Submit your post

Follow Us

वीडियो

बिहार चुनाव: सुगर मिल का जिक्र कर इस लड़के ने नीतीश समर्थक की बोलती बंद कर दी

बिहार विधानसभा चुनाव 2020. लल्लनटॉप की टीम चुनाव कवरेज के लिए बिहार के नवादा पहुंची. यहां के वारिसलीगंज सीट से अरुणा देवी और मंटन सिंह के बीच मुकाबला है. लोगों का कहना है कि वो नीतीश कुमार को हटाकर युवा नेता को लाना चाहते हैं. लोगों का कहना है कि विकास नहीं हुआ. स्कूलों में पढ़ाई की व्यवस्था नहीं है. देखिए वीडियो.

 

बिहार चुनाव: सुगर मिल का जिक्र कर इस लड़के ने नीतीश समर्थक की बोलती बंद कर दी

बिहार विधानसभा चुनाव 2020. लल्लनटॉप की टीम चुनाव कवरेज के लिए बिहार के नवादा पहुंची. यहां के वारिसलीगंज सीट से अरुणा देवी और मंटन सिंह के बीच मुकाबला है. लोगों का कहना है कि वो नीतीश कुमार को हटाकर युवा नेता को लाना चाहते हैं. लोगों का कहना है कि विकास नहीं हुआ. स्कूलों में पढ़ाई की व्यवस्था नहीं है. देखिए वीडियो.

 
वीडियो

बिहार चुनाव: लोगों ने क्यों कहा कि रोहतास जिला नीतीश सरकार के नक्शे में है ही नहीं?

बिहार विधानसभा चुनाव 2020. लल्लनटॉप की टीम चुनाव कवरेज के लिए बिहार के रोहतास पहुंची. टीम ने यहां के लोगों से स्टोन क्रशिंग के बिजनेस को बंद होने के पीछे की वजह जानी. सरकार ने 2011-12 में स्टोन क्रशिंग को बंद कर दिया. ये कहकर कि इससे प्रदूषण होता है. इस व्यापार से जुड़े  लोगों ने बताया कि जो नुकसान हुआ है, उसकी सरकार भरपाई नहीं कर रही है. और क्या-क्या बताया. देखिए वीडियो.

     

बिहार चुनाव: लोगों ने क्यों कहा कि रोहतास जिला नीतीश सरकार के नक्शे में है ही नहीं?

बिहार विधानसभा चुनाव 2020. लल्लनटॉप की टीम चुनाव कवरेज के लिए बिहार के रोहतास पहुंची. टीम ने यहां के लोगों से स्टोन क्रशिंग के बिजनेस को बंद होने के पीछे की वजह जानी. सरकार ने 2011-12 में स्टोन क्रशिंग को बंद कर दिया. ये कहकर कि इससे प्रदूषण होता है. इस व्यापार से जुड़े  लोगों ने बताया कि जो नुकसान हुआ है, उसकी सरकार भरपाई नहीं कर रही है. और क्या-क्या बताया. देखिए वीडियो.

     
वीडियो

बिहार चुनाव: सासाराम में सिल बट्टा बनाने वालों की बात सरकार को ज़रूर सुननी चाहिए

बिहार विधानसभा चुनाव 2020. लल्लनटॉप की टीम चुनाव कवरेज के लिए बिहार के रोहतास पहुंची. यहां पत्थर तोड़कर सिल बट्टा बनाने वाली महिला से बात की. उन्होंने बताया कि पहले वो चेन्नई में थे, और अब यहां पत्थर तोड़ रही हैं. हालांकि इस बारे में महिला के घरवालों को पता ही नहीं है. लोगों का कहना है कि घर-घर में मशीन है, इसलिए इसकी बिक्री नहीं हो रही है. उन्हें रोजगार नहीं मिल रहा. मेहनत काफी है, पर मुनाफा बहुत कम है. देखिए वीडियो.

