Submit your post

Follow Us

'चरित्रहीन' औरतों की पहचान करना सिखाते बेहूदे, भद्दे, घिनहे वीडियो

30.15 K
शेयर्स

अपने छोटे से किराए के घर में अगर मैं एक चाय बनाने वाला पतीला भी खरीदूं, तो मां कहती है शनिवार को मत लेना, अशुभ होता है. हमारा जीवन शुभ-अशुभ से घिरा हुआ है. छोटी-छोटी मान्यताएं, जाने कहां, कैसे इन्होंने जन्म लिया, मालूम नहीं. मगर पीढ़ी दर पीढ़ी लोग इनको मानते आ रहे हैं. इसलिए हममें से कुछ लोग आज भी इन्हें बिना सवाल किए मानते हैं. कुछ सिर्फ मां का दिल रखने के लिए मान लेते हैं.

ऐसे ही एक वस्तु और होती है, जिसे पतीलों, सोफा, वॉशिंग मशीन और फ्रिज की तरह जिसे घर में लाया जाता है. ये देखकर कि वो शुभ है या अशुभ. इस वस्तु का नाम है ‘बहू’.

A bride gets her make-up done before the start of a mass marriage ceremony in Kolkata, India, February 14, 2016. A total of 150 tribal Hindu, Muslim and Christian couples from various villages across the state took their wedding vows on Sunday during the day-long mass marriage ceremony organised by a social organisation, the organisers said. REUTERS/Rupak De Chowdhuri TPX IMAGES OF THE DAY
Source: Reuters

वो महज पति की पत्नी नहीं होती. वो खानदान की बहू होती है. और चूंकि वो पूरे खानदान के लिए लाई जाती है, जरूरी है कि वो शुभ हो, कुलक्षिणी न हो. इसलिए बहू लाने के पहले उसकी फोटो देखी जाती है. नैन-नक्श देखे जाते हैं. शक्ल से भोली हो. सबसे जरूरी बात, गोरी हो और दांत अराब-खराब न हों. वो नशा करती होगी या उसका कोई पिछला प्रेमी होगा ये अब भी छोटे शहरों और गावों में सोचा तक नहीं जाता, इसे अपनाने की बात तो बहुत दूर की है.

गोरी, ‘सुंदर’, दुबली पतली लड़की जो लड़के से लंबी न हो, ऐसी बहुओं का चलन है हमारे यहां. बहुओं का चुनाव भी वैसे ही किया जाता है जैसे ड्रॉइंग रूम के परदे खरीदते हैं. वो परदे कमरे को सूट करने चाहिए. अगर आने वाली बहू बात करने लगेगी, अपनी ख्वाहिशें बताने लगेगी, तो वो इंसान हो जाएगी. लेकिन हमें तो परदे चाहिए होते हैं. अच्छी क्वालिटी के. जैसे हा पर्दों की जांच करते हैं कि डिफेक्टिव न हों, लड़कियों की जांच भी करते हैं.

और यूट्यूब के कुछ वीडियो इसमें लगातार हमारी मदद कर रहे हैं.

यूट्यूब पर हर तरह के वीडियो हैं. 5 फन वाले नाग से लेकर पेड़ में उभरने वाले गणेश की छवि को लेकर. योनि गीली क्यों होती है से लेकर लिंग को बड़ा कैसे करें तक, हर तरह के वीडियो जो सॉफ्ट पॉर्न जैसे हैं. और कुछ वीडियो ऐसे हैं, जो भद्दे, बेहूदे होने की हर हद पार कर देते हैं. ये वीडियो हैं ‘चरित्रहीन’ औरतों की पहचान कराने वाले वीडियो.

चरित्रहीन 1

बता दें कि ऐसा नहीं कि ये वीडियो लड़कियों को उनके काम या आदतों के हिसाब से जज करें, जैसा किया जाना आम है. ये तो उनके शरीर के अंगों से उनकी पहचान करना बताते हैं. जैसे बाजार में सब्जियों की शक्ल देखकर हम उन्हें समझने की कोशिश करते हैं कि वो कितनी ताजी हैं. इन वीडियो में क्या है, उसकी एक झलक है ये. वीडियो आपको नहीं दिखाएंगे. लेकिन जो इनमें कहा गया है उसके टुकड़े यहां हैं.

चरित्रहीन 2

ये होते हैं बुरे चरित्र वाली औरतों के लक्षण.

1. अगर उसके पांव की सबसे छोटी उंगली, या उसके साथ वाली उंगली ज़मीन को न छूती हो. या फिर अंगूठे के साथ वाली उंगली अंगूठे से बड़ी हो.

2. अगर महिला क्रोधी और अनियंत्रित हो.

