Submit your post

Follow Us

कौन है ये 43 साल का एथलीट, जिसे G.O.A.T स्पोर्ट्स स्टार बोला जा रहा है?

शशांक चतुर्वेदी. ‘लल्लनटॉप’ के दोस्त हैं. पढ़ने-लिखने में खूब इंट्रेस्ट रखते हैं. स्पोर्ट्स के समसामयिक और ऐतिहासिक विषयों पर लिखना और पढ़ना खूब पसंद है. नोवाक ज़ोकोविच, रॉजर फेडरर और राफा नडाल के जबरा फैन हैं. बास्केटबॉल से लेकर क्रिकेट तक पर बात करने के लिए कभी भी उपलब्ध रहते हैं. इस बार उन्होंने SuperBowl 2021 जीत टीम स्पोर्ट्स के सिरमौर बने टॉम ब्रैडी पर कुछ लिखा है. पढ़िए…

Superbowl अर्थात अमेरिकन फुटबॉल की सबसे बड़ी लीग NFL (नेशनल फुटबॉल लीग) का शो पीस इवेंट. अमेरिका का सबसे बड़ा और विश्व के सबसे बड़े स्पोर्टिंग इवेंट्स में से एक. 16-16 टीमों में बंटी दो कॉन्फ्रेंस, NFC अर्थात नेशनल फुटबॉल कॉन्फ्रेंस और AFC अर्थात अमेरिकन फुटबॉल कॉन्फ्रेंस की चैंपियन टीमें. फरवरी के पहले रविवार की शाम को विंस लोम्बार्डी ट्रॉफी के लिए सुपरबोल में भिड़ती हैं.

1920-21 से चल रहे NFL में सुपरबोल एरा की शुरुआत 1966-67 में हुई. बीते रविवार, 7 फरवरी 2021 को जब हम इंग्लैंड बनाम भारत, चेन्नई टेस्ट में बिजी थे, तभी 55वां सुपरबोल आयोजित हुआ. इसमें टॉम ब्रैडी भी खेल रहे थे. अब ये ब्रैडी कौन है? साल 2000 का NFL ड्राफ्ट. छठा राउंड. यूनिवर्सिटी ऑफ मिशिगन के क्वॉर्टरबैक (अमरीकी फुटबॉल की सबसे महत्वपूर्ण पोजिशन) टॉम ब्रैडी को NFL फ्रेंचाइज न्यू इंग्लैंड पेट्रियट्स ने 199वें नम्बर पर चुना.

यानी उनसे पहले 198 प्लेयर्स चुने जा चुके थे. मतलब, ब्रैडी में किसी को भी कुछ खास टैलेंट नहीं दिख रहा था. लेकिन शायद ही किसी को अंदाज़ा रहा होगा कि जब NFL के 100 साल पूरे होंगे. तो टॉम ब्रैडी ना केवल NFL के इतिहास के महानतम खिलाड़ी होंगे, बल्कि उनकी तुलना टीम स्पोर्ट्स के अल्टिमेट चैंपियन माइकल जेफरी जॉर्डन से की जाएगी.

ब्रैडी को साइन करने के समय ही न्यू इंग्लैंड पेट्रियट्स ने अपने स्टार्टिंग क्वॉर्टरबैक ड्रयू ब्लेडसो को 100 मिलियन डॉलर से ऊपर का कॉन्ट्रैक्ट दिया था. 2001-02 सीजन के दूसरे मैच में ब्लेडसो को एक खतरनाक इंजरी हुई और कोच बिल बेलेचक ने उनके बैकअप ब्रैडी को मैदान में उतारा. इस एक फैसले ने न्यू इंग्लैंड पेट्रियट्स और NFL का इतिहास बदल दिया.

ब्रैडी और बेलेचक की जोड़ी पेट्रियट्स को ना सिर्फ प्लेऑफ में लेकर गई बल्कि सुपरबोल में उस समय की ‘Greatest Show on Turf’ कही जाने वाली NFL की अजेय आक्रामक टीम और डिफेंडिंग चैंपियन ‘सेंट लुइस रैम्स’ को 20-17 से पराजित किया. यह टीम Superbowl XXXVI (36) में 14 पॉइंट फेवरेट मानी जा रही थी. Tom Brady Superbowl जीतने वाले सबसे युवा क्वॉर्टरबैक बने और Superbowl MVP (मोस्ट वैल्युएबल प्लेयर) भी.

