Submit your post

Follow Us

न्यूज़

दिल्ली पुलिस ने कहा- जयपुर गोल्डन अस्पताल में 21 कोविड मरीजों की मौत ऑक्सीजन की कमी से नहीं हुई

अस्पताल प्रशासन का कुछ और ही कहना है.

दिल्ली पुलिस ने कहा- जयपुर गोल्डन अस्पताल में 21 कोविड मरीजों की मौत ऑक्सीजन की कमी से नहीं हुई

कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के दौरान अप्रैल में जयपुर गोल्डन अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी की वजह से एक भी मौत नहीं हुई. दिल्ली पुलिस ने मंगलवार, 3 अगस्त को रोहिणी कोर्ट में ये बात कही है. उसने अस्पताल के खिलाफ FIR दर्ज करने की मांग वाली याचिका के जवाब में ये बात कही है. पुलिस … और पढ़ें दिल्ली पुलिस ने कहा- जयपुर गोल्डन अस्पताल में 21 कोविड मरीजों की मौत ऑक्सीजन की कमी से नहीं हुई

वीडियो

रिसर्च का दावा- वैक्सीन ले चुके लोगों को भी डेल्टा वैरियंट इंफेक्टेड कर सकता है

अमेरिका में एक रिसर्च सेंटर है. CDC. यानी सेंटर ऑफ डिसीज़ कंट्रोल एंड प्रिवेंशन. बीमारियों से जुड़े अध्ययन के लिए जाना और माना जाता है. यहां कोरोना वायरस के डेल्टा वैरियंट को लेकर एक अध्ययन हुआ. उसके जो नतीजे सामने आए हैं, वो ठुड्डी तक मास्क सरका चुके लोगों को कह रहे हैं कि इसे वापस कस लो. नतीजे कह रहे हैं कि वैक्सीन की सभी ज़रूरी डोज़ ले चुके लोगों को भी कोरोना वायरस का डेल्टा वैरियंट इंफेक्टेड कर सकता है और वैक्सीनेट हुए लोग भी वायरस फैला सकते हैं. हां, ये ज़रूर है कि इन लोगों में इंफेक्शन के गंभीर परिणाम होने की संभावना कम रहेगी, लेकिन सतर्कता तो तब भी बरतनी ही है. देखिए वीडियो.

 

रिसर्च का दावा- वैक्सीन ले चुके लोगों को भी डेल्टा वैरियंट इंफेक्टेड कर सकता है

अमेरिका में एक रिसर्च सेंटर है. CDC. यानी सेंटर ऑफ डिसीज़ कंट्रोल एंड प्रिवेंशन. बीमारियों से जुड़े अध्ययन के लिए जाना और माना जाता है. यहां कोरोना वायरस के डेल्टा वैरियंट को लेकर एक अध्ययन हुआ. उसके जो नतीजे सामने आए हैं, वो ठुड्डी तक मास्क सरका चुके लोगों को कह रहे हैं कि इसे वापस कस लो. नतीजे कह रहे हैं कि वैक्सीन की सभी ज़रूरी डोज़ ले चुके लोगों को भी कोरोना वायरस का डेल्टा वैरियंट इंफेक्टेड कर सकता है और वैक्सीनेट हुए लोग भी वायरस फैला सकते हैं. हां, ये ज़रूर है कि इन लोगों में इंफेक्शन के गंभीर परिणाम होने की संभावना कम रहेगी, लेकिन सतर्कता तो तब भी बरतनी ही है. देखिए वीडियो.

 
न्यूज़

वैक्सीन लगवा चुके लोग भी इंफेक्टेड हो सकते हैं और वायरस फैला सकते हैं!

डेल्टा वैरियंट पर की गई रिसर्च ने चिंताएं बढ़ाईं.

वैक्सीन लगवा चुके लोग भी इंफेक्टेड हो सकते हैं और वायरस फैला सकते हैं!

