Submit your post

Follow Us

भैरंट

सिर्फ जीतने नहीं, दबदबा बनाने टोक्यो पहुंचा ये पुलिसवाला लाएगा ओलंपिक्स मेडल?

उम्मीद एपिसोड-7 में बात DSP विकास कृष्ण की.

सिर्फ जीतने नहीं, दबदबा बनाने टोक्यो पहुंचा ये पुलिसवाला लाएगा ओलंपिक्स मेडल?

खेल में हार-जीत तो लगी रहती है. एक हार से कुछ नहीं होता. अरे हार ही तो थी, कौन सी मौत आ गई. अक्सर हारने वाले एथलीट्स को लोग ऐसी बातें कहकर समझाने की कोशिश करते हैं. लेकिन एक हार किसी एथलीट पर कितना असर डाल सकती है ये तो वही शख्स जानता है जिसने … और पढ़ें सिर्फ जीतने नहीं, दबदबा बनाने टोक्यो पहुंचा ये पुलिसवाला लाएगा ओलंपिक्स मेडल?

भैरंट

डेब्यू के साथ ही बड़े-बड़ों के कान काट रहे ये बच्चे दोहराएंगे अभिनव बिंद्रा का कारनामा?

उम्मीद एपिसोड-6 में कहानी शूटर्स सौरभ-मनु की.

डेब्यू के साथ ही बड़े-बड़ों के कान काट रहे ये बच्चे दोहराएंगे अभिनव बिंद्रा का कारनामा?

हमारे देश की एक खासियत है, यहां बच्चों से सबसे पहले पढ़ाई पूरी करने की उम्मीद की जाती है. कहते हैं कि खेलोगे-कूदोगे बनोगे खराब, पढ़ोगे-लिखोगे बनोगे नवाब. लेकिन कुछ बच्चे होते हैं जिनका मन खेलकूद में ज्यादा लगता है. और फिर एक वक्त आता है जबकि फैमिली को उनका सपोर्ट करना ही पड़ता है. … और पढ़ें डेब्यू के साथ ही बड़े-बड़ों के कान काट रहे ये बच्चे दोहराएंगे अभिनव बिंद्रा का कारनामा?

भैरंट

ओलंपिक्स से सिल्वर मेडल ले ही आई बचपन में लकड़ी बीनने वाली लड़की

मीराबाई ने पूरी की हमारी उम्मीद.

ओलंपिक्स से सिल्वर मेडल ले ही आई बचपन में लकड़ी बीनने वाली लड़की

वेटलिफ्टर मीराबाई चानू (Mirabai Chanu) ने Tokyo2020 Olympics में भारत का खाता खोल दिया है. चानू ने महिलाओं की 49kg वेटलिफ्टिंग का सिल्वर मेडल अपने नाम किया. जबकि गोल्ड गया चाइना की हु झिहुइ के नाम. मीराबाई ने कुल 202 किलो वजन उठाकर यह सिल्वर मेडल जीता. जबकि चाइनीज लिफ्टर ने 210 किलो वजन उठाया. मीराबाई … और पढ़ें ओलंपिक्स से सिल्वर मेडल ले ही आई बचपन में लकड़ी बीनने वाली लड़की

वीडियो

विनेश फोगाट के साथ रियो में जो हुआ, उसके बाद क्या अब टोक्यो ओलंपिक्स में मेडल ला पाएंगी?

उम्मीद के हमारे चौथे एपिसोड में आज बात ऐसी ही एक प्लेयर की, जिसे चोट ने और बेहतर बना दिया. जिसकी चोट इतनी खतरनाक थी कि लोगों को लगा अब करियर खत्म! लेकिन हरयाणे की इस छोरी ने दंगल जारी रखा. चोट को परास्त कर वापसी की और एक बार फिर से तैयार है… दुनिया पर छा जाने के लिए. विनेश फोगाट नाम की ये पहलवान Tokyo2020 Olympics में मेडल की हमारी सबसे बड़ी उम्मीदों में से एक है. देखिए वीडियो.

विनेश फोगाट के साथ रियो में जो हुआ, उसके बाद क्या अब टोक्यो ओलंपिक्स में मेडल ला पाएंगी?

