Submit your post

Follow Us

वीडियो

INDvsENG: ओवल टेस्ट मैच के दौरान रवि शास्त्री कोविड-19 पॉज़ीटिव पाए गए

ओवल में खेले जा रहे चौथे टेस्ट मैच के बीच भारतीय क्रिकेट टीम के लिए चिंता बढ़ाने वाली खबर आई है. भारतीय क्रिकेट टीम के हेड कोच रवि शास्त्री कोविड-19 पॉज़ीटिव पाए गए हैं. जिसके बाद कोच रवि शास्त्री समेत भारतीय सपोर्ट स्टाफ के तीन और सदस्यों को आइसोलेट कर दिया गया है. हेड कोच जब तक टीम के साथ नहीं जुड़ते. तब तक टीम के बल्लेबाज़ी कोच विक्रम राठौड़ टीम की ज़िम्मेदारी संभालेंगे. देखिए वीडियो.

 

INDvsENG: ओवल टेस्ट मैच के दौरान रवि शास्त्री कोविड-19 पॉज़ीटिव पाए गए

ओवल में खेले जा रहे चौथे टेस्ट मैच के बीच भारतीय क्रिकेट टीम के लिए चिंता बढ़ाने वाली खबर आई है. भारतीय क्रिकेट टीम के हेड कोच रवि शास्त्री कोविड-19 पॉज़ीटिव पाए गए हैं. जिसके बाद कोच रवि शास्त्री समेत भारतीय सपोर्ट स्टाफ के तीन और सदस्यों को आइसोलेट कर दिया गया है. हेड कोच जब तक टीम के साथ नहीं जुड़ते. तब तक टीम के बल्लेबाज़ी कोच विक्रम राठौड़ टीम की ज़िम्मेदारी संभालेंगे. देखिए वीडियो.

 
वीडियो

कोविशील्ड और कोवैक्सीन के मिक्स डोज को लेकर ICMR की स्टडी क्या कहती है?

ICMR यानी इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च. इसकी एक स्टडी में कोविशील्ड और कोवैक्सीन की मिक्स डोज से वायरस के खिलाफ बेहतर रिजल्ट देखने को मिला है. अध्ययन में इन दोनों वैक्सीन के मिलाने से यह न सिर्फ वायरस के खिलाफ सुरक्षित पाया गया, बल्कि इससे बेहतर इम्युनिटी भी मिली. ये स्टडी इसी साल उत्तर प्रदेश में मई और जून के महीनों में की गई थी. स्टडी में पता चला है कि एडिनोवायरस वेक्टर पर आधारित दो अलग-अलग वैक्सीन का कॉम्बिनेशन न सिर्फ कोरोना के खिलाफ असरदार है, बल्कि वायरस के अलग-अलग वैरिएंट्स के खिलाफ भी प्रभावी है. देखिए वीडियो.

कोविशील्ड और कोवैक्सीन के मिक्स डोज को लेकर ICMR की स्टडी क्या कहती है?

ICMR यानी इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च. इसकी एक स्टडी में कोविशील्ड और कोवैक्सीन की मिक्स डोज से वायरस के खिलाफ बेहतर रिजल्ट देखने को मिला है. अध्ययन में इन दोनों वैक्सीन के मिलाने से यह न सिर्फ वायरस के खिलाफ सुरक्षित पाया गया, बल्कि इससे बेहतर इम्युनिटी भी मिली. ये स्टडी इसी साल उत्तर प्रदेश में मई और जून के महीनों में की गई थी. स्टडी में पता चला है कि एडिनोवायरस वेक्टर पर आधारित दो अलग-अलग वैक्सीन का कॉम्बिनेशन न सिर्फ कोरोना के खिलाफ असरदार है, बल्कि वायरस के अलग-अलग वैरिएंट्स के खिलाफ भी प्रभावी है. देखिए वीडियो.

न्यूज़

इस वॉट्सऐप नंबर पर मैसेज करने से तुरंत मिल जाएगा कोरोना वैक्सीन सर्टिफिकेट

भारत सरकार ने नंबर जारी किया है.

इस वॉट्सऐप नंबर पर मैसेज करने से तुरंत मिल जाएगा कोरोना वैक्सीन सर्टिफिकेट

उम्मीद है कि आपने कोरोना वैक्सीन लगवा ली होगी. अगर लगवा ली है तो उसका सर्टिफिकेट भी ले ही लिया होगा. अगर नहीं लिया है तो इसे अब आप अपने वॉट्सऐप पर भी मंगवा सकते हैं. सिर्फ एक मैसेज भेजकर, जिसका प्रॉसेस एकदम सिंपल है. Revolutionising common man’s life using technology! Now get #COVID19 vaccination … और पढ़ें इस वॉट्सऐप नंबर पर मैसेज करने से तुरंत मिल जाएगा कोरोना वैक्सीन सर्टिफिकेट

वीडियो

कोरोना वैक्सीन का सर्टिफिकेट सीधे वॉट्सऐप पर पाने का पूरा प्रॉसेस क्या है?

