Submit your post

Follow Us

न्यूज़

बंगाल: नंदीग्राम से चुनाव हार चुकीं ममता बनर्जी अब इस सीट से लड़ेंगी!

सोवनदेब चट्टोपाध्याय ने अपनी सीट छोड़ी.

बंगाल: नंदीग्राम से चुनाव हार चुकीं ममता बनर्जी अब इस सीट से लड़ेंगी!

पश्चिम बंगाल के तृणमूल कांग्रेस नेता हैं सोवनदेब चट्टोपाध्याय (Sobhandeb Chattopadhyay). हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में सोवनदेब ने कोलकाता की भवानीपुर (Bhowanipore) सीट से चुनाव जीता था. लेकिन 21 मई को उन्होंने विधानसभा से इस्तीफा दे दिया. उनके इस्तीफे को मंज़ूर भी कर लिया गया है. अब इस सीट से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) उपचुनाव लड़ सकती … और पढ़ें बंगाल: नंदीग्राम से चुनाव हार चुकीं ममता बनर्जी अब इस सीट से लड़ेंगी!

चुनाव

बंगाल में BJP के 2 विधायकों का इस्तीफा, TMC ने कहा-पहले से पता था

BJP की सीटों की संख्या घटकर 77 से अब 75 हो गई है.

बंगाल में BJP के 2 विधायकों का इस्तीफा, TMC ने कहा-पहले से पता था

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में जीतने के बावजूद भाजपा के दो नेताओं ने इस्तीफा दे दिया है. ये दोनों सांसद हैं. पार्टी ने इन्हें विधानसभा चुनाव में उतारा था. जीत भी गए. लेकिन अब विधायकी छोड़ दी है. इसके साथ ही राज्य में बीजेपी की सीटों की संख्या 77 से घटकर 75 रह गई है. इस्तीफा देने … और पढ़ें बंगाल में BJP के 2 विधायकों का इस्तीफा, TMC ने कहा-पहले से पता था

वीडियो

अर्थात: कोरोना की तीसरी लहर और बंगाल चुनाव नतीजों के बीच ये हैं देश के सबसे ज़रूरी सवाल

अर्थात. दी लल्लनटॉप की स्पेशल वीकली सीरीज. जिसमें हम बात करते हैं देश की अर्थव्यवस्था के बारे में. हमारे साथ होते हैं इंडिया टुडे हिंदी के एडिटर अंशुमान तिवारी. इस हफ्ते के अर्थात में हम बात करेंगे -

- क्या बंगाल चुनाव के नतीजे आम लोगों की परेशानियों को दूर कर सकेंगे?

- कोविड से मरनेवालों की गिनती के बीच चुनाव के वोटों की गिनती कितनी ज़रूरी है?

- आम लोगों के मूल सवालों जैसे स्वास्थ्य, बेड, ऑक्सीजन का जवाब कौन देगा?

पिछले हफ्ते का अर्थात देखने के लिए यहां क्लिक करें.

अर्थात: कोरोना की तीसरी लहर और बंगाल चुनाव नतीजों के बीच ये हैं देश के सबसे ज़रूरी सवाल

अर्थात. दी लल्लनटॉप की स्पेशल वीकली सीरीज. जिसमें हम बात करते हैं देश की अर्थव्यवस्था के बारे में. हमारे साथ होते हैं इंडिया टुडे हिंदी के एडिटर अंशुमान तिवारी. इस हफ्ते के अर्थात में हम बात करेंगे -

- क्या बंगाल चुनाव के नतीजे आम लोगों की परेशानियों को दूर कर सकेंगे?

- कोविड से मरनेवालों की गिनती के बीच चुनाव के वोटों की गिनती कितनी ज़रूरी है?

- आम लोगों के मूल सवालों जैसे स्वास्थ्य, बेड, ऑक्सीजन का जवाब कौन देगा?

पिछले हफ्ते का अर्थात देखने के लिए यहां क्लिक करें.

