Submit your post

Follow Us

वीडियो

ज़मीनी हकीकत: बिहार में बाढ़ से प्रभावित हुए लोगों ने नीतीश सरकार से क्या डिमांड कर दी?

बिहार के विभिन्न जिलों में लगातार हो रही बारिश से नदियों का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है. राज्य के सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, खगड़िया, चंपारण समेत 11 जिलों में बाढ़ जैसे हालात बने हुए हैं. ऐसे में बिहार राज्य में आई बाढ़ की 'जमीन हकीकत' जानने के लिए 'दी लल्लनटॉप' से ​​विकास कुमार फील्ड में गए. वहां लोगों से बात की. वहां की स्थिति जानी. देखिए वीडियो.

ज़मीनी हकीकत: बिहार में बाढ़ से प्रभावित हुए लोगों ने नीतीश सरकार से क्या डिमांड कर दी?

बिहार के विभिन्न जिलों में लगातार हो रही बारिश से नदियों का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है. राज्य के सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, खगड़िया, चंपारण समेत 11 जिलों में बाढ़ जैसे हालात बने हुए हैं. ऐसे में बिहार राज्य में आई बाढ़ की 'जमीन हकीकत' जानने के लिए 'दी लल्लनटॉप' से ​​विकास कुमार फील्ड में गए. वहां लोगों से बात की. वहां की स्थिति जानी. देखिए वीडियो.

वीडियो

ज़मीनी हकीकत: बिहार में बाढ़ से चार साल पहले बहे घर, पर आज तक नहीं मिला मुआवजा!

बिहार के विभिन्न जिलों में लगातार हो रही बारिश से नदियों का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है. राज्य के सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, खगड़िया, चंपारण समेत 11 जिलों में बाढ़ जैसे हालात बने हुए हैं. ऐसे में बिहार राज्य में आई बाढ़ की 'जमीन हकीकत' जानने के लिए 'दी लल्लनटॉप' से ​​विकास कुमार फील्ड में गए. वहां लोगों से बात की. वहां की स्थिति जानी. देखिए वीडियो.

ज़मीनी हकीकत: बिहार में बाढ़ से चार साल पहले बहे घर, पर आज तक नहीं मिला मुआवजा!

बिहार के विभिन्न जिलों में लगातार हो रही बारिश से नदियों का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है. राज्य के सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, खगड़िया, चंपारण समेत 11 जिलों में बाढ़ जैसे हालात बने हुए हैं. ऐसे में बिहार राज्य में आई बाढ़ की 'जमीन हकीकत' जानने के लिए 'दी लल्लनटॉप' से ​​विकास कुमार फील्ड में गए. वहां लोगों से बात की. वहां की स्थिति जानी. देखिए वीडियो.

वीडियो

ज़मीनी हक़ीक़त: UP में जबरन धर्म परिवर्तन के दावों का सच आखिर क्या है?

आतंकवाद रोधी दस्ते (ATS) ने 20 जून को लोगों को जबरन इस्लाम में परिवर्तित करने के आरोप में UP के उमर गौतम और काजी जहांगीर को गिरफ्तार किया था. "दी लल्लनटॉप" की टीम ने शिकायतकर्ताओं और उनके परिवारों से मुलाकात की. उनसे जाना कि वो धर्म परिवर्तन को क्यों मजबूर हुए. टीम ने यूपी पुलिस और कानून मंत्रियों से भी बात की. इसके अलावा उमर गौतम के कई पड़ोसियों और परिचितों से भी बात की. सब ने क्या बताया, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

ज़मीनी हक़ीक़त: UP में जबरन धर्म परिवर्तन के दावों का सच आखिर क्या है?

