Submit your post

Follow Us

तहखाना

ससुर के सामने बहू पेट फुलाए, मैक्सी पहने घूमे, अच्छा लगता है क्या?

MEOW: उन बेटियों के नाम, जिनके 'कुछ' है...

ससुर के सामने बहू पेट फुलाए, मैक्सी पहने घूमे, अच्छा लगता है क्या?

फलाने की बिटिया घर आई हुई है. उसके ‘कुछ है’. मुश्किल नहीं ‘कुछ है’ का मतलब समझना. फलाने की बिटिया घर आई हुई है क्योंकि ‘कुछ’ होने के दौरान ज्यादा काम करना अच्छी बात नहीं. लेकिन ससुराल में रहकर काम नहीं करेगी तो अच्छा नहीं लगेगा. फिर ये भी तो अच्छा नहीं लगेगा कि ससुर … और पढ़ें ससुर के सामने बहू पेट फुलाए, मैक्सी पहने घूमे, अच्छा लगता है क्या?

तहखाना

शुक्र मनाओ, तुम्हारा ब्रेकअप हुआ है

एक्स की आरती उतारो. कहीं दिखे तो पांव छू लो.

शुक्र मनाओ, तुम्हारा ब्रेकअप हुआ है

रजत ‘सतारा’ के लिए.     कहते हैं पहले प्यार जैसा कोई प्यार नहीं होता. बेशक, नहीं होता. पहले प्यार के वक्त आप इतने बेवकूफ जो होते हैं. कुछ यूं होता है कि जो मिला, उसे मुंह से लगा लिया. महसूस होता है कि ‘मुच्चू-मुच्चू-नोनू-मोनू वाली गल्लां’ में जीवन कट जाएगा. साथ बूढ़े होंगे. फिर … और पढ़ें शुक्र मनाओ, तुम्हारा ब्रेकअप हुआ है

तहखाना

'त्याग का गुणगान कर आप अपनी मां को बेवकूफ बनाते हैं'

और आप वजह जानते हुए भी अंजान बने रहते हैं. ऐसा इसलिए है क्योंकि...

'त्याग का गुणगान कर आप अपनी मां को बेवकूफ बनाते हैं'

आटा सानते वक़्त मां जिस तरह सूखे आटे का पहाड़ बना, उसमें गड्ढा कर, धीरे से पानी गिराती थीं, वो जादुई होता था. फिर कुछ ही समय में वो आटा रोटी में तब्दील हो जाता. सूखे आटे का रोटी बन जाना जैसे एक असंभव काम था. जिसे सिर्फ मां ही कर सकती थी. बेतरतीबी से … और पढ़ें ‘त्याग का गुणगान कर आप अपनी मां को बेवकूफ बनाते हैं’

तहखाना

इस हिरोइन की नंगी तस्वीरें लगाकर तुम्हें क्या मिल गया?

जब उसे वेश्या कहते हैं, उसकी वेबसाइट हैक करते हैं, जीता हुआ महसूस होता होगा न?

इस हिरोइन की नंगी तस्वीरें लगाकर तुम्हें क्या मिल गया?

30 साल पहले एक फिल्म आई थी हॉलीवुड की, गोस्टबस्टर्स. 4 पुरुष साइंटिस्ट न्यू यॉर्क को भूतों से बचाते हैं. पिक्चर सुपरहिट हुई. सीक्वेल आया. टीवी पर शो बनाया गया. करोड़ों का बिजनेस किया. फिल्म को दो ऑस्कर भी मिले. अभी पिछले महीने फिल्म का रीमेक रिलीज हुआ. लेकिन इस बार साइंटिस्ट पुरुष नहीं, 4 … और पढ़ें इस हिरोइन की नंगी तस्वीरें लगाकर तुम्हें क्या मिल गया?

तहखाना

पुरुषों, एक औरत को आज तुम सबसे थैंक्यू कहना है

तुम दुकानदार हो, रिक्शावाला हो, तुम डिलीवरी बॉय हो, दूध सब्जी वाले. तुम हर वो इंसान हो जिसे लड़कियां रोज 'भैया' कह तुम्हारी सर्विसेज लेती हैं.

पुरुषों, एक औरत को आज तुम सबसे थैंक्यू कहना है

साक्षी और सिंधू मैडल लाईं. सबने कहा, औरतों ने वो कर दिखाया जो पुरुष न कर पाए. पुरुषों ने कहा, औरतें इसलिए अच्छा पाईं क्योंकि उनके कोच मर्द थे. औरतों ने कहा, क्या आपने कभी ये सोचने की कोशिश की कि एक औरत कभी कोच क्यों न बन सकी? सोशल मीडिया के दौर में, बाढ़ … और पढ़ें पुरुषों, एक औरत को आज तुम सबसे थैंक्यू कहना है

तहखाना

क्या आपसे बच्चे ने पूछा है, बेबी पेट के अंदर कैसे जाता है?

MEOW: बच्चों को श्लोक, आयत, देशभक्ति गीत के बारे में भले ही कम बताएं, लेकिन शरीर के अंगों के बारे में पहले बता दीजिए, क्योंकि...

