लगातार इस बात पर सवाल उठाए गए हैं कि ट्विटर पर क्यों कुछ टॉपिक कभी ट्रेंड नहीं करते. 27 अप्रैल, 2015 को द वॉशिंगटन पोस्ट में कैटलिन डीवी का एक लेख छपा. इसमें उन्होंने बताया कि कैसे तकरीबन डेढ़ लाख लोगों के #FreddieGray पर ट्वीट करने के बावजूद ये टॉपिक कभी अमरीका के टॉप ट्रेंड्स में नहीं आया. फ्रेडी ग्रे बॉल्टिमोर का एक अश्वेत नौजवान था जिसकी पुलिस कस्टडी में मौत हो गई थी. इसके बाद बॉल्टिमोर में व्यापक प्रदर्शन हुए थे और ट्विटर पर भी लोगों ने अपनी नाराज़गी व्यक्त की थी. ऐसा ही #OccupyWallStreet के साथ हुआ था. लेकिन #KimKWedding ट्रेंड किया था.

ऐसा भी नहीं है कि ट्रेंडिंग में खेल करने के लिए सिर्फ ट्विटर पर सवाल खड़े किए गए हैं. इस मामले में सबसे बदनाम प्लेटफॉर्म है फेसबुक. 9 अगस्त, 2014 को माइकल ब्राउन (उम्र 18 साल) नाम के एक अश्वेत लड़के को डैरेन विलसन नाम के एक श्वेत पुलिस वाले ने फर्गसन में गोली मार दी थी. गोली से माइकल की मौत हो गई थी, जिसके बाद फर्गसन में बड़े पैमाने पर हिंसक प्रदर्शन हुए थे. सोशल मीडिया के हर प्लेटफॉर्म पर फर्गसन की बात हो रही थी. #Ferguson के बहाने अमेरिका में अश्वेत अधिकारों के हनन पर बात हो रही थी. ये एक आंदोलन की तरह था. लेकिन #Ferguson फेसबुक की ट्रेंडिंग लिस्ट में नहीं आया. कुछ समाजशास्त्रियों ने यहां तक कहा कि फेसबुक ने इस आंदोलन को एक तरह से सेंसर कर दिया.

फिलहाल आम समझ और सहमति इसी बात पर है कि ट्विटर दूसरे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स की बनिस्बत ज़्यादा निष्पक्ष है.

भारत से ट्रेड बंद करने का ज्यादा नुकसान पाकिस्तान को ही होगा.
भारत से व्यापार बंद करने का ज्यादा नुकसान पाकिस्तान को ही होगा.

#5. क्या ट्विटर ट्रेंड को सेंसर भी करता है?

हां. ट्विटर कहता है कि वो अपने प्लैटफॉर्म पर केवल स्वस्थ चर्चा चाहता है. इसका मतलब है कि वो वक्त-वक्त पर किसी चीज़ को ट्रेंड होने से रोकता भी है. अगर किसी टॉपिक का संबंध नग्नता या हिंसा से है या फिर वो किसी समुदाय या खास पहचान वाले लोगों के खिलाफ नफरत फैलाता है तो उसके ट्रेंड होने की संभावनाएं कम हो जाती हैं.

#6. क्या ये ट्रेंड पाकिस्तान की जनता की राय है?

वापस आते हैं पाकिस्तान में चल रहे ट्रेंड पर. पाकिस्तान की जनसंख्या लगभग 19.7 करोड़ है. जनवरी, 2019 में आई एक रिपोर्ट में दावा किया गया था कि पाकिस्तान में तकरीबन 12 लाख 60 हज़ार ट्विटर यूज़र हैं, जिन तक ट्विटर पर ऐड देकर पहुंचा जा सकता है. अगर हम ये भी मान लें कि पाकिस्तान में 20 लाख ट्विटर यूज़र हैं, तो ये पाकिस्तान की आबादी के 1 फीसदी के करीब बैठता है. जैसे कि हमने ऊपर समझा ही है, ये ट्रेंड इसलिए हुआ क्योंकि पाकिस्तान के कुछ ट्विटर यूज़र्स ने एकसाथ ऐसे ट्वीट्स किए. कई लोगों ने एक से ज़्यादा ट्वीट किए. इसका मतलब ये नहीं है कि पाकिस्तान के हर ट्विटर यूज़र ने इस टॉपिक पर ट्वीट किया. बात का निचोड़ ये कि इस ट्रेंड के आधार पर ये कहा ही नहीं जा सकता कि पाकिस्तान के लोग भारतीय प्रॉडक्ट्स को बॉयकॉट करने की अपील कर रहे हैं. वहां की आबादी के एक फीसदी से भी कम लोग ऐसा सोचते हैं.

