Submit your post

Follow Us

वीडियो

पड़ताल: क्या आम आदमी पार्टी गुजरात की राजनीति में सांप्रदायिकता फैला रही है?

आम आदमी पार्टी के गुजराती भाषा में जारी एक बैनर की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, जिसमें कहा गया है, "गुजरात अब नमाज पढ़ेगा". साथ ही इस पर लिखा है कि लोगों को भागवत पाठ और सत्यनारायण पूजा बंद कर देनी चाहिए. बैनर में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के अलावा दो और लोगों की तस्वीर लगी है. कई सारे फेसबुक यूजर्स ने इस तस्वीर को शेयर करते हुए आम आदमी पार्टी पर गुजरात की राजनीति में सांप्रदायिकता फैलाने का आरोप लगाया. इस दावे की हमने पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

पड़ताल: क्या आम आदमी पार्टी गुजरात की राजनीति में सांप्रदायिकता फैला रही है?

आम आदमी पार्टी के गुजराती भाषा में जारी एक बैनर की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, जिसमें कहा गया है, "गुजरात अब नमाज पढ़ेगा". साथ ही इस पर लिखा है कि लोगों को भागवत पाठ और सत्यनारायण पूजा बंद कर देनी चाहिए. बैनर में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के अलावा दो और लोगों की तस्वीर लगी है. कई सारे फेसबुक यूजर्स ने इस तस्वीर को शेयर करते हुए आम आदमी पार्टी पर गुजरात की राजनीति में सांप्रदायिकता फैलाने का आरोप लगाया. इस दावे की हमने पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

वीडियो

पड़ताल: क्या दूध में मिलावट करने और कंटेनर में थूकने का ये वीडियो भारत का है?

सोशल मीडिया पर एक वीडियो काफी वायरल हो रहा है. दावा किया जा राह है कि खुलेआम सड़कों पर दूध में पानी मिलाया जा रहा है. साथ ही कहा जा रहा है कि  दूध के कंटेनर में यह  थूक भी रहे हैं. हमने इस दावे की पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

पड़ताल: क्या दूध में मिलावट करने और कंटेनर में थूकने का ये वीडियो भारत का है?

सोशल मीडिया पर एक वीडियो काफी वायरल हो रहा है. दावा किया जा राह है कि खुलेआम सड़कों पर दूध में पानी मिलाया जा रहा है. साथ ही कहा जा रहा है कि  दूध के कंटेनर में यह  थूक भी रहे हैं. हमने इस दावे की पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

वीडियो

पड़ताल: क्या मुरली मनोहर जोशी ने 2024 में मोदी के हारने और राहुल के जीतने की बात कही?

सोशल मीडिया पर बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी को प्रधानमंत्री मोदी और कांग्रेस नेता राहुल गांधी से जोड़ा जा रहा है. एक पोस्ट वायरल हो रहा है जिसके मुताबिक, मुरली मनोहर जोशी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना और राहुल गांधी की तारीफ की है. पोस्ट के मुताबिक जोशी ने कहा है, "अगर मोदी इसी तरह घमंड में रहे तो 2024 में मोदी बुरी तरह हारेंगे और देश की जनता राहुल की सादगी को जिताएगी." अब इस दावे की हमने पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

पड़ताल: क्या मुरली मनोहर जोशी ने 2024 में मोदी के हारने और राहुल के जीतने की बात कही?

सोशल मीडिया पर बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी को प्रधानमंत्री मोदी और कांग्रेस नेता राहुल गांधी से जोड़ा जा रहा है. एक पोस्ट वायरल हो रहा है जिसके मुताबिक, मुरली मनोहर जोशी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना और राहुल गांधी की तारीफ की है. पोस्ट के मुताबिक जोशी ने कहा है, "अगर मोदी इसी तरह घमंड में रहे तो 2024 में मोदी बुरी तरह हारेंगे और देश की जनता राहुल की सादगी को जिताएगी." अब इस दावे की हमने पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

वीडियो

पड़ताल: नासा के स्पेस स्टेशन में बॉल गिरने के वीडियो को फ़ेक बताता दावा गलत, पूरा सच कुछ और है

सोशल मीडिया पर अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा से जुड़ा एक वीडियो वायरल है. वीडियो में नीली शर्ट और खाकी पैंट पहने पांच लोग दिख रहे हैं. एक आदमी अपने एक हाथ में बॉल और दूसरे हाथ में माइक लेकर कुछ कह रहा है. अचानक बॉल उसके हाथ से नीचे गिर जाती है. ये देखकर एक दूसरा व्यक्ति बॉल उठाने के लिए झुकता है, लेकिन एक महिला उसे इशारा करके बॉल उठाने से मना कर देती है. अब इसी वीडियो को शेयर कर सोशल मीडिया पर यूज़र्स आरोप लगा रहे हैं कि नासा ने धरती पर रिकॉर्ड किए गए एक वीडियो को अंतरिक्ष स्टेशन का वीडियो बताकर दुनिया के सामने पेश कर दिया.