उम्मीद के हमारे चौथे एपिसोड में आज बात ऐसी ही एक प्लेयर की, जिसे चोट ने और बेहतर बना दिया. जिसकी चोट इतनी खतरनाक थी कि लोगों को लगा अब करियर खत्म! लेकिन हरयाणे की इस छोरी ने दंगल जारी रखा. चोट को परास्त कर वापसी की और एक बार फिर से तैयार है… दुनिया पर छा जाने के लिए. विनेश फोगाट नाम की ये पहलवान Tokyo2020 Olympics में मेडल की हमारी सबसे बड़ी उम्मीदों में से एक है. देखिए वीडियो.

भैरंट

इस बार ओलंपिक्स मेडल जीत पाएंगी 'पुनर्जन्म' लेकर लौटी विनेश फोगाट?

फिल्म से कम ना है विनेश की कहानी.

इस बार ओलंपिक्स मेडल जीत पाएंगी 'पुनर्जन्म' लेकर लौटी विनेश फोगाट?

बचपन में जब हमें खेलते-खेलते चोट लगती थी तो घर के बड़े-बुजुर्ग हमें चुप कराने के लिए कहते थे- चोट खेल का हिस्सा हैं. बड़े हुए तो समझ आया कि बात सही तो थी लेकिन इतनी सीधी नहीं. चोट खेल का हिस्सा तो है लेकिन इसे खेल में कोई चाहता नहीं, ये जबरदस्ती घुसपैठ करती … और पढ़ें इस बार ओलंपिक्स मेडल जीत पाएंगी ‘पुनर्जन्म’ लेकर लौटी विनेश फोगाट?

वीडियो

क्या रेसलर बजरंग पुनिया खत्म कर पाएंगे ओलंपिक मेडल का इंतजार?

ग़रीबी. तंगहाली या गुरबत. वो शय जिसकी चपेट में आने वाला परेशान ही रहता है. लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं जो इस शय को ऐसा पटकते हैं, कि फिर ये लौटकर उनके पास नहीं जा पाती. दी लल्लनटॉप की Tokyo2020 स्पेशल सीरीज ‘उम्मीद’ के तीसरे एपिसोड में आज बात ऐसे ही एक एथलीट की, जिसने ग़रीबी को अपने रास्ते में नहीं आने दिया. और ऐसा दांव चला कि आज पूरी दुनिया उसकी फैन है.ल देखिए वीडियो.

 

क्या रेसलर बजरंग पुनिया खत्म कर पाएंगे ओलंपिक मेडल का इंतजार?

ग़रीबी. तंगहाली या गुरबत. वो शय जिसकी चपेट में आने वाला परेशान ही रहता है. लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं जो इस शय को ऐसा पटकते हैं, कि फिर ये लौटकर उनके पास नहीं जा पाती. दी लल्लनटॉप की Tokyo2020 स्पेशल सीरीज ‘उम्मीद’ के तीसरे एपिसोड में आज बात ऐसे ही एक एथलीट की, जिसने ग़रीबी को अपने रास्ते में नहीं आने दिया. और ऐसा दांव चला कि आज पूरी दुनिया उसकी फैन है.ल देखिए वीडियो.

 
वीडियो

क्या बॉक्सर अमित पंघाल दिलाएंगे भारत को पहला बॉक्सिंग ओलंपिक गोल्ड मेडल?

टोक्यो स्पेशल प्रोग्राम ‘उम्मीद’. आज हम सुनाएंगे बॉक्सर अमित पंघाल की कहानी. और अमित के ‘उम्मीद’ बनने  की कहानी, जिसकी शुरुआत जर्मनी के हैम्बर्ग शहर से ही हुई थी. साल 2017. अगस्त का महीना. भारतीय बॉक्सर्स वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में भाग लेने के लिए जर्मनी पहुंचे. इस टीम में 22 साल का एक नया-नया नेशनल चैंपियन भी था. हरियाणा के रोहतक से आया ये लड़का अपने डेब्यू पर ही नेशनल चैंपियन बना और फिर एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप का ब्रॉन्ज़ मेडल ले आया. लेकिन कम अनुभव के चलते वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में कोई उसका लोड नहीं ले रहा था. देखिए वीडियो.

क्या बॉक्सर अमित पंघाल दिलाएंगे भारत को पहला बॉक्सिंग ओलंपिक गोल्ड मेडल?