यहां से स्पोर्ट्स जगत के संभवतः महानतम वंश की शुरुआत हुई, जो 20 साल तक अमेरिकन फुटबॉल पर राज करने वाला था. पेट्रियट्स ने अगले तीन में से दो सुपरबोल और जीत लिए. 27 वर्ष की उम्र में टॉम ब्रैडी ने तीन सुपरबोल जीत लिए थे. साथ ही वह 2 बार सुपरबोल के MVP भी बन चुके थे. हालांकि, इसके बाद भी उन्हें लीग का बेस्ट क्वॉर्टरबैक नहीं माना जा रहा था. यह तमगा उस समय उनके प्रतिद्वंद्वी पेटन मैनिंग्स के पास था.

लेकिन 2007 सीजन में ब्रैडी ने इसे भी हासिल कर लिया. इस सीजन में पेट्रियट्स ने इस जेनरेशन के बेस्ट वाइड रिसीवर (पोजिशन) रैंडी मॉस को स्क्वॉड में शामिल किया. और अपने पहले ही सीजन में ब्रैडी और मॉस ने NFL इतिहास के सारे आक्रामक रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए. ब्रैडी ने अपना पहला रेगुलर सीजन MVP जीता और अपने 16 के 16 रेगुलर सीजन गेम और 2 प्लेऑफ गेम जीतकर पेट्रियट्स की टीम Superbowl 42 में पहुंची.

NFL इतिहास की महानतम टीम बनने की दहलीज़ पर खड़ी 2007 की यह अपराजेय टीम Superbowl 42 में एक बड़े उलटफेर का शिकार हुई. New York Giants ने इन्हें 17-14 से हरा दिया. विजयी होने पर निश्चित रूप से इस टीम की तुलना वर्ष 1996 की शिकागो बुल्स से होनी थी. 2010-11 में टॉम ब्रैडी NFL के पहले सर्व-सम्मत MVP बने.

फिर आया 2014 सीजन. 37 साल के ब्रैडी ने पिछले 10 साल से सुपरबोल नहीं जीता था. 2011 Superbowl में उन्हें जाएंट्स के हाथों एक और हार मिली थी. 5 Superbowl खेलने के बाद उनका रिकॉर्ड अब 3-2 था. बातें चलने लगी थीं कि

‘क्या वो दोबारा कर पाएगा? क्या वो अब भी पहले जैसा ही है?’

रेगुलर सीजन के 16 मैचों में 12-4 के रिकॉर्ड के साथ पेट्रिएट्स प्लेऑफ में आए. यहां बाल्टिमोर रेवंस और इंडियानापोलिस कोल्ट्स को हराकर Superbowl 49 में पहुंचे. अब उन्हें लीग इतिहास की बेस्ट डिफेंसिव टीमों में से एक, पिछली बार के सुपरबोल चैंपियन सिएटल सीहॉक्स से भिड़ना था. मैच के चौथे क्वॉर्टर में टीम 10 पॉइंट्स से पीछे थी. यहां ब्रैडी के दो Score (Touchdowns) के बाद पेट्रिएट्स ने लीड हासिल की.और अंत में टीम ने एक बेहद रोमांचक सुपरबोल में विजय प्राप्त की. ब्रैडी को मिला एक और Superbowl MVP.

# खेलों के इतिहास का सबसे महान कमबैक

1980s में सैन फ्रैंसिस्को 49ers के महान क्वॉर्टरबैक जो मोंटाना ने 4 सुपरबोल जीते थे. उन्हें अभी तक लीग इतिहास का महानतम क्वॉर्टरबैक माना जाता था. लेकिन अब उन्हें आदर्श मानने वाले टॉम ब्रैडी भी इस बहस में घुस चुके थे. इस टाइब्रेकर को जीतने के लिए 39 साल के ब्रैडी को एक और सुपरबोल ट्रॉफी की जरूरत थी. लेकिन उनकी उम्र के कारण यह असंभव सा लगता था.