वीडियो

बंगाल में हुई हिंसा का वीडियो वायरल हुआ तो ममता बनर्जी और BJP अलग-अलग दावे करने लगी

2 मई को पश्चिम बंगाल चुनाव के नतीजे आए. तृणमूल कांग्रेस (TMC) ने प्रचंड जीत दर्ज़ की. चुनाव नतीजे आने के साथ बंगाल से हिंसा की रिपोर्ट्स आ रही हैं. भारतीय जनता पार्टी (BJP) से जुड़े लोगों का दावा है कि तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों ने बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की है और बीजेपी ऑफिस में तोड़फोड़ की है. देखिए वीडियो.

 

बंगाल में हुई हिंसा का वीडियो वायरल हुआ तो ममता बनर्जी और BJP अलग-अलग दावे करने लगी

2 मई को पश्चिम बंगाल चुनाव के नतीजे आए. तृणमूल कांग्रेस (TMC) ने प्रचंड जीत दर्ज़ की. चुनाव नतीजे आने के साथ बंगाल से हिंसा की रिपोर्ट्स आ रही हैं. भारतीय जनता पार्टी (BJP) से जुड़े लोगों का दावा है कि तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों ने बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की है और बीजेपी ऑफिस में तोड़फोड़ की है. देखिए वीडियो.

 
वीडियो

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी नंदीग्राम से हारीं, पर बंगाल में ऐसा पहली बार नहीं हुआ है!

पश्चिम बंगाल चुनाव नतीजों का दिन उतार-चढ़ाव से भरा रहा. सबसे ज्यादा ड्रामा नंदीग्राम सीट पर हुआ. यहां मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को कभी उनके करीबी रहे और अब बीजेपी उम्मीदवार शुभेंदु अधिकारी ने 1953 वोटों से हरा दिया है. पश्चिम बंगाल में पहले भी ऐसा हुआ है जब सिटिंग मुख्यमंत्री चुनाव हारे हैं. लेकिन तब साथ-साथ उनकी पार्टी भी हारी थी. जबकि ममता के केस में मामला उल्टा है. हम बंगाल के उन मुख्यमंत्रियों की बात करेंगे जो कुर्सी पर रहते हुए अपनी विधान सभा सीट हारे. इस तरह के दो वाक़ये पहले भी हो चुके हैं और अब ममता बनर्जी तीसरी मुख्यमंत्री हैं जो मुख्यमंत्री पद पर आसीन रहते चुनाव हारी हैं. देखिए वीडियो.

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी नंदीग्राम से हारीं, पर बंगाल में ऐसा पहली बार नहीं हुआ है!

पश्चिम बंगाल चुनाव नतीजों का दिन उतार-चढ़ाव से भरा रहा. सबसे ज्यादा ड्रामा नंदीग्राम सीट पर हुआ. यहां मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को कभी उनके करीबी रहे और अब बीजेपी उम्मीदवार शुभेंदु अधिकारी ने 1953 वोटों से हरा दिया है. पश्चिम बंगाल में पहले भी ऐसा हुआ है जब सिटिंग मुख्यमंत्री चुनाव हारे हैं. लेकिन तब साथ-साथ उनकी पार्टी भी हारी थी. जबकि ममता के केस में मामला उल्टा है. हम बंगाल के उन मुख्यमंत्रियों की बात करेंगे जो कुर्सी पर रहते हुए अपनी विधान सभा सीट हारे. इस तरह के दो वाक़ये पहले भी हो चुके हैं और अब ममता बनर्जी तीसरी मुख्यमंत्री हैं जो मुख्यमंत्री पद पर आसीन रहते चुनाव हारी हैं. देखिए वीडियो.

वीडियो

बंगाल के जिन 11 जिलों में BJP की आंधी थी, वहां TMC ने क्या खेल दिखाया?