आतंकवाद रोधी दस्ते (ATS) ने 20 जून को लोगों को जबरन इस्लाम में परिवर्तित करने के आरोप में UP के उमर गौतम और काजी जहांगीर को गिरफ्तार किया था. "दी लल्लनटॉप" की टीम ने शिकायतकर्ताओं और उनके परिवारों से मुलाकात की. उनसे जाना कि वो धर्म परिवर्तन को क्यों मजबूर हुए. टीम ने यूपी पुलिस और कानून मंत्रियों से भी बात की. इसके अलावा उमर गौतम के कई पड़ोसियों और परिचितों से भी बात की. सब ने क्या बताया, जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

वीडियो

ज़मीनी हकीकत: सोयाबीन बीज पर किसानों की बातें सरकार के किन दावों की पोल खोल रही हैं?

मध्य प्रदेश में सोयाबीन की खेती सबसे ज्यादा होती है. इसलिए इसे 'सोया राज्य' का दर्जा भी मिला हुआ है. लेकिन यहां के किसान बीज के लिए तरस रहे हैं. किसानों के मुताबिक, पहले बीज पांच से छह हज़ार क्विंटल मिला करता था. पर अब ये बीच 8 से 12 हज़ार रुपये क्विंटल मिल रहा है.मतलब महंगा है. लेकिन किसानों का कहना है कि बीज की उपलब्धता यहां न के बराबर है. इन्हीं सब बातों को खुद जानने के लिए टीम मध्य प्रदेश के कई जिलों में गई. वहां के किसानों से बात की. किसानों ने PM नरेंद्र मोदी द्वारा 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के वादे पर क्या कहा और अपनी क्या-क्या परेशानी गिनाई, जानने के लिए देखिए ज़मीनी हक़ीकत का ये वीडियो.

ज़मीनी हकीकत: सोयाबीन बीज पर किसानों की बातें सरकार के किन दावों की पोल खोल रही हैं?

मध्य प्रदेश में सोयाबीन की खेती सबसे ज्यादा होती है. इसलिए इसे 'सोया राज्य' का दर्जा भी मिला हुआ है. लेकिन यहां के किसान बीज के लिए तरस रहे हैं. किसानों के मुताबिक, पहले बीज पांच से छह हज़ार क्विंटल मिला करता था. पर अब ये बीच 8 से 12 हज़ार रुपये क्विंटल मिल रहा है.मतलब महंगा है. लेकिन किसानों का कहना है कि बीज की उपलब्धता यहां न के बराबर है. इन्हीं सब बातों को खुद जानने के लिए टीम मध्य प्रदेश के कई जिलों में गई. वहां के किसानों से बात की. किसानों ने PM नरेंद्र मोदी द्वारा 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के वादे पर क्या कहा और अपनी क्या-क्या परेशानी गिनाई, जानने के लिए देखिए ज़मीनी हक़ीकत का ये वीडियो.

वीडियो

ग्राउंड रिपोर्ट: एक समुदाय पर बारात रोकने के आरोप लगे, तो दूसरे पक्ष ने टीम को क्या बताया?

अलीगढ़ के नूरपुर गांव में कई मकान ऐसे हैं, जहां लिखा है कि ये घर बिकाऊ है. इसकी फोटो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुई. बताया जा रहा है कि एक विशेष समुदाय के लोग यहां से पलायन करने को मजबूर हैं. इसके बाद पुलिस ने दखल दिया. और टीम तो जगह जगह तैनात कर दिया. पुलिस के मुताबिक, 26 मई को इस गांव में एक ही घर में दो बेटियों की शादी होनी थी. बारात आने के बाद दो समुदाय को लेकर कहासुनी होती है. और ये झगड़े में तब्दील हो जाती है. और इसी के बाद से घरों के बाहर ऐसा लिखना शुरू हो गया. देखिए वीडियो.

ग्राउंड रिपोर्ट: एक समुदाय पर बारात रोकने के आरोप लगे, तो दूसरे पक्ष ने टीम को क्या बताया?