बिहार चुनाव: सासाराम में सिल बट्टा बनाने वालों की बात सरकार को ज़रूर सुननी चाहिए

बिहार विधानसभा चुनाव 2020. लल्लनटॉप की टीम चुनाव कवरेज के लिए बिहार के रोहतास पहुंची. यहां पत्थर तोड़कर सिल बट्टा बनाने वाली महिला से बात की. उन्होंने बताया कि पहले वो चेन्नई में थे, और अब यहां पत्थर तोड़ रही हैं. हालांकि इस बारे में महिला के घरवालों को पता ही नहीं है. लोगों का कहना है कि घर-घर में मशीन है, इसलिए इसकी बिक्री नहीं हो रही है. उन्हें रोजगार नहीं मिल रहा. मेहनत काफी है, पर मुनाफा बहुत कम है. देखिए वीडियो.

वीडियो

बिहार चुनाव: ये आदमी बोला- वसूली का पैसा सीधे मंत्री को जाता है

‘दी लल्लनटॉप’ की टीम बिहार इलेक्शन 2020 के लिए लल्लनटॉप चुनाव यात्रा पर बिहार के भागलपुर पहुंची. वहां के लोगों से बात की. लोगों का कहना है कि नीतीश कुमार को कजराली गांव में कुछ कंपनियां लगानी चाहिए, क्योंकि जनता तो बाहर कमाने जा रही है. उनका कहना है कि गांव में कोई फैक्टरी नहीं लगाई और नीतीश कुमार विकास के नाम पर वोट मांगते हैं. और क्या क्या कहा, इस वीडियो में देखिए.

 

बिहार चुनाव: ये आदमी बोला- वसूली का पैसा सीधे मंत्री को जाता है

‘दी लल्लनटॉप’ की टीम बिहार इलेक्शन 2020 के लिए लल्लनटॉप चुनाव यात्रा पर बिहार के भागलपुर पहुंची. वहां के लोगों से बात की. लोगों का कहना है कि नीतीश कुमार को कजराली गांव में कुछ कंपनियां लगानी चाहिए, क्योंकि जनता तो बाहर कमाने जा रही है. उनका कहना है कि गांव में कोई फैक्टरी नहीं लगाई और नीतीश कुमार विकास के नाम पर वोट मांगते हैं. और क्या क्या कहा, इस वीडियो में देखिए.

 
वीडियो

बिहार चुनाव: गया में पकौड़ा बेचते इस ग्रेजुएट की बातें पीएम मोदी को सुननी चाहिए!

बिहार विधानसभा चुनाव 2020. लल्लनटॉप की टीम चुनाव कवरेज के लिए बिहार के गया पहुंची. यहां लोगों से बात की. यहां एक लड़का मिला जो ग्रेजुएट है और उसकी अपनी पकौड़े की दुकान है. लड़के ने बताया कि उसकी बीए की पढ़ाई 2015 में शुरू हुई और फिर 2020 में पूरी हुई. नौकरी न मिलने के कारण उसने पकौड़े की दुकान खोल ली. सुनिए इस लड़के ने पीएम मोदी और बिहार में बेरोजगारी को लेकर क्या टिप्पणी की है.

 

बिहार चुनाव: गया में पकौड़ा बेचते इस ग्रेजुएट की बातें पीएम मोदी को सुननी चाहिए!

बिहार विधानसभा चुनाव 2020. लल्लनटॉप की टीम चुनाव कवरेज के लिए बिहार के गया पहुंची. यहां लोगों से बात की. यहां एक लड़का मिला जो ग्रेजुएट है और उसकी अपनी पकौड़े की दुकान है. लड़के ने बताया कि उसकी बीए की पढ़ाई 2015 में शुरू हुई और फिर 2020 में पूरी हुई. नौकरी न मिलने के कारण उसने पकौड़े की दुकान खोल ली. सुनिए इस लड़के ने पीएम मोदी और बिहार में बेरोजगारी को लेकर क्या टिप्पणी की है.

