Submit your post

Follow Us

औरतों को बिना इजाज़त नग्न करती टेक्नोलॉजी

72
शेयर्स

एक महशूर भारतीय पत्रकार हैं. औरत हैं. ज़ाहिर सी बात है, ट्रोल होती रहती हैं. लोग गालियां देते हैं, रेप की धमकियां देते हैं. मगर बीते साल उनके साथ कुछ ऐसा हुआ था, जिसने उन्हें इतनी बुरी तरह तोड़ दिया, कि वो बेहोश होती रहीं, उल्टियां करती रहीं. अस्पताल में भर्ती होना पड़ा.

उनका गुनाह क्या था. कठुआ में बच्ची के गैंगरेप हुआ था. उन्होंने रेपिस्टों का सपोर्ट कर रहे लोगों का विरोध किया. नतीजतन पहले उनके नाम से फेक ट्वीट वायरल किए गए. और फिर इंटरनेट पर आया उनका वीडियो. एक ऐसा वीडियो जिसमें वो नग्न थीं, शारीरिक संबंध बनाती दिख रही थीं. वीडियो उनके अपने मोबाइल तक पहुंच चुका था.

PP KA COLUMN

उन्होंने खुद को देखा. तुरंत उल्टी आ गई. असल में वीडियो में वो थीं ही नहीं. एक आम से पॉर्न क्लिप में महिला एक्टर के शरीर पर उनका चेहरा जोड़ दिया गया था. चेहरे के हाव-भाव, सब वीडियो के मुताबिक़ थे. देश के हजारों लोग वो वीडियो देख चुके थे और उसे असल मान बैठे थे. क्योंकि एडिटिंग इतनी सफाई से की गई थी.

वीडियो में उनका नंबर डाल दिया गया था. और लोग उन्हें मैसेज करने लगे थे. हर जगह, हर मिनट, उनसे उनके जिस्म का रेट पूछा जा रहा था.

जब वो उस केस को पलटकर देखती हैं तो सिहर उठती हैं. कहती हैं:

‘मैं मजबूत हूं. पत्रकार हूं, फेमिनिस्ट हूं. पर उस वक़्त, जब खुद को मैंने अपनी फ़ोन की स्क्रीन पर देखा, कुछ काम न आया. मैं डरी हुई थी. घरवालों तक से नजरें नहीं मिला पा रही थी. ये जानते हुए कि इसमें न तो मैं हूं और न ही किसी भी तरीके से मैं गलत हूं.’

ये इकलौता केस नहीं है, जब चेहरा बदलकर किसी का वीडियो बनाया गया हो. महिला सेलेब्स अक्सर इसका शिकार होती हैं. और ये वीडियो डीपफ़ेक की केटेगरी के नाम से खूब चलते हैं.

क्या होता है डीपफ़ेक (Deepfake)?

डीपफ़ेक दो शब्दों के मेल से बनता है. ‘डीप लर्निंग’ और ‘फ़ेक’. डीप लर्निंग, आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस का एक हिस्सा है. आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस को सरल शब्दों में समझें तो ऐसी टेक्नोलॉजी, जो खुद काम कर सकती है, अपनी अक्ल लगाकर. जैसे आप गूगल असिस्टेंट से कह दें कि म्यूजिक बजाओ. उसमें आपको खुद उठकर म्यूजिक प्ले नहीं करना पड़ता. इंसानी दिमाग के जितना करीब हो, आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस उतनी ही बेहतर मानी जाएगी.

डीपफ़ेक, ‘ह्यूमन इमेज सिंथेसिस’ नाम की टेक्नोलॉजी पर काम करता है. जैसे हम किसी भी चीज की फोटोकॉपी कर लेते हैं. वैसे ही ये टेक्नोलॉजी चलती-फिरती चीजों की कॉपी कर सकती है. यानी स्क्रीन पर एक इंसान आप चलते-फिरते, बोलते देख सकते हैं, जो नकली हो.

ये उसी तरह है जैसे एकता कपूर के सीरियल में प्लास्टिक सर्जरी से पुराने चेहरे को नया चेहरा मिल जाता है. और लोगों को लगता है कि सारे काम वो व्यक्ति कर रहा है, जिसका चेहरा दिख रहा है.
ये उसी तरह है जैसे एकता कपूर के सीरियल में प्लास्टिक सर्जरी से पुराने चेहरे को नया चेहरा मिल जाता है. और लोगों को लगता है कि सारे काम वो व्यक्ति कर रहा है, जिसका चेहरा दिख रहा है.

