Submit your post

Follow Us

गाय का आखिरी पूर्वज 400 साल पहले मर गया था

6.91 K
शेयर्स

कितने पशु हैं कि जिन्हें खिलाने के बाद उनका माथा सहलाने की इच्छा होती है? वह है गाय. मासूम आंखों और भोली सीरत वाली. अंग्रेजी में ‘काऊ’. जिसकी सबसे दोस्ती, न काहू से बैर.

हमारे कक्का कहते हैं कि गाय को थोड़ा प्यार दो तो वह ज्यादा चाहती है. ज्यादा प्यार दो तो और ज्यादा. वह लाड़ की भूखी है. उसकी गर्दन सहलाओ तो आगे बढ़कर आपके कंधे पर मुंह झुका लेती है. यह गाय से हमारा प्रेम ही था कि कुछ लोग चालाकी से उसे ‘पॉलिटिकल पशु’ बना ले गए.

Cow4

खैर, पॉलिटिकल बातें तो होती रहती हैं, आज बात हिस्ट्री की. जिसका दूध पीते हैं, जिसे श्रद्धा से देखते हैं, वह आई कहां से?

हिंदू मान्यताओं के हिसाब से समुद्र मंथन से निकली तमाम बेशकीमती चीजों में थी ‘कामधेनु’ गाय. इसमें थीं चमत्कारिक शक्तियां और उसके दर्शन मात्र से सब दुख हो जाते थे दूर. इसी गाय के लिए एक बार वसिष्ठ और विश्वामित्र में भसड़ भी हुई थी. खैर.

तो गुरु आज के जमाने में जो गाय है, उसके पूर्वज थे ओरॉक. यों समझ लो कि सांड का भी महाजंगली रूप. बड़े बड़े सींग, दिखने में खतरनाक और पावरफुल. ताकत, मूर्खता और उजड्डपने से भरे हुए. 5000 ईसा पूर्व का टाइम था. बाद में एशिया, अफ्रीका और यूरोप के मैदानी इलाकों के लोग मांस और चमड़े के लिए ओरॉक पालने लगे. फिर उनको लगा दूध का चस्का. दूध से जमाने लगे दही और फिर बनाने लगे पनीर. बस यहीं से रायता फैल गया. होड़ मच गई ओरॉक पालने की.

aurochs

4000 ईसा पूर्व तक आते-आते इंसानों को बैलों की ताकत का सदुपयोग करना भी आ गया. उन्हें हलों और पहिए वाली गाड़ियों में लगा दिया गया.

बाद के दिनों में जरूरत के मुताबिक ओरॉक के शरीर बदले और वे इस दौर के गाय-सांड में तब्दील होने लगे. पुराने ओरॉक विलुप्त हो गए. रिकॉर्ड के मुताबिक, दुनिया का आखिरी ओरॉक यूरोप के पोलैंड में साल 1627 में मर गया. तो ओरॉक की कहानी जो है, वो हुई खतम.

अब जो नर ‘कैटल’ था उसे कहा गया सांड और मादा को कहा गया ‘काऊ’ यानी गाय. सांड होता है उत्पाती. इंसान को उसकी ज्यादा संख्या में जरूरत नहीं थी. बस गाड़ी और हल खींचने के लिए कुछ शांत, लेकिन ताकतवर सांड चाहिए थे. तो सांड का करा दिया गया बधियाकरण. तब उन्हें काम पर लगाया गया और उन्हें ‘बैल’ कहा गया.

सेंट्रल एशिया के लोगों ने गाय-बैल ज्यादा पाले क्योंकि वहां उनके खाने के लिए घास के बड़े बड़े मैदान थे. सहारा रेगिस्तान के दक्षिण में भी गाय पाली गई. प्राचीन मिस्र के मेराय शहर से लेकर सूडान तक के लोगों के लिए गाय बहुत अहमियत रखती थी.

प्राचीन साउथ-वेस्ट अफ्रीका (मौजूदा नामीबिया) के ‘खोईखोई’ समाज के लोग भी गाय पर काफी आश्रित थे. इनमें से किसी ने गाय-बैल का इस्तेमाल खेती में नहीं किया. बल्कि सेंट्रल एशियाई लोगों की तरह अफ्रीकियों ने भी गाय का दूध पिया और उसका मांस खाया.

शिकागो के ओरिएंटेल इंस्टीट्यूट में एक पुराना आर्ट-पीस रखा है जिसमें मिस्र का एक आदमी एक बछड़े की गर्दन काटता दिख रहा है.

art piece1

आपको जानकर शायद हैरत हो कि भूमध्य देश (स्पेन, फ्रांस, इटली, तुर्की, मिस्र, ग्रीस आदि), वेस्ट एशिया और भारत का क्लाइमेट गाय के लिए बहुत अच्छा नहीं था. ये जगहें काफी सूखी थीं और घास भी पर्याप्त नहीं थी. यहां का मौसम भेड़ों के लिए ज्यादा मुफीद था. फिर भी यहां बहुतायत में और सफलतापूर्वक गायें पाली गईं.