अलीगढ़ के नूरपुर गांव में कई मकान ऐसे हैं, जहां लिखा है कि ये घर बिकाऊ है. इसकी फोटो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुई. बताया जा रहा है कि एक विशेष समुदाय के लोग यहां से पलायन करने को मजबूर हैं. इसके बाद पुलिस ने दखल दिया. और टीम तो जगह जगह तैनात कर दिया. पुलिस के मुताबिक, 26 मई को इस गांव में एक ही घर में दो बेटियों की शादी होनी थी. बारात आने के बाद दो समुदाय को लेकर कहासुनी होती है. और ये झगड़े में तब्दील हो जाती है. और इसी के बाद से घरों के बाहर ऐसा लिखना शुरू हो गया. देखिए वीडियो.

वीडियो

ग्राउंड रिपोर्ट: अलीगढ़ में जहरीली शराब से जिन लोगों की मौत हुई, उनके परिवारवालों ने क्या बताया?

अलीगढ़ में 27 मई को कुछ लोगों ने लोधा थाना इलाके की एक देसी शराब की दुकान से शराब खरीदकर पी थी. जिन लोगों ने शराब पी थी, उनकी तबीयत खराब होने लगी. हालत बिगड़ने पर लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां मौत का आंकडा बढ़ता चला गया. टीम ने खुद अलीगढ़ जाकर अलग-अलग पीड़ित परिवार से बात की. लोगों ने क्या बताया जानने के लिए देखिए वीडियो.

ग्राउंड रिपोर्ट: अलीगढ़ में जहरीली शराब से जिन लोगों की मौत हुई, उनके परिवारवालों ने क्या बताया?

अलीगढ़ में 27 मई को कुछ लोगों ने लोधा थाना इलाके की एक देसी शराब की दुकान से शराब खरीदकर पी थी. जिन लोगों ने शराब पी थी, उनकी तबीयत खराब होने लगी. हालत बिगड़ने पर लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां मौत का आंकडा बढ़ता चला गया. टीम ने खुद अलीगढ़ जाकर अलग-अलग पीड़ित परिवार से बात की. लोगों ने क्या बताया जानने के लिए देखिए वीडियो.

वीडियो

कोरोना कवरेज: CWG कोविड सेंटर को लेकर मनीष सिसोदिया का ये दावा फेल हो गया

कोरोना महामारी देश में व्यापक रूप से अपने पैर पसार चुकी है. जगह-जगह से वीभत्स खबरें लोगों को देखने-सुनने को मिल रही है. ऐसे में ज़मीनी स्तर पर क्या चल रहा हैए जानने के लिए हमारी टीम निकली कोविड यात्रा पर. इसी कड़ी में हम पहुंचे दिल्ली. यहां अक्षरधाम गई. वहां के कॉमनवेल्थ गेम्स कोविड सेंटर में मरीजों के परिवार से बात की. उनकी परेशानी जानी. और मनीष सिसोदिया के किए गए ऑक्सीजन और बेड के दावों की पोल भी खोली. देखिए वीडियो. 

कोरोना कवरेज: CWG कोविड सेंटर को लेकर मनीष सिसोदिया का ये दावा फेल हो गया

कोरोना महामारी देश में व्यापक रूप से अपने पैर पसार चुकी है. जगह-जगह से वीभत्स खबरें लोगों को देखने-सुनने को मिल रही है. ऐसे में ज़मीनी स्तर पर क्या चल रहा हैए जानने के लिए हमारी टीम निकली कोविड यात्रा पर. इसी कड़ी में हम पहुंचे दिल्ली. यहां अक्षरधाम गई. वहां के कॉमनवेल्थ गेम्स कोविड सेंटर में मरीजों के परिवार से बात की. उनकी परेशानी जानी. और मनीष सिसोदिया के किए गए ऑक्सीजन और बेड के दावों की पोल भी खोली. देखिए वीडियो. 