इस टेक्नोलॉजी की नींव पर बनी एप्स बेहद नुकसान पहुंचा सकती हैं. इससे किसी एक व्यक्ति के चेहरे पर, दूसरे का चेहरा लगाया जा सकता है. वो भी इतनी सफ़ाई और बारीकी से, कि नीचे वाले चेहरे के सभी हाव-भाव तक ऊपर वाले चेहरे पर दिख सकते हैं. ये उसी तरह है जैसे एकता कपूर के सीरियल में प्लास्टिक सर्जरी से पुराने चेहरे को नया चेहरा मिल जाता है. और लोगों को लगता है कि सारे काम वो व्यक्ति कर रहा है, जिसका चेहरा दिख रहा है.

और इसका इस्तेमाल हम कैसे करते हैं

इसका इस्तेमाल हम जैसे करते हैं, उससे हमारी कुंठाओं का पता चलता है. एक सोशल मीडिया प्लेटफार्म है ‘रेडिट’. फेसबुक या ट्विटर से अलग, ये एक डिस्कशन फोरम है. अलग-अलग टॉपिक के थ्रेड होते हैं इधर. रेडिट पर एक यूजर ने सबसे पहले आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल करते हुए फ़ेक वीडियो डाला. यूजर का नाम था ‘डीपफ़ेक’. यहीं से पॉर्न की एक नई केटेगरी चालू हुई.

2 साल पुरानी इस टेक्नोलॉजी का शिकार हर मशहूर एक्ट्रेस हो चुकी है. इन नामों की गिनती ख़त्म नहीं होती. एंजलीना जोली, वंडर वुमन वाली गाल गदोत, हैरी पॉटर वाली एमा वॉटसन, गेम ऑफ़ थ्रोंस में मार्जरी का किरदार निभाने वाली नेटली डोर्मर, थॉर और ब्लैक स्वान जैसी फिल्मों में दिखीं नेटली पोर्टमन, कोई इससे नहीं बचा है. इंडिया में ऐश्वर्या, कटरीना, प्रियंका चोपड़ा और तमाम एक्ट्रेसेज के इस तरह के नकली वीडियो फैलाने की कोशिश की गई है.

एक अश्लील वीडियो से नेटली पोर्टमन का स्क्रीनशॉट. इसमें सिर्फ नेटली का चेहरा इस्तेमाल किया गया है. (तस्वीर बीबीसी से साभार)
एक अश्लील वीडियो से नेटली पोर्टमन का स्क्रीनशॉट. इसमें सिर्फ नेटली का चेहरा इस्तेमाल किया गया है. (तस्वीर बीबीसी से साभार)

टीवी और फिल्मों में दिखने वाली एक्ट्रेस, असल में न्यूड कैसी लगेंगी. या पॉर्नोग्राफिक वीडियो में कैसी दिखेंगी, ये देखने की लोगों में कितनी तड़प है, वो इन वीडियोज की संख्या को देखकर पता लगता है. मशहूर औरत को नग्न देखने की चाह और उसका ये नतीजा बेहद खतरनाक है. मगर इससे भी खतरनाक एक और चीज है. जिसे हम रिवेंज पॉर्न के नाम से जानते हैं.

रिवेंज पॉर्न

रिवेंज का अर्थ है बदला. अक्सर ऐसा होता है कि रिश्ते ख़तम होने के बाद, अपने पार्टनर को बदनाम करने के लिए लड़का या लड़की उसकी प्राइवेट तस्वीरें सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर डाल देते हैं. अक्सर ये असली तस्वीरों के इस्तेमाल से होता है. कपल जब रिलेशनशिप में होते हैं तो एक-दूसरे के साथ इंटिमेट तस्वीरें खिंचवाने में लिहाज नहीं करते. ज़ाहिर है, कोई ये सोचकर किसी रिश्ते की शुरुआत नहीं करता कि धोखा मिलेगा.

'इज्जत' खोने का खतरा लड़की को ज्यादा होता है.
‘इज्जत’ खोने का खतरा लड़की को ज्यादा होता है.

मगर जो कपल्स सावधानी बरतते हुए ऐसा नहीं भी करते हैं, उन्हें डीपफ़ेक पूरी सुविधा देता है. इसकी शिकार लड़कियां ज्यादा होती दिखती हैं. क्योंकि लोग लड़कियों के शरीर को लड़कों के मुकाबले नग्न देखने की ज्यादा इच्छा रखते हैं. दूसरी बात ये भी, कि ‘इज्जत’ खोने का खतरा लड़की को ज्यादा होता है.

और रिवेंज पॉर्न के बाद

इसके बाद नंबर आता है पुरुष ईगो का. जिसको हर्ट होने के लिए ब्रेक अप या प्यार में कथित धोखे जैसी बड़ी चीज नहीं चाहिए होती. एक स्वतंत्र महिला जो अपने विचार सामने रखने में डरती नहीं है, किसी भी रैंडम पुरुष को परेशान कर सकती है. उसे भी, जो उसे जानता तक नहीं.