उम्मीद है कि आपने कोरोना वैक्सीन लगवा ली होगी. अगर लगवा ली है तो उसका सर्टिफिकेट भी ले ही लिया होगा. अगर नहीं लिया है तो इसे अब आप अपने वॉट्सऐप पर भी मंगवा सकते हैं. सिर्फ एक मैसेज भेजकर, जिसका प्रॉसेस एकदम सिंपल है. जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

कोरोना वैक्सीन का सर्टिफिकेट सीधे वॉट्सऐप पर पाने का पूरा प्रॉसेस क्या है?

उम्मीद है कि आपने कोरोना वैक्सीन लगवा ली होगी. अगर लगवा ली है तो उसका सर्टिफिकेट भी ले ही लिया होगा. अगर नहीं लिया है तो इसे अब आप अपने वॉट्सऐप पर भी मंगवा सकते हैं. सिर्फ एक मैसेज भेजकर, जिसका प्रॉसेस एकदम सिंपल है. जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

वीडियो

कोरोना की दूसरी लहर के दौरान मदद करने वालों को दिल्ली हाई कोर्ट ने बड़ी राहत दी

देश के साथ दिल्ली जब कोरोना (Corona) की दूसरी लहर की मार झेल रहा था तो राजनीतिक दलों और दूसरे संगठनों से जुड़े कई लोग मदद के लिए सामने आए थे. किसी ने ऑक्सीजन का इंतजाम किया तो किसी ने जरूरी दवाओं का. बाद में इन लोगों पर दवाओं और चिकित्सा सामग्री की जमाखोरी के आरोप लगे. इसे लेकर जनहित याचिका कोर्ट में पहुंची. अब दिल्ली सरकार ने हाईकोर्ट में बताया है कि ड्रग कंट्रोलर ने इन लोगों के खिलाफ मामले वापस लेने का फैसला लिया है. देखिए वीडियो.

 

कोरोना की दूसरी लहर के दौरान मदद करने वालों को दिल्ली हाई कोर्ट ने बड़ी राहत दी

देश के साथ दिल्ली जब कोरोना (Corona) की दूसरी लहर की मार झेल रहा था तो राजनीतिक दलों और दूसरे संगठनों से जुड़े कई लोग मदद के लिए सामने आए थे. किसी ने ऑक्सीजन का इंतजाम किया तो किसी ने जरूरी दवाओं का. बाद में इन लोगों पर दवाओं और चिकित्सा सामग्री की जमाखोरी के आरोप लगे. इसे लेकर जनहित याचिका कोर्ट में पहुंची. अब दिल्ली सरकार ने हाईकोर्ट में बताया है कि ड्रग कंट्रोलर ने इन लोगों के खिलाफ मामले वापस लेने का फैसला लिया है. देखिए वीडियो.

 
वीडियो

रिसर्च का दावा- वैक्सीन ले चुके लोगों को भी डेल्टा वैरियंट इंफेक्टेड कर सकता है

अमेरिका में एक रिसर्च सेंटर है. CDC. यानी सेंटर ऑफ डिसीज़ कंट्रोल एंड प्रिवेंशन. बीमारियों से जुड़े अध्ययन के लिए जाना और माना जाता है. यहां कोरोना वायरस के डेल्टा वैरियंट को लेकर एक अध्ययन हुआ. उसके जो नतीजे सामने आए हैं, वो ठुड्डी तक मास्क सरका चुके लोगों को कह रहे हैं कि इसे वापस कस लो. नतीजे कह रहे हैं कि वैक्सीन की सभी ज़रूरी डोज़ ले चुके लोगों को भी कोरोना वायरस का डेल्टा वैरियंट इंफेक्टेड कर सकता है और वैक्सीनेट हुए लोग भी वायरस फैला सकते हैं. हां, ये ज़रूर है कि इन लोगों में इंफेक्शन के गंभीर परिणाम होने की संभावना कम रहेगी, लेकिन सतर्कता तो तब भी बरतनी ही है. देखिए वीडियो.

 

रिसर्च का दावा- वैक्सीन ले चुके लोगों को भी डेल्टा वैरियंट इंफेक्टेड कर सकता है

अमेरिका में एक रिसर्च सेंटर है. CDC. यानी सेंटर ऑफ डिसीज़ कंट्रोल एंड प्रिवेंशन. बीमारियों से जुड़े अध्ययन के लिए जाना और माना जाता है. यहां कोरोना वायरस के डेल्टा वैरियंट को लेकर एक अध्ययन हुआ. उसके जो नतीजे सामने आए हैं, वो ठुड्डी तक मास्क सरका चुके लोगों को कह रहे हैं कि इसे वापस कस लो. नतीजे कह रहे हैं कि वैक्सीन की सभी ज़रूरी डोज़ ले चुके लोगों को भी कोरोना वायरस का डेल्टा वैरियंट इंफेक्टेड कर सकता है और वैक्सीनेट हुए लोग भी वायरस फैला सकते हैं. हां, ये ज़रूर है कि इन लोगों में इंफेक्शन के गंभीर परिणाम होने की संभावना कम रहेगी, लेकिन सतर्कता तो तब भी बरतनी ही है. देखिए वीडियो.