दरअसल अमेरिकन फुटबॉल बहुत ही फिजिकल स्पोर्ट है. और इस उम्र में एक इंजरी करियर समाप्त कर सकती थी। लेकिन इन सबके बावजूद सीजन 2016 में पेट्रिएट्स ने 16 में से 14 रेगुलर सीजन गेम जीते. फिर प्लेऑफ में ह्यूस्टन टैक्संस और पिट्सबर्ग स्टीलर्स को हराकर Superbowl 51 में जा पहुंचे.

ह्यूस्टन के NRG स्टेडियम में पेट्रिएट्स और अटलांटा फाल्कंस के बीच हो रहे इस मुकाबले में तीसरे क्वॉर्टर में साढ़े 8 मिनट बाकी थे. (मैच में साढ़े 23 मिनट) और टॉम ब्रैडी की टीम 28-3 से पीछे चल रही थी. लेकिन इसके बाद भी अटलांटा की टीम को विश्वास नहीं था कि वो जीत रहे हैं. उनके कॉर्नरबैक (डिफेंडर) रॉबर्ट अल्फोर्ड कहते नज़र आए,

‘It’s Tom Brady’

पेट्रिएट्स ने रेगुलर टाइम खत्म होने से कुछ सेकेंड पहले स्कोर 28-28 से बराबर किया. फिर ओवरटाइम में यह मैच 34-28 जीत लिया, यानी लगातार 31 पॉइंट्स बनाए गए. यह ब्रैडी और पेट्रिएट्स की 5वीं सुपरबोल ट्रॉफी थी. अब ब्रैडी NFL इतिहास के महानतम क्वॉर्टरबैक बन चुके थे. साथ ही वह सबसे अधिक 4 बार Superbowl MVP भी थे.

# महानतम प्लेयर का नया सफर

अगले साल भी ब्रैडी अपनी टीम को सुपरबोल में ले गए. लेकिन यहां अब तक की बेस्ट क्वॉर्टरबैक परफॉर्मेंस के बाद भी उनकी टीम जीत नहीं पाई. हालांकि अगले साल Superbowl 53 में पेट्रिएट्स फिर सुपरबोल चैंपियन बन गए. 41 साल के ब्रैडी 6 बार सुपरबोल जीतने वाले अकेले खिलाड़ी (किसी भी पोजिशन पर खेलने वाले) बन गए.

पेट्रिएट्स के साथ 20 साल बिताने और 6 चैंपियनशिप जीतने के बाद ब्रैडी ने नई पारी की शुरुआत की. मार्च 2020 में उन्होंने फ्लोरिडा स्थित टैम्पा बे की फ्रेंचाइज टैम्पा बे बकनेयर्स के साथ 2 साल का कॉन्ट्रैक्ट किया. बताया गया कि उन्होंने पेट्रिएट्स के हेड कोच और जनरल मैनेजर बेलेचक के साथ कथित विवाद के चलते यह कदम उठाया.

अक्सर चर्चा होती थी कि पेट्रिएट्स की सफलता में बड़ा रोल किसका था- NFL के महानतम कोच बिल बेलेचक का, या महानतम क्वॉर्टरबैक टॉम ब्रैडी का. इसका जवाब कभी नहीं मिला. लेकिन शायद ब्रैडी खुद के लिए इसका जवाब चाहते थे. उन्हें देखना था कि बेलेचक के बिना वह Superbowl जीत सकते हैं या नहीं.

अब 43 साल के ब्रैडी एक ऐसी टीम में थे, जो पिछले 13 साल से प्लेऑफ में नहीं गई थी. ना ही इस टीम ने पिछले दो दशक में एक भी प्लेऑफ मैच जीता था. पिछले सीजन भी टीम ने 16 में से सिर्फ सात मैच जीते थे. लेकिन इस टीम के पास प्रतिभाशाली युवा खिलाड़ी थे. जिन्हें जरूरत थी कबीर खान की. एक ऐसे लीडर की जो इस टीम में जीतने का कल्चर लेकर आए.

हेड कोच ब्रूस एरिएंस के रूप में ब्रैडी को सही साथी मिला था. टैम्पा बे के पास दो स्टार वाइड रिसीवर माइक इवांस और क्रिस गॉडविन थे ही. और ब्रैडी अपने साथ नौ साल तक पेट्रिएट्स में टाइट एंड पोजीशन पर खेले सबसे भरोसेमंद साथी रॉब ग्रोंकोव्स्की को भी ले आए. ग्रोंक ने एक साल पहले ही सिर्फ 29 साल की उम्र में रिटायरमेंट ले ली थी.

