Submit your post

Follow Us

न्यूज़

'मैं लेस्बियन हूं'

'मैं लेस्बियन हूं'

‘मैं लेस्बियन हूं.’ टेकनीकली ये वाक्य निरापद है. एक इंसान कह रहा है कि वो दूसरे से प्यार करता है. लेस्बियन शब्द से बस इतना पता चलता है कि ये दोनों इंसान लड़कियां हैं. ये कोई अपराध नहीं है. बावजूद इसके, लोगों की नज़रें ये शब्द सुनके तिरछी हो जाती हैं. लोग इसे शर्म से … और पढ़ें ‘मैं लेस्बियन हूं’

तहखाना

आर्टिकल 377 के दौर में, कामसूत्र क्या कहता है गे सेक्स पर

आर्टिकल 377 के दौर में, कामसूत्र क्या कहता है गे सेक्स पर

समलैंगिकता पर लोगों की राय दो भागों में बंटी हुई है. एक ग्रुप है जो गे राइट्स के लिए लड़ता है, और दूसरा जो इसके अगेंस्ट है. इस दूसरे ग्रुप के लोग, जिनकी संख्या बहुत बड़ी है, ये मानते हैं कि समलैंगिकता नेचुरल नहीं है क्योंकि सेक्स तो केवल बच्चे पैदा करने के लिए होता … और पढ़ें आर्टिकल 377 के दौर में, कामसूत्र क्या कहता है गे सेक्स पर

तहखाना

LGBTQ 1: अब दोस्त को 'गां*' नहीं कहता

LGBTQ 1: अब दोस्त को 'गां*' नहीं कहता

पहली बार होमोसेक्शुऐलिटी के बारे में कुछ सुना था वो ये कि मुखिया जी किसी 12 साल के लड़के को लेकर मंदिर में घुसे रहते हैं. क्या करते हैं ये उन शब्दों में कहा गया. जो कहते हुए स्वत: हमारा वॉल्यूम नीचे चला जाता है. बाद में समझ आया कि इसमें होमोसेक्शुऐलिटी जैसा कुछ न … और पढ़ें LGBTQ 1: अब दोस्त को ‘गां*’ नहीं कहता

तहखाना

क्या करेंगे, अगर एक दिन आपका बच्चा कहे कि वो 'हिजड़ा' है?

क्या करेंगे, अगर एक दिन आपका बच्चा कहे कि वो 'हिजड़ा' है?

‘मुझे अपनी बच्चे के लिए डर लग रहा था. वो कैसे पलों से गुजरी होगी (गुजरा होगा). मुझे उस पर गर्व है कि वो सच्चाई के साथ जी रही थी. मुझे खुशी थी कि उसने अपना एहसास बांटने के लिए मुझे चुना. वो मेरे सवालों के साथ बेहद सहज थी. हमारे बीच जो नहीं बदला … और पढ़ें क्या करेंगे, अगर एक दिन आपका बच्चा कहे कि वो ‘हिजड़ा’ है?

तहखाना

LGBTQ 6: 'मैं हर जनम में हिजड़ा होना चाहती हूं'

LGBTQ 6: 'मैं हर जनम में हिजड़ा होना चाहती हूं'

सिमरन साढ़े 13 साल की थी जब उसने पिता से कहा कि मुझे ‘मर्द’ होना अच्छा नहीं लगता. पिता शाम का पेग ले रहे थे. सोचा कि बच्चा है. यूं ही कह गया होगा. पर उनका बेटा सीरियस था. उसे लगता था वो एक औरत के शरीर में कैद है. जब घरवालों को लगा बेटा … और पढ़ें LGBTQ 6: ‘मैं हर जनम में हिजड़ा होना चाहती हूं’