3. अगर उसके पांव की पिंडलियां मोटी हों तो.

4. पतले पेट वाली औरतें पति, चौड़े माथे वाली देवर के लिए और बड़े कूल्हों वाली ससुर के लिए अशुभ होती हैं.

5. कानों में बाल वाली स्त्री घार में क्लेश करवाती है.

6. बड़े दांत वाली औरत हमेशा दुखी रहती है.

7. डरी और पीली आंखों वाली, डिंपल पड़ने वाली औरतें.

8. लंबी गर्दन वाली औरतें वंश का विनाश करती हैं.

इसके अलावा ये वीडियो पांव और हथेलियों पर अलग-अलग आकार देखने की बात कहते हैं. अलग अलग आकारों का अलग-अलग मतलब बताते हैं.

इसके अलावा ये भी कहते हैं ये वीडियो:

‘औरतों का भविष्य शारीरिक लक्षणों के हिसाब से भिन्न होता है. उनकी शकल से उनक कुटिलता का अंदाज़ा नहीं लगता. लेकिन उनके अंग देखकर उनके बारे में जाना जा सकता है.’

और अगर आप इनके हिसाब से अच्छी औरत की परिभाषा जानना चाहें, तो वो ये होती है:

‘जो लड़की चांद से गोल चेहरे वाली हो, गोरी हो, जिसके होंठ गुलाबी हों, जिनकी उंगलियां लंबी और सामने से नुकीली हों, वो सौभाग्यशाली होती हैं. इसलिए उनसे शादी की जाए.’

सौभाग्यशाली

कितनी कमाल की बात है, कि कहीं न कहीं इनकी ‘अच्छी लड़की’ की परिभाषा उन अखबारी इश्तेहारों में फिट बैठती है, जो ‘वधू चाहिए’ में छपते हैं. जो लड़की शक्ल से गोरी, मीडियम बनावट की हो, वो इनके लिए अच्छी लड़की होती है. जिस तरह गोश्त को खरीदते समय हम उसके ज्यादा और कम मांसल भागों को अलग करते हैं, जिस तरह हम देखते हैं कि कौन सा ताज़ा है और किसमें ज्यादा स्वाद आएगा, उसी तरह ये लड़की के अंगों को देखकर उन्हें पसंद करने की हिदायत देते हैं.

अपने बाचाव में ये पहले ही कह देते हैं कि इस वीडियो के माध्यम से किसी स्त्री की संवेदनाएं आहत नहीं करना चाहते हैं. उसके बाद ‘सामुद्रिक रहस्य’ और देवी देवताओं का नाम लेकर कहते हैं कि ये सब तो प्राचीन काल में लिखा गया था. हम तो आपको बस बता भर रहे हैं.

पहले ही ‘चरित्रहीन’ शब्द कई तरीकों से गलत है. अपने मन की बात बेख़ौफ़ होकर कहने वाली हर औरत से लेकर सिगरेट-शराब पीने वाली औरत, शादी के पहले सेक्स करने वाली औरत से लेकर शादी के बाद पति के अलावा किसी अन्य पुरुष से सेक्स करने वाली औरतें, सभी को चरित्रहीन कहा जाता है. टाइट कपड़े पहनने, लिपस्टिक लगाने वाली लड़कियां भी कई लोगों को चरित्रहीन लगती हैं, रात को पार्टी करने वाली औरतें ‘वेश्या’ कहलाती हैं. हमारी नैतिकता की डिक्शनरी में तो अपने परिवार की बेटियों को छोड़कर दुनिया की सभी लड़कियां चरित्रहीन ही पाई जाती हैं.

symbolic image: reuters
symbolic image: reuters

हां, यही सब काम अगर पुरुष करें तो वो चरित्रहीन नहीं होते. बुरे हो सकते हैं, बदमाश, बिगड़ैल हो सकते हैं, मगर चरित्रहीन कभी नहीं होते. क्योंकि परिवार की इज्जत उनमें नहीं बसती. वो तो औरतों की योनियों और छातियों में बसती है.


 

ये भी पढ़ें:

ढिंचाक पूजा पर गाना चुराने का आरोप, इंटरनेट से गायब

आपकी बहन-बेटी को ‘वेश्या’ कहने वाले व्यक्ति और आप में क्या फर्क है?

GST: सैनिटरी पैड पर सोने से चार गुना टैक्स लगाया है हमारी सरकार ने

जनाब, लड़कियां अपनी टांगें केवल सेक्स के लिए नहीं खोलतीं

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

आरामकुर्सी

लक्ष्मण ट्रबलशूटर नाम तिहारो!

पांच मैच: जब सारी उम्मीदें मर गईं और लक्ष्मण गेंदबाज़ों के साथ मैच जिता लाए. आज बड्डे है उनका.