रिटायरमेंट के बाद WWE में चले गए ग्रोंक, ब्रैडी के साथ खेलने के लिए वापस आ गए. इनके साथ ब्रैडी दो और ऐसे प्लेयर्स को अपने साथ लाए जिन्हें उनकी टीमें छोड़ चुकी थीं. एंटोनियो ब्राउन और लियोनार्ड फॉरनेट्टे नाम के इन प्लेयर्स को कोई टीम लेना ही नहीं चाहती थी. लेकिन ब्रैडी इन्हें टैम्पा बे में ले आए. Superbowl 55 Tampa Bay में ही होना था. यानी, अगर ब्रैडी की टीम सुपरबोल में पहुंचती, तो वे अपने होम ग्राउंड में सुपरबोल खेलने वाली पहली टीम बन जाते.

टैम्पा बे को प्लेऑफ का दावेदार तो माना जा रहा था. लेकिन वहां से आगे जाना संभव नहीं लग रहा था. 16 में से 11 रेगुलर सीजन मैच जीतकर ब्रैडी की इस टीम ने प्लेऑफ का वाइल्ड कार्ड हासिल किया. अब उन्हें सुपरबोल से पहले कॉन्फ्रेंस चैंपियनशिप समेत 3 प्लेऑफ मैच जीतने थे. यह तीनों ही मैच विपक्षी टीम के होम ग्राउंड में होने थे. इन तीन में से दो टीमें रेगुलर सीजन में टैम्पा बे से बेहतर रही थीं.

दोनों की दोनों पूर्व सुपरबोल चैंपियन और भविष्य के हॉल ऑफ फेम क्वॉर्टरबैक्स की अगुआई में खेल रही थीं. प्लेऑफ के दूसरे राउंड में ड्रयू ब्रीस की न्यू ऑरलींस सेंट्स और NFC चैंपियनशिप गेम में NFL MVP आरोन रॉजर्स की ग्रीन बे पैकर्स को पराजित करके टैम्पा बे सुपरबोल में एंटर कर गई.

# Superbowl LV (55)

ब्रैडी की टैम्पा बे का सामना अब डिफेंडिंग सुपरबोल चैंपियन और NFL की सर्वश्रेष्ठ टीम द कंसास सिटी चीफ्स से था. कंसास के पास लीग के मौजूदा बेस्ट क्वॉर्टरबैक पैट्रिक महोमस लीग के टॉप वाइड रिसीवर्स में से एक टायरीक हिल. ट्रेविस केसी के रूप में वर्तमान का बेस्ट टाइट एंड और लेजेंडरी कोच एंडी रीड थे. 25 साल के महोमस ने अपने तीन साल के करियर में हर बार कॉन्फ्रेंस चैंपियनशिप मैच खेला था.

तीन साल में यह उनका दूसरा सुपरबोल था. वह पहले साल में रेगुलर सीजन MVP थे जबकि दूसरे में सुपरबोल चैंपियन और Superbowl MVP. काफी लोगों के लिए यह मुकाबला G.O.A.T (ग्रेटेस्ट ऑफ ऑल टाइम) और Baby G.O.A.T के बीच था. इसमें ब्रैडी, महोमस को मशाल सौंपने वाले थे. NFL Network, ESPN, CBS, FOX, NBC लगभग हर चैनल के स्पोर्ट्स एनालिस्ट ने कंसास सिटी को फेवरिट बताया था.

यहां तक कि इन विश्लेषकों द्वारा कंसास सिटी चीफ्स को उनके पास उपलब्ध टैलेंट और कोचिंग स्टाफ के कारण NFL का अगला वंश मान लिया गया था. लेकिन टैम्पा बे के डिफेंसिव को-ऑर्डिनेटर टॉड बॉल्स के गेमप्लान के सामने कंसास सिटी चीफ्स कुछ न कर सके. हाफ टाइम तक स्कोर 21-6 था.