#7. भारत का सामान पाकिस्तान में बैन हो जाए तो भारत को कितना नुकसान होगा?

ट्विटर पर BoycottIndianProducts टॉपिक के तहत भारतीय कंपनियों जैसे अमूल, डाबर, एमडीएच वगैरह के प्रॉडक्ट बैन करने की बात हुई है. कुछ लोगों ने भारतीय चैनल, जैसे बिग मैजिक, कलर्स, डीडी नेशनल को बैन करने की बात भी की है. भारतीय ट्विटर यूज़र्स ने इस ट्रेंड पर भरसक मौज ली है. कहा है कि अपने पूरे देश को बैन कर लीजिए. क्योंकि वो भी तो 1947 में भारत से ही आया है. फिर कुछ लोगों ने कहा कि आप सिंधु नदी को बैन कर दीजिए. वो भी भारत से ही आती है. इस तरह के कई और ट्वीट हुए. लेकिन अब कायदे की बात पर आते हैं. भारत और पाकिस्तान के बीच व्यापार लगातार कम हुआ है. इकॉनमिक टाइम्स की खबर के मुताबिक़, फरवरी 2019 में द्विपक्षीय व्यापार तकरीबन 1178 करोड़ था. जून में ये गिरकर 754 करोड़ पर आ गया. पाकिस्तान लगातार भारत से व्यापार खत्म करने की बात कर रहा है. तो ये आंकड़ा और नीचे आ जाएगा.

बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद सामने आई फोटो. इस एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने भारत के लिए अपना एयर स्पेस बंद कर दिया था.
बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद सामने आई फोटो. इस एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने भारत के लिए अपना एयर स्पेस बंद कर दिया था.

पाकिस्तान भारत से 100 के करीब सामान आयात करता है, जिसमें सबसे बड़ा हिस्सा कैमिकल्स का है. पाकिस्तान भारत को सीमेंट बेचता है, लेकिन वो दूसरे नंबर पर आता है. पहला नंबर है फल, सब्ज़ियों और सूखे मेवों का. अगर व्यापार बंद होता है तो भारत केमिकल गोदाम में रख लेगा, कहीं और बेच देगा. लेकिन पाकिस्तान सब्ज़ियों को ज़्यादा दिन गोदाम में नहीं रख सकता. पाकिस्तान की ट्रेड ग्रोथ शून्य से नीचे है. माने वहां व्यापार सिकुड़ रहा है. तो पाकिस्तान किसी भी व्यापार से पांव पीछे खींचने की स्थिति में नहीं है. विशेषज्ञ लंबे समय से कहते आए हैं कि भारत-पाकिस्तान के बीच व्यापार बंद होने का ज़्यादा नुकसान पाकिस्तान को ही होगा.

