Submit your post

Follow Us

न्यूज़

पाकिस्तानी मीडिया ने पहले कहा एक इंडियन जवान पकड़ा है, बाद में खबर बदल दी

पाकिस्तानी मीडिया ने पहले कहा एक इंडियन जवान पकड़ा है, बाद में खबर बदल दी

हर सिक्के की दो साइड होती हैं. एक दिखती है तो दूसरी का छुपा रहना तय है. लेकिन फिर भी आप दूसरे के होने से इनकार नहीं कर सकते. इसी क्रम में पाकिस्तान से खबर आई है. इंडिया के पाकिस्तान को जवाब देने के बाद. वो जवाब जिसमें उधर के 38 आतंकवादी मारे गए हैं. … और पढ़ें पाकिस्तानी मीडिया ने पहले कहा एक इंडियन जवान पकड़ा है, बाद में खबर बदल दी

तहखाना

'बीजां और तीजां ने कसम ली कि मर्द की जात से पाला न पड़े'

'बीजां और तीजां ने कसम ली कि मर्द की जात से पाला न पड़े'

कल्पना, कल्लोल कल्पना ही इंसान को बचाएगी. नींद में भी, उसके पार भी. विजयदान देथा उर्फ बिज्जी की कहानियां हमारी संजीवनी बूटी हैं. इन्हें पढ़ें. 1 सितंबर बिज्जी का बर्थडे होता है. तस्वीर देखिए. हमारे आपके बाबा से दिख रहे हैं. खादी की सदरी बने. मोटे लेंस के चश्मे से छांकती दुलारती आंखें. दूध उमड़ … और पढ़ें ‘बीजां और तीजां ने कसम ली कि मर्द की जात से पाला न पड़े’

तहखाना

बनजारी का बंदर से इंसान बनाया जीव शैतान कैसे बन गया?

बनजारी का बंदर से इंसान बनाया जीव शैतान कैसे बन गया?

कल्पना, कल्लोल कल्पना ही इंसान को बचाएगी. नींद में भी, उसके पार भी. विजयदान देथा उर्फ बिज्जी की कहानियां हमारी संजीवनी बूटी हैं. इन्हें पढ़ें. 1 सितंबर बिज्जी का बर्थडे होता है. तस्वीर देखिए. हमारे आपके बाबा से दिख रहे हैं. खादी की सदरी बने. मोटे लेंस के चश्मे से छांकती दुलारती आंखें. दूध उमड़ … और पढ़ें बनजारी का बंदर से इंसान बनाया जीव शैतान कैसे बन गया?

तहखाना

'चिकने रेशमी बालों पर अंगुलियां फिराते-फिराते रात फिसल गयी'

'चिकने रेशमी बालों पर अंगुलियां फिराते-फिराते रात फिसल गयी'

पहले तो बड़ा कलेजा करते हुए हमको माफी दी जाए. सॉरी. सोमवार को बिज्जी की कहानी हम नहीं पढ़वा सके. बाद माफी के अगला हिस्सा पेश है. कल्पना, कल्लोल कल्पना ही इंसान को बचाएगी. नींद में भी, उसके पार भी. विजयदान देथा उर्फ बिज्जी की कहानियां हमारी संजीवनी बूटी हैं. इन्हें पढ़ें. 1 सितंबर बिज्जी … और पढ़ें ‘चिकने रेशमी बालों पर अंगुलियां फिराते-फिराते रात फिसल गयी’

तहखाना

'पेट में अमर आस लिये, अभी तक ब्रह्माण्ड में निर्वसना घूम रही है लाछी'

'पेट में अमर आस लिये, अभी तक ब्रह्माण्ड में निर्वसना घूम रही है लाछी'

हम हर वक्त बीत रहे हैं. तकलीफ है. जो सामने से गुजर रहा है, वो याद भी रहेगा या नहीं. छटपटाहट. हड़बड़ी. और खुद पर भरोसा कतई नहीं. इसलिए तस्वीरें खींचते हैं. चेक इन करते हैं. स्टेटस अपडेट करते हैं. फिर भी गुजारा नहीं होता. सब कुछ इतना रियल, सब कुछ इतना वर्चुअल. फर्क खत्म … और पढ़ें ‘पेट में अमर आस लिये, अभी तक ब्रह्माण्ड में निर्वसना घूम रही है लाछी’

तहखाना

पानी में छिपे सूरज को होठों से छूकर बोली, 'ऐसी प्यास पहले कभी नहीं बुझी'

पानी में छिपे सूरज को होठों से छूकर बोली, 'ऐसी प्यास पहले कभी नहीं बुझी'

हम हर वक्त बीत रहे हैं. तकलीफ है. जो सामने से गुजर रहा है, वो याद भी रहेगा या नहीं. छटपटाहट. हड़बड़ी. और खुद पर भरोसा कतई नहीं. इसलिए तस्वीरें खींचते हैं. चेक इन करते हैं. स्टेटस अपडेट करते हैं. फिर भी गुजारा नहीं होता. सब कुछ इतना रियल, सब कुछ इतना वर्चुअल. फर्क खत्म … और पढ़ें पानी में छिपे सूरज को होठों से छूकर बोली, ‘ऐसी प्यास पहले कभी नहीं बुझी’

भैरंट

जब जेहादी पॉर्न फिल्म देखते हैं तो क्या होता है?

जब जेहादी पॉर्न फिल्म देखते हैं तो क्या होता है?

एक जर्नलिस्ट हैं. नाम हैं जोबी वैरिक. उन्होंने एक किताब लिखी इस साल. ब्लैक फ्लैग्स- द राइज ऑफ आईएसआईएस. इसमें ओसामा बिन लादेन के बाद की कहानियां हैं. सच्ची मुच्ची वाली. पहले हिस्से में जॉर्डन के गुंडे और फिर टेररिस्ट बने अबू मुसाब अल जरकावी की. दूसरे हिस्से में अबू बक्र अल बगदादी की. झाम … और पढ़ें जब जेहादी पॉर्न फिल्म देखते हैं तो क्या होता है?

तहखाना

यकीन नहीं आता, ये महान आदमी सिगरेट पीता था!

यकीन नहीं आता, ये महान आदमी सिगरेट पीता था!

आज-कल तो हर चिरकुट सेल्फियापे का शिकार है. कभी फोटो खींचना हुनरमंदों के वास्ते था. ऐसा ही एक लड़का था रघु राय. अभी भी है, पर लड़कपना तो बीत गया होगा न. पहली फोटू गधे के बच्चे की खींची थी. लद्दाख में. फिर तो दर्जनों अमर चित्र उतारे. उनकी एक किताब आई है. रूपा पब्लिकेशन … और पढ़ें यकीन नहीं आता, ये महान आदमी सिगरेट पीता था!