Submit your post

Follow Us

वीडियो

पड़ताल: क्या RO का पानी पीने से बीमारियां हो रही हैं?

क्या ये सच है कि RO का पानी पीने से बीमारियां हो रही हैं? सोशल मीडिया पर तो ऐसा ही दावा किया जा रहा है. ​एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें देखा जा सकता है कि एक शख्स के सामने टेबल पर चार गिलास रखे हैं. वो बताता है कि पहले गिलास में RO का पानी है, दूसरे में नल का पानी है, तीसरे में दूध है और चौथे में दही है. वह व्यक्ति बारी-बारी सभी गिलासों में बिजली का तार डालता है. इनमें से एक गिलास में तार डालने पर बल्ब नहीं जलता और बाकी तीन में तार डालने से बल्ब जल जाता है. हमने इस दावे की पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

पड़ताल: क्या RO का पानी पीने से बीमारियां हो रही हैं?

क्या ये सच है कि RO का पानी पीने से बीमारियां हो रही हैं? सोशल मीडिया पर तो ऐसा ही दावा किया जा रहा है. ​एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें देखा जा सकता है कि एक शख्स के सामने टेबल पर चार गिलास रखे हैं. वो बताता है कि पहले गिलास में RO का पानी है, दूसरे में नल का पानी है, तीसरे में दूध है और चौथे में दही है. वह व्यक्ति बारी-बारी सभी गिलासों में बिजली का तार डालता है. इनमें से एक गिलास में तार डालने पर बल्ब नहीं जलता और बाकी तीन में तार डालने से बल्ब जल जाता है. हमने इस दावे की पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

वीडियो

क्या वाकई कोरोना वैक्सीन लगवाने के दो साल के अंदर मौत हो जाएगी?

फ्रांस के नोबेल पुरस्कार विजेता लुच मोंतानिए का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है. इस मैसेज में वह कहते दिखते हैं कि लोगों के वैक्सीनेशन के कारण वायरस के नए-नए वैरिएंट पैदा हो रहे हैं. इस वायरल वीडियो के आधार पर एकाध जगह स्टोरी छपी दिखाई देती है. एक तो लाइफसाइट न्यूज़ नाम की वेबसाइट पर. हेडिंग लगी है कि कोरोना वैक्सीनेशन से बहुत बड़ी ग़लती हो रही है. और ये स्टोरी लोगों के इनबॉक्स में धड़ाधड़ पहुंच रही है. साथ में लिखा हुआ है कि जो लोग आज कोरोना की वैक्सीन लगवा रहे हैं, वो लोग 2 साल के अंदर मर जायेंगे. सच क्या है, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

 

क्या वाकई कोरोना वैक्सीन लगवाने के दो साल के अंदर मौत हो जाएगी?

फ्रांस के नोबेल पुरस्कार विजेता लुच मोंतानिए का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है. इस मैसेज में वह कहते दिखते हैं कि लोगों के वैक्सीनेशन के कारण वायरस के नए-नए वैरिएंट पैदा हो रहे हैं. इस वायरल वीडियो के आधार पर एकाध जगह स्टोरी छपी दिखाई देती है. एक तो लाइफसाइट न्यूज़ नाम की वेबसाइट पर. हेडिंग लगी है कि कोरोना वैक्सीनेशन से बहुत बड़ी ग़लती हो रही है. और ये स्टोरी लोगों के इनबॉक्स में धड़ाधड़ पहुंच रही है. साथ में लिखा हुआ है कि जो लोग आज कोरोना की वैक्सीन लगवा रहे हैं, वो लोग 2 साल के अंदर मर जायेंगे. सच क्या है, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

 
वीडियो

पड़ताल: क्या होम्योपैथिक दवा ASPIDOSPERMA Q वाकई ऑक्सीजन लेवल बढ़ा देती है?