26 जून, 2019 को उद्योग एवं वाणिज्य मंत्रालय ने एक प्रेस रिलीज़ जारी की. इसके मुताबिक भारत दुनिया को हर साल तकरीबन 34 लाख 59 हज़ार करोड़ का सामान बेचता है. भारत-पाकिस्तान के बीच होने वाले दोनों तरफ के कारोबार को भी जोड़ लें, तो वो इस रकम का महज़ 0.02 % बनता है. 754 करोड़ रुपए का घाटा भी घाटा होता है. लेकिन ये वो घाटा है, जो भारत को महसूस नहीं होगा. और पाकिस्तान को क्या मसहूस होगा? पूछिए इमरान खान से. क्योंकि 23 अगस्त, 2019 को खबर आई कि फाइनैंशियल एक्शन टास्क फोर्स (माने FATF) के एशिया पैसेफिक ग्रुप ने पाकिस्तान को अपनी इनहांस्ड एक्सपेडिटेड फॉलो-अप लिस्ट (Enhanced Expedited Follow-Up List) में डाल दिया है. ये एक तरह की ब्लैक लिस्ट है. FATF का मानना है कि पाकिस्तान ने आतंकवादी संगठनों को फायदा पहुंचाने वाली मनी लॉन्ड्रिंग पर रोक नहीं लगाई. FATF जैसी संस्थाएं तय करती हैं कि किसी देश को वर्ल्ड बैंक और इंटरनेशनल मॉनिटरी फंड से वित्तीय सहायता मिले कि नहीं. अब पाकिस्तान के पास अक्टूबर, 2019 तक का समय है. अगर तब तक उसने FATF की सिफारिशों पर अमल नहीं किया तो वो पूरी तरह से ब्लैक लिस्ट हो सकता है.

***

पुनश्चः

बालाकोट में जैश के आतंकवादी कैंप पर भारतीय वायुसेना की कार्रवाई के बाद पाकिस्तान ने भारतीय एयरलाइन्स का रास्ता रोक दिया था. भारत के प्लेन पाकिस्तान होकर मध्यपूर्व और यूरोप जाते हैं. रोक लगी तो लंबा चक्कर लगाकर जाने लगे, अरब सागर के ऊपर से. इसमें ज़्यादा तेल जलता और नुकसान होता. कुछ दिन बाद पाकिस्तान ने ये नाकेबंदी खत्म कर दी. क्यों? क्योंकि 3 जुलाई, 2019 को राज्य सभा में नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने बताया कि भारतीय एयरलाइन्स को पाकिस्तान की नाकेबंदी की वजह से तकरीबन 550 करोड़ का नुकसान हुआ था. लेकिन भारतीय प्लेन पाकिस्तान पर से गुज़र नहीं रहे थे तो उसे रूट नैविगेशन (हवा में रास्ता बताना) और दूसरी सेवाओं के लिए चुंगी भी नहीं दे रहे थे. हवाई नाकेबंदी की वजह से पाकिस्तान को उसकी मुद्रा में 1600 करोड़ का नुकसान हुआ था. ये रकम अपने यहां के 685 करोड़ रुपए के बराबर थी. तो हवाई नाकेबंदी की वजह से भारत को नुकसान हुआ, लेकिन ज़्यादा नुकसान हुआ पाकिस्तान को ही. फिर पाकिस्तान की कमज़ोर अर्थव्यवस्था के चलते ये ज़्यादा नुकसान विकराल नुकसान में बदल गया.

हाल में प्रधानमंत्री मोदी संयुक्त अरब अमीरात गए तो पाकिस्तान के ऊपर से उड़कर ही गए. वहां मोदी का सम्मान हुआ. पाकिस्तान जल भुन गया. उसे लगता था कि इस्लाम के नाम पर यूएई कश्मीर मसले पर पाकिस्तान का साथ देगा. लेकिन ऐसा हुआ नहीं. तब से मांग है कि पाकिस्तान फिर से भारतीय फ्लाइट्स का रास्ता रोके. इस खबर को देखकर भारत कम से कम इतना तो कह ही सकता है,

”एह एह एह.”

इति.


वीडियो- क्या वित्त मंत्री ने अर्थव्यवस्था सुधारने के लिए वो ही ऐलान किए जो बजट में हो चुके थे?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गंदी बात

'इस्मत आपा वाला हफ्ता' शुरू हो गया, पहली कहानी पढ़िए लिहाफ

उस अंधेरे में बेगम जान का लिहाफ ऐसे हिलता था, जैसे उसमें हाथी बंद हो.

PubG वाले हैं क्या?

जबसे वीडियो गेम्स आए हैं, तबसे ही वे पॉपुलर कल्चर का हिस्सा रहे हैं. ये सोचते हुए डर लगता है कि जो पीढ़ी आज बड़ी हो रही है, उसके नास्टैल्जिया का हिस्सा पबजी होगा.

बायां हाथ 'उल्टा' ही क्यों हैं, 'सीधा' क्यों नहीं?