वीडियो

कोरोना कवरेज: देश के सबसे बड़े अस्पताल के डीन रेमडेसिवीर पर जो बोले, जरूर सुनिए

कोरोना महामारी देश में व्यापक रूप से अपने पैर पसार चुकी है. जगह-जगह से वीभत्स खबरें लोगों को देखने-सुनने को मिल रही है. ऐसे में ज़मीनी स्तर पर क्या चल रहा हैए जानने के लिए हमारी टीम निकली कोविड यात्रा पर. इसी कड़ी में हम पहुंचे मुंबई. कोविड अस्पताल बांद्रा-कुर्ला कॉम्प्लेक्स के डीन डॉ राजेश डेरे से बात की. उनसे रेमेडिसविर की डिमांड और खपत के बारे में पूछा. देखिए वीडियो. 

 

कोरोना कवरेज: देश के सबसे बड़े अस्पताल के डीन रेमडेसिवीर पर जो बोले, जरूर सुनिए

कोरोना महामारी देश में व्यापक रूप से अपने पैर पसार चुकी है. जगह-जगह से वीभत्स खबरें लोगों को देखने-सुनने को मिल रही है. ऐसे में ज़मीनी स्तर पर क्या चल रहा हैए जानने के लिए हमारी टीम निकली कोविड यात्रा पर. इसी कड़ी में हम पहुंचे मुंबई. कोविड अस्पताल बांद्रा-कुर्ला कॉम्प्लेक्स के डीन डॉ राजेश डेरे से बात की. उनसे रेमेडिसविर की डिमांड और खपत के बारे में पूछा. देखिए वीडियो. 

 
वीडियो

किसान आंदोलन पर इन स्कॉलर्स का क्या कहना है?

दी लल्लनटॉप लगातार किसान आंदोलन पर नज़र बनाये हुए है और हर पल की अपडेट आप तक पहुंचा रहा है. इसी सिलसिले में हमारे साथी रजत ने बात की सिख स्कॉलर डॉ सुखप्रीत सिंह से. डॉ सुखप्रीत ने हमें किसान आंदोलन के अलावा इतिहास और हेरिटेज के बारे में भी बहुत ज़रूरी बातें बतायीं जो आपको ज़रूर सुननी चाहिए. देखिए ये वीडियो.

किसान आंदोलन पर इन स्कॉलर्स का क्या कहना है?

दी लल्लनटॉप लगातार किसान आंदोलन पर नज़र बनाये हुए है और हर पल की अपडेट आप तक पहुंचा रहा है. इसी सिलसिले में हमारे साथी रजत ने बात की सिख स्कॉलर डॉ सुखप्रीत सिंह से. डॉ सुखप्रीत ने हमें किसान आंदोलन के अलावा इतिहास और हेरिटेज के बारे में भी बहुत ज़रूरी बातें बतायीं जो आपको ज़रूर सुननी चाहिए. देखिए ये वीडियो.

वीडियो

किसान कानून पर संयुक्त किसान मोर्चा ने सरकार को अपने फैसले में क्या सुनाया है?

लल्लनटॉप लगातार किसान आंदोलन पर नज़र रखे हुए है और आपके लिए हर पल की अपडेट लेकर आ रहा है. हाल ही में सरकार ने किसानों को बातचीत के लिए एक चिट्ठी भेजी थी. लेकिन किसानों ने साफ़ कह दिया कि सरकार को कृषि कानून वापस लेने होंगे. देखिए ये वीडियो.

किसान कानून पर संयुक्त किसान मोर्चा ने सरकार को अपने फैसले में क्या सुनाया है?

लल्लनटॉप लगातार किसान आंदोलन पर नज़र रखे हुए है और आपके लिए हर पल की अपडेट लेकर आ रहा है. हाल ही में सरकार ने किसानों को बातचीत के लिए एक चिट्ठी भेजी थी. लेकिन किसानों ने साफ़ कह दिया कि सरकार को कृषि कानून वापस लेने होंगे. देखिए ये वीडियो.