Submit your post

Follow Us

वीडियो

मुरादाबाद में कोरोना वैक्सीन लगवाने के एक दिन बाद वॉर्ड बॉय की मौत से हड़कंप!

यूपी के मुरादाबाद में कोरोना की वैक्सीन लगवाने के एक दिन बाद एक स्वास्थ्यकर्मी की मौत हो गई. 46 वर्षीय स्वास्थ्यकर्मी के बेटे ने इसके लिए वैक्सीन को दोष दिया लेकिन स्वास्थ्य विभाग ने कहा है कि ये वैक्सीन का रिऐक्शन नहीं लग रहा. पोस्टमॉर्टम और आगे की जांच से ही मौत की वजह का पता चल सकेगा. देखिए वीडियो.

मुरादाबाद में कोरोना वैक्सीन लगवाने के एक दिन बाद वॉर्ड बॉय की मौत से हड़कंप!

यूपी के मुरादाबाद में कोरोना की वैक्सीन लगवाने के एक दिन बाद एक स्वास्थ्यकर्मी की मौत हो गई. 46 वर्षीय स्वास्थ्यकर्मी के बेटे ने इसके लिए वैक्सीन को दोष दिया लेकिन स्वास्थ्य विभाग ने कहा है कि ये वैक्सीन का रिऐक्शन नहीं लग रहा. पोस्टमॉर्टम और आगे की जांच से ही मौत की वजह का पता चल सकेगा. देखिए वीडियो.

न्यूज़

वैक्सीनेशन के पहले दिन इन राज्यों में दिखे वैक्सीन के हल्के साइड इफेक्ट

वैक्सीनेशन के पहले दिन इन राज्यों में दिखे वैक्सीन के हल्के साइड इफेक्ट

शनिवार, 16 जनवरी 2021 से देश में कोरोना वैक्सीनेशन की शुरुआत हो गई. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि भारत में टीकाकरण के पहले दिन 3,352 केंद्रों पर 1,91,181 स्वास्थ्यकर्मियों और सफाईकर्मियों को टीके की पहली खुराक दी गई. वहीं कुछ राज्यों में साइड इफेक्ट के मामले भी देखने को मिले. दिल्ली, राजस्थान, पश्चिम बंगाल में … और पढ़ें वैक्सीनेशन के पहले दिन इन राज्यों में दिखे वैक्सीन के हल्के साइड इफेक्ट

न्यूज़

फाइज़र की वैक्सीन लगने के बाद नॉर्वे में 23 बुजुर्गों की मौत!

फाइज़र की वैक्सीन लगने के बाद नॉर्वे में 23 बुजुर्गों की मौत!

ख़बर नॉर्वे से है. वहां भी कोविड-19 के ख़िलाफ वैक्सीनेशन प्रोग्राम शुरू हो चुका है. फाइज़र-बायोएनटेक की वैक्सीन वहां लोगों को लगाई जा रही है. लेकिन इसी बीच वहां से 23 बुज़ुर्गों की मौत की ख़बर आती है. बताया जा रहा है कि इन सभी लोगों ने हाल ही में फाइज़र की वैक्सीन के डोज़ … और पढ़ें फाइज़र की वैक्सीन लगने के बाद नॉर्वे में 23 बुजुर्गों की मौत!

न्यूज़

दिल्ली के इस हॉस्पिटल में डॉक्टरों ने ही कोवैक्सीन लगवाने से मना क्यों कर दिया?

दिल्ली के इस हॉस्पिटल में डॉक्टरों ने ही कोवैक्सीन लगवाने से मना क्यों कर दिया?

देशभर में 16 जनवरी से कोविड-19 वैक्सीनेशन प्रोग्राम शुरू हो चुका है. भारत ने दो वैक्सीन को इमरजेंसी अप्रूवल दिया है. पहली – ऑक्सफर्ड-एस्ट्राजेनका की डेवलप की हुई कोविशील्ड, जिसका प्रोडक्शन भारत में हुआ है. पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) में. दूसरी – भारत बायोटेक की कोवैक्सीन. ये वाली स्वदेशी वैक्सिन है. सबसे … और पढ़ें दिल्ली के इस हॉस्पिटल में डॉक्टरों ने ही कोवैक्सीन लगवाने से मना क्यों कर दिया?

