Submit your post

Follow Us

लड़का स्कूल में उसकी ब्रा खींचता था, लड़की ने जवाब दे दिया

42.69 K
शेयर्स

सोचिए आप एक टीचर हों. एक लड़का एक लड़की को लगातार परेशान कर रहा हो. और उस तरह नहीं, जिस तरह भाई, बहनों को करते हैं. उनकी चीज़ें छिपाकर या उन्हें चिढ़ाकर. वो लगातार उसके ब्रा का स्ट्रैप खींच रहा था.

स्कूल का समय वो टाइम होता है, जब दिमाग सबसे ज्यादा नर्म होता है. उसे किसी भी आकार में ढाला जा सकता है. ऐसे वक़्त में होने वाली घटनाएं लोग सारी उम्र याद रखते हैं. ये वो उम्र भी होती है, जब बच्चों को सेक्शुअल हैरेसमेंट का मतलब समझाना उसकी जिंदगी में हर बड़े का फ़र्ज़ होता है.

ऐसे वक़्त में एक टीचर के तौर पर आपका फ़र्ज़ क्या होना चाहिए? शायद इस टीचर को पता नहीं था.

लड़का लगातार लड़की के ब्रा का स्ट्रैप खींचता रहा. लड़की ने मना किया. लड़के ने सुना नहीं. लड़की ने मुक्का जड़ दिया. एक, दो. लड़के की नाक से खून आने लगा.

इसके बाद स्कूल वालों ने लड़की की मां को फटाफट फ़ोन किया. इसलिए नहीं कि उनकी बेटी का सेक्शुअल हैरेसमेंट हुआ, बल्कि इसलिए कि उनकी लड़की ने किसी को पीट दिया. कहा गया लड़की ने फिजिकल असॉल्ट किया है.

bachhi

लड़की की मां एक नर्स है. वो किसी इमरजेंसी हालत में फंसी हुई थीं. स्कूल वालों ने उन्हें लगातार 45 मिनट तक फ़ोन किया. जब आखिरकार उन्होंने फ़ोन उठाया, स्कूल की तरफ से कहा गया, ‘आपको स्कूल आना होगा.’

मां ने जवाब दिया, ‘क्या ये इमरजेंसी है? क्योंकि मैं खुद इमरजेंसी में हूं.’

स्कूल ने कहा, ‘आपको तुरंत आना होगा.’

मां आनन-फानन में अपना काम छोड़कर आई. और जब पता चला कि उसकी बेटी के लड़के को क्यों पीटा है, उसने स्कूल वालों को ऐसा जवाब दिया कि सब सुट्ट हो गए.

सबसे पहले तो प्रिंसिपल ने ताना दिया: ‘शुक्रिया, आपने आखिरकार हमसे मिलने का वक़्त निकाल ही लिया.’

मां ने जवाब दिया, ‘जी. माफ़ करिए. मैं एक 7 साल के बच्चे को 40 टांके लगा रही थी. जिसे उसकी मां ने पीटा था. पुलिस केस था, इसलिए मुझे वक़्त लग गया.’

प्रिंसिपल ने झेंपते हुए उन्हें पूरा किस्सा सुनाया. मजे की बात तो ये कि ये लोग उस लड़के से नाराज़ नहीं थे, बल्कि बच्ची से नाराज थे. क्यों? क्योंकि उसने सेल्फ-डिफेंस में लड़के को मार दिया. पूरी बात बताकर वो मां के जवाब के लिए रुक गए.

मां ने कहा, ‘ओह, तो आप मुझसे पूछना चाहते हैं कि क्या मैं लड़के के खिलाफ सेक्शुअल हैरेसमेंट का केस दर्ज करना चाहती हूं?’

जवाब आता है, ‘नहीं नहीं. ये कोई सीरियस हैरेसमेंट नहीं था. आप ओवर-रिऐक्ट न करें.’

image

तभी बच्ची ने बताया, ‘ये लड़का मेरी ब्रा खींच रहा था. मैंने टीचर से शिकायत की, तो उन्होंने कहा कि ध्यान मत दो. लड़का रुका नहीं. फिर उसने ब्रा खोल दी, तो मैंने मार दिया. तब वो रुक गया.’

मां गुस्से से तमतमा उठी. उन्होंने टीचर से कहा, ‘सर, आपने मेरी बच्ची के साथ ऐसा होने दिया? इधर आइए, मैं भी आपकी पैंट के ऊपर से आपके गुप्तांग महसूस करूं. फिर पूछूं कि बिना मर्ज़ी के छुए जाने पर कैसा लगता है.’

टीचर चुप.

मां ने फिर कहा, ‘या एक काम करिए. किसी महिला टीचर की ब्रा खींचिए. मैं उनसे पूछती हूं कि वो इसे नजरंदाज़ करेंगी या नहीं.’

प्रिंसिपल ने कहा, ‘लेकिन इससे ये बात नहीं बदलती कि आपकी बेटी ने एक लड़के को पीटा है.’

मां ने जवाब दिया, ‘पीटा नहीं, खुद को बचाया है. सेक्शुअल हैरेसमेंट से. सिर्फ इसलिए कि वो लड़का और ये लड़की उम्र में छोटे हैं, आप इसे सेक्शुअल हैरेसमेंट मानने से इनकार नहीं कर सकते. अगर टीचर ने उसी समय सख्त एक्शन लिया होता, तो लड़की को उसे पीटने की नौबत ही न आती. ये सिर्फ मेरी बेटी ही नहीं, स्कूल की सभी लड़कियों के लिए खतरा है.’

