Submit your post

Follow Us

जब दीपन ने जयललिता को धकियाया, पीटा और नीचे गिरा दिया

1.66 K
शेयर्स

तमिलनाडु सरकार को टिंचर देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने अगस्त में कहा था कोई भी स्टेट, स्टेट मशीनरी का इतना बुरा यूज नहीं करता, जितना तमिलनाडु सरकार करती है. किसी CM की हेल्थ कंडीशन पर कोई बात बोल देने से किसी पर मानहानि का केस नहीं बन जाता.

DMDK चीफ विजयकांत की अपील पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने तमिलनाडु की जयललिता सरकार को नसीहत भी दी थी कि मानहानि कानून को पॉलिटिकल हथियार की तरह नहीं यूज किया जाना चाहिए.

विजयकांत के खिलाफ मानहानि के 14 केस दर्ज करवाए गए थे. यहां तक कि उनके साथ-साथ उनकी वाइफ के खिलाफ भी गैर जमानती वारंट जारी हो गया था. और ये सब हुआ केवल इसलिए क्योंकि उन्होंने CM जयललिता के खिलाफ बोला था और तमिलनाडु की राज्य सरकार की आलोचना की थी.

जयललिता AIDMK की सर्वेसर्वा थीं. उनके खिलाफ तमिलनाडु में कुछ बोल पाना भी मुश्किल था. पर ये किस्सा है, उस वक्त का जब जयललिता को सरेआम पीट दिया गया था. ये है जयललिता के एक पॉलिटिकल हस्ती बनने से पहले का किस्सा.

MGR की लाश के पास 21 घंटे खड़ी रहीं जयललिता

MGR-Jayalalitha-movie
एक फिल्म के सीन में MGR और जयललिता

दिसम्बर महीने के बीच का वक्त. साल 1987. चेन्नई का राजाजी हॉल. 38 साल की एक औरत जयललिता जयराम. जो उस वक्त अन्नाद्रमुक की प्रचार सचिव थीं. और आज तमिलनाडु की मुख्यमंत्री हैं. देश की सबसे शक्तिशाली औरतों में से एक, उस दिन करीब 21 घंटे से एक लाश के पास खड़ी थीं. और वो लाश थी तमिलनाडु के बहुत बड़े नेता MGR की.

जयललिता को पीटा गया और नीचे गिरा दिया गया

जब MGR के शव को राजाजी हॉल से निकालकर ले जाया जाने लगा तो जयललिता ने भी उस गाड़ी पर चढ़ने की कोशिश की, जिससे MGR को ले जाया जा रहा था. पर तभी आए MGR की पत्नी जानकी रामचंद्रन के भतीजे दीपन. दीपन ने जयललिता के सिर पर जोर से मारा और उन्हें नीचे उतार दिया. फिर जयललिता ने चढ़ने की कोशिश की तो दीपन ने उन्हें पीटा, धकियाया और नीचे गिरा दिया.

जयललिता ने इस बारे में कहा था,

‘मैंने फिर चढ़ने की कोशिश की, पर दीपन ने फिर मुझे धकियाया, पीटा और नीचे गिरा दिया. मेरे पूरे शरीर पर खरोंचें आईं, मैं बुरी तरह से घायल हो गई.’

अन्नाद्रमुक के एक और विधायक भी जयललिता को पीटने में शामिल थे. उनका नाम था डॉ. के पी रामलिंगम. जयललिता का कहना तो ये भी था,

‘जब मैं वहां पर खड़ी थी, तो करीब 7-8 औरतें मेरे पास आईं और खड़ी हो गईं. बार-बार वो मेरे पैरों को कुचलती रहीं. मेरे शरीर में यहां-वहां नाखून गड़ाती रहीं और नोचती रहीं. चेहरा छोड़ पूरे शरीर पर उन्होंने हमले किए, क्योंकि चेहरे पर वे कुछ करतीं तो लोगों को नजर आ जाता.’