न्यूज़

कोविड-19 वैक्सीन लॉन्च करते हुए PM मोदी ने कही ये ज़रूरी बातें

कोविड-19 वैक्सीन लॉन्च करते हुए PM मोदी ने कही ये ज़रूरी बातें

दुनिया की देखी सबसे बड़ी महामारियों में से एक कोविड-19 की वैक्सीन देश में 16 जनवरी को लॉन्च हो गई. भारत ने कोविड-19 की दो वैक्सीन को इमरजेंसी अप्रूवल दिया है. पहली – ऑक्सफर्ड-एस्ट्राजेनका की कोविशील्ड. दूसरी – भारत बायोटेक की कोवैक्सिन. देश में वैक्सीनेशन ड्राइव को लॉन्च किया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने. 16 जनवरी … और पढ़ें कोविड-19 वैक्सीन लॉन्च करते हुए PM मोदी ने कही ये ज़रूरी बातें

वीडियो

दिल्ली के राम मनोहर लोहिया हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने कोवैक्सीन को लेकर क्या कहा?

कोविड-19 वैक्सीनेशन प्रोग्राम शुरू हो चुका है. कोविडशील्ड और कोवैक्सीन को भारत में इमरजेंसी अप्रूवल मिल गया है. 16 जनवरी से ये प्रोग्राम शुरू हो चुका है. ऑक्सफर्ड-एस्ट्राजेनका की डेवलप की हुई कोविशील्ड का प्रोडक्शन भारत में हुआ और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन स्वदेशी वैक्सिन है. पर इसे लगाने से डॉक्टर्स ने ही मना कर दिया.  दिल्ली के राम मनोहर लोहिया हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने कोवैक्सीन को लगवाना से साफ मना कर दिया. RML के रेज़िडेंट डॉक्टरों ने मेडिकल सुपरिटेंडेंट को एक चिट्ठी लिखी है. चिट्ठी में क्या लिखा? जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

 

दिल्ली के राम मनोहर लोहिया हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने कोवैक्सीन को लेकर क्या कहा?

कोविड-19 वैक्सीनेशन प्रोग्राम शुरू हो चुका है. कोविडशील्ड और कोवैक्सीन को भारत में इमरजेंसी अप्रूवल मिल गया है. 16 जनवरी से ये प्रोग्राम शुरू हो चुका है. ऑक्सफर्ड-एस्ट्राजेनका की डेवलप की हुई कोविशील्ड का प्रोडक्शन भारत में हुआ और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन स्वदेशी वैक्सिन है. पर इसे लगाने से डॉक्टर्स ने ही मना कर दिया.  दिल्ली के राम मनोहर लोहिया हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने कोवैक्सीन को लगवाना से साफ मना कर दिया. RML के रेज़िडेंट डॉक्टरों ने मेडिकल सुपरिटेंडेंट को एक चिट्ठी लिखी है. चिट्ठी में क्या लिखा? जानने के लिए देखिए ये वीडियो.

 
न्यूज़

सरकार ने बता दिया है, किन्हें कोरोना वैक्सीन नहीं दी जाएगी

सरकार ने बता दिया है, किन्हें कोरोना वैक्सीन नहीं दी जाएगी

करीब साल भर होने को आया. अपने देश की बात करें तो 10 महीना करीब. कतई त्राहिमाम मचा दिया कोरोना वायरस ने. अब आख़िरकार 16 जनवरी से देश में कोरोना वायरस का वैक्सीनेशन शुरू होने को है. देश में दो वैक्सीन को इमरजेंसी अप्रूवल मिला है. पहली– ऑक्सफर्ड-एस्ट्राजेनका की डेवलप की हुई वैक्सीन ‘कोविशील्ड’. इसे … और पढ़ें सरकार ने बता दिया है, किन्हें कोरोना वैक्सीन नहीं दी जाएगी

न्यूज़

अगर कोरोना वैक्सीन ने शरीर में कुछ रायता फैलाया तो ज़िम्मेदारी किसकी होगी?

अगर कोरोना वैक्सीन ने शरीर में कुछ रायता फैलाया तो ज़िम्मेदारी किसकी होगी?

भारत में कोविड-19 की दो वैक्सीन को इमरजेंसी अप्रूवल मिल चुका है. 16 जनवरी से टीका लगना भी शुरू हो जाएगा. ये दो वैक्सीन हैं – पहली– ऑक्सफर्ड-एस्ट्राजेनका की डेवलप की हुई वैक्सीन ‘कोविशील्ड’. इस वैक्सीन का प्रोडक्शन भारत में ही हुआ है. पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में. दूसरी – हमारी स्वदेशी वैक्सीन. भारत … और पढ़ें अगर कोरोना वैक्सीन ने शरीर में कुछ रायता फैलाया तो ज़िम्मेदारी किसकी होगी?