लोग चिढ़ते दोनों से हैं. महिलाओं से भी, पुरुषों से भी. लेकिन जिस घृणा का सामना सोशल मीडिया पर औरत को करना पड़ता है, उतना पुरुष को नहीं करना पड़ता.

स्वरा भास्कर और सोना महापात्रा: ट्रोल्स की प्रिय, जो तीन टाइम गाली खाकर सोती हैं.
स्वरा भास्कर और सोना महापात्रा: ट्रोल्स की प्रिय, जो तीन टाइम गाली खाकर सोती हैं.

महिला जिस वक़्त पॉलिटिकल और सामाजिक मुद्दों पर बोलने लगती है, उस वक़्त उससे घृणा और बढ़ जाती है. ये घृणा महज़ असहमति से नहीं उपजती. असहमति हो तो बहस की जा सकती है. कभी ये बहसें गर्म होकर पर्सनल भी हो जाएं, ऐसा भी मुमकिन है. लेकिन किसी औरत का पॉर्न वीडियो बनाकर फैला देना, असहमति नहीं, निडर और वाचाल औरतों से हर्ट होते पौरुष की निशानी है.

और घृणा में कोई रुकावट न हो, इसलिए

इसलिए लॉन्च होती हैं ‘डीप न्यूड’ जैसी ऐप. जो भी लड़की की तस्वीर डालने पर जवाब में आपको उसकी नग्न फोटो दे सकती है. अंग्रेजी वेबसाइट ‘वाईस’ ने इस ऐप का इस्तेमाल पुरुषों की तस्वीरों पर कर के देखा, तो ऐप ने पुरुष की पतलून के ऊपर की औरत का प्राइवेट पार्ट लगाकर नतीजा दिखा दिया.

30 सेकंड में औरत को नग्न करने वाली ऐप आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस की लेटेस्ट डिस्कवरी है. इसमें महिला की फोटो कॉपी कर, इन्टरनेट पर मैचिंग शरीर खोज, फिर फोटोशॉप जैसे सॉफ्टवेर से उसे एडिट करने की मेहनत बचती है. बस फोटो डालिए और कमाल देखिए.

online-bullying-700X400
30 सेकंड में औरत को नग्न करने वाली ऐप आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस की लेटेस्ट डिस्कवरी है. इसमें महिला की फोटो कॉपी कर, इन्टरनेट पर मैचिंग शरीर खोज, फिर फोटोशॉप जैसे सॉफ्टवेर से उसे एडिट करने की मेहनत बचती है.

ऐप को बंद कर दिया गया है. ताकि महिलाओं के खिलाफ क्राइम्स को बढ़ावा न मिले. मगर उस मानसिकता का क्या, जो आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस जैसी टेक्नोलॉजिकल क्रांति का उपयोग लड़कियों को नग्न करने में लगा रही है.

बढ़ती और बेहतर होती टेक्नोलॉजी, जहां एक ओर औरतों की पब्लिक सेफ्टी में एक बड़ी भूमिका निभा सकती है, और काफी हद तक निभा भी रही है. वहीं दूसरी ओर यही टेक्नोलॉजी उन्हें ठीक उतना ही कमज़ोर बना रही है, जितना वो टेक्नोलॉजी के इस युग के पहले थीं.

फ्रैंकेंस्टाइन्स मॉन्स्टर

आज से 200 साल पहले मेरी शेली नाम की औरत ने एक किताब लिखी थी. जिसमें एक नामी और टैलेंटेड साइंटिस्ट सोचता है कि वो क्रांति लाएगा. मेडिसिन की दुनिया में ऐसा एक्सपेरिमेंट करेगा, जिससे वस्तुओं में जान फूंक देगा. उसका सपना था कि वो इतना सक्सेसफुल हो, कि लोगों के हाथ-पैर अगर कभी कट गए तो वापस उग आएं, वो एक ऐसे प्रोसीजर को ईजाद करे.

एक्सपेरिमेंट के दौरान वो एक मॉन्स्टर यानी राक्षस को जन्म दे देता है. जो आउट ऑफ़ कंट्रोल है. जिसे रोकने का कोई तरीका नहीं है. जो धरती पर ज़लज़ला ला सकता है.

अगर आर्टिफीशियल इंटेलीजेंस का इस्तेमाल लड़कियों को नग्न करने के लिए किया जाता रहेगा. तो इसे फ्रैंकेंस्टाइन्स मॉन्स्टर ही पुकारना पड़ेगा.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

आरामकुर्सी

जब घबराई हुई सोनिया गांधी से इंदिरा ने कहा, 'डरो मत, मैं भी जवान थी और मुझे भी प्यार हुआ था'

इंदिरा गांधी की जयंती पर पढ़ें उनकी सोनिया से पहली मुलाकात का किस्सा.