भारत में कोरोना की दूसरी लहर से अस्पतालों और आम लोगों को ऑक्सीजन की भारी किल्लत की सामना करना पड़ रहा है. अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी के चलते कई जानें चली गई हैं. सांस लेने में तकलीफ़ होने पर मरीजों को कृत्रिम तरीके से ऑक्सीजन की तत्काल जरूरत पड़ती है. इसके लिए कुछ होम्योपैथिक दवा के मेसेज वॉट्सऐप पर वायरल हो रहे हैं. देखिए वीडियो और जानिए इनकी सचाई.

 

पड़ताल: क्या होम्योपैथिक दवा ASPIDOSPERMA Q वाकई ऑक्सीजन लेवल बढ़ा देती है?

भारत में कोरोना की दूसरी लहर से अस्पतालों और आम लोगों को ऑक्सीजन की भारी किल्लत की सामना करना पड़ रहा है. अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी के चलते कई जानें चली गई हैं. सांस लेने में तकलीफ़ होने पर मरीजों को कृत्रिम तरीके से ऑक्सीजन की तत्काल जरूरत पड़ती है. इसके लिए कुछ होम्योपैथिक दवा के मेसेज वॉट्सऐप पर वायरल हो रहे हैं. देखिए वीडियो और जानिए इनकी सचाई.

 
वीडियो

पड़ताल: क्या 5जी रेडियेशन के कारण हर चीज छूने से महसूस हो रहा करंट?

वॉट्सऐप, फेसबुक समेत हर बड़े सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर करंट लगने की घटनाओं का ज़िक्र मिल रहा है. यूज़र्स कह रहे हैं कि किसी इंसान या वस्तु को छूने पर करंट लगने की घटनाएं बढ़ी हैं.  कहीं इसके पीछे 5G रेडिएशन को ज़िम्मेदार बताया जा रहा है तो कहीं मौसम में बदलाव को. कुछ लोग सवाल पूछने के इरादे से, तो कुछ 5G को वजह बताते दावों पर भरोसा करने बाद करंट लगने से जुड़ी बातें सोशल मीडिया पर शेयर कर रहे हैं. दी लल्लनटॉप ने दावे की विस्तार से पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

पड़ताल: क्या 5जी रेडियेशन के कारण हर चीज छूने से महसूस हो रहा करंट?

वॉट्सऐप, फेसबुक समेत हर बड़े सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर करंट लगने की घटनाओं का ज़िक्र मिल रहा है. यूज़र्स कह रहे हैं कि किसी इंसान या वस्तु को छूने पर करंट लगने की घटनाएं बढ़ी हैं.  कहीं इसके पीछे 5G रेडिएशन को ज़िम्मेदार बताया जा रहा है तो कहीं मौसम में बदलाव को. कुछ लोग सवाल पूछने के इरादे से, तो कुछ 5G को वजह बताते दावों पर भरोसा करने बाद करंट लगने से जुड़ी बातें सोशल मीडिया पर शेयर कर रहे हैं. दी लल्लनटॉप ने दावे की विस्तार से पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

वीडियो

पड़ताल: क्या बीजापुर नक्सली हमले के बाद कांग्रेस के राज बब्बर ने नक्सलियों को क्रांतिकारी बता दिया?

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में हुए नक्सली हमले के बाद सोशल मीडिया पर एक अख़बार की कटिंग वायरल है. वायरल कटिंग में छपी खबर की हेडिंग है-‘राजबब्बर बोले, क्रांति कर रहे हैं नक्सली’. खबर में लिखा है, “कांग्रेस नेता और उत्तर प्रदेश पीसीसी अध्यक्ष राज बब्बर ने ये बयान छत्तीसगढ़ के रायपुर में दिया.” वायरल कटिंग का बीजापुर हमले से कोई सबंध नहीं है. देखिए वीडियो.

पड़ताल: क्या बीजापुर नक्सली हमले के बाद कांग्रेस के राज बब्बर ने नक्सलियों को क्रांतिकारी बता दिया?