अमेरिका में एक रिसर्च सेंटर है. CDC. यानी सेंटर ऑफ डिसीज़ कंट्रोल एंड प्रिवेंशन. बीमारियों से जुड़े अध्ययन के लिए जाना और माना जाता है. यहां कोरोना वायरस के डेल्टा वैरियंट को लेकर एक अध्ययन हुआ. उसके जो नतीजे सामने आए हैं, वो ठुड्डी तक मास्क सरका चुके लोगों को कह रहे हैं कि इसे … और पढ़ें वैक्सीन लगवा चुके लोग भी इंफेक्टेड हो सकते हैं और वायरस फैला सकते हैं!

न्यूज़

यूपी-बिहार में कोरोना केसों की रिपोर्टिंग कितनी कम हुई है, सरकार के इस विश्लेषण में पता चला

ICMR के सेरो सर्वे के आधार पर ये विश्लेषण किया गया.

यूपी-बिहार में कोरोना केसों की रिपोर्टिंग कितनी कम हुई है, सरकार के इस विश्लेषण में पता चला

कोरोना संकट के दौरान कई बार इस तरह की ख़बरें आ चुकी हैं कि कई राज्य कोविड-19 (Covid-19) केसेज़ घटाकर दिखा रहे हैं. माने उनके यहां जितने केस हैं, उससे कम ही दिखाए जा रहे हैं. अब एक बार फिर ऐसी ही ख़बर सामने आई है, वो भी डेटा के साथ. डेटा जो कहता है कि … और पढ़ें यूपी-बिहार में कोरोना केसों की रिपोर्टिंग कितनी कम हुई है, सरकार के इस विश्लेषण में पता चला

वीडियो

MP सरकार ने एक कंपनी से ऐसी कोरोना टेस्ट किट खरीदी, जिसे ICMR पहले ही खारिज कर चुका था

कोरोना की दूसरी लहर का प्रभाव कई हफ्तों से लगातार कम हो रहा है. लेकिन इस संकट के दौरान सरकारों के स्तर पर किस तरह की लापरवाही बरती गई, ये भी आए दिन सामने आता रहता है. ताजा उदाहरण मध्य प्रदेश में देखने को मिला है. यहां कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान कथित रूप से खराब क्वालिटी की टेस्टिंग किट्स का इस्तेमाल किए जाने का मामला सामने आया है. देखिए वीडियो.

MP सरकार ने एक कंपनी से ऐसी कोरोना टेस्ट किट खरीदी, जिसे ICMR पहले ही खारिज कर चुका था

कोरोना की दूसरी लहर का प्रभाव कई हफ्तों से लगातार कम हो रहा है. लेकिन इस संकट के दौरान सरकारों के स्तर पर किस तरह की लापरवाही बरती गई, ये भी आए दिन सामने आता रहता है. ताजा उदाहरण मध्य प्रदेश में देखने को मिला है. यहां कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान कथित रूप से खराब क्वालिटी की टेस्टिंग किट्स का इस्तेमाल किए जाने का मामला सामने आया है. देखिए वीडियो.

वीडियो

कोरोना के दौरान अनाथ हुए बच्चों को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सरकारों को क्या निर्देश दे दिए?

NCPCR. यानी राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के कोविड-19 से जुड़े आंकड़ों ने सरकारों पर सवाल खड़े कर दिए हैं. सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार 27 जुलाई को एक जनहित याचिका (PIL) पर सुनवाई करते हुए ये सवाल किया कि कोरोना काल के दौरान मार्च 2020 से लेकर जुलाई 2021 के बीच NCPCR द्वारा रिपोर्ट की गई अनाथ बच्चों की संख्या सरकार द्वारा घोषित संख्या से दस गुना ज्यादा कैसे है. देखिए वीडियो.

कोरोना के दौरान अनाथ हुए बच्चों को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सरकारों को क्या निर्देश दे दिए?