रूसी लड़की के साथ दारा सिंह का डांस और उनकी पत्नी की जलन

जानिए, दारा सिंह को कैसे मिला हनुमान का रोल.

जवाहर लाल नेहरू ने अपनी जिंदगी के कितने दिन जेल में बिताए?

आज बहुत से लोगों को ऐसा लगता है कि नेहरू की जिंदगी बहुत अय्याशी में बीती. क्या ऐसा था?

क्या नेहरू के दादा का नाम गयासुद्दीन गाजी था?

ये है नेहरू के खानदान का इतिहास, जिसका एक सिरा दिल्ली पुलिस की वेबसाइट पर भी है.

इज़रायल में ऐसा क्या हो रहा है कि भारत में ट्विटर पर 'इज़रायल अंडर अटैक' ट्रेंड करने लगा?

इज़रायल पर एक ही दिन में दागे गए 190 से ज़्यादा रॉकेट. और इस सबके बीच उंगलियां उठ रही हैं नेतन्याहू पर.

जब जवाहर पंडित ने करवरिया बंधुओं के सीने पर रायफल तान दी थी

जवाहर पंडित हत्याकांड में उम्रकैद की सजा पाए करवरिया बंधुओं की पूरी कहानी.

जिस समय बाबरी मस्जिद गिराई जा रही थी, तब क्या नरसिम्हा राव पूजा पर बैठे थे?

पूजा वाली इस कहानी के जवाब में राव के डॉक्टर ने क्यों कहा था- बॉडी डज़ नॉट लाई.

बाबरी मस्जिद विध्वंस : कौन हैं आंदोलन के दस बड़े चेहरे?

जो राम मंदिर आंदोलन और बाबरी मस्जिद विवाद से जुड़े रहे.

अयोध्या केस: जानिए, इलाहाबाद हाई कोर्ट के जजों ने अपने फैसले में क्या कहा था?

अदालत के इस फैसले में 2.77 एकड़ की विवादित ज़मीन तीनों पक्षों में बांट दी गई थी.

अयोध्या केस की टाइमलाइन: 1857 से अब तक, जो भी बड़ी चीजें हुईं सब जानिए

कब क्या हुआ, जानिए शुरुआत से अब तक का घटनाक्रम.

सौरभ से सवाल

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

खिड़की पर बैठी दिव्या ने लिविंग रूम की तरफ मुड़कर देखा. और अपना एक हाथ खिड़की की चौखट को मजबूती से पकड़ने के लिए बढ़ाया.

कहां है 'सिर्फ तुम' की हीरोइन प्रिया गिल, जिसने स्वेटर पर दीपक बनाकर संजय कपूर को भेजा था?

'सिर्फ तुम' के बाद क्या-क्या किया उन्होंने?

बॉलीवुड में सबसे बड़ा खान कौन है?

सबसे बड़े खान का नाम सुनकर आपका फिल्मी ज्ञान जमीन पर लोटने लगेगा. और जो झटका लगेगा तो हमेशा के लिए बुद्धि खुल जाएगी आपकी.

'कसौटी ज़िंदगी की' वाली प्रेरणा, जो अनुराग और मिस्टर बजाज से बार-बार शादी करती रही

कहां है टेलीविज़न का वो आइकॉनिक किरदार निभाने वाली ऐक्ट्रेस श्वेता तिवारी?

एक्ट्रेस मंदाकिनी आज की डेट में कहां हैं?

मंदाकिनी जिन्हें 99 फीसदी भारतीय सिर्फ दो वजहों से याद करते हैं

सर, मेरा सवाल है कि एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्री आजकल कहां हैं. काफी सालों से उनका कोई पता नहीं.

‘दामिनी’ के जरिए नई ऊंचाई तक पहुंचा मीनाक्षी का करियर . फिर घातक के बाद 1996 में उन्होंने मुंबई फिल्म इंडस्ट्री को बाय बोल दिया.

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

केआरके इंटरनेट एज का ऐसा प्रॉडक्ट हैं, जो हर दिन कुछ ऐसा नया गंधाता करना रचना चाहता है.

एक्ट्रेस किमी काटकर अब कहां हैं?

एडवेंचर ऑफ टॉर्जन की हिरोइन किमी काटकर अब ऑस्ट्रेलिया में हैं. सीधी सादी लाइफ बिना किसी एडवेंचर के

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

बहुत समय पहले से बहुत समय बाद की बात है. इलाहाबाद में थे. जेब में थे रुपये 20. खरीदी हंस...

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

खुड्डी पर बैठा था. ऊपर से हेलिकॉप्टर निकला. मुझे लगा. बाबा ने बांस गहरे बोए होते तो ऊंचे उगते.