मां-बाप और टीचर बच्चों को पीट-पीट दाहिने हाथ से काम लेने के लिए मजबूर करते हैं. क्यों?

फेसबुक पर हनीमून की तस्वीरें लगाने वाली लड़की और घर के नाम से पुकारने वाली आंटियां

और बिना बैकग्राउंड देखे सेल्फी खींचकर लगाने वाली अन्य औरतें.

'अगर लड़की शराब पी सकती है, तो किसी भी लड़के के साथ सो सकती है'

पढ़िए फिल्म 'पिंक' से दर्जन भर धांसू डायलॉग.

मुनासिर ने प्रीति को छह बार चाकू भोंककर क्यों मारा?

ऐसा क्या हुआ, कि सरे राह दौड़ा-दौड़ाकर उसकी हत्या की?

हिमा दास, आदि

खचाखच भरे स्टेडियम में भागने वाली लड़कियां जो जीवित हैं और जो मर गईं.

अलग हाव-भाव के चलते हिजड़ा कहते थे लोग, समलैंगिक लड़के ने फेसबुक पोस्ट लिखकर सुसाइड कर लिया

'मैं लड़का हूं. सब जानते हैं ये. बस मेरा चलना और सोचना, भावनाएं, मेरा बोलना, सब लड़कियों जैसा है.'

ब्लॉग: शराब पीकर 'टाइट' लड़कियां

यानी आउट ऑफ़ कंट्रोल, यौन शोषण के लिए आमंत्रित करते शरीर.

औरतों को बिना इजाज़त नग्न करती टेक्नोलॉजी

महिला पत्रकारों से मशहूर एक्ट्रेसेज तक, कोई इससे नहीं बचा.

सौरभ से सवाल

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

खिड़की पर बैठी दिव्या ने लिविंग रूम की तरफ मुड़कर देखा. और अपना एक हाथ खिड़की की चौखट को मजबूती से पकड़ने के लिए बढ़ाया.

कहां है 'सिर्फ तुम' की हीरोइन प्रिया गिल, जिसने स्वेटर पर दीपक बनाकर संजय कपूर को भेजा था?

'सिर्फ तुम' के बाद क्या-क्या किया उन्होंने?

बॉलीवुड में सबसे बड़ा खान कौन है?

सबसे बड़े खान का नाम सुनकर आपका फिल्मी ज्ञान जमीन पर लोटने लगेगा. और जो झटका लगेगा तो हमेशा के लिए बुद्धि खुल जाएगी आपकी.

'कसौटी ज़िंदगी की' वाली प्रेरणा, जो अनुराग और मिस्टर बजाज से बार-बार शादी करती रही

कहां है टेलीविज़न का वो आइकॉनिक किरदार निभाने वाली ऐक्ट्रेस श्वेता तिवारी?

एक्ट्रेस मंदाकिनी आज की डेट में कहां हैं?

मंदाकिनी जिन्हें 99 फीसदी भारतीय सिर्फ दो वजहों से याद करते हैं

सर, मेरा सवाल है कि एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्री आजकल कहां हैं. काफी सालों से उनका कोई पता नहीं.

‘दामिनी’ के जरिए नई ऊंचाई तक पहुंचा मीनाक्षी का करियर . फिर घातक के बाद 1996 में उन्होंने मुंबई फिल्म इंडस्ट्री को बाय बोल दिया.

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

केआरके इंटरनेट एज का ऐसा प्रॉडक्ट हैं, जो हर दिन कुछ ऐसा नया गंधाता करना रचना चाहता है.

एक्ट्रेस किमी काटकर अब कहां हैं?

एडवेंचर ऑफ टॉर्जन की हिरोइन किमी काटकर अब ऑस्ट्रेलिया में हैं. सीधी सादी लाइफ बिना किसी एडवेंचर के

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

बहुत समय पहले से बहुत समय बाद की बात है. इलाहाबाद में थे. जेब में थे रुपये 20. खरीदी हंस...

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

खुड्डी पर बैठा था. ऊपर से हेलिकॉप्टर निकला. मुझे लगा. बाबा ने बांस गहरे बोए होते तो ऊंचे उगते.