दरअसल MGR के मरने के बाद जयललिता समर्थक और जयललिता विरोधी दो गुटों में अन्नाद्रमुक का बंटवारा हो चुका था. MGR का परिवार चाहता था कि जयललिता इस आखिरी विदाई में भाग न लें. इसलिए जयललिता के साथ MGR के घरवालों ने ऐसा बर्ताव किया. आखिर में जयललिता उनसे बचने के लिए अपने गुट के लोगों के बीच चली आईं.

इससे पहले जब जयललिता को खबर मिली थी कि उनके आइडल नेता MGR की मौत हो गई है तो फौरन वो MGR के घर के लिए निकल पड़ी थीं.

Indian Prime Minister Atal Behari Vajpayee (R) confers with Jayaram Jayalalitha, chief of the southern All India Anna Dravida Munnetra Kazhagam (AIADMK) party, key ally of the ruling coalition, before the start of a meeting of the coordination committe of the ruling Bharatiya Janata Party (BJP) led coalition alliance in New Delhi March 27. The meeting was called to discussed the political situation before the start of Indian parliament session on April 12. SM/TAN
पूर्व प्रधानमंत्री अटल वाजपेयी के साथ

जयललिता से जब इस घटना के बाद पूछा गया कि उनके हिसाब से उत्तराधिकारी कौन होगा, तो जयललिता ने मंझे हुए राजनीतिज्ञ की तरह से जवाब दिया था कि लोकतंत्र में उत्तराधिकारी का चुनाव जनता करती है. जयललिता पॉलिटिक्स में बहुत आगे जाएंगी, इसका पता उसी समय लग गया था. वो दिन है और एक आज का दिन है, जब जयललिता यानी अम्मा से पूछे बिना AIDMK में एक पत्ता भी नहीं हिलता.

Jayaram Jayalalitha (R), leader of the regional All India Anna Dravida Munnetra Kazhagam party (AIADMK), a key partner in India's minority government, shakes hands with Sonia Gandhi, president of India's main opposition Congress party in New Delhi on April 15. Jayalalitha, whose party withdrew vital support for the government April 14, said it was up to the Congress party to form its own government or cobble together a coalition. KK/JIR/WS
सोनिया गांधी के साथ जयललिता

MGR के अंतिम संस्कार में करीब 20 लाख लोग पहुंचे हुए थे. इतनी भीड़ थी कि उसको कंट्रोल करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा था, आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े थे. दंगे जैसा माहौल हो गया था. लोगों ने सारे शहर में तोड़-फोड़ की थी. फिर भी जयललिता का मानना था कि MGR जब करोड़ों लोगों के लीडर थे, तो उनकी आखिरी विदाई में बस 20 लाख लोगों का पहुंचना बहुत कम है.

जयललिता की ये बात भले ही कनपुरिया कहावत झाड़े रहो कलक्टरगंज  टाइप रही हो पर आखिर वक्त ने ये साबित कर ही दिया कि चाहे वो अन्नादुरई रहे हों या MGR, अगर कोई उनका असली सक्सेसर होने लायक था तो वो जयललिता ही थीं.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गंदी बात

'इस्मत आपा वाला हफ्ता' शुरू हो गया, पहली कहानी पढ़िए लिहाफ

उस अंधेरे में बेगम जान का लिहाफ ऐसे हिलता था, जैसे उसमें हाथी बंद हो.

PubG वाले हैं क्या?

जबसे वीडियो गेम्स आए हैं, तबसे ही वे पॉपुलर कल्चर का हिस्सा रहे हैं. ये सोचते हुए डर लगता है कि जो पीढ़ी आज बड़ी हो रही है, उसके नास्टैल्जिया का हिस्सा पबजी होगा.

बायां हाथ 'उल्टा' ही क्यों हैं, 'सीधा' क्यों नहीं?

मां-बाप और टीचर बच्चों को पीट-पीट दाहिने हाथ से काम लेने के लिए मजबूर करते हैं. क्यों?