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में हुए नक्सली हमले के बाद सोशल मीडिया पर एक अख़बार की कटिंग वायरल है. वायरल कटिंग में छपी खबर की हेडिंग है-‘राजबब्बर बोले, क्रांति कर रहे हैं नक्सली’. खबर में लिखा है, “कांग्रेस नेता और उत्तर प्रदेश पीसीसी अध्यक्ष राज बब्बर ने ये बयान छत्तीसगढ़ के रायपुर में दिया.” वायरल कटिंग का बीजापुर हमले से कोई सबंध नहीं है. देखिए वीडियो.

वीडियो

पड़ताल: गुजरात में आतंकी पकड़े जाने के नाम पर वायरल वीडियो का सच कुछ और है

सोशल मीडिया पर 3 मिनट 23 सेकेंड का एक वीडियो दिखाकर दावा किया जा रहा है कि गुजरात के दाहोद रेलवे स्टेशन से आतंकियों को पकड़ा गया है. वीडियो एक रेलवे स्टेशन का है. वीडियो में 2 मिनट 30 सेकेंड के मार्क पर RPF post Dahod लिखा दिखाता है. वीडियो के आखिरी हिस्से में पुलिस कर्मी दो लोगों को लॉक-अप में बंद करते दिखते हैं. ‘दी लल्लनटॉप’ ने वायरल वीडियो की पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो

पड़ताल: गुजरात में आतंकी पकड़े जाने के नाम पर वायरल वीडियो का सच कुछ और है

सोशल मीडिया पर 3 मिनट 23 सेकेंड का एक वीडियो दिखाकर दावा किया जा रहा है कि गुजरात के दाहोद रेलवे स्टेशन से आतंकियों को पकड़ा गया है. वीडियो एक रेलवे स्टेशन का है. वीडियो में 2 मिनट 30 सेकेंड के मार्क पर RPF post Dahod लिखा दिखाता है. वीडियो के आखिरी हिस्से में पुलिस कर्मी दो लोगों को लॉक-अप में बंद करते दिखते हैं. ‘दी लल्लनटॉप’ ने वायरल वीडियो की पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो

वीडियो

पड़ताल: क्या उत्तराखंड के जसपुर की एक दरगाह में हिंदुओं को मुस्लिमों ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा?

सोशल मीडिया पर उत्तराखंड के जसपुर में दो गुटों के बीच हुई लड़ाई का वीडियो वायरल हो रहा है. दावा किया जा रहा है कि जसपुर की एक दरगाह में गए हिंदुओं को मुस्लिमों ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा है. हमने इस वायरल दावे की पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

पड़ताल: क्या उत्तराखंड के जसपुर की एक दरगाह में हिंदुओं को मुस्लिमों ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा?

सोशल मीडिया पर उत्तराखंड के जसपुर में दो गुटों के बीच हुई लड़ाई का वीडियो वायरल हो रहा है. दावा किया जा रहा है कि जसपुर की एक दरगाह में गए हिंदुओं को मुस्लिमों ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा है. हमने इस वायरल दावे की पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

वीडियो

पड़ताल: क्या IMF की रिपोर्ट के मुताबिक, 2025 तक भारत बांग्लादेश से ज्यादा गरीब हो जाएगा?

सोशल मीडिया पर एक पोस्टर वायरल हो रहा है. वायरल पोस्टर में लिखा है- “IMF द्वारा एक और दिल दहला देने वाली रिपोर्ट. अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की ताजा आर्थिक रिपोर्ट के अनुसार 2025 तक भारत बांग्लादेश से ज्यादा गरीब हो जाएगा. अभूतपूर्व रूप से चिंताजनक हालात. देश का भविष्य दांव पर लगा दिया है मोदी ने. भारत अब नहीं रहा एक विकासशील देश.” ‘दी लल्लनटॉप’ ने वायरल मेसेज की पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

पड़ताल: क्या IMF की रिपोर्ट के मुताबिक, 2025 तक भारत बांग्लादेश से ज्यादा गरीब हो जाएगा?

