Submit your post

Follow Us

न्यूज़

कोरोना संकट पर खरी-खरी सुनाने वाले नामी वायरोलॉजिस्ट ने सरकारी ग्रुप से इस्तीफा क्यों दे दिया?

डॉ. शाहिद जमील वायरस के जीनोम स्ट्रक्चर की पहचान करने वाले ग्रुप INSACOG के प्रमुख थे.

कोरोना संकट पर खरी-खरी सुनाने वाले नामी वायरोलॉजिस्ट ने सरकारी ग्रुप से इस्तीफा क्यों दे दिया?

शाहिद जमील. भारत के नामी वायरोलॉजिस्ट हैं. इन्होंने सरकार की ओर से बनाए गए वैज्ञानिकों के उस खास सलाहकार ग्रुप से इस्तीफा दे दिया है, जिस पर वायरस के जीनोम स्ट्रक्चर की पहचान करने की जिम्मेदारी है. शाहिद जमील ने हाल ही में न्यूयॉर्क टाइम्स में एक लेख लिखा था. इसमें विस्तार से बताया था … और पढ़ें कोरोना संकट पर खरी-खरी सुनाने वाले नामी वायरोलॉजिस्ट ने सरकारी ग्रुप से इस्तीफा क्यों दे दिया?

वीडियो

असम का वो नेता, जिसके साथ हुई ग़लती को ख़ुद अमित शाह ने सुधारा था

भारतीय जनता पार्टी के हिमंत बिस्व सरमा ने 10 मई 2021 को असम के 15वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली. ये काफी हद तक प्रत्याशित भी था. लेकिन आप इसे अंडरप्ले नहीं कर सकते. क्योंकि हिमंत का शपथ लेना नेशनल पॉलिटिक्स में नॉर्थ-ईस्ट की भूमिका के लिहाज से अहम होने वाला है. कहने वाले कहते हैं कि हिमंत बिस्व सरमा की राजनीति का तो ये पहला पड़ाव भर है. पिक्चर अभी बाकी है. कहने वाले कहते हैं कि अगर भाजपा बंगाल में न हारती तो मुमकिन है कि असम की कुर्सी भी हिमंत की न होती. चलिए, जानते हैं हिमंत की कहानी, उनके सियासी उतार-चढ़ाव, उनके पॉलिटिकल किस्से..

असम का वो नेता, जिसके साथ हुई ग़लती को ख़ुद अमित शाह ने सुधारा था

भारतीय जनता पार्टी के हिमंत बिस्व सरमा ने 10 मई 2021 को असम के 15वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली. ये काफी हद तक प्रत्याशित भी था. लेकिन आप इसे अंडरप्ले नहीं कर सकते. क्योंकि हिमंत का शपथ लेना नेशनल पॉलिटिक्स में नॉर्थ-ईस्ट की भूमिका के लिहाज से अहम होने वाला है. कहने वाले कहते हैं कि हिमंत बिस्व सरमा की राजनीति का तो ये पहला पड़ाव भर है. पिक्चर अभी बाकी है. कहने वाले कहते हैं कि अगर भाजपा बंगाल में न हारती तो मुमकिन है कि असम की कुर्सी भी हिमंत की न होती. चलिए, जानते हैं हिमंत की कहानी, उनके सियासी उतार-चढ़ाव, उनके पॉलिटिकल किस्से..
वीडियो

हरियाणा के CM मनोहर लाल खट्टर के खिलाफ किसानों ने प्रदर्शन किया तो पुलिस ने लाठी भांज दी

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया. इस लाठीचार्ज में कई किसानों के घायल होने की खबर है. पुलिस द्वारा लगाए गए बैरिकेड्स को हटाने वाले किसानों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस का भी इस्तेमाल किया. घटना हिसार जिले के हांसी की बताई जा रही है. सीएम खट्टर हिसार में एक कोविड अस्पताल का उद्घाटन करने पहुंचे थे. कांग्रेस ने इस घटना की निंदा की है. हरियाणा कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया है. देखिए वीडियो.

 

हरियाणा के CM मनोहर लाल खट्टर के खिलाफ किसानों ने प्रदर्शन किया तो पुलिस ने लाठी भांज दी

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया. इस लाठीचार्ज में कई किसानों के घायल होने की खबर है. पुलिस द्वारा लगाए गए बैरिकेड्स को हटाने वाले किसानों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस का भी इस्तेमाल किया. घटना हिसार जिले के हांसी की बताई जा रही है. सीएम खट्टर हिसार में एक कोविड अस्पताल का उद्घाटन करने पहुंचे थे. कांग्रेस ने इस घटना की निंदा की है. हरियाणा कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया है. देखिए वीडियो.