भैरंट

गे सेक्स को अप्राकृतिक कहने वालों को इन बंदरों के बारे में पढ़ लेना चाहिए

गे सेक्स को अप्राकृतिक कहने वालों को इन बंदरों के बारे में पढ़ लेना चाहिए

कथन एक: बंदर इंसानों के पूर्वज थे. चिंपैंजी और बोनोबो मनुष्य के सबसे करीबी जीवित रिश्तेदार हैं. कथन दो: सुप्रीम कोर्ट अपने पुराने फैसले पर पुनः विचार करेगा कि समलैंगिकता जुर्म है कि नहीं. कथन तीन: गे-सेक्स, लेस्बियन-सेक्स अदि अप्राकृतिक यौन क्रियाएं हैं. ऊपर के तीन कथनों में पहला कथन सत्य है, दूसरा अभी विचारणीय … और पढ़ें गे सेक्स को अप्राकृतिक कहने वालों को इन बंदरों के बारे में पढ़ लेना चाहिए

न्यूज़

वो एडल्ट फिल्म पास हो गई है जिसमें एक गे आदमी हनुमान-भक्त है

वो एडल्ट फिल्म पास हो गई है जिसमें एक गे आदमी हनुमान-भक्त है

बात पिछली अगस्त की है जब केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (CBFC) के बॉस पहलाज निहलानी हुआ करते थे. तब उनके केरल के त्रिवेंद्रम स्थित क्षेत्रीय ऑफिस ने एक मलयालम फिल्म को पास करने से बार-बार मना कर दिया था. फिल्म का नाम था – ‘का बॉडीस्केप्स.’  इसकी कहानी केरल के कालीकट में रहने वाले तीन … और पढ़ें वो एडल्ट फिल्म पास हो गई है जिसमें एक गे आदमी हनुमान-भक्त है

न्यूज़

दिल्ली में दिखेंगे पहले टीचर और थिरु नंगई

दिल्ली में दिखेंगे पहले टीचर और थिरु नंगई

अलंकार थिएटर ग्रुप दिल्ली में दो प्ले लेकर आया है. अगर आपको नाटक देखने में दिलचस्पी हो तो 25 और 26 अगस्त को मंडी हाउस के श्रीराम सेंटर पहुंच जाना. 25 को साढ़े सात बजे ‘द फर्स्ट टीचर’ दिखाया जाएगा. और 26 को उसी समय ‘थिरु नंगई’ होगी. दोनों नाटक को चक्रेश कुमार ने डायरेक्टर … और पढ़ें दिल्ली में दिखेंगे पहले टीचर और थिरु नंगई

तहखाना

LGBTQ के खून देने पर लगाया बैन NACO की बीमारी की ओर इशारा करता है

LGBTQ के खून देने पर लगाया बैन NACO की बीमारी की ओर इशारा करता है

नेशनल एड्स कंट्रोल ऑर्गनाइज़ेशन (NACO). भारत में एड्स से रोकथाम और इलाज का काम देखने वाली संस्था. टीवी पर आने वाले इसके एड देखकर ये संस्था बड़ी प्रोग्रेसिव लगती है. एक-एक कर के इसने एड्स के इर्द-गिर्द बहुत सारे मिथक तोड़े हैं. लेकिन अब इसने दिल तोड़ने वाली बात की है. कहा है कि LGBTQ कम्युनिटी … और पढ़ें LGBTQ के खून देने पर लगाया बैन NACO की बीमारी की ओर इशारा करता है

तहखाना

कोच्चि मेट्रो से ट्रांसजेंडर्स के लिए अच्छी खबर के बाद बहुत बुरी खबर

कोच्चि मेट्रो से ट्रांसजेंडर्स के लिए अच्छी खबर के बाद बहुत बुरी खबर

मई में केरल सरकार के एक कदम को खूब सराहा गया. सरकार ने ट्रांसजेंडर समुदाय को कोच्चि मेट्रो में नौकरी देने की ठानी थी. पहले चरण में 21 ट्रांसजेंडरों को नौकरी दी गई. दूसरे चरण के लिए 20 और लोगों को नौकरी देने की योजना थी. लेकिन इससे पहले ही 21 में से आठ ट्रांसजेंडर … और पढ़ें कोच्चि मेट्रो से ट्रांसजेंडर्स के लिए अच्छी खबर के बाद बहुत बुरी खबर