Submit your post

Follow Us

झमाझम

फिल्म रिव्यू: मोतीचूर चकनाचूर

फिल्म रिव्यू: मोतीचूर चकनाचूर

नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी और अथिया शेट्टी की नई फिल्म आई है. ‘मोतीचूर चकनाचूर’. फिल्म की लीड पेयरिंग देखकर जो फीलिंग आपको आई, ये फिल्म उसी के बारे में है. एक 36 साल का आदमी है पुष्पेंद्र त्यागी. पिछले कई सालों से दुबई में रह रहा है. शादी के लिए अपने घर भोपाल आया है. दूसरी ओर … और पढ़ें फिल्म रिव्यू: मोतीचूर चकनाचूर

वीडियो

'सैटेलाइट शंकर' फिल्म रिव्यू: ऐसी एक्सपेरिटमेंट कोशिश जो सफलता-असफलता के बीच कोशिश ही बनकर रह जाती है

‘हीरो’ से डेब्यू करने के चार साल सूरज पंचोली की दूसरी फिल्म आई है. नाम है ‘सैटेलाइट शंकर’. और ये कोई साइंस-फिक्शन नहीं है. इसे बनाया है इरफान कमाल ने. ये उनकी दूसरी फिल्म है. इससे पहले 2010 में वो ‘थैंक्स मां’ नाम की एक क्राइम ड्रामा फिल्म बना चुके हैं. पहली वाली तो ठीक थी. अब दूसरी भी देख ली है. कैसी है वीडियो में बता रहे हैं.

'सैटेलाइट शंकर' फिल्म रिव्यू: ऐसी एक्सपेरिटमेंट कोशिश जो सफलता-असफलता के बीच कोशिश ही बनकर रह जाती है

‘हीरो’ से डेब्यू करने के चार साल सूरज पंचोली की दूसरी फिल्म आई है. नाम है ‘सैटेलाइट शंकर’. और ये कोई साइंस-फिक्शन नहीं है. इसे बनाया है इरफान कमाल ने. ये उनकी दूसरी फिल्म है. इससे पहले 2010 में वो ‘थैंक्स मां’ नाम की एक क्राइम ड्रामा फिल्म बना चुके हैं. पहली वाली तो ठीक थी. अब दूसरी भी देख ली है. कैसी है वीडियो में बता रहे हैं.
वीडियो

बाल्ड-बाल्ड देखें या बाल-बाल बचें, जानने के लिए पहले 'बाला' का रिव्यू देखिए

काफी विवादों के बाद आख़िरकार 8 नवंबर, 2019 को रिलीज़ हुई फिल्म ‘बाला’. ये कहानी है बालमुकुंद शुक्ला उर्फ बाला की. बाला कानपुर का एक सेल्समैन है. ब्यूटी प्रॉडक्ट बेचता है. लेकिन उसका बॉस उससे फील्ड वर्क छुड़वाकर उसे ऑफिस वर्क दे देता है. काइंड ऑफ़ डिमोशन. और डिमोशन इसलिए क्योंकि उसके बाल नहीं हैं. बाला गंजा है. इसीलिए बॉस और समाज़ की नज़र में उसकी पर्सनेलिटी ठंडी है. बाल नहीं, तो चार्म नहीं. बाकी फिल्म की कहानी कैसे आगे बढ़ती है, फिल्म में हमें क्या-क्या देखने मिला, फिल्म कहां कमज़ोर रही. सब कुछ की जानकारी इस वीडियो में आपको मिलेगी. तो फिल्म देखने से पहले ये वीडियो देख डालिए.

बाल्ड-बाल्ड देखें या बाल-बाल बचें, जानने के लिए पहले 'बाला' का रिव्यू देखिए

काफी विवादों के बाद आख़िरकार 8 नवंबर, 2019 को रिलीज़ हुई फिल्म ‘बाला’. ये कहानी है बालमुकुंद शुक्ला उर्फ बाला की. बाला कानपुर का एक सेल्समैन है. ब्यूटी प्रॉडक्ट बेचता है. लेकिन उसका बॉस उससे फील्ड वर्क छुड़वाकर उसे ऑफिस वर्क दे देता है. काइंड ऑफ़ डिमोशन. और डिमोशन इसलिए क्योंकि उसके बाल नहीं हैं. बाला गंजा है. इसीलिए बॉस और समाज़ की नज़र में उसकी पर्सनेलिटी ठंडी है. बाल नहीं, तो चार्म नहीं. बाकी फिल्म की कहानी कैसे आगे बढ़ती है, फिल्म में हमें क्या-क्या देखने मिला, फिल्म कहां कमज़ोर रही. सब कुछ की जानकारी इस वीडियो में आपको मिलेगी. तो फिल्म देखने से पहले ये वीडियो देख डालिए.
झमाझम

बाला: मूवी रिव्यू

बाला: मूवी रिव्यू

बालमुकुंद इमोशनल होते हुए कहता है. कि नहाने के तुरंत बाद वो अपना कच्छा नहीं, अपना विग पहनता है. इसलिए कि विग न पहना हो, तो उसे लगता है वो नंगा हो गया. उसका ये कहना सुनकर आपके अंदर हास्य और करुणा एक साथ जनमती है. हास्य और पीड़ा का ये ही जोड़ आप पूरी फिल्म में पाते हैं. वही जोड़, जिसके बारे में शायद चार्ली … और पढ़ें बाला: मूवी रिव्यू