हमारी पड़ताल में वायरल वीडियो के साथ किया जा रहा दावा भ्रामक निकला. वायरल वीडियो नासा के स्पेस स्टेशन का ही है. ओरिजिनल वीडियो देखने पर पता चला कि वीडियो में कई बार माइक और बॉल को तैरते हुए देखा जा सकता है. देखिए पूरी सच्चाई इस वीडियो में.

 

पड़ताल: नासा के स्पेस स्टेशन में बॉल गिरने के वीडियो को फ़ेक बताता दावा गलत, पूरा सच कुछ और है

सोशल मीडिया पर अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा से जुड़ा एक वीडियो वायरल है. वीडियो में नीली शर्ट और खाकी पैंट पहने पांच लोग दिख रहे हैं. एक आदमी अपने एक हाथ में बॉल और दूसरे हाथ में माइक लेकर कुछ कह रहा है. अचानक बॉल उसके हाथ से नीचे गिर जाती है. ये देखकर एक दूसरा व्यक्ति बॉल उठाने के लिए झुकता है, लेकिन एक महिला उसे इशारा करके बॉल उठाने से मना कर देती है. अब इसी वीडियो को शेयर कर सोशल मीडिया पर यूज़र्स आरोप लगा रहे हैं कि नासा ने धरती पर रिकॉर्ड किए गए एक वीडियो को अंतरिक्ष स्टेशन का वीडियो बताकर दुनिया के सामने पेश कर दिया.

हमारी पड़ताल में वायरल वीडियो के साथ किया जा रहा दावा भ्रामक निकला. वायरल वीडियो नासा के स्पेस स्टेशन का ही है. ओरिजिनल वीडियो देखने पर पता चला कि वीडियो में कई बार माइक और बॉल को तैरते हुए देखा जा सकता है. देखिए पूरी सच्चाई इस वीडियो में.

 
वीडियो

पड़ताल: क्या शंघाई के डिज़्नीलैंड में डांसिंग आर्टिस्ट नहीं बल्कि रोबोट डांस कर रहे हैं?

सोशल मीडिया पर एक शानदार डांस परफॉर्मेंस का वीडियो वायरल हो रहा है. दावा किया जा रहा है कि वीडियो में दिख रहे डांसिंग आर्टिस्ट इंसान नहीं, बल्कि चीन में बने रोबोट्स हैं, और ये डांस परफॉर्मेंस चीनी क्लासिकल डांस है जो शंघाई के डिज़्नीलैंड में दिखाया गया था. हमने इस दावे की पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

पड़ताल: क्या शंघाई के डिज़्नीलैंड में डांसिंग आर्टिस्ट नहीं बल्कि रोबोट डांस कर रहे हैं?

सोशल मीडिया पर एक शानदार डांस परफॉर्मेंस का वीडियो वायरल हो रहा है. दावा किया जा रहा है कि वीडियो में दिख रहे डांसिंग आर्टिस्ट इंसान नहीं, बल्कि चीन में बने रोबोट्स हैं, और ये डांस परफॉर्मेंस चीनी क्लासिकल डांस है जो शंघाई के डिज़्नीलैंड में दिखाया गया था. हमने इस दावे की पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

वीडियो

पड़ताल: क्या असम में बांग्लादेशी मुसलमान अलग देश की मांग कर रहे हैं?

सोशल मीडिया पर अलग देश की मांग के नाम पर एक प्रदर्शन का वीडियो वायरल है. वायरल वीडियो में कुछ प्रदर्शनकारी नारे लगाते हुए आगे बढ़ते दिख रहे हैं. आगे आने पर पुलिस से उनकी बहस होती है और फिर पुलिसकर्मी उनकी पिटाई करने लगते हैं. वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि ये बांग्लादेशी मुसलमान हैं जो अलग देश की मांग कर रहे हैं. इस दावे की हमने पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

पड़ताल: क्या असम में बांग्लादेशी मुसलमान अलग देश की मांग कर रहे हैं?