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Election) के रिजल्ट आ चुके हैं. ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस ने उम्मीद से कहीं बढ़कर प्रदर्शन किया है. पार्टी 213 सीटें जीती हैं. राज्य में यह तृणमूल कांग्रेस की लगातार तीसरी जीत है. यही नहीं, अबकी बार पार्टी ने अपना सबसे बेहतर प्रदर्शन किया है. दूसरी तरफ 200 पार का नारा लगाने वाली बीजेपी केवल 77 सीट ही जीत पाई. वहीं वामपंथी दलों, कांग्रेस और अब्बास सिद्दीकी का संयुक्त मोर्चा एक भी सीट नहीं जीत पाया. देखिए वीडियो.

बंगाल के जिन 11 जिलों में BJP की आंधी थी, वहां TMC ने क्या खेल दिखाया?

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Election) के रिजल्ट आ चुके हैं. ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस ने उम्मीद से कहीं बढ़कर प्रदर्शन किया है. पार्टी 213 सीटें जीती हैं. राज्य में यह तृणमूल कांग्रेस की लगातार तीसरी जीत है. यही नहीं, अबकी बार पार्टी ने अपना सबसे बेहतर प्रदर्शन किया है. दूसरी तरफ 200 पार का नारा लगाने वाली बीजेपी केवल 77 सीट ही जीत पाई. वहीं वामपंथी दलों, कांग्रेस और अब्बास सिद्दीकी का संयुक्त मोर्चा एक भी सीट नहीं जीत पाया. देखिए वीडियो.

वीडियो

चुनाव के बाद ममता बनर्जी के बंगाल में BJP वालों को क्या ढूंढ-ढूंढ कर निशाना बनाया जा रहा है?

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजे आ चुके हैं. चुनाव में ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस (TMC) की जीत हुई. लेकिन नतीजों के बाद राज्य से हिंसा की ख़बरें भी आने लगी हैं. 3 मई को ख़ासा बवाल नंदीग्राम में हुआ. वही सीट, जहां से BJP के शुभेंदु अधिकारी के हाथों ममता बनर्जी की हार हुई है. यहां भारतीय जनता पार्टी के दफ्तर में तोड़-फोड़ की गई. कथित तौर पर BJP दफ्तर में आग लगाने की भी कोशिश की गई. नंदीग्राम में तमाम दुकानों में भी तोड़-फोड़ हुई है, जिसके बाद यहां बाज़ार में तनाव है. BJP का आरोप है कि ये सब TMC कार्यकर्ता कर रहे हैं. देखिए वीडियो.

चुनाव के बाद ममता बनर्जी के बंगाल में BJP वालों को क्या ढूंढ-ढूंढ कर निशाना बनाया जा रहा है?

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजे आ चुके हैं. चुनाव में ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस (TMC) की जीत हुई. लेकिन नतीजों के बाद राज्य से हिंसा की ख़बरें भी आने लगी हैं. 3 मई को ख़ासा बवाल नंदीग्राम में हुआ. वही सीट, जहां से BJP के शुभेंदु अधिकारी के हाथों ममता बनर्जी की हार हुई है. यहां भारतीय जनता पार्टी के दफ्तर में तोड़-फोड़ की गई. कथित तौर पर BJP दफ्तर में आग लगाने की भी कोशिश की गई. नंदीग्राम में तमाम दुकानों में भी तोड़-फोड़ हुई है, जिसके बाद यहां बाज़ार में तनाव है. BJP का आरोप है कि ये सब TMC कार्यकर्ता कर रहे हैं. देखिए वीडियो.

चुनाव

बंगाल के 11 जिलों में हुआ ये 'धोखा' BJP पर भारी पड़ा, ममता को फायदा दे गया

दक्षिण बंगाल के ये वही 11 जिले हैं जहां लोकसभा में BJP चमकी थी.

