Submit your post

Follow Us

जब निर्विरोध निरोध का नाम रखा गया 'कंडोम'

5
शेयर्स

बकलोल होते हैं वो लोग, जो सेक्स से पहले कंडोम का कंडेम और निरोध का विरोध करते हैं. सरकारी ऐड की मानें तो खुलकर बोलना चाहिए कंडोम. बहुत से लोगों का नामकरण संस्कार प्रोग्राम कैंसिल करवाने वाले कंडोम के नामकरण की कहानी भी दिलचस्प है. यूं तो कंडोम नाम पहली बार कब लिया गया, इसको लेकर कई दावे हैं. जन्म रोकने के लिए जिम्मेदार कंडोम के जन्म का श्रेय किसे जाता है? इसी सवाल का जवाब खोजने की कोशिश में सामने आए कई किस्से. आपके लिए निर्विरोध पेश हैं निरोध की कहानियां.

क्या-क्या हैं कंडोम के किस्से…
1. लैटिन भाषा का शब्द है कंडूस. मतलब होता है संदूक, बक्सा. यानी जिसमें कुछ बंद किया जा सके. कंडोम शब्द की उत्पत्ति भी कंडूस शब्द से बताई जाती है.

2. 16वीं सदी में यूरोप में एक बीमारी फैली. नाम था syphilis. यौन संबंध बनाने से बैक्टीरिया फैलता था. इसी दौर के इटालियन डॉक्टर हुए गेबरियल फालोपियो. ‘मोरबो गैलिको’ किताब लिखी. इसमें इस बीमारी का समाधान बताते हुए उन्होंने लिखा, ‘सिल्क और लिनेन से बने एक सॉल्यूशन को इस बीमारी के खिलाफ इस्तेमाल किया गया.’

3. 1645 में एक कर्नल क्वॉन्डम थे. अंग्रेजों की आर्मी में डॉक्टर थे. गट कंडोम को ईजाद करने का श्रेय कर्नल क्वॉन्डम को दिया जाता है.

4. इतिहास में तीन सज्जन हुए मार्कुइस डे साडे. केसेनोवा और जेम्स बोसवैल. इन तीनों के लिखने में कंडोम का जिक्र रहा.

5. 1764 में एक वकील और लेखक वेश्यालय जाने पर कंडोम का इस्तेमाल करता है. वजह बताता है बीमारियों से बचाव के लिए. मतलब उस दौर में यौन संबंधों के दौरान सुरक्षा की बचाव के कॉन्सेप्ट को लोग समझ चुके थे.

6. केसेनोवा के भी सेक्स के दौरान ‘इंग्लिश रैनकोट्स’ नामक आइटम के इस्तेमाल का जिक्र मिलता है.

7. शुरू में जानवरों की आंत से सेक्स करने के दौरान एक खोल बनाया गया. शुरुआती दौर के कंडोम का साइज भी छोटा होता था.

8. कंडोम को फ्रेंच में कपोटे भी कहा जाता था.

9. एक किस्सा और है कंडोम का. पर इतिहासकार इसे सिरे से खारिज करते हैं. किस्सा कुछ यूं है कि एक थे डॉक्टर कंडोम. ये डॉक्टर साहेब 17वीं सदी के राजा चार्ल्स-2 के शासनकाल के दौरान के थे. इनके जिम्मे था ऐसी डिवाइज को बनाना, जिससे शाही तख्त के अहम को बताया जा सके.

10. इन सबसे इतर कंडोम को लेकर सबसे पुराने फैक्ट्स हैं फ्रांस के ग्रोट्टे देस कॉम्बैरेलस का. ये फ्रांस में पाई जाने वाली गुफाओं के नाम हैं. ये बात अब से 10 या 15 हजार साल पहले की है. इन गुफाओं में कंडोम जैसे दिखने वाले चित्र पाए गए.

यहां मिले सबसे पहले कंडोम!

various-sponges-condom-credit-case-edu

दबी आवाज या फुल चौड़ में. पड़ोस के मेडिकल स्टोर या पान की दुकान पर कंडोम बड़ी आसानी से मिल जाते हैं. पर पहली बार एक खास दुकान पर कंडोम मिलने शुरू हुए 18वीं सदी के आस पास. एम्स्टर्डम में दुकान थी. वेन मोर्देचे कोहेन नाम के व्यापारी हुए. मेमने के मूत्राशय और रिबन से सेक्स करने से पहले इस्तेमाल के लिए बनाया एक आइटम. नाम रखा कंडोन्स. दो महिलाओं ने उस दौर में ही कंडोम की दुकानें लंदन में खोलीं. नाम था फिलिप्स और परकिन्स. दोनों औरतों में था तगड़ा कॉम्पिटिशन. लेकिन एक लेडी इन सबसे शातिर. धुले कंडोम बेचती थीं मैडम.

कंडोम का कविता कनेक्शन

कंडोम नाम का जिक्र कुछ कविताओं में भी देखने को मिला. जॉन हेमिल्टन बेल्नाविस कवि थे. 1706 में एक कविता लिखा. इस कविता में भी कंडम शब्द का जिक्र रहा. कविता के बोल अंग्रेजी में कुछ यूं थे…

When Reasoning’s answer’d
By seconded Votes,
And speeches are banter’d
By outfield turn-coats,
Then Sirenge and Condum
Come both in request,
While virtuous Quondam
Is treated in Jest.