ऐश्वर्या से प्यार के वो किस्से, जो आपको कहीं और नहीं मिलेंगे

गॉसिप भरी दुनिया में ये सच्चा है, अच्छा है.

कौन है ये आदमी, जिसकी वजह से पाकिस्तान में एकबार फिर इतना बवाल मचा हुआ है?

पाकिस्तान में समय का पहिया घूमा है. जैसा उन्होंने नवाज के आगे किया, वैसा अब उनके आगे हो रहा है.

सरदार पटेल ने RSS पर बैन क्यों लगाया था?

बैन लगने और हटने की पूरी कहानी. पटेल संघ को लेकर क्या सोचते थे और उन्होंने क्या-क्या कहा...

31 अक्टूबर, 1984: सलमा ने बालों में गुलाब नहीं लगाया था, सारा देश जान गया कि कुछ बुरा हुआ है

उस दिन और उसके बाद जो हुआ, उनकी आंच अब भी राजनीति में उबाल ला देती है!

मादी शर्मा: पीएम के साथ तस्वीर से लेकर कश्मीर में विवादित डेलिगेशन भेजने तक

ये पूरी कवायद कुछ बेहद पेचीदा सवाल हमारे लिए छोड़ जा रही है.

मर जाने के बाद बगदादी की लाश के साथ क्या हुआ?

इस ऑपरेशन का एक हीरो है- US डिफेंस डिपार्टमेंट का एक कुत्ता. जबकि ट्रंप बोले थे- बगदादी कुत्ते की मौत मरा.

आतिशबाज मिट्ठूलाल: ऐसी क़ाबिलियत कि इंदिरा गांधी और जैल सिंह भी उठ खड़े हुए

दिवाली की खास पेशकश. जबरदस्त पटाखा है. पढ़ लो.

कौन था बगदादी? कैसे खड़ा किया उसने अपना स्टेट? जानिए शुरुआत से अंत तक की उसकी पूरी कहानी

बगदादी जिन विदेशियों को मारता था, उन्हें नारंगी रंग के कपड़े क्यों पहनाता था?

जसपाल भट्टी के 10 ज़िंदादिल किस्से

कैसे थे निजी जीवन में जसपाल भट्टी?

सौरभ से सवाल

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

खिड़की पर बैठी दिव्या ने लिविंग रूम की तरफ मुड़कर देखा. और अपना एक हाथ खिड़की की चौखट को मजबूती से पकड़ने के लिए बढ़ाया.

कहां है 'सिर्फ तुम' की हीरोइन प्रिया गिल, जिसने स्वेटर पर दीपक बनाकर संजय कपूर को भेजा था?

'सिर्फ तुम' के बाद क्या-क्या किया उन्होंने?

बॉलीवुड में सबसे बड़ा खान कौन है?

सबसे बड़े खान का नाम सुनकर आपका फिल्मी ज्ञान जमीन पर लोटने लगेगा. और जो झटका लगेगा तो हमेशा के लिए बुद्धि खुल जाएगी आपकी.

'कसौटी ज़िंदगी की' वाली प्रेरणा, जो अनुराग और मिस्टर बजाज से बार-बार शादी करती रही

कहां है टेलीविज़न का वो आइकॉनिक किरदार निभाने वाली ऐक्ट्रेस श्वेता तिवारी?

एक्ट्रेस मंदाकिनी आज की डेट में कहां हैं?

मंदाकिनी जिन्हें 99 फीसदी भारतीय सिर्फ दो वजहों से याद करते हैं

सर, मेरा सवाल है कि एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्री आजकल कहां हैं. काफी सालों से उनका कोई पता नहीं.

‘दामिनी’ के जरिए नई ऊंचाई तक पहुंचा मीनाक्षी का करियर . फिर घातक के बाद 1996 में उन्होंने मुंबई फिल्म इंडस्ट्री को बाय बोल दिया.

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

केआरके इंटरनेट एज का ऐसा प्रॉडक्ट हैं, जो हर दिन कुछ ऐसा नया गंधाता करना रचना चाहता है.

एक्ट्रेस किमी काटकर अब कहां हैं?

एडवेंचर ऑफ टॉर्जन की हिरोइन किमी काटकर अब ऑस्ट्रेलिया में हैं. सीधी सादी लाइफ बिना किसी एडवेंचर के

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

बहुत समय पहले से बहुत समय बाद की बात है. इलाहाबाद में थे. जेब में थे रुपये 20. खरीदी हंस...

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

खुड्डी पर बैठा था. ऊपर से हेलिकॉप्टर निकला. मुझे लगा. बाबा ने बांस गहरे बोए होते तो ऊंचे उगते.