 
वीडियो

बिहार चुनाव: दुनिया भर में मशहूर हाजीपुर की खैनी बनती कैसे है, जान लीजिए

बिहार विधानसभा चुनाव 2020. लल्लनटॉप की टीम चुनाव कवरेज के लिए बिहार के जहानाबाद पहुंची. यहां हमने लोगों से भी बात की. कवरेज के दौरान हमें जहानाबाद में एक खैनी की दुकान मिली. खैनी, मुख्यत: यूपी-बिहार में नशे के लिए उपयोग में लाया जाता है. इसको लेकर कई कहावतें भी मशहूर हैं. हमने यहां 'रंजीत खैनी दुकान' के संचालक से बात की. उन्होंने विस्तार से खैनी के बनने से लेकर बिकने तक की प्रक्रिया पर भी बात की. पूरी  बातचीत सुनने के लिए देखिए वीडियो.

 

बिहार चुनाव: दुनिया भर में मशहूर हाजीपुर की खैनी बनती कैसे है, जान लीजिए

बिहार विधानसभा चुनाव 2020. लल्लनटॉप की टीम चुनाव कवरेज के लिए बिहार के जहानाबाद पहुंची. यहां हमने लोगों से भी बात की. कवरेज के दौरान हमें जहानाबाद में एक खैनी की दुकान मिली. खैनी, मुख्यत: यूपी-बिहार में नशे के लिए उपयोग में लाया जाता है. इसको लेकर कई कहावतें भी मशहूर हैं. हमने यहां 'रंजीत खैनी दुकान' के संचालक से बात की. उन्होंने विस्तार से खैनी के बनने से लेकर बिकने तक की प्रक्रिया पर भी बात की. पूरी  बातचीत सुनने के लिए देखिए वीडियो.

 
वीडियो

बिहार चुनाव: इस पुलिस अधिकारी ने बताया, मुंगेर हथियारों के लिए फेमस क्यों है?

बिहार विधानसभा चुनाव 2020. लल्लनटॉप की टीम चुनाव कवरेज के लिए बिहार के मुंगेर पहुंची. मुंगेर, वैध- अवैध हथियारों के खरीद-फरोख्त के कारोबार के लिए फेमस है. इस मामले में बातचीत करने के लिए पुलिस से बेहतर कौन हो सकता है? हमने यहां आईपीएस लिपि सिंह से इसपर बातचीत की. उन्होंने हथियारों की वैधता-अवैधता पर हमसे बात की है. मुंगेर के ऐतिहासिक पृष्ठभूमि के बारे में भी बताया. पूरी बातचीत के लिए देखिए वीडियो.

बिहार चुनाव: इस पुलिस अधिकारी ने बताया, मुंगेर हथियारों के लिए फेमस क्यों है?

बिहार विधानसभा चुनाव 2020. लल्लनटॉप की टीम चुनाव कवरेज के लिए बिहार के मुंगेर पहुंची. मुंगेर, वैध- अवैध हथियारों के खरीद-फरोख्त के कारोबार के लिए फेमस है. इस मामले में बातचीत करने के लिए पुलिस से बेहतर कौन हो सकता है? हमने यहां आईपीएस लिपि सिंह से इसपर बातचीत की. उन्होंने हथियारों की वैधता-अवैधता पर हमसे बात की है. मुंगेर के ऐतिहासिक पृष्ठभूमि के बारे में भी बताया. पूरी बातचीत के लिए देखिए वीडियो.

वीडियो

कोरोना सफ़र: राजस्थान के भरतपुर में मिले इन मजदूरों ने बताया, 42 दिन बिना काम के कैसे कटा?

‘दी लल्लनटॉप’ की एक नई सीरीज़ ‘कोरोना सफ़र’. इसमें लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मज़दूरों, स्थानीय लोगों और प्रशासन, सभी की बात आप तक पहुंचाएंगे. इस एपिसोड में टीम पहुंची राजस्थान के भरतपुर. यहां टीम ने कुछ प्रवासी मजदूरों से बात की. वो इस कोरोना लॉकडाउन के दौरान किस तरह रह रहे हैं, लॉकडाउन का उनपर कैसा प्रभाव हुआ है, सरकार की तरफ से उन्हें किस तरह की सुविधा मिल रही है, इन सब के बारे में उन्होंने क्या बताया, देखिए वीडियो.  

कोरोना सफ़र: राजस्थान के भरतपुर में मिले इन मजदूरों ने बताया, 42 दिन बिना काम के कैसे कटा?