 
वीडियो

MP सरकार ने एक कंपनी से ऐसी कोरोना टेस्ट किट खरीदी, जिसे ICMR पहले ही खारिज कर चुका था

कोरोना की दूसरी लहर का प्रभाव कई हफ्तों से लगातार कम हो रहा है. लेकिन इस संकट के दौरान सरकारों के स्तर पर किस तरह की लापरवाही बरती गई, ये भी आए दिन सामने आता रहता है. ताजा उदाहरण मध्य प्रदेश में देखने को मिला है. यहां कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान कथित रूप से खराब क्वालिटी की टेस्टिंग किट्स का इस्तेमाल किए जाने का मामला सामने आया है. देखिए वीडियो.

MP सरकार ने एक कंपनी से ऐसी कोरोना टेस्ट किट खरीदी, जिसे ICMR पहले ही खारिज कर चुका था

कोरोना की दूसरी लहर का प्रभाव कई हफ्तों से लगातार कम हो रहा है. लेकिन इस संकट के दौरान सरकारों के स्तर पर किस तरह की लापरवाही बरती गई, ये भी आए दिन सामने आता रहता है. ताजा उदाहरण मध्य प्रदेश में देखने को मिला है. यहां कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान कथित रूप से खराब क्वालिटी की टेस्टिंग किट्स का इस्तेमाल किए जाने का मामला सामने आया है. देखिए वीडियो.

वीडियो

कोरोना के दौरान अनाथ हुए बच्चों को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सरकारों को क्या निर्देश दे दिए?

NCPCR. यानी राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के कोविड-19 से जुड़े आंकड़ों ने सरकारों पर सवाल खड़े कर दिए हैं. सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार 27 जुलाई को एक जनहित याचिका (PIL) पर सुनवाई करते हुए ये सवाल किया कि कोरोना काल के दौरान मार्च 2020 से लेकर जुलाई 2021 के बीच NCPCR द्वारा रिपोर्ट की गई अनाथ बच्चों की संख्या सरकार द्वारा घोषित संख्या से दस गुना ज्यादा कैसे है. देखिए वीडियो.

कोरोना के दौरान अनाथ हुए बच्चों को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सरकारों को क्या निर्देश दे दिए?

NCPCR. यानी राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के कोविड-19 से जुड़े आंकड़ों ने सरकारों पर सवाल खड़े कर दिए हैं. सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार 27 जुलाई को एक जनहित याचिका (PIL) पर सुनवाई करते हुए ये सवाल किया कि कोरोना काल के दौरान मार्च 2020 से लेकर जुलाई 2021 के बीच NCPCR द्वारा रिपोर्ट की गई अनाथ बच्चों की संख्या सरकार द्वारा घोषित संख्या से दस गुना ज्यादा कैसे है. देखिए वीडियो.

न्यूज़

क्या कोविड-19 की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी से किसी कोरोना मरीज की मौत नहीं हुई?

केंद्र सरकार ने क्या कह दिया कि सोशल मीडिया पर इस सवाल की बारिश हो गई?

क्या कोविड-19 की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी से किसी कोरोना मरीज की मौत नहीं हुई?

कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान देश के कई हिस्सों से ऑक्सीजन की कमी से कोरोना मरीजों की मौत के मामले सामने आए थे. लेकिन केंद्र सरकार ने मंगलवार 20 जुलाई को राज्यसभा में कहा कि दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की कमी से किसी की मौत रिपोर्ट नहीं हुई है. इस मामले में अब लोग … और पढ़ें क्या कोविड-19 की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी से किसी कोरोना मरीज की मौत नहीं हुई?

वीडियो

सरकार ने कोरोना की तीसरी लहर को लेकर चिंता जताई, कहा- बच्चे भी हो सकते हैं संक्रमित

कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर को लेकर ये आशंका जताई जाती रही है कि इस लहर में बच्चे भी कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आ सकते हैं. अब जब इस लहर के आने का खतरा हर दिन बीतने के साथ और बढ़ता जा रहा है, तो सरकार ने भी माना है कि बच्चे कोरोना इन्फेक्शन के खतरे से बाहर नहीं हैं. उसने ये भी कहा है कि उन्हें सुरक्षित रखने के लिए उचित योजना की जरूरत है. देखिए वीडियो.

 

सरकार ने कोरोना की तीसरी लहर को लेकर चिंता जताई, कहा- बच्चे भी हो सकते हैं संक्रमित

कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर को लेकर ये आशंका जताई जाती रही है कि इस लहर में बच्चे भी कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आ सकते हैं. अब जब इस लहर के आने का खतरा हर दिन बीतने के साथ और बढ़ता जा रहा है, तो सरकार ने भी माना है कि बच्चे कोरोना इन्फेक्शन के खतरे से बाहर नहीं हैं. उसने ये भी कहा है कि उन्हें सुरक्षित रखने के लिए उचित योजना की जरूरत है. देखिए वीडियो.