NCPCR. यानी राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के कोविड-19 से जुड़े आंकड़ों ने सरकारों पर सवाल खड़े कर दिए हैं. सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार 27 जुलाई को एक जनहित याचिका (PIL) पर सुनवाई करते हुए ये सवाल किया कि कोरोना काल के दौरान मार्च 2020 से लेकर जुलाई 2021 के बीच NCPCR द्वारा रिपोर्ट की गई अनाथ बच्चों की संख्या सरकार द्वारा घोषित संख्या से दस गुना ज्यादा कैसे है. देखिए वीडियो.

न्यूज़

सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना काल में अनाथ हुए बच्चों से जुड़ी इस जानकारी पर सरकारों को उलटा टांग दिया

पश्चिम बंगाल सरकार को सुप्रीम कोर्ट ने जमकर खरी-खोटी सुनाई है.

सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना काल में अनाथ हुए बच्चों से जुड़ी इस जानकारी पर सरकारों को उलटा टांग दिया

NCPCR. यानी राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के कोविड-19 से जुड़े आंकड़ों ने सरकारों पर सवाल खड़े कर दिए हैं. सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार 27 जुलाई को एक जनहित याचिका (PIL) पर सुनवाई करते हुए ये सवाल किया कि कोरोना काल के दौरान मार्च 2020 से लेकर जुलाई 2021 के बीच NCPCR द्वारा रिपोर्ट की … और पढ़ें सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना काल में अनाथ हुए बच्चों से जुड़ी इस जानकारी पर सरकारों को उलटा टांग दिया

भैरंट

कोरोना काल में ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं हुई; केंद्र और राज्यों के ऐसा कहने की वजह ये है?

अस्पतालों में कोरोना से जुड़ी मौतें दर्ज करने का पूरा प्रोसेस भी समझिए.

कोरोना काल में ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं हुई; केंद्र और राज्यों के ऐसा कहने की वजह ये है?

मंगलवार 20 जुलाई, 2021. राज्यसभा में हेल्थ मिनिस्ट्री ने एक बयान दिया और देशभर में हंगामा शुरू हो गया. अपनी एक रिपोर्ट के हवाले से मिनिस्ट्री ने कहा था कि उसके पास कोरोना (Corona) की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी से किसी की मौत होने की कोई रिपोर्ट नहीं है. बयान के बाद … और पढ़ें कोरोना काल में ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं हुई; केंद्र और राज्यों के ऐसा कहने की वजह ये है?

न्यूज़

ऑक्सीजन की कमी से मौतों के बारे में राज्य सरकारों की ये बातें सुनकर आप चौंक जाएंगे

कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी से क्या एक भी मौत नहीं हुई?

ऑक्सीजन की कमी से मौतों के बारे में राज्य सरकारों की ये बातें सुनकर आप चौंक जाएंगे

कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी से किसी की भी मौत न होने के हेल्थ मिनिस्ट्री के बयान पर बवाल तेज होता जा रहा है. स्वास्थ्य राज्य मंत्री भारती प्रवीण पवार ने 20 जुलाई को राज्यसभा में लिखित जवाब देते हुए बताया था कि किसी भी राज्य या केन्द्र शासित प्रदेश ने यह … और पढ़ें ऑक्सीजन की कमी से मौतों के बारे में राज्य सरकारों की ये बातें सुनकर आप चौंक जाएंगे

न्यूज़

क्या कोविड-19 की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी से किसी कोरोना मरीज की मौत नहीं हुई?

केंद्र सरकार ने क्या कह दिया कि सोशल मीडिया पर इस सवाल की बारिश हो गई?

क्या कोविड-19 की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी से किसी कोरोना मरीज की मौत नहीं हुई?

कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान देश के कई हिस्सों से ऑक्सीजन की कमी से कोरोना मरीजों की मौत के मामले सामने आए थे. लेकिन केंद्र सरकार ने मंगलवार 20 जुलाई को राज्यसभा में कहा कि दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की कमी से किसी की मौत रिपोर्ट नहीं हुई है. इस मामले में अब लोग … और पढ़ें क्या कोविड-19 की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी से किसी कोरोना मरीज की मौत नहीं हुई?