फेसबुक पर हनीमून की तस्वीरें लगाने वाली लड़की और घर के नाम से पुकारने वाली आंटियां

और बिना बैकग्राउंड देखे सेल्फी खींचकर लगाने वाली अन्य औरतें.

'अगर लड़की शराब पी सकती है, तो किसी भी लड़के के साथ सो सकती है'

पढ़िए फिल्म 'पिंक' से दर्जन भर धांसू डायलॉग.

मुनासिर ने प्रीति को छह बार चाकू भोंककर क्यों मारा?

ऐसा क्या हुआ, कि सरे राह दौड़ा-दौड़ाकर उसकी हत्या की?

हिमा दास, आदि

खचाखच भरे स्टेडियम में भागने वाली लड़कियां जो जीवित हैं और जो मर गईं.

अलग हाव-भाव के चलते हिजड़ा कहते थे लोग, समलैंगिक लड़के ने फेसबुक पोस्ट लिखकर सुसाइड कर लिया

'मैं लड़का हूं. सब जानते हैं ये. बस मेरा चलना और सोचना, भावनाएं, मेरा बोलना, सब लड़कियों जैसा है.'

ब्लॉग: शराब पीकर 'टाइट' लड़कियां

यानी आउट ऑफ़ कंट्रोल, यौन शोषण के लिए आमंत्रित करते शरीर.

औरतों को बिना इजाज़त नग्न करती टेक्नोलॉजी

महिला पत्रकारों से मशहूर एक्ट्रेसेज तक, कोई इससे नहीं बचा.

सौरभ से सवाल

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

खिड़की पर बैठी दिव्या ने लिविंग रूम की तरफ मुड़कर देखा. और अपना एक हाथ खिड़की की चौखट को मजबूती से पकड़ने के लिए बढ़ाया.

कहां है 'सिर्फ तुम' की हीरोइन प्रिया गिल, जिसने स्वेटर पर दीपक बनाकर संजय कपूर को भेजा था?

'सिर्फ तुम' के बाद क्या-क्या किया उन्होंने?

बॉलीवुड में सबसे बड़ा खान कौन है?

सबसे बड़े खान का नाम सुनकर आपका फिल्मी ज्ञान जमीन पर लोटने लगेगा. और जो झटका लगेगा तो हमेशा के लिए बुद्धि खुल जाएगी आपकी.

'कसौटी ज़िंदगी की' वाली प्रेरणा, जो अनुराग और मिस्टर बजाज से बार-बार शादी करती रही

कहां है टेलीविज़न का वो आइकॉनिक किरदार निभाने वाली ऐक्ट्रेस श्वेता तिवारी?

एक्ट्रेस मंदाकिनी आज की डेट में कहां हैं?

मंदाकिनी जिन्हें 99 फीसदी भारतीय सिर्फ दो वजहों से याद करते हैं

सर, मेरा सवाल है कि एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्री आजकल कहां हैं. काफी सालों से उनका कोई पता नहीं.

‘दामिनी’ के जरिए नई ऊंचाई तक पहुंचा मीनाक्षी का करियर . फिर घातक के बाद 1996 में उन्होंने मुंबई फिल्म इंडस्ट्री को बाय बोल दिया.

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

केआरके इंटरनेट एज का ऐसा प्रॉडक्ट हैं, जो हर दिन कुछ ऐसा नया गंधाता करना रचना चाहता है.

एक्ट्रेस किमी काटकर अब कहां हैं?

एडवेंचर ऑफ टॉर्जन की हिरोइन किमी काटकर अब ऑस्ट्रेलिया में हैं. सीधी सादी लाइफ बिना किसी एडवेंचर के

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

बहुत समय पहले से बहुत समय बाद की बात है. इलाहाबाद में थे. जेब में थे रुपये 20. खरीदी हंस...

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

खुड्डी पर बैठा था. ऊपर से हेलिकॉप्टर निकला. मुझे लगा. बाबा ने बांस गहरे बोए होते तो ऊंचे उगते.