सोशल मीडिया पर अलग देश की मांग के नाम पर एक प्रदर्शन का वीडियो वायरल है. वायरल वीडियो में कुछ प्रदर्शनकारी नारे लगाते हुए आगे बढ़ते दिख रहे हैं. आगे आने पर पुलिस से उनकी बहस होती है और फिर पुलिसकर्मी उनकी पिटाई करने लगते हैं. वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि ये बांग्लादेशी मुसलमान हैं जो अलग देश की मांग कर रहे हैं. इस दावे की हमने पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

वीडियो

पड़ताल: क्या राजस्थान में आधार कार्ड के बिना रह रहे पाकिस्तानी हिंदू शरणार्थियों को वैक्सीन नहीं लग रही?

सोशल मीडिया पर कोरोना वैक्सीन को रोहिंग्याओं और हिंदू शरणार्थियों से जोड़ता एक मेसेज वायरल हो रहा है. वायरल मेसेज में लिखा है कि  रोहिंग्याओं और बांग्लादेशी घुसपैठियों को कोरोना की वैक्सीन लगाई जा रही है. उनके लिए हैदराबाद में फुटबॉल क्लब खोले जा रहे हैं. वहां की सरकार उनके रहने के लिए घर तक बना कर दे रही है. वहीं दूसरी तरफ़ राजस्थान में आधार कार्ड के बिना पाकिस्तानी हिंदू शरणार्थी कोरोना टीका लेने से वंचित, अब तक कोरोना से 15 की मौत हो चुकी है. वायरल मेसेज वॉट्सऐप पर तेजी से फॉरवर्ड किया जा रहा है. इस दावे की पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

पड़ताल: क्या राजस्थान में आधार कार्ड के बिना रह रहे पाकिस्तानी हिंदू शरणार्थियों को वैक्सीन नहीं लग रही?

सोशल मीडिया पर कोरोना वैक्सीन को रोहिंग्याओं और हिंदू शरणार्थियों से जोड़ता एक मेसेज वायरल हो रहा है. वायरल मेसेज में लिखा है कि  रोहिंग्याओं और बांग्लादेशी घुसपैठियों को कोरोना की वैक्सीन लगाई जा रही है. उनके लिए हैदराबाद में फुटबॉल क्लब खोले जा रहे हैं. वहां की सरकार उनके रहने के लिए घर तक बना कर दे रही है. वहीं दूसरी तरफ़ राजस्थान में आधार कार्ड के बिना पाकिस्तानी हिंदू शरणार्थी कोरोना टीका लेने से वंचित, अब तक कोरोना से 15 की मौत हो चुकी है. वायरल मेसेज वॉट्सऐप पर तेजी से फॉरवर्ड किया जा रहा है. इस दावे की पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

वीडियो

पड़ताल: क्या ‘बुर्ज खलीफा’ पर जरनैल सिंह भिंडरावाले की तस्वीर दिखाई गई थी?

दुबई स्थित विश्व की सबसे ऊंची इमारत ‘बुर्ज खलीफा’ का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है. वायरल वीडियो में लाइट शो के दौरान एक भगवा रंग की पगड़ी पहने और लंबी दाढ़ी वाले शख़्स की तस्वीर ‘बुर्ज खलीफा’ पर प्रदर्शित हो रही है. इस वीडियो के साथ यूज़र्स दावा कर रहे हैं कि दुबई के ‘बुर्ज खलीफा’ पर सिख समुदाय के धार्मिक नेता रहे जरनैल सिंह भिंडरावाले की तस्वीर प्रदर्शित की गई. साल 1984 के जून महीने के इन्हीं दिनों में भारतीय सेना ने सिखों के सर्वोच्च धार्मिक स्थल स्वर्ण मंदिर और अकाल तख़्त पर फौजी कार्रवाई की थी. इसकी हमने पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

पड़ताल: क्या ‘बुर्ज खलीफा’ पर जरनैल सिंह भिंडरावाले की तस्वीर दिखाई गई थी?