टोक्यो स्पेशल प्रोग्राम ‘उम्मीद’. आज हम सुनाएंगे बॉक्सर अमित पंघाल की कहानी. और अमित के ‘उम्मीद’ बनने  की कहानी, जिसकी शुरुआत जर्मनी के हैम्बर्ग शहर से ही हुई थी. साल 2017. अगस्त का महीना. भारतीय बॉक्सर्स वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में भाग लेने के लिए जर्मनी पहुंचे. इस टीम में 22 साल का एक नया-नया नेशनल चैंपियन भी था. हरियाणा के रोहतक से आया ये लड़का अपने डेब्यू पर ही नेशनल चैंपियन बना और फिर एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप का ब्रॉन्ज़ मेडल ले आया. लेकिन कम अनुभव के चलते वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में कोई उसका लोड नहीं ले रहा था. देखिए वीडियो.

भैरंट

पहले ग़रीबी और फिर दिग्गजों को पटक ओलंपिक्स मेडल ले ही आया 'योगी का चेला'

कहानी ओलंपिक्स ब्रॉन्ज़ मेडलिस्ट बजरंग पूनिया की.

पहले ग़रीबी और फिर दिग्गजों को पटक ओलंपिक्स मेडल ले ही आया 'योगी का चेला'

Bajrang Punia. भारत के दिग्गज पहलवान. बड़ी उम्मीदों के साथ Tokyo 2020 Olympics तक गए बजरंग ने अपना पहला Olympics Medal जीत लिया है. उन्होंने कज़ाकिस्तान के दौलत नियाजबेकोव को 8-0 से हराकर कुश्ती का Bronze Medal जीता. टोक्यो ओलंपिक्स से पहले हमने अपनी ‘उम्मीद’ सीरीज में बजरंग की कहानी सुनाई थी. उम्मीद पूरी होने पर सोचा कि … और पढ़ें पहले ग़रीबी और फिर दिग्गजों को पटक ओलंपिक्स मेडल ले ही आया ‘योगी का चेला’

भैरंट

कभी जूतों के लिए तरसने वाला सैनिक कैसे बना टोक्यो में बॉक्सिंग गोल्ड की उम्मीद?

कहानी वर्ल्ड नंबर वन बॉक्सर अमित पंघाल की.

कभी जूतों के लिए तरसने वाला सैनिक कैसे बना टोक्यो में बॉक्सिंग गोल्ड की उम्मीद?

‘मेरा जन्म भले ही लिवरपूल में हुआ हो- लेकिन मैं हैम्बर्ग में पला-बढ़ा हूं.’ मशहूर बैंड बीटल्स के जॉन लेनन ने सालों पहले ये बात कही थी. अब आप सोच रहे होंगे कि स्पोर्ट्स के बीच ये जॉन लेनन कहां से आ गए. दरअसल, ये है हमारा टोक्यो स्पेशल ‘ उम्मीद’. इसमें आज हम सुनाएंगे बॉक्सर … और पढ़ें कभी जूतों के लिए तरसने वाला सैनिक कैसे बना टोक्यो में बॉक्सिंग गोल्ड की उम्मीद?

भैरंट

वजन कम करने स्टेडियम पहुंचा लड़का जो बन गया ओलंपिक्स चैंपियन

नीरज चोपड़ा ने जीत लिया जैवलिन थ्रो का गोल्ड.

वजन कम करने स्टेडियम पहुंचा लड़का जो बन गया ओलंपिक्स चैंपियन

शब्द खत्म हो गए हैं. Neeraj Chopra Olympics में व्यक्तिगत गोल्ड जीतने वाले सिर्फ दूसरे भारतीय बन चुके हैं. नीरज ने जैवलिन थ्रो का गोल्ड मेडल जीता. यह ओलंपिक्स इतिहास में हमारा पहला एथलेटिक्स गोल्ड मेडल है. Tokyo2020 Olympics से पहले हमने संभावित मेडल विनर्स पर ‘उम्मीद’ सीरीज की थी. पढ़िए नीरज की कहानी. उम्मीद. लोग कहते … और पढ़ें वजन कम करने स्टेडियम पहुंचा लड़का जो बन गया ओलंपिक्स चैंपियन