बाबा आदम से लेकर एडम गिलक्रिस्ट के आज के आपके हमारे दौर तक. कंडोम कहां से कहां तक पहुंच चुका है. भारत में पहले चिकनाई युक्त रबड़, फिर निरोध और अब कंडोम. कहीं फुसफुसाते हुए तो कहीं खुल्ले में इस्तेमाल किया जा रहा है. पर कंडोम यूजर्स की तरह इसके नामकरण की भी कई कहानी हैं. अगर आपको भी कंडोम के नाम से जुड़ी कोई कहानी पता है तो कमेंट बॉक्स में हमारे साथ शेयर करें. और हां, ध्यान रखिए. सुरक्षा ही बचाव है. शरमाइए मत.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

आरामकुर्सी

मुंबई के वो किस्से, जिनमें यही आदमी बाघ की तरह बैठ सकता था

छा गया था बाल ठाकरे का बिना देखे भाषण देना. फिल्मों के डायलॉग यूज़ कर के सबको एक सुर से गाली देना.

क्या था इस आदमी में कि लोग उसकी मौत पर भरोसा नहीं कर पा रहे थे?

17 नवम्बर 2012, शिवाजी पार्क, मुंबई. एक आवाज उठती है, 'बाला साहेब....' लाखों चिल्लाते हैं, 'अमर रहें'. अब फ्लैशबैक की कहानी.

6 किस्से भारत के उस आर्मी चीफ के, जिसके बेटे को बंदी बना पाक आर्मी चीफ ने तुरंत फोन किया था

नेहरू को इस बात का डर था कि जनरल करियप्पा तख्तापलट कर सकते हैं?

जानिए, अमेरिकी ठिकानों पर हुआ ईरान का हमला जंग टलने की गुड न्यूज़ कैसे लाया?

8 जनवरी को US से बदला लेने के लिए ईरान ने दो इराकी ठिकानों पर करीब 30 बलिस्टिक मिसाइलें दागी थीं.

अमेरिका ने स्ट्राइक कर ईरान के नंबर 2 को मारा, पूरी दुनिया को उठाना पड़ सकता है नुकसान

ईरान ने कहा है, वो अमेरिका से तगड़ा बदला लेगा. US ने अपने सारे लोगों को इराक से चले जाने को कहा है.

सावित्रीबाई फुले, जिन्होंने लड़कियों के लिए स्कूल खोला तो लोगों ने उन पर गोबर फेंका

घर छोड़ दिया लेकिन पढ़ाने का काम नहीं छोड़ा.

चेतन शर्मा: उस छक्के के लिए सब याद रखते हैं, उस हैट-ट्रिक के लिए कोई नहीं

भारत की ओर से शायद वो सर्वश्रेष्ठ हैट-ट्रिक है.

इराक में ऐसा क्या हुआ कि ईरान समर्थक भीड़ अमेरिकी दूतावास में घुस गई?

104 एकड़ में फैले अपने दूतावास की हिफ़ाजत के लिए अमेरिका को इराक के बाहर से कमांडो भेजने पड़े.

CAA पर राज्यपाल आरिफ मुहम्मद खान और इतिहासकार इरफान हबीब के झगड़े में गलती किसकी?

राज्यपाल ने कहा, उन्हें धक्का दिया गया. इरफान कह रहे हैं, 88 साल की उम्र में मैं ऐसा कैसे कर पाऊंगा.

बाढ़ में पिता का मेडल बह गया था, लिएंडर पेस ने घर में मेडल्स की बाढ़ ला दी

वो खिलाड़ी जो अपनी 'सबसे खराब' टेनिस खेलकर भी मेडल ले आया.

सौरभ से सवाल

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

खिड़की पर बैठी दिव्या ने लिविंग रूम की तरफ मुड़कर देखा. और अपना एक हाथ खिड़की की चौखट को मजबूती से पकड़ने के लिए बढ़ाया.

कहां है 'सिर्फ तुम' की हीरोइन प्रिया गिल, जिसने स्वेटर पर दीपक बनाकर संजय कपूर को भेजा था?

'सिर्फ तुम' के बाद क्या-क्या किया उन्होंने?

बॉलीवुड में सबसे बड़ा खान कौन है?

सबसे बड़े खान का नाम सुनकर आपका फिल्मी ज्ञान जमीन पर लोटने लगेगा. और जो झटका लगेगा तो हमेशा के लिए बुद्धि खुल जाएगी आपकी.

'कसौटी ज़िंदगी की' वाली प्रेरणा, जो अनुराग और मिस्टर बजाज से बार-बार शादी करती रही

कहां है टेलीविज़न का वो आइकॉनिक किरदार निभाने वाली ऐक्ट्रेस श्वेता तिवारी?

एक्ट्रेस मंदाकिनी आज की डेट में कहां हैं?

मंदाकिनी जिन्हें 99 फीसदी भारतीय सिर्फ दो वजहों से याद करते हैं

सर, मेरा सवाल है कि एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्री आजकल कहां हैं. काफी सालों से उनका कोई पता नहीं.

‘दामिनी’ के जरिए नई ऊंचाई तक पहुंचा मीनाक्षी का करियर . फिर घातक के बाद 1996 में उन्होंने मुंबई फिल्म इंडस्ट्री को बाय बोल दिया.

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

केआरके इंटरनेट एज का ऐसा प्रॉडक्ट हैं, जो हर दिन कुछ ऐसा नया गंधाता करना रचना चाहता है.

एक्ट्रेस किमी काटकर अब कहां हैं?

एडवेंचर ऑफ टॉर्जन की हिरोइन किमी काटकर अब ऑस्ट्रेलिया में हैं. सीधी सादी लाइफ बिना किसी एडवेंचर के

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

बहुत समय पहले से बहुत समय बाद की बात है. इलाहाबाद में थे. जेब में थे रुपये 20. खरीदी हंस...

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

खुड्डी पर बैठा था. ऊपर से हेलिकॉप्टर निकला. मुझे लगा. बाबा ने बांस गहरे बोए होते तो ऊंचे उगते.