दुबई स्थित विश्व की सबसे ऊंची इमारत ‘बुर्ज खलीफा’ का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है. वायरल वीडियो में लाइट शो के दौरान एक भगवा रंग की पगड़ी पहने और लंबी दाढ़ी वाले शख़्स की तस्वीर ‘बुर्ज खलीफा’ पर प्रदर्शित हो रही है. इस वीडियो के साथ यूज़र्स दावा कर रहे हैं कि दुबई के ‘बुर्ज खलीफा’ पर सिख समुदाय के धार्मिक नेता रहे जरनैल सिंह भिंडरावाले की तस्वीर प्रदर्शित की गई. साल 1984 के जून महीने के इन्हीं दिनों में भारतीय सेना ने सिखों के सर्वोच्च धार्मिक स्थल स्वर्ण मंदिर और अकाल तख़्त पर फौजी कार्रवाई की थी. इसकी हमने पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

वीडियो

पड़ताल: क्या RO का पानी पीने से बीमारियां हो रही हैं?

क्या ये सच है कि RO का पानी पीने से बीमारियां हो रही हैं? सोशल मीडिया पर तो ऐसा ही दावा किया जा रहा है. ​एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें देखा जा सकता है कि एक शख्स के सामने टेबल पर चार गिलास रखे हैं. वो बताता है कि पहले गिलास में RO का पानी है, दूसरे में नल का पानी है, तीसरे में दूध है और चौथे में दही है. वह व्यक्ति बारी-बारी सभी गिलासों में बिजली का तार डालता है. इनमें से एक गिलास में तार डालने पर बल्ब नहीं जलता और बाकी तीन में तार डालने से बल्ब जल जाता है. हमने इस दावे की पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

पड़ताल: क्या RO का पानी पीने से बीमारियां हो रही हैं?

क्या ये सच है कि RO का पानी पीने से बीमारियां हो रही हैं? सोशल मीडिया पर तो ऐसा ही दावा किया जा रहा है. ​एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें देखा जा सकता है कि एक शख्स के सामने टेबल पर चार गिलास रखे हैं. वो बताता है कि पहले गिलास में RO का पानी है, दूसरे में नल का पानी है, तीसरे में दूध है और चौथे में दही है. वह व्यक्ति बारी-बारी सभी गिलासों में बिजली का तार डालता है. इनमें से एक गिलास में तार डालने पर बल्ब नहीं जलता और बाकी तीन में तार डालने से बल्ब जल जाता है. हमने इस दावे की पड़ताल की. नतीजा क्या निकला, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

वीडियो

क्या वाकई कोरोना वैक्सीन लगवाने के दो साल के अंदर मौत हो जाएगी?

फ्रांस के नोबेल पुरस्कार विजेता लुच मोंतानिए का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है. इस मैसेज में वह कहते दिखते हैं कि लोगों के वैक्सीनेशन के कारण वायरस के नए-नए वैरिएंट पैदा हो रहे हैं. इस वायरल वीडियो के आधार पर एकाध जगह स्टोरी छपी दिखाई देती है. एक तो लाइफसाइट न्यूज़ नाम की वेबसाइट पर. हेडिंग लगी है कि कोरोना वैक्सीनेशन से बहुत बड़ी ग़लती हो रही है. और ये स्टोरी लोगों के इनबॉक्स में धड़ाधड़ पहुंच रही है. साथ में लिखा हुआ है कि जो लोग आज कोरोना की वैक्सीन लगवा रहे हैं, वो लोग 2 साल के अंदर मर जायेंगे. सच क्या है, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

 

क्या वाकई कोरोना वैक्सीन लगवाने के दो साल के अंदर मौत हो जाएगी?

फ्रांस के नोबेल पुरस्कार विजेता लुच मोंतानिए का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है. इस मैसेज में वह कहते दिखते हैं कि लोगों के वैक्सीनेशन के कारण वायरस के नए-नए वैरिएंट पैदा हो रहे हैं. इस वायरल वीडियो के आधार पर एकाध जगह स्टोरी छपी दिखाई देती है. एक तो लाइफसाइट न्यूज़ नाम की वेबसाइट पर. हेडिंग लगी है कि कोरोना वैक्सीनेशन से बहुत बड़ी ग़लती हो रही है. और ये स्टोरी लोगों के इनबॉक्स में धड़ाधड़ पहुंच रही है. साथ में लिखा हुआ है कि जो लोग आज कोरोना की वैक्सीन लगवा रहे हैं, वो लोग 2 साल के अंदर मर जायेंगे. सच क्या है, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.