बंगाल के 11 जिलों में हुआ ये 'धोखा' BJP पर भारी पड़ा, ममता को फायदा दे गया

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Election) के रिजल्ट आ चुके हैं. ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस ने उम्मीद से कहीं बढ़कर प्रदर्शन किया है. पार्टी 213 सीटें जीती हैं. राज्य में यह तृणमूल कांग्रेस की लगातार तीसरी जीत है. यही नहीं, अबकी बार पार्टी ने अपना सबसे बेहतर प्रदर्शन किया है. … और पढ़ें बंगाल के 11 जिलों में हुआ ये ‘धोखा’ BJP पर भारी पड़ा, ममता को फायदा दे गया

वीडियो

बंगाल चुनाव: जानिए, सांसदी जीतने वाले नेता विधायकी का चुनाव जीत पाए कि नहीं

भारतीय जनता पार्टी ने इस चुनाव में अपने पांच सांसदों को भी मैदान में उतारा था. लोकसभा के चार सांसद और राज्यसभा से एक सांसद. हालांकि टिकट मिलते ही विवाद होने के बाद राज्यसभा के लिए नॉमिनेटेड स्वपनदास गुप्ता ने इस्तीफा दे दिया था लेकिन जब बीजेपी ने उनके नाम का ऐलान किया था तब वो राज्यसभा सदस्य थे. सांसद रहते जिन्हें टिकट मिला वो नेता हैं बाबुल सुप्रियो, लॉकेट चटर्जी, निशित प्रमाणिक, जगन्नाथ सरकार और स्वपनदास गुप्ता. जानते हैं कि सांसदी जीतने वाले नेता विधायकी का चुनाव जीत पाए कि नहीं. देखिए वीडियो.

 

बंगाल चुनाव: जानिए, सांसदी जीतने वाले नेता विधायकी का चुनाव जीत पाए कि नहीं

भारतीय जनता पार्टी ने इस चुनाव में अपने पांच सांसदों को भी मैदान में उतारा था. लोकसभा के चार सांसद और राज्यसभा से एक सांसद. हालांकि टिकट मिलते ही विवाद होने के बाद राज्यसभा के लिए नॉमिनेटेड स्वपनदास गुप्ता ने इस्तीफा दे दिया था लेकिन जब बीजेपी ने उनके नाम का ऐलान किया था तब वो राज्यसभा सदस्य थे. सांसद रहते जिन्हें टिकट मिला वो नेता हैं बाबुल सुप्रियो, लॉकेट चटर्जी, निशित प्रमाणिक, जगन्नाथ सरकार और स्वपनदास गुप्ता. जानते हैं कि सांसदी जीतने वाले नेता विधायकी का चुनाव जीत पाए कि नहीं. देखिए वीडियो.

 
वीडियो

ममता बनर्जी के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने TMC की जीत के बाद बड़ा ऐलान किया

ममता बनर्जी के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने चुनाव प्रबंधन का काम छोड़ने का ऐलान किया है. ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी की जीत तय है फिर भी प्रशांत ऐसा फैसला ले रहे हैं. एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि वे जीवन भर यह सब नहीं कर सकते हैं. ऐसा नहीं है प्रशांत ने पहली बार ये बात कही है. हाल ही में ‘दी लल्लनटॉप’ के संपादक सौरभ द्विवेदी के साथ एक इंटरव्यू में प्रशांत ने कहा था कि वे आने वाले वक्त में कभी यह काम छोड़ देंगे. हालांकि उन्होंने ये नहीं बताया था कि इतनी जल्दी वह ऐसा फैसला करने वाले हैं. देखिए वीडियो.

 

ममता बनर्जी के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने TMC की जीत के बाद बड़ा ऐलान किया

ममता बनर्जी के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने चुनाव प्रबंधन का काम छोड़ने का ऐलान किया है. ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी की जीत तय है फिर भी प्रशांत ऐसा फैसला ले रहे हैं. एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि वे जीवन भर यह सब नहीं कर सकते हैं. ऐसा नहीं है प्रशांत ने पहली बार ये बात कही है. हाल ही में ‘दी लल्लनटॉप’ के संपादक सौरभ द्विवेदी के साथ एक इंटरव्यू में प्रशांत ने कहा था कि वे आने वाले वक्त में कभी यह काम छोड़ देंगे. हालांकि उन्होंने ये नहीं बताया था कि इतनी जल्दी वह ऐसा फैसला करने वाले हैं. देखिए वीडियो.