इस वक्त दुनिया में सबसे ज्यादा गायें भारत में हैं. एक अंदाज़े के मुताबिक, दुनिया में 1.4 अरब गायें हैं जिनमें से 28 करोड़ सिर्फ भारत में हैं. इस आंकड़े को एक स्माइली के साथ इस तरह भी लिखा जा सकता है कि भारत में जितनी गायें हैं, उतनी अमेरिका में कारें भी नहीं हैं.


 

ये भी पढ़ें

1. गाय के बारे में 11 बातें जो गोरक्षक भी नहीं जानते

2. हिंदुओं! तुम कौन सी गाय से प्यार करते हो?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

गंदी बात

'इस्मत आपा वाला हफ्ता' शुरू हो गया, पहली कहानी पढ़िए लिहाफ

उस अंधेरे में बेगम जान का लिहाफ ऐसे हिलता था, जैसे उसमें हाथी बंद हो.

PubG वाले हैं क्या?

जबसे वीडियो गेम्स आए हैं, तबसे ही वे पॉपुलर कल्चर का हिस्सा रहे हैं. ये सोचते हुए डर लगता है कि जो पीढ़ी आज बड़ी हो रही है, उसके नास्टैल्जिया का हिस्सा पबजी होगा.

बायां हाथ 'उल्टा' ही क्यों हैं, 'सीधा' क्यों नहीं?

मां-बाप और टीचर बच्चों को पीट-पीट दाहिने हाथ से काम लेने के लिए मजबूर करते हैं. क्यों?

फेसबुक पर हनीमून की तस्वीरें लगाने वाली लड़की और घर के नाम से पुकारने वाली आंटियां

और बिना बैकग्राउंड देखे सेल्फी खींचकर लगाने वाली अन्य औरतें.

'अगर लड़की शराब पी सकती है, तो किसी भी लड़के के साथ सो सकती है'

पढ़िए फिल्म 'पिंक' से दर्जन भर धांसू डायलॉग.

मुनासिर ने प्रीति को छह बार चाकू भोंककर क्यों मारा?

ऐसा क्या हुआ, कि सरे राह दौड़ा-दौड़ाकर उसकी हत्या की?

हिमा दास, आदि

खचाखच भरे स्टेडियम में भागने वाली लड़कियां जो जीवित हैं और जो मर गईं.

अलग हाव-भाव के चलते हिजड़ा कहते थे लोग, समलैंगिक लड़के ने फेसबुक पोस्ट लिखकर सुसाइड कर लिया

'मैं लड़का हूं. सब जानते हैं ये. बस मेरा चलना और सोचना, भावनाएं, मेरा बोलना, सब लड़कियों जैसा है.'

ब्लॉग: शराब पीकर 'टाइट' लड़कियां

यानी आउट ऑफ़ कंट्रोल, यौन शोषण के लिए आमंत्रित करते शरीर.

औरतों को बिना इजाज़त नग्न करती टेक्नोलॉजी

महिला पत्रकारों से मशहूर एक्ट्रेसेज तक, कोई इससे नहीं बचा.

सौरभ से सवाल

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

खिड़की पर बैठी दिव्या ने लिविंग रूम की तरफ मुड़कर देखा. और अपना एक हाथ खिड़की की चौखट को मजबूती से पकड़ने के लिए बढ़ाया.

कहां है 'सिर्फ तुम' की हीरोइन प्रिया गिल, जिसने स्वेटर पर दीपक बनाकर संजय कपूर को भेजा था?

'सिर्फ तुम' के बाद क्या-क्या किया उन्होंने?

बॉलीवुड में सबसे बड़ा खान कौन है?

सबसे बड़े खान का नाम सुनकर आपका फिल्मी ज्ञान जमीन पर लोटने लगेगा. और जो झटका लगेगा तो हमेशा के लिए बुद्धि खुल जाएगी आपकी.

'कसौटी ज़िंदगी की' वाली प्रेरणा, जो अनुराग और मिस्टर बजाज से बार-बार शादी करती रही

कहां है टेलीविज़न का वो आइकॉनिक किरदार निभाने वाली ऐक्ट्रेस श्वेता तिवारी?

एक्ट्रेस मंदाकिनी आज की डेट में कहां हैं?

मंदाकिनी जिन्हें 99 फीसदी भारतीय सिर्फ दो वजहों से याद करते हैं

सर, मेरा सवाल है कि एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्री आजकल कहां हैं. काफी सालों से उनका कोई पता नहीं.

‘दामिनी’ के जरिए नई ऊंचाई तक पहुंचा मीनाक्षी का करियर . फिर घातक के बाद 1996 में उन्होंने मुंबई फिल्म इंडस्ट्री को बाय बोल दिया.

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

केआरके इंटरनेट एज का ऐसा प्रॉडक्ट हैं, जो हर दिन कुछ ऐसा नया गंधाता करना रचना चाहता है.

एक्ट्रेस किमी काटकर अब कहां हैं?

एडवेंचर ऑफ टॉर्जन की हिरोइन किमी काटकर अब ऑस्ट्रेलिया में हैं. सीधी सादी लाइफ बिना किसी एडवेंचर के

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

बहुत समय पहले से बहुत समय बाद की बात है. इलाहाबाद में थे. जेब में थे रुपये 20. खरीदी हंस...

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

खुड्डी पर बैठा था. ऊपर से हेलिकॉप्टर निकला. मुझे लगा. बाबा ने बांस गहरे बोए होते तो ऊंचे उगते.