वीडियो

कोरोना के नए स्ट्रेन हो सकते हैं भयंकर ख़तरनाक, ये हम नहीं, डॉक्टर बता रहे हैं

सिद्धार्थ मुखर्जी. डॉक्टर और लेखक. साल 2011 में सिद्धार्थ को उनकी किताब ‘दी एम्परर ऑफ़ ऑल मैलोडीज़’ के लिए पुलित्ज़र अवॉर्ड भी मिला था. अब डॉक्टर सिद्धार्थ मुखर्जी ने कोरोना वायरस और उसके नए स्ट्रेन (प्रकार) को लेकर कुछ चौंकाने वाले दावे किए हैं. सिद्धार्थ मुखर्जी ने ट्वीट करके कहा है कि कोरोना से जंग में हम पिछड़ रहे हैं. कोरोना वायरस के कम से कम चार तरह के वायरस चिंता की वजह बने हुए हैं. एक, जो लंदन से आया. दूसरा ब्राज़ील के मॉनाउस से फैला. तीसरा जापान से और चौथा दक्षिण अफ़्रीका से निकला है. देखिए वीडियो.

कोरोना के नए स्ट्रेन हो सकते हैं भयंकर ख़तरनाक, ये हम नहीं, डॉक्टर बता रहे हैं

सिद्धार्थ मुखर्जी. डॉक्टर और लेखक. साल 2011 में सिद्धार्थ को उनकी किताब ‘दी एम्परर ऑफ़ ऑल मैलोडीज़’ के लिए पुलित्ज़र अवॉर्ड भी मिला था. अब डॉक्टर सिद्धार्थ मुखर्जी ने कोरोना वायरस और उसके नए स्ट्रेन (प्रकार) को लेकर कुछ चौंकाने वाले दावे किए हैं. सिद्धार्थ मुखर्जी ने ट्वीट करके कहा है कि कोरोना से जंग में हम पिछड़ रहे हैं. कोरोना वायरस के कम से कम चार तरह के वायरस चिंता की वजह बने हुए हैं. एक, जो लंदन से आया. दूसरा ब्राज़ील के मॉनाउस से फैला. तीसरा जापान से और चौथा दक्षिण अफ़्रीका से निकला है. देखिए वीडियो.

वीडियो

MP में कोवैक्सीन ट्रायल के वॉलेंटियर की मौत पर भारत बायोटेक ने क्या कहा?

 

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में 12 दिसंबर को कोवैक्सीन का पहला खुराक एक मजदूर को लगा. 21 दिसंबर को उसकी मौत हो गई. इस बात की जानकारी तब हुई, जब शुक्रवार 8 जनवरी को मजदूर के घर अस्पताल वालों ने दूसरी डोज के लिए कॉल किया. इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, मजदूर का नाम दीपक मरावी है. उनकी उम्र 47 वर्ष थी. रिपोर्ट के मुताबिक, दीपक को कोवैक्सीन के ट्रायल के दौरान डोज दिया गया था. वो इसके वॉलिंटियर थे. 12 को टीका लगा और 9 दिन के अंदर मौत होने के बाद परिवार ने आरोप लगाया कि वैक्सीन की वजह से ऐसा हुआ है. देखिए वीडियो.

MP में कोवैक्सीन ट्रायल के वॉलेंटियर की मौत पर भारत बायोटेक ने क्या कहा?

 

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में 12 दिसंबर को कोवैक्सीन का पहला खुराक एक मजदूर को लगा. 21 दिसंबर को उसकी मौत हो गई. इस बात की जानकारी तब हुई, जब शुक्रवार 8 जनवरी को मजदूर के घर अस्पताल वालों ने दूसरी डोज के लिए कॉल किया. इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, मजदूर का नाम दीपक मरावी है. उनकी उम्र 47 वर्ष थी. रिपोर्ट के मुताबिक, दीपक को कोवैक्सीन के ट्रायल के दौरान डोज दिया गया था. वो इसके वॉलिंटियर थे. 12 को टीका लगा और 9 दिन के अंदर मौत होने के बाद परिवार ने आरोप लगाया कि वैक्सीन की वजह से ऐसा हुआ है. देखिए वीडियो.