सोशल मीडिया पर एक पोस्टर वायरल हो रहा है. वायरल पोस्टर में लिखा है- “IMF द्वारा एक और दिल दहला देने वाली रिपोर्ट. अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की ताजा आर्थिक रिपोर्ट के अनुसार 2025 तक भारत बांग्लादेश से ज्यादा गरीब हो जाएगा. अभूतपूर्व रूप से चिंताजनक हालात. देश का भविष्य दांव पर लगा दिया है मोदी ने. भारत अब नहीं रहा एक विकासशील देश.” ‘दी लल्लनटॉप’ ने वायरल मेसेज की पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

वीडियो

पड़ताल: क्या तिरुपति बालाजी मंदिर समिति के अध्यक्ष ईसाई हैं?

सोशल मीडिया पर आंध्र प्रदेश स्थित प्रसिद्ध हिंदू मंदिर तिरुपति बालाजी और मुंबई स्थित सिद्धि विनायक मंदिर से जुड़ा दावा वायरल है. दावा किया जा रहा है कि तिरुपति बालाजी मंदिर समिति के अध्यक्ष चंद्रशेखर रेड्डी ईसाई हैं और सिद्धि विनायक मंदिर के ट्रस्टी सलीम मुस्लिम हैं. इसका हवाला देते हुए किसी हिंदू को हाजी अली का ट्रस्टी बनाने की मांग भी की जा रही है.‘दी लल्लनटॉप’ ने वायरल दावे की पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

 

पड़ताल: क्या तिरुपति बालाजी मंदिर समिति के अध्यक्ष ईसाई हैं?

सोशल मीडिया पर आंध्र प्रदेश स्थित प्रसिद्ध हिंदू मंदिर तिरुपति बालाजी और मुंबई स्थित सिद्धि विनायक मंदिर से जुड़ा दावा वायरल है. दावा किया जा रहा है कि तिरुपति बालाजी मंदिर समिति के अध्यक्ष चंद्रशेखर रेड्डी ईसाई हैं और सिद्धि विनायक मंदिर के ट्रस्टी सलीम मुस्लिम हैं. इसका हवाला देते हुए किसी हिंदू को हाजी अली का ट्रस्टी बनाने की मांग भी की जा रही है.‘दी लल्लनटॉप’ ने वायरल दावे की पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

 
वीडियो

पड़ताल: अमित शाह और योगी की रैली के नाम पर खाली पड़ी कुर्सियों की हकीकत क्या है?

सोशल मीडिया पर दो तस्वीरों का एक कोलाज वायरल है. एक तस्वीर में गृहमंत्री अमित शाह, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और BJP नेता महेंद्र नाथ पांडेय नज़र आ रहे हैं. वहीं दूसरी तस्वीर में खाली कुर्सियां दिख रही हैं, जिन पर बैग्स रखे हुए हैं. सोशल मीडिया यूज़र्स इस तस्वीर को पश्चिम बंगाल का बता रहे हैं. लोगों का दावा है कि अमित शाह और योगी आदित्यनाथ की रैली में भीड़ नहीं जुटी. हमने इसकी पड़ताल की, नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

 

पड़ताल: अमित शाह और योगी की रैली के नाम पर खाली पड़ी कुर्सियों की हकीकत क्या है?

सोशल मीडिया पर दो तस्वीरों का एक कोलाज वायरल है. एक तस्वीर में गृहमंत्री अमित शाह, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और BJP नेता महेंद्र नाथ पांडेय नज़र आ रहे हैं. वहीं दूसरी तस्वीर में खाली कुर्सियां दिख रही हैं, जिन पर बैग्स रखे हुए हैं. सोशल मीडिया यूज़र्स इस तस्वीर को पश्चिम बंगाल का बता रहे हैं. लोगों का दावा है कि अमित शाह और योगी आदित्यनाथ की रैली में भीड़ नहीं जुटी. हमने इसकी पड़ताल की, नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.