 
वीडियो

चक्रवाती तूफान 'तौकते' से केरल के बाद अब गोवा में तबाही, आंधी-बारिश से भारी नुकसान

अरब सागर से उठे चक्रवाती तूफान तौकते (Tauktae) को लेकर कई राज्यों में अलर्ट जारी है. मौसम विभाग के मुताबिक, तूफान गोवा के तटीय क्षेत्र से टकरा गया है. अब वह गुजरात की ओर तेजी से बढ़ रहा है. वहीं कर्नाटक में साइक्लोन के बीच तेज बारिश की वजह से चार लोगों की मौत की खबर है. राज्य के 73 गांव इस चक्रवाती तूफान से प्रभावित हैं. मौसम विभाग ने रविवार, 16 मई की सुबह बताया कि चक्रवाती तूफान Tauktae “बहुत गंभीर” चक्रवाती तूफान में बदल गया है. इसके 18 मई की सुबह पोरबंदर और भावनगर के बीच गुजरात तट को पार करने की संभावना है. देखिए वीडियो.

 

चक्रवाती तूफान 'तौकते' से केरल के बाद अब गोवा में तबाही, आंधी-बारिश से भारी नुकसान

अरब सागर से उठे चक्रवाती तूफान तौकते (Tauktae) को लेकर कई राज्यों में अलर्ट जारी है. मौसम विभाग के मुताबिक, तूफान गोवा के तटीय क्षेत्र से टकरा गया है. अब वह गुजरात की ओर तेजी से बढ़ रहा है. वहीं कर्नाटक में साइक्लोन के बीच तेज बारिश की वजह से चार लोगों की मौत की खबर है. राज्य के 73 गांव इस चक्रवाती तूफान से प्रभावित हैं. मौसम विभाग ने रविवार, 16 मई की सुबह बताया कि चक्रवाती तूफान Tauktae “बहुत गंभीर” चक्रवाती तूफान में बदल गया है. इसके 18 मई की सुबह पोरबंदर और भावनगर के बीच गुजरात तट को पार करने की संभावना है. देखिए वीडियो.

 
वीडियो

लॉकडाउन लगाए बिना संक्रमण से बचने का तरीका इस डॉक्टर ने बताया

नारायणा हेल्थ के चेयरपर्सन डॉक्टर देवी शेट्टी का कहना है कि अगर भारत कुल आबादी में से 51 करोड़ लोगों को भी जल्द से जल्दी कोविड-19 की वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) लगाने में कामयाब रहता है तो तीसरी वेव से पहले स्थिति को संभाला जा सकता है. डॉ शेट्टी ने इंडिया टुडे के सीनियर जर्नलिस्ट राजदीप सरदेसाई से बात की. जानते हैं कि उन्होंने और क्या ख़ास बातें कहीं. देखिए वीडियो.

   

लॉकडाउन लगाए बिना संक्रमण से बचने का तरीका इस डॉक्टर ने बताया

नारायणा हेल्थ के चेयरपर्सन डॉक्टर देवी शेट्टी का कहना है कि अगर भारत कुल आबादी में से 51 करोड़ लोगों को भी जल्द से जल्दी कोविड-19 की वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) लगाने में कामयाब रहता है तो तीसरी वेव से पहले स्थिति को संभाला जा सकता है. डॉ शेट्टी ने इंडिया टुडे के सीनियर जर्नलिस्ट राजदीप सरदेसाई से बात की. जानते हैं कि उन्होंने और क्या ख़ास बातें कहीं. देखिए वीडियो.

   
न्यूज़

गांवों और आदिवासी क्षेत्रों के लिए सरकार ने नई कोविड गाइडलाइंस जारी की

स्क्रीनिंग और आइसोलेशन पर ज़ोर.

गांवों और आदिवासी क्षेत्रों के लिए सरकार ने नई कोविड गाइडलाइंस जारी की

केंद्र सरकार की तरफ से कोविड-19 (Covid-19) से जुड़ी कुछ नई गाइडलाइंस जारी की गई हैं. ये गाइडलाइंस ख़ास तौर पर ग्रामीण और आदिवासी क्षेत्रों के लिए है, जिसमें मरीज़ों की स्क्रीनिंग करने और उन्हें होम आइसोलेशन या कम्युनिटी आइसोलेशन में भेजने पर ज़ोर है. साथ ही बुनियादी स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करने की बात … और पढ़ें गांवों और आदिवासी क्षेत्रों के लिए सरकार ने नई कोविड गाइडलाइंस जारी की

वीडियो

कोविशील्‍ड वैक्‍सीन के दो डोज़ के बीच के अंतर बढ़ाने के पीछे वजह क्या है?

13 मई को केंद्र सरकार ने कोविशील्‍ड वैक्‍सीन (covishield vaccine) के दो डोज़ के बीच के अंतर को बढ़ाकर 12 से 16 सप्ताह कर दिया. अब तक ये अंतर 6 से 8 सप्ताह का था. सरकार के इस फैसले पर तमाम सवाल उठे. कहा गया कि देश में वैक्सीन की कमी के वजह से ये फरमान जारी कर दिया गया है. इस पर 15 मई को नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके पॉल ने जवाब दिया. देखिए वीडियो.

