Submit your post

Follow Us

तहखाना

कुंडी न खड़काएं राजन, सीधा अंदर आएं राजन

आरामकुर्सी

तब नारियल तोड़ने में करियर बनाना चाहते थे अब्दुल कलाम

पढ़िए, अब्दुल कलाम के किस्से, जो खुद उन्होंने सुनाए.

आरामकुर्सी

आरामकुर्सी

कारगिल के गुमनाम हीरो की ये बेटी अपने पिता जैसे लड़के से शादी क्यूं करना चाहती है?

20 साल पहले मेजर द्विवेदी शहीद हुए थे. बेटी ने उनके नाम लिख डाली थी चिट्ठी.

आरामकुर्सी

कारगिल वॉर: ऐसे फेल हुआ था पाकिस्तान का कश्मीर को आज़ाद कराने का प्लान

एक फोन टेप ने चीन में बैठे परवेज मुशर्रफ का खेल खत्म कर दिया था.

आरामकुर्सी

पाकिस्तानी सेना अपने PM को मूर्ख बना रही थी और PM श्रीनगर में झंडा फहराने के ख्वाब देख रहे थे

इसकी वजह से पाकिस्तान के वजीर ने पहले भारत को धोखा दिया. फिर खुद भी धोखा खाया.

आरामकुर्सी

देह में गोलियां धंसी थीं, फिर भी पाकिस्तानी बंकर तहस-नहस करते रहे ये जांबाज़

विजय दिवस पर जानिए कौन हैं कारगिल में जीत दिलाने वाले देश के सच्चे 5 हीरो.

आरामकुर्सी

कहानी फूलन देवी की, जिसने बलात्कार का बदला लेने के लिए 22 ठाकुरों की जान ले ली

फूलन की हत्या को 18 साल हो गए. भारतीय समाज का हर पहलू छिपाए हुए है उसकी कहानी.

आरामकुर्सी

पंजाब का वो दलित गायक, जो आतंकवाद के दौर में अखाड़े जमाता था

कहानी अमर सिंह चमकीला की, जिसे परफॉर्मेंस से ठीक पहले गोलियों से छलनी कर दिया गया.

आरामकुर्सी

उस गीत की कहानी जिसे लिखने में जावेद अख्तर के पसीने छूट गए थे

गुमनाम हो चुके जीनियस का कमबैक होता ये गीत, मगर जीनियस हमें छोड़ के पहले ही जा चुका था!

आरामकुर्सी

क्या भारत जनसंख्या के दबाव से गुब्बारे की तरह फट जाएगा?

क्या हमसे पहले की पीढ़ियों ने सचमुच अपने कोटे से ज़्यादा बच्चे पैदा कर लिए?

Loading…

दिव्या भारती की मौत कैसे हुई?

खिड़की पर बैठी दिव्या ने लिविंग रूम की तरफ मुड़कर देखा. और अपना एक हाथ खिड़की की चौखट को मजबूती से पकड़ने के लिए बढ़ाया.

बॉलीवुड में सबसे बड़ा खान कौन है?

सबसे बड़े खान का नाम सुनकर आपका फिल्मी ज्ञान जमीन पर लोटने लगेगा. और जो झटका लगेगा तो हमेशा के लिए बुद्धि खुल जाएगी आपकी.

'कसौटी ज़िंदगी की' वाली प्रेरणा, जो अनुराग और मिस्टर बजाज से बार-बार शादी करती रही

कहां है टेलीविज़न का वो आइकॉनिक किरदार निभाने वाली ऐक्ट्रेस श्वेता तिवारी?

एक्ट्रेस मंदाकिनी आज की डेट में कहां हैं?

मंदाकिनी जिन्हें 99 फीसदी भारतीय सिर्फ दो वजहों से याद करते हैं

सर, मेरा सवाल है कि एक्ट्रेस मीनाक्षी शेषाद्री आजकल कहां हैं. काफी सालों से उनका कोई पता नहीं.

‘दामिनी’ के जरिए नई ऊंचाई तक पहुंचा मीनाक्षी का करियर . फिर घातक के बाद 1996 में उन्होंने मुंबई फिल्म इंडस्ट्री को बाय बोल दिया.

ये KRK कौन है. हमेशा सुर्खियों में क्यों रहता है?

केआरके इंटरनेट एज का ऐसा प्रॉडक्ट हैं, जो हर दिन कुछ ऐसा नया गंधाता करना रचना चाहता है.

एक्ट्रेस किमी काटकर अब कहां हैं?

एडवेंचर ऑफ टॉर्जन की हिरोइन किमी काटकर अब ऑस्ट्रेलिया में हैं. सीधी सादी लाइफ बिना किसी एडवेंचर के

चाय बनाने को 'जैसे पापात्माओं को नर्क में उबाला जा रहा हो' कौन सी कहानी में कहा है?

बहुत समय पहले से बहुत समय बाद की बात है. इलाहाबाद में थे. जेब में थे रुपये 20. खरीदी हंस...

सर आजकल मुझे अजीब सा फील होता है क्या करूं?

खुड्डी पर बैठा था. ऊपर से हेलिकॉप्टर निकला. मुझे लगा. बाबा ने बांस गहरे बोए होते तो ऊंचे उगते.

पप्पू कलानी: वो अपराधी राजनेता जिसके चलते उल्हासनगर में हर मंगलवार को कम से कम एक मर्डर होता था

'गैंग्स ऑफ वासेपुर' फ़िल्म की तरह दो परिवारों के बीच की दुश्मनी एक बार में ही 22 लोगों को लील गई.

बर्मा में पैदा हुआ ये आदमी दो बार गुजरात का मुख्यमंत्री बन गया

जब अमित शाह को गुजरात में घुसने की इजाज़त नहीं थी, उस समय यह शख्स उनका बड़ा मददगार था.

किस्से महजबीन बानो के, जिनकी डायरी चोरी करने का इल्ज़ाम गुलज़ार पर लगा था

शादीशुदा थीं पर धर्मेंद्र से बिंदास प्रेम किया. राज कपूर उनके आगे डायलॉग भूल जाते थे, दिलीप कुमार बेचैन रहते थे.

रेडियो की दुकान पर बैठने वाले विकास दुबे के हिस्ट्रीशीटर बनने की पूरी कहानी

कैसे पुलिस-प्रशासन और राजनीति की लापरवाही और शह से एक गुंडे ने 30 साल आतंक मचाया.

जब मुसलमान होने की वजह से बदली गई कलाम की सीट

बचपन में अब्दुल कलाम को भेदभाव सहना पड़ा. 27 जुलाई 2015 को उनका निधन हो गया था.

बहू-ससुर, भाभी-देवर, पड़ोसन: सिंगल स्क्रीन से फोन की स्क्रीन तक कैसे पहुंचीं एडल्ट फ़िल्में

जिन फिल्मों को परिवार के साथ नहीं देख सकते, वो हमारे बारे में क्या बताती हैं?

'इस्मत आपा वाला हफ्ता' शुरू हो गया, पहली कहानी पढ़िए लिहाफ

उस अंधेरे में बेगम जान का लिहाफ ऐसे हिलता था, जैसे उसमें हाथी बंद हो.

PubG वाले हैं क्या?

जबसे वीडियो गेम्स आए हैं, तबसे ही वे पॉपुलर कल्चर का हिस्सा रहे हैं. ये सोचते हुए डर लगता है कि जो पीढ़ी आज बड़ी हो रही है, उसके नास्टैल्जिया का हिस्सा पबजी होगा.