Submit your post

Follow Us

तहखाना

लोकसभा चुनाव 2019: पॉलिटिक्स बाद में, पहले महिला नेताओं की 'इज्जत' का तमाशा बनाते हैं!

लोकसभा चुनाव 2019: पॉलिटिक्स बाद में, पहले महिला नेताओं की 'इज्जत' का तमाशा बनाते हैं!

ठोंक डाला. मार डाला. उड़ा दिया. बम मार दिया भाईस्साब. युद्ध और हिंसा. इनसे जुड़ी उपमाओं का इस्तेमाल कर बड़ी फील आती है. क्रिकेट से लेकर इलेक्शन तक. पबजी वाले हैं न हम. इलेक्शन यानी सबसे बड़ा युद्ध. युद्ध में कोई जीतेगा. कोई हारेगा. पर हर युद्ध की तरह इसमें भी कुछ कैजुअल्टी होंगी. वो … और पढ़ें लोकसभा चुनाव 2019: पॉलिटिक्स बाद में, पहले महिला नेताओं की ‘इज्जत’ का तमाशा बनाते हैं!

तहखाना

तनुश्री-नाना मसले पर अमिताभ बच्चन ने ये बात कहकर अपना दोहरापन साबित कर दिया

तनुश्री-नाना मसले पर अमिताभ बच्चन ने ये बात कहकर अपना दोहरापन साबित कर दिया

‘मैं न नाना पाटेकर हूं न तनुश्री दत्ता. मैं कैसे कमेंट करूं.’ जब अमिताभ बच्चन से तनुश्री दत्ता से नाना पाटेकर के हाथों यौन शोषण के आरोप पर टिप्पणी मांगी गई, तो ये उनका जवाब था. इस जवाब ने उन सभी लड़कियों को चौंकाया है जिन्होंने अमिताभ बच्चन की बतौर एक्टर और बतौर शख्सियत इज्ज़त … और पढ़ें तनुश्री-नाना मसले पर अमिताभ बच्चन ने ये बात कहकर अपना दोहरापन साबित कर दिया

वीडियो

लेस्बियन और रेप पॉर्न के दीवाने इस देश को समलैंगिकता अप्राकृतिक लगती है

भारत में लोगों का एक तबका जहां सेक्शन 377 के असंवैधानिक घोषित किए जाने से खुश है वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्हें ये मजाक का विषय लग रहा है. सोशल मीडिया जैसी क्रूर जगह पर ही किसी की लैंगिकता को लेकर हंसा जा सकता है. वीडियो में ऐसे ही लोगों पर टिप्पणी की गई है जो ऐसे विषय को लेकर बेहद असंवेदनशील हैं.

लेस्बियन और रेप पॉर्न के दीवाने इस देश को समलैंगिकता अप्राकृतिक लगती है

भारत में लोगों का एक तबका जहां सेक्शन 377 के असंवैधानिक घोषित किए जाने से खुश है वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्हें ये मजाक का विषय लग रहा है. सोशल मीडिया जैसी क्रूर जगह पर ही किसी की लैंगिकता को लेकर हंसा जा सकता है. वीडियो में ऐसे ही लोगों पर टिप्पणी की गई है जो ऐसे विषय को लेकर बेहद असंवेदनशील हैं.
वीडियो

प्लस साइज़ मॉडल्स कपड़ों का ही विज्ञापन क्यों करती हैं, दूसरे प्रोडक्ट्स का क्यों नहीं?

डर एक ऐसा फोबिया है जो हर औरत में दिखता है–पढ़ी-लिखी, सक्षम महिलाओं में भी. सोशल मीडिया और गूगल पर दिखने वाले इश्तेहारों में मुस्कुराती मोटी मॉडल्स मुझे सबसे ज्यादा फूहड़ लगती हैं. क्यों ? वीडियो में देखें और समझें.

प्लस साइज़ मॉडल्स कपड़ों का ही विज्ञापन क्यों करती हैं, दूसरे प्रोडक्ट्स का क्यों नहीं?

डर एक ऐसा फोबिया है जो हर औरत में दिखता है–पढ़ी-लिखी, सक्षम महिलाओं में भी. सोशल मीडिया और गूगल पर दिखने वाले इश्तेहारों में मुस्कुराती मोटी मॉडल्स मुझे सबसे ज्यादा फूहड़ लगती हैं. क्यों ? वीडियो में देखें और समझें.
तहखाना

इंटरनेट ऐड्स में 'प्लस साइज़' मॉडल्स को देखने से फूहड़ नजारा कोई नहीं होता

इंटरनेट ऐड्स में 'प्लस साइज़' मॉडल्स को देखने से फूहड़ नजारा कोई नहीं होता

जब लोगों को समझ में नहीं आता है कि वो किसी औरत को कौन सी गाली दें (जिससे उनकी ज़बान भी न खराब हो) तो मोटी कह देते हैं. क्योंकि मोटा होना औरत के लिए सबसे बड़ी गाली होती है. लडकियां मोटी नहीं होना चाहतीं क्योंकि मोटापा उनके लिए केवल शारीरिक ही नहीं, एक मानसिक … और पढ़ें इंटरनेट ऐड्स में ‘प्लस साइज़’ मॉडल्स को देखने से फूहड़ नजारा कोई नहीं होता