झमाझम

फिल्म रिव्यू: सैटेलाइट शंकर

फिल्म रिव्यू: सैटेलाइट शंकर

‘हीरो’ से डेब्यू करने के चार साल सूरज पंचोली की दूसरी फिल्म आई है. नाम है ‘सैटेलाइट शंकर’. और ये कोई साइंस-फिक्शन नहीं है. इसे बनाया है इरफान कमाल ने. ये उनकी दूसरी फिल्म है. इससे पहले 2010 में वो ‘थैंक्स मां’ नाम की एक क्राइम ड्रामा फिल्म बना चुके हैं. पहली वाली तो ठीक … और पढ़ें फिल्म रिव्यू: सैटेलाइट शंकर

वीडियो

उजड़ा चमन : मूवी रिव्यू

चमन कोहली आज जो विग पहन के कॉलेज गए हैं वो उन्हें परेशान कर रहा है. आदत नहीं है न. और इसलिए वो बार-बार अपने बाल खुजला रहे हैं. वॉशरूम में जाते हैं और विग खोलकर चैन की सांस लेते हैं. लेकिन उनका ये सारा क्रियाकलाप एक एमएमएस के रूप में पूरे कॉलेज में वायरल हो जाता है और चमन कोहली की खूब कॉलेज-हंसाई होती है.

उजड़ा चमन : मूवी रिव्यू

चमन कोहली आज जो विग पहन के कॉलेज गए हैं वो उन्हें परेशान कर रहा है. आदत नहीं है न. और इसलिए वो बार-बार अपने बाल खुजला रहे हैं. वॉशरूम में जाते हैं और विग खोलकर चैन की सांस लेते हैं. लेकिन उनका ये सारा क्रियाकलाप एक एमएमएस के रूप में पूरे कॉलेज में वायरल हो जाता है और चमन कोहली की खूब कॉलेज-हंसाई होती है.

वीडियो

फिल्म रिव्यू: टर्मिनेटर - डार्क फेट

‘टर्मिनेटर-डार्क फेट’. जगतप्रसिद्ध टर्मिनेटर सीरीज की छठी किश्त. इस सीरीज की पिछली दो फिल्मों ने, ‘टर्मिनेटर सैल्वेशन’ और ‘टर्मिनेटर जेनेसिस’ ने, दर्शकों को निराश ही किया था. क्या ये फिल्म, टर्मिनेटर की फ्रेंचाइज़ी में कुछ करंट दौड़ा पाएगी? आइए जानते हैं.

 

फिल्म रिव्यू: टर्मिनेटर - डार्क फेट

‘टर्मिनेटर-डार्क फेट’. जगतप्रसिद्ध टर्मिनेटर सीरीज की छठी किश्त. इस सीरीज की पिछली दो फिल्मों ने, ‘टर्मिनेटर सैल्वेशन’ और ‘टर्मिनेटर जेनेसिस’ ने, दर्शकों को निराश ही किया था. क्या ये फिल्म, टर्मिनेटर की फ्रेंचाइज़ी में कुछ करंट दौड़ा पाएगी? आइए जानते हैं.

 
झमाझम

उजड़ा चमन : मूवी रिव्यू

उजड़ा चमन : मूवी रिव्यू

चमन कोहली आज जो विग पहन के कॉलेज गए हैं वो उन्हें परेशान कर रहा है. आदत नहीं है न. और इसलिए वो बार-बार अपने बाल खुजला रहे हैं. वॉशरूम में जाते हैं और विग खोलकर चैन की सांस लेते हैं. लेकिन उनका ये सारा क्रियाकलाप एक एमएमएस के रूप में पूरे कॉलेज में वायरल … और पढ़ें उजड़ा चमन : मूवी रिव्यू

झमाझम

फिल्म रिव्यू: टर्मिनेटर - डार्क फेट

फिल्म रिव्यू: टर्मिनेटर - डार्क फेट

‘टर्मिनेटर-डार्क फेट’. जगतप्रसिद्ध टर्मिनेटर सीरीज की छठी किश्त. इस सीरीज की पिछली दो फिल्मों ने, ‘टर्मिनेटर सैल्वेशन’ और ‘टर्मिनेटर जेनेसिस’ ने, दर्शकों को निराश ही किया था. क्या ये फिल्म, टर्मिनेटर की फ्रेंचाइज़ी में कुछ करंट दौड़ा पाएगी? आइए जानते हैं. फिल्म की कहानी तीन लाइन में समेटी जा सकती है. एक लड़की है, जिसे … और पढ़ें फिल्म रिव्यू: टर्मिनेटर – डार्क फेट

झमाझम

हाउसफुल 4 : मूवी रिव्यू

हाउसफुल 4 : मूवी रिव्यू

क्लाइमेक्स चल रहा है. अक्षय कुमार के किरदार को पीछे से चार चाकू लगे हुए हैं. इसी हालत में वो दौड़ रहे हैं, हंस रहे हैं, हिरोइन के गले लग रहे हैं और खूब कॉमेडी कर रहे हैं. या करने की कोशिश कर रहे हैं. ये सीन फिल्म का न तो इकलौता न सबसे ज़्यादा असंभव … और पढ़ें हाउसफुल 4 : मूवी रिव्यू