हम अपनी बेटियों को तो सिखाते हैं कि वो पांव खोलकर न बैठें, तेज़ आवाज़ में न बोलें. मगर क्या हम अपने बेटों को सेक्शुअल हैरेसमेंट न करना सिखाते हैं?

(h/t: stuffhappens)


ये भी पढ़ें:

औरतें भी औरतों का रेप करती हैं, ये कानूनन अपराध नहीं होता

’12 साल की थी जब सबकी नजरों में रोल मॉडल मेरे भाई ने मुझे गलत जगह छुआ था’

सिक्योरिटी के नाम पर क्या किसी औरत से दूध निकलवा कर देखा जाएगा?

आलिया भट्ट ने अपनी फेवरेट सेक्स पोजीशन बताई तो वो हमारे लिए खबर क्यों है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

आरामकुर्सी

क्या चीज है G7, जिसमें न रूस है, न चीन, जबकि भारत को इस बार बुलाया गया

रूस इस ग्रुप में था, लेकिन बाकी देशों ने उसे नाराज होकर निकाल दिया था.

इन 2 चमत्कारों की वजह से संत बनीं मदर टेरेसा

यहां जान लीजिए, वेटिकन सिटी में दी गई थी मदर टेरेसा को संत की उपाधि.

गायतोंडे को लड़कियां सप्लाई करने वाली जोजो, जो अपनी जांघ पर कंटीली बेल्ट बांधा करती थी

जिसकी मौत ही शुरुआत थी और अंत भी.

ABVP ने NSUI को धप्पा न दिया होता तो शायद कांग्रेस के होते अरुण जेटली

करीब चार दशक की राजनीति में बस दो चुनाव लड़े जेटली. एक हारे. एक जीते.

कैसे डिज्नी-मार्वल और सोनी के लालच के कारण आपसे स्पाइडर-मैन छिनने वाला है

सालों से राइट्स की क्या खींचतान चल रही है, और अब क्या हुआ जो स्पाइडर-मैन को MCU से दूर कर देगा.

इस्मत लिखना शुरू करेगी तो उसका दिमाग़ आगे निकल जाएगा और अल्फ़ाज़ पीछे हांफते रह जाएंगे

पढ़िए मंटो क्या कहते थे इस्मत के बारे में, उन्हीं की कलम से निकल आया है.

वो रेल हादसा, जिसमें नीलगाय की वजह से ट्रेन से ट्रेन भिड़ी और 300 से ज्यादा लोग मारे गए

उस दिन जैसे हर कोई एक्सिडेंट करवाने पर तुला था. एक ने अपनी ड्यूटी ढंग से निभाई होती, तो ये हादसा नहीं होता.

'मेरी तबीयत ठीक नहीं रहती, मुझे नहीं बनना पीएम-वीएम'

शंकर दयाल शर्मा जीके का एक सवाल थे. आज बड्डे है.

गुलज़ार पर लिखना डायरी लिखने जैसा है, दुनिया का सबसे ईमानदार काम

गुलज़ार पर एक ललित निबंध.

जब गुलजार ने चड्डी में शर्माना बंद किया

गुलज़ार दद्दा, इसी बहाने हम आपको अपने हिस्से की वो धूप दिखाना चाहते हैं, जो बीते बरसों में आपकी नज़्मों, नग़मों और फिल्मों से चुराई हैं.

सौरभ से सवाल

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

खिड़की पर बैठी दिव्या ने लिविंग रूम की तरफ मुड़कर देखा. और अपना एक हाथ खिड़की की चौखट को मजबूती से पकड़ने के लिए बढ़ाया.

कहां है 'सिर्फ तुम' की हीरोइन प्रिया गिल, जिसने स्वेटर पर दीपक बनाकर संजय कपूर को भेजा था?

'सिर्फ तुम' के बाद क्या-क्या किया उन्होंने?

बॉलीवुड में सबसे बड़ा खान कौन है?

सबसे बड़े खान का नाम सुनकर आपका फिल्मी ज्ञान जमीन पर लोटने लगेगा. और जो झटका लगेगा तो हमेशा के लिए बुद्धि खुल जाएगी आपकी.

'कसौटी ज़िंदगी की' वाली प्रेरणा, जो अनुराग और मिस्टर बजाज से बार-बार शादी करती रही

कहां है टेलीविज़न का वो आइकॉनिक किरदार निभाने वाली ऐक्ट्रेस श्वेता तिवारी?

एक्ट्रेस मंदाकिनी आज की डेट में कहां हैं?

मंदाकिनी जिन्हें 99 फीसदी भारतीय सिर्फ दो वजहों से याद करते हैं

सर, मेरा सवाल है कि एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्री आजकल कहां हैं. काफी सालों से उनका कोई पता नहीं.

‘दामिनी’ के जरिए नई ऊंचाई तक पहुंचा मीनाक्षी का करियर . फिर घातक के बाद 1996 में उन्होंने मुंबई फिल्म इंडस्ट्री को बाय बोल दिया.

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

केआरके इंटरनेट एज का ऐसा प्रॉडक्ट हैं, जो हर दिन कुछ ऐसा नया गंधाता करना रचना चाहता है.

एक्ट्रेस किमी काटकर अब कहां हैं?

एडवेंचर ऑफ टॉर्जन की हिरोइन किमी काटकर अब ऑस्ट्रेलिया में हैं. सीधी सादी लाइफ बिना किसी एडवेंचर के

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

बहुत समय पहले से बहुत समय बाद की बात है. इलाहाबाद में थे. जेब में थे रुपये 20. खरीदी हंस...

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

खुड्डी पर बैठा था. ऊपर से हेलिकॉप्टर निकला. मुझे लगा. बाबा ने बांस गहरे बोए होते तो ऊंचे उगते.