‘दी लल्लनटॉप’ की एक नई सीरीज़ ‘कोरोना सफ़र’. इसमें लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मज़दूरों, स्थानीय लोगों और प्रशासन, सभी की बात आप तक पहुंचाएंगे. इस एपिसोड में टीम पहुंची राजस्थान के भरतपुर. यहां टीम ने कुछ प्रवासी मजदूरों से बात की. वो इस कोरोना लॉकडाउन के दौरान किस तरह रह रहे हैं, लॉकडाउन का उनपर कैसा प्रभाव हुआ है, सरकार की तरफ से उन्हें किस तरह की सुविधा मिल रही है, इन सब के बारे में उन्होंने क्या बताया, देखिए वीडियो.  
वीडियो

कोरोना सफ़र: मध्य प्रदेश के इन मजदूरों ने अपने काम और लॉकडाउन के राज खोल दिए

‘दी लल्लनटॉप’ की एक नई सीरीज़ ‘कोरोना सफ़र’. इसमें लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मज़दूरों, स्थानीय लोगों और प्रशासन, सभी की बात आप तक पहुंचाएंगे. इस एपिसोड में टीम पहुंची मध्यप्रदेश के मोरेना. यहां टीम ने कुछ प्रवासी मजदूरों से बात की. वो इस कोरोना लॉकडाउन के दौरान किस तरह रह रहे हैं, लॉकडाउन का उनपर कैसा प्रभाव हुआ है, सरकार की तरफ से उन्हें किस तरह की सुविधा मिल रही है, इन सब के बारे में उन्होंने क्या बताया, देखिए वीडियो.  

कोरोना सफ़र: मध्य प्रदेश के इन मजदूरों ने अपने काम और लॉकडाउन के राज खोल दिए

‘दी लल्लनटॉप’ की एक नई सीरीज़ ‘कोरोना सफ़र’. इसमें लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मज़दूरों, स्थानीय लोगों और प्रशासन, सभी की बात आप तक पहुंचाएंगे. इस एपिसोड में टीम पहुंची मध्यप्रदेश के मोरेना. यहां टीम ने कुछ प्रवासी मजदूरों से बात की. वो इस कोरोना लॉकडाउन के दौरान किस तरह रह रहे हैं, लॉकडाउन का उनपर कैसा प्रभाव हुआ है, सरकार की तरफ से उन्हें किस तरह की सुविधा मिल रही है, इन सब के बारे में उन्होंने क्या बताया, देखिए वीडियो.  
वीडियो

कोरोना सफ़र: मथुरा-वृंदावन के इस गांव में सोशल डिस्टेंसिंग का कहां तक पालन हो रहा है?

‘दी लल्लनटॉप’ की एक नई सीरीज़ ‘कोरोना सफ़र’. इसमें लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मज़दूरों, स्थानीय लोगों और प्रशासन, सभी की बात आप तक पहुंचाएंगे. इस एपिसोड में टीम पहुंची मथुरा के एक गांव में. वहां एक गोलगप्पे की दुकान दिखी. बड़े-छोटे सभी दोना लेकर गोलगप्पे खाने के लिए थड़े थे. टीम ने उनसे बात की. लॉकडाउन, सोशल डिस्टेंसिंग, कोरोना वायरस के बारे में सवाल पूछा. क्या कहा गांववालों ने, देखिए वीडियो.

 

कोरोना सफ़र: मथुरा-वृंदावन के इस गांव में सोशल डिस्टेंसिंग का कहां तक पालन हो रहा है?

‘दी लल्लनटॉप’ की एक नई सीरीज़ ‘कोरोना सफ़र’. इसमें लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मज़दूरों, स्थानीय लोगों और प्रशासन, सभी की बात आप तक पहुंचाएंगे. इस एपिसोड में टीम पहुंची मथुरा के एक गांव में. वहां एक गोलगप्पे की दुकान दिखी. बड़े-छोटे सभी दोना लेकर गोलगप्पे खाने के लिए थड़े थे. टीम ने उनसे बात की. लॉकडाउन, सोशल डिस्टेंसिंग, कोरोना वायरस के बारे में सवाल पूछा. क्या कहा गांववालों ने, देखिए वीडियो.