Submit your post

Follow Us

भैरंट

इंदिरा गांधी पर व्यंग्य करने वाले भोजपुरी कवि की पूरी कहानी

22 जून को कुबेरनाथ मिश्र का बड्डे होता है.

इंदिरा गांधी पर व्यंग्य करने वाले भोजपुरी कवि की पूरी कहानी

यह लेख दी लल्लनटॉप के लिए मुन्ना के. पाण्डेय ने लिखा है. 1 मार्च 1982 को बिहार के सिवान में जन्मे डॉ. पाण्डेय के नाटक, रंगमंच और सिनेमा विषय पर नटरंग, सामयिक मीमांसा, संवेद, सबलोग, बनास जन, परिंदे, जनसत्ता, प्रभात खबर जैसे प्रतिष्ठित पत्र-पत्रिकाओं में तीन दर्जन से अधिक लेख/शोध पत्र प्रकाशित हो चुके हैं. … और पढ़ें इंदिरा गांधी पर व्यंग्य करने वाले भोजपुरी कवि की पूरी कहानी

भैरंट

योग सिर्फ हिंदू नहीं है, इसमें इस्लाम का कितना हाथ है?

इतिहास सही से बांच लो.

योग सिर्फ हिंदू नहीं है, इसमें इस्लाम का कितना हाथ है?

यह लेख डेली ओ से लिया गया है, जिसे माधवी मेनन  ने लिखा है.   दी लल्लनटॉप के लिए हिंदी में यहां प्रस्तुत कर रही हैं शिप्रा किरण. भले ही पूरी दुनिया के सामने योग को ‘प्राचीन हिन्दू परंपरा’ की देन के रूप में प्रचारित किया जा रहा हो लेकिन सच तो ये है कि योग भी भारत की मिली-जुली … और पढ़ें योग सिर्फ हिंदू नहीं है, इसमें इस्लाम का कितना हाथ है?

भैरंट

भोजपुरी साहित्यकार रामनाथ पाण्डेय की अंतिम इच्छा, जो अब तक पूरी न हो सकी!

रामनाथ पाण्डेय की पुण्यतिथि है आज.

भोजपुरी साहित्यकार रामनाथ पाण्डेय की अंतिम इच्छा, जो अब तक पूरी न हो सकी!

यह लेख दी लल्लनटॉप के लिए मुन्ना के. पाण्डेय ने लिखा है. 1 मार्च 1982 को बिहार के सिवान में जन्मे डॉ. पाण्डेय के नाटक, रंगमंच और सिनेमा विषय पर नटरंग, सामयिक मीमांसा, संवेद, सबलोग, बनास जन, परिंदे, जनसत्ता, प्रभात खबर जैसे प्रतिष्ठित पत्र-पत्रिकाओं में तीन दर्जन से अधिक लेख/शोध पत्र प्रकाशित हो चुके हैं. … और पढ़ें भोजपुरी साहित्यकार रामनाथ पाण्डेय की अंतिम इच्छा, जो अब तक पूरी न हो सकी!

भैरंट

हबीब तनवीर बहादुर कलारिन नाटक को लेकर क्या सोचते थे?

आज हबीब तनवीर की पुण्यतिथि है.

हबीब तनवीर बहादुर कलारिन नाटक को लेकर क्या सोचते थे?

यह लेख दी लल्लनटॉप के लिए मुन्ना के. पाण्डेय ने लिखा है. 1 मार्च 1982 को बिहार के सिवान में जन्मे डॉ. पाण्डेय के नाटक, रंगमंच और सिनेमा विषय पर नटरंग, सामयिक मीमांसा, संवेद, सबलोग, बनास जन, परिंदे, जनसत्ता, प्रभात खबर जैसे प्रतिष्ठित पत्र-पत्रिकाओं में तीन दर्जन से अधिक लेख/शोध पत्र प्रकाशित हो चुके हैं. … और पढ़ें हबीब तनवीर बहादुर कलारिन नाटक को लेकर क्या सोचते थे?