क्या आपसे बच्चे ने पूछा है, बेबी पेट के अंदर कैसे जाता है?

‘दीदी आपसे कुछ बात करनी है’, सात साल की नन्ही सी चाचा की बेटी ने अपनी प्यारी सी आवाज में मुझसे कहा. मैंने कहा, ‘हां कहो’. उसने कहा, ‘मुझे बॉडी पार्ट्स के बारे में बता दीजिए. मुझे आईज, नोज, स्टमक, लेग्स सब पता है. आप वो बता दीजिए जो मुझे नहीं पता’ मैंने कहा, शुरू … और पढ़ें क्या आपसे बच्चे ने पूछा है, बेबी पेट के अंदर कैसे जाता है?

तहखाना

ये कौन हैं, जो गर्ल्स हॉस्टल के सामने मास्टरबेट करते हैं

जब पुरुषों को लगता है कि पेशाब करना ही उनकी मर्दानगी का सबूत है, तो ये काम औरत को भी बेहतर औरत बनाता होगा. नहीं?

ये कौन हैं, जो गर्ल्स हॉस्टल के सामने मास्टरबेट करते हैं

कॉलेज के दिनों में मैं और मेरी एक दोस्त अक्सर पैदल घूमने निकल पड़ते थे. मौसम सर्दी का हो तो कॉलेज से कश्मीरी गेट पैदल नाप जाते थे. उस दिन दोपहर का समय था. और रिंग रोड पर पैदल चलने वाला कौन ही मिलता है? हम टहल रहे थे कि झाड़ियों के पीछे से कराहने … और पढ़ें ये कौन हैं, जो गर्ल्स हॉस्टल के सामने मास्टरबेट करते हैं

तहखाना

'मां-पापा को नहीं पता, फोन के इस तरफ मेरी शक्ल कितनी बदल गई है'

MEOW: डर, एंग्जायटी, डिप्रेशन मानो हर तीसरी नौकरीपेशा औरत के लिए आम बात हो गई है.

'मां-पापा को नहीं पता, फोन के इस तरफ मेरी शक्ल कितनी बदल गई है'

एक साल हो गया कॉलेज, हॉस्टल लाइफ ख़त्म हुए. इस एक साल के दरम्यान लाइफ में जितने बदलाव आए हैं, ऐसा लगता है 10 साल उम्र बढ़ गई हो. कॉलेज लाइफ से सबका नॉस्टैल्जिया जुड़ा होता है. दोस्त, दुश्मन, ऐश, लड़ाइयां, रूल्स तोड़ना, आखिरी रात असाइनमेंट लिखना. लेकिन एक अलग लेवल पर, एक अलग फ्रीक्वेंसी … और पढ़ें ‘मां-पापा को नहीं पता, फोन के इस तरफ मेरी शक्ल कितनी बदल गई है’

न्यूज़

सामने आए सोशल मीडिया पर डॉक्टर्ड वीडियो, फोटो, दंगाई झूठ फैलाने वाले

आपके फेसबुक, व्हाट्सऐप, ट्विटर पर झूठ और अफवाहों वाली जहरीली पोस्ट्स आती है? उसकी जड़ यहां है.

सामने आए सोशल मीडिया पर डॉक्टर्ड वीडियो, फोटो, दंगाई झूठ फैलाने वाले

अगर ट्विटर, फेसबुक, व्हाट्सऐप यानी सोशल मीडिया के अलावा मेन स्ट्रीम मीडिया पर नजर रखते हो. तो कुछ दिन पहले की खबरें याद होंगी. जिनमें राजनीतिक पार्टियों के सोशल मीडिया फॉलोवर निकलते हैं. थाईलैंड, सिंगापुर, कनाडा में. और एक ही पोस्ट एक ही टाइम पर दुनिया के सैकड़ों एकाउंट्स से शेयर होती है. ये पार्टियों … और पढ़ें सामने आए सोशल मीडिया पर डॉक्टर्ड वीडियो, फोटो, दंगाई झूठ फैलाने वाले

तहखाना

उन मां-बाप के नाम, जिनकी बेटियां घरों से नहीं भागीं

जिंदगी उनकी थी, सौदा आपने किया. आपकी बेटियां बंद कमरों में रोती रहीं, लेकिन घर छोड़कर भागी नहीं. बस इसलिए कि बीस-एक लोगों में आपकी इज्जत बनी रहे.

उन मां-बाप के नाम, जिनकी बेटियां घरों से नहीं भागीं

आप, जी हां आप. 50-60 की उम्र में पहुंच चुके वो मां-बाप, जो कभी अपनी करीब आती रिटायरमेंट देखते हैं और कभी बड़ी होती बेटी. हर महीने पास बुक में एंट्री करवाते हुए सोचते हैं, क्या उसकी शादी के लिए इतने पैसे काफी रहेंगे. और बड़ी की शादी के बाद छोटी को कैसे निपटाएंगे. जाने … और पढ़ें उन मां-बाप के नाम, जिनकी बेटियां घरों से नहीं भागीं