कोविशील्‍ड वैक्‍सीन के दो डोज़ के बीच के अंतर बढ़ाने के पीछे वजह क्या है?

13 मई को केंद्र सरकार ने कोविशील्‍ड वैक्‍सीन (covishield vaccine) के दो डोज़ के बीच के अंतर को बढ़ाकर 12 से 16 सप्ताह कर दिया. अब तक ये अंतर 6 से 8 सप्ताह का था. सरकार के इस फैसले पर तमाम सवाल उठे. कहा गया कि देश में वैक्सीन की कमी के वजह से ये फरमान जारी कर दिया गया है. इस पर 15 मई को नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके पॉल ने जवाब दिया. देखिए वीडियो.

वीडियो

इज़राइल ने ‘गाजा टॉवर’ को गिराने के बाद जो तर्क दिया, उसे खारिज करते हुए पत्रकारों ने सच बता दिया

इज़रायल और हमास के बीच चल रहे युद्ध का 15 मई को सातवां दिन था. इसी दिन शाम को गाजा शहर की एक 11 माले की बिल्डिंग ‘गाजा टॉवर’ के पास एक संदेश आया. संदेश इज़रायल इंटेलिजेंस ऑफिस की तरफ से था. इसके बाद अफरा-तफरी मच गई. गाजा टॉवर में तमाम रिहायशी फ्लैट्स थे, ऑफिसेज़ थे. तमाम इंटरनेशनल मीडिया के दफ्तर थे, जिनमें असोसिएट प्रेस (AP) और अल-जजीरा ख़ास थे. जो-जितना कुछ लेकर बिल्डिंग से भाग सका, भागा. आधे-पौने सामान के साथ लोगों ने जान बचाकर बिल्डिंग खाली की और करीब एक घंटे बाद ही इज़रायल ने पूरी बिल्डिंग गिरा दी. देखिए वीडियो.

 

इज़राइल ने ‘गाजा टॉवर’ को गिराने के बाद जो तर्क दिया, उसे खारिज करते हुए पत्रकारों ने सच बता दिया

इज़रायल और हमास के बीच चल रहे युद्ध का 15 मई को सातवां दिन था. इसी दिन शाम को गाजा शहर की एक 11 माले की बिल्डिंग ‘गाजा टॉवर’ के पास एक संदेश आया. संदेश इज़रायल इंटेलिजेंस ऑफिस की तरफ से था. इसके बाद अफरा-तफरी मच गई. गाजा टॉवर में तमाम रिहायशी फ्लैट्स थे, ऑफिसेज़ थे. तमाम इंटरनेशनल मीडिया के दफ्तर थे, जिनमें असोसिएट प्रेस (AP) और अल-जजीरा ख़ास थे. जो-जितना कुछ लेकर बिल्डिंग से भाग सका, भागा. आधे-पौने सामान के साथ लोगों ने जान बचाकर बिल्डिंग खाली की और करीब एक घंटे बाद ही इज़रायल ने पूरी बिल्डिंग गिरा दी. देखिए वीडियो.

 
न्यूज़

दलितों ने समारोह आयोजित करने की परमीशन नहीं ली, सवर्णों के पैरों पर गिरने की सजा मिली!

आठ पर केस, जिसमें से छह फरार हैं.

दलितों ने समारोह आयोजित करने की परमीशन नहीं ली, सवर्णों के पैरों पर गिरने की सजा मिली!

विल्लुपुरम. तमिलनाडु का जिला. यहां का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इसमें कुछ लोग जमीन पर बैठे हैं और कुछ उनके पैर पर गिरे हुए दिखाई दे रहे हैं. बताया जा रहा है कि जो पहले से बैठे हैं वो सवर्ण हैं और पैरों में गिरते हुए लोग दलित. वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने … और पढ़ें दलितों ने समारोह आयोजित करने की परमीशन नहीं ली, सवर्णों के पैरों पर गिरने की सजा मिली!

न्यूज़

कोरोना से माता-पिता को खोने वाले बच्चों के लिए इन राज्य सरकारों ने क्या घोषणा की है?

दिल्ली, UP, MP, गुजरात, बिहार ने घोषणाएं की हैं.

कोरोना से माता-पिता को खोने वाले बच्चों के लिए इन राज्य सरकारों ने क्या घोषणा की है?

भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर में हर दिन हजारों लोगों की जान जा रही है. कई परिवारों में कोरोना की वजह से माता-पिता दोनों ने दुनिया को अलविदा कह दिया. कई परिवार ऐसे हैं जहां बच्चों को देखने वाला कोई नहीं है. ऐसे में कुछ राज्य सरकारों ने कदम उठाए हैं, जिससे बच्चों की … और पढ़ें कोरोना से माता-पिता को खोने वाले बच्चों के लिए इन राज्य सरकारों ने क्या घोषणा की है?