भैरंट

रामजियावन दास: जिन्हें भोजपुरी साहित्य में तुलसीदास सरीखा सम्मान मिला

इस लोककवि का आज जन्मदिन है. हैप्पी बड्डे.

रामजियावन दास: जिन्हें भोजपुरी साहित्य में तुलसीदास सरीखा सम्मान मिला

यह लेख दी लल्लनटॉप के लिए मुन्ना के. पाण्डेय ने लिखा है. 1 मार्च 1982 को बिहार के सिवान में जन्मे डॉ. पाण्डेय के नाटक, रंगमंच और सिनेमा विषय पर नटरंग, सामयिक मीमांसा, संवेद, सबलोग, बनास जन, परिंदे, जनसत्ता, प्रभात खबर जैसे प्रतिष्ठित पत्र-पत्रिकाओं में तीन दर्जन से अधिक लेख/शोध पत्र प्रकाशित हो चुके हैं. … और पढ़ें रामजियावन दास: जिन्हें भोजपुरी साहित्य में तुलसीदास सरीखा सम्मान मिला

वीडियो

असम चुनाव: हाफलोंग के बच्चों को कमाई के लिए बाहर क्यों जाना पड़ता है?

असम विधानसभा चुनाव 2021. दी लल्लनटॉप की टीम चुनाव कवरेज के लिए हाफलोंग पहुंची. यहां सरकारी स्कूल के बच्चों से बात की. उनसे कॉलेज में यूनिफॉर्म होने और न होने के बारे में उनकी राय पूछी. उनकी लाइफ में क्या चुनौतिया हैं, एक स्टूडेंट के तौर पर उनकी क्या समस्या है, सरकार से क्या मांग है, पहले क्या मांग थी, जो पूरी नहीं हुई, ममता सरकार और मोदी सरकार में से वो किसे चाहते हैं जिताना, सारी बातें जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

 

असम चुनाव: हाफलोंग के बच्चों को कमाई के लिए बाहर क्यों जाना पड़ता है?

असम विधानसभा चुनाव 2021. दी लल्लनटॉप की टीम चुनाव कवरेज के लिए हाफलोंग पहुंची. यहां सरकारी स्कूल के बच्चों से बात की. उनसे कॉलेज में यूनिफॉर्म होने और न होने के बारे में उनकी राय पूछी. उनकी लाइफ में क्या चुनौतिया हैं, एक स्टूडेंट के तौर पर उनकी क्या समस्या है, सरकार से क्या मांग है, पहले क्या मांग थी, जो पूरी नहीं हुई, ममता सरकार और मोदी सरकार में से वो किसे चाहते हैं जिताना, सारी बातें जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

 
भैरंट

सर सैयद अहमद खानः शेरवानी के अंदर जनेऊ?

सर सैयद के बारे में कहा जाता है कि उन्होंंने मुस्लिम समाज में दूरगामी सुधार किए. लेकिन क्या यही पूरा सच है?

सर सैयद अहमद खानः शेरवानी के अंदर जनेऊ?

17 इस लेख को मसूद आलम फलाही ने लिखा है. मसूद लखनऊ के ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती उर्दू,अरबी-फरसी यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर हैं. विश्वविद्यालय के डिपार्टमेंट ऑफ़ अरेबिक के विभागाध्यक्ष हैं. लेखक हैं, सामाजिक कार्यकर्ता हैं. ‘निचले तबके’ के मुस्लिम इनके अकादमिक शोध का केंद्र बिंदु हैं. इसके अलावा भी तमाम सामाजिक-राजनीतिक-आर्थिक मसलों पर सक्रिय हैं मसूद.  इस लेख में … और पढ़ें सर सैयद अहमद खानः शेरवानी के अंदर जनेऊ?

भैरंट

जब ग्रेबियल गार्सिया मार्केज़ ने शकीरा के बारे में लिखा

ये शकीरा को देखने का नया नज़रिया था, इसे पढ़ने के बाद शकीरा के लिए सम्मान बढ़ जाता है.