तहखाना

लेस्बियन पॉर्न देख जो आनंद लेते हैं, उन्हें 377 पर कोर्ट के फैसले से ऐतराज है

लेस्बियन पॉर्न देख जो आनंद लेते हैं, उन्हें 377 पर कोर्ट के फैसले से ऐतराज है

मैं एक औसत भारतीय पुरुष हूं. मुझे पॉर्न देखना बहुत पसंद है. घरवालों से छिपकर, बहन से बचकर, प्रेमिका के सामने अनजान बनकर, मुझे अपने सीक्रेट वॉट्सऐप ग्रुप पर पॉर्न क्लिप्स की अदला-बदली सबसे प्रिय है. मुझे बहुत आनंद आता है, जब पॉर्न वीडियो में एक औरत दूसरी के स्तन दबाती है, उसके कपड़े उतारती … और पढ़ें लेस्बियन पॉर्न देख जो आनंद लेते हैं, उन्हें 377 पर कोर्ट के फैसले से ऐतराज है

तहखाना

'स्त्री': एक आकर्षक वेश्या जो पुरुषों को नग्न तो करती थी मगर उनका रेप नहीं करती

'स्त्री': एक आकर्षक वेश्या जो पुरुषों को नग्न तो करती थी मगर उनका रेप नहीं करती

[इस वाक्य को स्पॉइलर एलर्ट माना जाए.] ‘तुम जो पत्नियों को अलग रखते हो वेश्याओं से और प्रेमिकाओं को अलग रखते हो पत्नियों से कितना आतंकित होते हो जब स्त्री बेखौफ भटकती है ढूंढती हुई अपना व्यक्तित्व एक ही साथ वेश्याओं और पत्नियों और प्रमिकाओं में!’ (आलोकधन्वा, ‘भागी हुई लड़कियां’ से) मेरी मां ने अभी … और पढ़ें ‘स्त्री’: एक आकर्षक वेश्या जो पुरुषों को नग्न तो करती थी मगर उनका रेप नहीं करती

वीडियो

शर्म आती है कि हम सलमान खान और कपिल शर्मा के दौर में जी रहे हैं

मुझे नहीं मालूम कि आप लोग, जब हम मीडिया में काम करने वालों को देखते हैं तो क्या सोचते हैं. शायद ये, कि हम प्रेस कार्ड दिखाकर चालान कटवाने से बच जाते हैं. या फिर हम लाखों रूपये लेकर सरकार के पक्ष या विपक्ष में लिखते हैं. किसी को बर्बाद करना हो, तो उनका दुश्मन हमें पैसे देकर खरीद लेता है. मुझे नहीं मालूम कि कौन किसे कितने पैसे देता है. ख़बरें कैसे प्लांट होती हैं या PR कंपनियां कैसे काम करती हैं. मगर मुझे ये मालूम है कि पत्रकार या लेखक का फ़र्ज़ क्या होता है. कि हम अपने मन में आई बातों को निडर होकर लिखें-कहें. भले ही आपकी और मेरी राय एक न हो, मगर मुझे अगर कोई फिल्म खराब लगी है, तो मैं उसे अच्छा कैसे बताऊं?

शर्म आती है कि हम सलमान खान और कपिल शर्मा के दौर में जी रहे हैं

मुझे नहीं मालूम कि आप लोग, जब हम मीडिया में काम करने वालों को देखते हैं तो क्या सोचते हैं. शायद ये, कि हम प्रेस कार्ड दिखाकर चालान कटवाने से बच जाते हैं. या फिर हम लाखों रूपये लेकर सरकार के पक्ष या विपक्ष में लिखते हैं. किसी को बर्बाद करना हो, तो उनका दुश्मन हमें पैसे देकर खरीद लेता है. मुझे नहीं मालूम कि कौन किसे कितने पैसे देता है. ख़बरें कैसे प्लांट होती हैं या PR कंपनियां कैसे काम करती हैं. मगर मुझे ये मालूम है कि पत्रकार या लेखक का फ़र्ज़ क्या होता है. कि हम अपने मन में आई बातों को निडर होकर लिखें-कहें. भले ही आपकी और मेरी राय एक न हो, मगर मुझे अगर कोई फिल्म खराब लगी है, तो मैं उसे अच्छा कैसे बताऊं?
तहखाना

सोशल मीडिया पर मां के रेप की धमकी देने वालों, क्या करोगे जब मेरी मां तुम्हारे सामने आएगी?

सोशल मीडिया पर मां के रेप की धमकी देने वालों, क्या करोगे जब मेरी मां तुम्हारे सामने आएगी?

एक दिन ऑफिस में मुझसे कई साल सीनियर एक साथी ने बहुत बढ़िया बात कही. कि मुझे मेरी मां का रेप करने की धमकी देने वाले तब क्या करेंगे जब मेरी 65 साल की मां सचमुच उनके सामने आकर खड़ी हो जाएंगी. ये किसी तरह की चुनौती नहीं. जो बात मुझे यहां समझ में आई, … और पढ़ें सोशल मीडिया पर मां के रेप की धमकी देने वालों, क्या करोगे जब मेरी मां तुम्हारे सामने आएगी?

तहखाना

निर्भया की मां का सम्मान करने के लिए बुलाया, मगर उनके साथ की भद्दी हरकत

निर्भया की मां का सम्मान करने के लिए बुलाया, मगर उनके साथ की भद्दी हरकत

8 मार्च को जब आप फेसबुक पर औरतों के गुणगान में लगे हुए थे, 16 दिसंबर गैंगरेप की शिकार लड़की, जिसे आमतौर पर ‘निर्भया’ कहा गया, की माताजी आशा देवी को सम्मानित किया जा रहा था. सम्मान देना हमारा पुराना तरीका रहा है अपनी कमियों को ढंकने का. एक दिन औरतों को सम्मान दो, और … और पढ़ें निर्भया की मां का सम्मान करने के लिए बुलाया, मगर उनके साथ की भद्दी हरकत