टैम्पा बे के युवा डिफेंसिव खिलाड़ियों ने लीग के गोल्डन बॉय महोमस को कोई अवसर नहीं दिया। डिफेंस के शानदार प्रदर्शन और टॉम ब्रैडी के 3 Scores ने Tampa Bay Buccaneers को चार क्वॉर्टर की समाप्ति के बाद 31-9 से जीत दिला दी. शुरुआती दो Touchdowns (6 Point Scores) के लिए ब्रैडी ने ग्रोंक के साथ कनेक्ट किया जबकि तीसरे के लिए एंटोनियो ब्राउन के साथ.

यह टॉम ब्रैडी की 7वीं सुपरबोल जीत थी और वे 5वीं बार Superbowl MVP बने थे. किसी भी NFL टीम ने 6 से अधिक सुपरबोल नहीं जीते थे. दो टीमों के साथ सुपरबोल जीतने वाले वे लीग इतिहास में मात्र दूसरे क्वॉर्टरबैक हैं. 2001-02 सीजन में वे Superbowl MVP बनने वाले सबसे युवा क्वॉर्टरबैक थे, जबकि 2020-21 में सबसे उम्रदराज. यह तीसरी बार था जब उन्होंने डिफेंडिंग सुपरबोल चैंपियंस पर विजय पाई थी.

# Father Time Is Defeated

40 की उम्र या इसके बाद मात्र तीन तीन क्वॉर्टरबैक सुपरबोल में खेले हैं. 40 साल के टॉम ब्रैडी, 41 साल के टॉम ब्रैडी और 43 साल के टॉम ब्रैडी. खेल की दुनिया में एक कहावत है ‘Father Time is undefeated’ यानी उम्र के साथ शरीर में आने वाले बदलावों से सब हार जाते हैं. पर ब्रैडी अभी तक Father Time से पराजित नहीं हुए हैं.

ब्रैडी को एक बात हमेशा याद रही कि साल 2000 NFL Draft में उनसे पहले 198 और खिलाड़ी और 6 अन्य क्वॉर्टरबैक चुने जा चुके थे. यह बात उन्हें सदैव प्रेरित करती रही। न्यू इंग्लैंड पेट्रिएट्स के मालिक रॉबर्ट क्राफ्ट क़ई बार कह चुके हैं कि चुने जाने के बाद ब्रैडी ने उनके ऑफिस में आकर अपना परिचय देते हुए कहा था,

‘मैं इस संस्था द्वारा लिए गए फैसलों में सर्वश्रेष्ठ हूं.’

टीम स्पोर्ट्स में अभी तक किसी को भी माइकल जॉर्डन के बराबर नहीं माना गया था. 6 NBA Championships, 6 Finals MVPs, दो बार चैंपियनशिप की हैट्रिक. 1990s में जॉर्डन स्पोर्ट्स जगत के सम्राट रहे. यहां तक कि अन्य टीम स्पोर्ट्स में भी कोई खिलाड़ी अभी तक जॉर्डन के कद को नहीं छू सका था. लेकिन इस 7वीं सुपरबोल विजय के बाद ब्रैडी को निश्चित तौर पर माइकल जॉर्डन के बराबर खड़ा किया जा सकता है.

उनके करियर को तीन बराबर हिस्सों में बांटकर भी तीन Hall of fame Career निकल सकते हैं. प्रसिद्ध अमेरिकन स्पोर्ट्स विश्लेषक स्किप बेलिस के शब्दों में कहें तो,

‘खेल में आपको एक बंदे के खिलाफ कभी भी शर्त नहीं लगानी चाहिए- थॉमस एडवर्ड पैट्रिक ब्रैडी जूनियर.’
सबसे बड़ा नहीं, सबसे मजबूत नहीं, सबसे तेज नहीं, सबसे फुर्तीला नहीं लेकिन सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ.


वसीम जाफर ने सांप्रदायिक होने के आरोपों पर क्या कहा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गंदी बात

बहू-ससुर, भाभी-देवर, पड़ोसन: सिंगल स्क्रीन से फोन की स्क्रीन तक कैसे पहुंचीं एडल्ट फ़िल्में

जिन फिल्मों को परिवार के साथ नहीं देख सकते, वो हमारे बारे में क्या बताती हैं?

चरमसुख, चरमोत्कर्ष, ऑर्गैज़म: तेजस्वी सूर्या की बात पर हंगामा है क्यों बरपा?

या इलाही ये माजरा क्या है?