जब ग्रेबियल गार्सिया मार्केज़ ने शकीरा के बारे में लिखा

पढ़ते-पढ़ते, मनोज पटेल का ब्लॉग है. मनोज पटेल दुनिया की बेहतरीन कविताओं, किस्सों कहानियों को अलग अलग भाषाओं से हिंदी में अनूदित करने के लिए पूरे ब्लॉग जगत में फेमस थे. बहुत ही छोटी उम्र में उनका देहांत हो गया. उन्होंने ग्रेबियल गार्सिया मार्केज़ का भी एक लेख हिंदी में अनूदित किया है जिसमें मार्केज़ … और पढ़ें जब ग्रेबियल गार्सिया मार्केज़ ने शकीरा के बारे में लिखा

वीडियो

क्रेड कंपनी के फाउंडर कुणाल शाह के ट्वीट पर इलॉन मस्क ने जवाब दिया, तो लोगों ने मौज ले ली

क्रेड कंपनी के फाउंडर कुणाल शाह. इन्होंने इलॉन मस्क को लेकर एक ट्वीट किया. उसके बाद इलॉन मस्क का भी ट्वीट किया. इससे सोशल मीडिया पर उनकी चर्चा हो रही है. मस्क के इस जवाब पर लोगों ने खूब मौज़ ली. लोगों ने कहा कि यह तो पता ही है कि आप एलियन हो. कुछ नया बताओ मस्क. कइयों ने कहा कि मस्क ने अपना सबसे बड़ा राज़ ज़ाहिर कर दिया है. कुछ लोगों ने कहा कि अब समझा कि मस्क दूसरे गृह पर दुनिया क्यों बसाना चाहते हैं. वह घर वापसी की तैयारी कर रहे हैं. देखिए वीडियो.

क्रेड कंपनी के फाउंडर कुणाल शाह के ट्वीट पर इलॉन मस्क ने जवाब दिया, तो लोगों ने मौज ले ली

क्रेड कंपनी के फाउंडर कुणाल शाह. इन्होंने इलॉन मस्क को लेकर एक ट्वीट किया. उसके बाद इलॉन मस्क का भी ट्वीट किया. इससे सोशल मीडिया पर उनकी चर्चा हो रही है. मस्क के इस जवाब पर लोगों ने खूब मौज़ ली. लोगों ने कहा कि यह तो पता ही है कि आप एलियन हो. कुछ नया बताओ मस्क. कइयों ने कहा कि मस्क ने अपना सबसे बड़ा राज़ ज़ाहिर कर दिया है. कुछ लोगों ने कहा कि अब समझा कि मस्क दूसरे गृह पर दुनिया क्यों बसाना चाहते हैं. वह घर वापसी की तैयारी कर रहे हैं. देखिए वीडियो.

भैरंट

पाकिस्तान के यूसुफ का पंजाब की राजविंदर से इश्क वैलेंटाइंस डे की बदौलत नहीं था

आज वर्ल्ड रेडियो डे है. पढ़िए रेडियो से जुड़े तीन किस्से.

पाकिस्तान के यूसुफ का पंजाब की राजविंदर से इश्क वैलेंटाइंस डे की बदौलत नहीं था

पूनम ऑल इंडिया रेडियो के जालंधर स्टेशन में अनाउन्सर हैं. और इनके पास रेडियो से जुड़े किस्सों का पूरा संसार है. आज रेडियो दिवस या रेडियो डे के अवसर पर अपने पिटारे से सुना रही हैं ऐसे ही तीन किस्से. पढ़िए. दी लल्लनटॉप रेडियो होता तो कहते – मीडियम वेल अमुक आशारिय अमुक यानी अमुक … और पढ़ें पाकिस्तान के यूसुफ का पंजाब की राजविंदर से इश्क वैलेंटाइंस डे की बदौलत नहीं था