राष्ट्रपति का चुनाव लड़ रहे शख्स से बच्चे ने पूछा- मैं सबको कैसे बताऊं कि मैं गे हूं?

जवाब दिल जीत लेगा.

'इस्मत आपा वाला हफ्ता' शुरू हो गया, पहली कहानी पढ़िए लिहाफ

उस अंधेरे में बेगम जान का लिहाफ ऐसे हिलता था, जैसे उसमें हाथी बंद हो.

PubG वाले हैं क्या?

जबसे वीडियो गेम्स आए हैं, तबसे ही वे पॉपुलर कल्चर का हिस्सा रहे हैं. ये सोचते हुए डर लगता है कि जो पीढ़ी आज बड़ी हो रही है, उसके नास्टैल्जिया का हिस्सा पबजी होगा.

बायां हाथ 'उल्टा' ही क्यों हैं, 'सीधा' क्यों नहीं?

मां-बाप और टीचर बच्चों को पीट-पीट दाहिने हाथ से काम लेने के लिए मजबूर करते हैं. क्यों?

फेसबुक पर हनीमून की तस्वीरें लगाने वाली लड़की और घर के नाम से पुकारने वाली आंटियां

और बिना बैकग्राउंड देखे सेल्फी खींचकर लगाने वाली अन्य औरतें.

'अगर लड़की शराब पी सकती है, तो किसी भी लड़के के साथ सो सकती है'

पढ़िए फिल्म 'पिंक' से दर्जन भर धांसू डायलॉग.

मुनासिर ने प्रीति को छह बार चाकू भोंककर क्यों मारा?

ऐसा क्या हुआ, कि सरे राह दौड़ा-दौड़ाकर उसकी हत्या की?

हिमा दास, आदि

खचाखच भरे स्टेडियम में भागने वाली लड़कियां जो जीवित हैं और जो मर गईं.

सौरभ से सवाल

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

खिड़की पर बैठी दिव्या ने लिविंग रूम की तरफ मुड़कर देखा. और अपना एक हाथ खिड़की की चौखट को मजबूती से पकड़ने के लिए बढ़ाया.

कहां है 'सिर्फ तुम' की हीरोइन प्रिया गिल, जिसने स्वेटर पर दीपक बनाकर संजय कपूर को भेजा था?

'सिर्फ तुम' के बाद क्या-क्या किया उन्होंने?

बॉलीवुड में सबसे बड़ा खान कौन है?

सबसे बड़े खान का नाम सुनकर आपका फिल्मी ज्ञान जमीन पर लोटने लगेगा. और जो झटका लगेगा तो हमेशा के लिए बुद्धि खुल जाएगी आपकी.

'कसौटी ज़िंदगी की' वाली प्रेरणा, जो अनुराग और मिस्टर बजाज से बार-बार शादी करती रही

कहां है टेलीविज़न का वो आइकॉनिक किरदार निभाने वाली ऐक्ट्रेस श्वेता तिवारी?

एक्ट्रेस मंदाकिनी आज की डेट में कहां हैं?

मंदाकिनी जिन्हें 99 फीसदी भारतीय सिर्फ दो वजहों से याद करते हैं

सर, मेरा सवाल है कि एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्री आजकल कहां हैं. काफी सालों से उनका कोई पता नहीं.

‘दामिनी’ के जरिए नई ऊंचाई तक पहुंचा मीनाक्षी का करियर . फिर घातक के बाद 1996 में उन्होंने मुंबई फिल्म इंडस्ट्री को बाय बोल दिया.

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

केआरके इंटरनेट एज का ऐसा प्रॉडक्ट हैं, जो हर दिन कुछ ऐसा नया गंधाता करना रचना चाहता है.

एक्ट्रेस किमी काटकर अब कहां हैं?

एडवेंचर ऑफ टॉर्जन की हिरोइन किमी काटकर अब ऑस्ट्रेलिया में हैं. सीधी सादी लाइफ बिना किसी एडवेंचर के

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

बहुत समय पहले से बहुत समय बाद की बात है. इलाहाबाद में थे. जेब में थे रुपये 20. खरीदी हंस...

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

खुड्डी पर बैठा था. ऊपर से हेलिकॉप्टर निकला. मुझे लगा. बाबा ने बांस गहरे बोए होते तो ऊंचे उगते.