Submit your post

Follow Us

न्यूज़

इस ऐप पर फिल्म-सीरीज़ देखने के लिए दिन का सिर्फ एक रुपया खर्च करना पड़ेगा

लेकिन कमिटमेंट पूरे साल का देना होगा.

इस ऐप पर फिल्म-सीरीज़ देखने के लिए दिन का सिर्फ एक रुपया खर्च करना पड़ेगा

ज़ी फ़ाइव (Zee5) ने एक नया सब्स्क्रिप्शन प्लान लॉन्च किया है. नाम— ज़ी फ़ाइव क्लब (Zee5 Club). क़ीमत— 365 रुपए सालाना. इस प्लान में मूवीज़, लाइव टीवी चैनल, और जी फ़ाइव के कॉन्टेंट के साथ-साथ ऑल्ट बालाजी (Alt Balaji) के शो भी शामिल हैं. ये नया प्लान ज़ी फ़ाइव के पुराने प्रीमीयम प्लान की तरह … और पढ़ें इस ऐप पर फिल्म-सीरीज़ देखने के लिए दिन का सिर्फ एक रुपया खर्च करना पड़ेगा

वीडियो

वीवो के इस नए गिम्बल कैमरा में क्या खास है और ये दूसरे कैमरे से कैसे अलग है?

आजकल के स्मार्टफ़ोन में इन-डिस्प्ले फ़िंगरप्रिंट सेन्सर, फ़ुल स्क्रीन डिस्प्ले और पॉप-अप सेल्फ़ी कैमरा इतना कॉमन हो गया है कि 10,000-15,000 रुपए के फ़ोन में भी मिल जाता है. लेकिन सबसे पहले इन टेक्नॉलजी को लेकर कौन आया था? चाइनीज़ स्मार्टफ़ोन कम्पनी वीवो. और अब यही कम्पनी स्मार्टफ़ोन के लिए एक और नई टेक्नॉलजी लेकर आई है, जिसका नाम है गिम्बल कैमरा. ये टेक्नॉलजी वीवो के नए नवेले फ़ोन “वीवो X50 प्रो” में लगी हुई है. इससे होगा क्या? वीडियो फ़ुटेज स्टेबल, यानी कि स्थिर बनेगी. इससे पहले कि हम ये बताएं कि वीवो का गिम्बल कैमरा क्या और कैसे कम करता है, पहले जान लेते हैं कि गिम्बल क्या है. देखिए वीडियो.

 

वीवो के इस नए गिम्बल कैमरा में क्या खास है और ये दूसरे कैमरे से कैसे अलग है?

आजकल के स्मार्टफ़ोन में इन-डिस्प्ले फ़िंगरप्रिंट सेन्सर, फ़ुल स्क्रीन डिस्प्ले और पॉप-अप सेल्फ़ी कैमरा इतना कॉमन हो गया है कि 10,000-15,000 रुपए के फ़ोन में भी मिल जाता है. लेकिन सबसे पहले इन टेक्नॉलजी को लेकर कौन आया था? चाइनीज़ स्मार्टफ़ोन कम्पनी वीवो. और अब यही कम्पनी स्मार्टफ़ोन के लिए एक और नई टेक्नॉलजी लेकर आई है, जिसका नाम है गिम्बल कैमरा. ये टेक्नॉलजी वीवो के नए नवेले फ़ोन “वीवो X50 प्रो” में लगी हुई है. इससे होगा क्या? वीडियो फ़ुटेज स्टेबल, यानी कि स्थिर बनेगी. इससे पहले कि हम ये बताएं कि वीवो का गिम्बल कैमरा क्या और कैसे कम करता है, पहले जान लेते हैं कि गिम्बल क्या है. देखिए वीडियो.

 
झमाझम

15,000 रुपए के अंदर 32 इंची स्मार्ट टीवी के कितने बेहतर ऑप्शन मौजूद हैं

अब तो टीवी भी बहुत स्मार्ट हो चला है.

15,000 रुपए के अंदर 32 इंची स्मार्ट टीवी के कितने बेहतर ऑप्शन मौजूद हैं

आज जब हम सब अपने-अपने फ़ोन की पिद्दी सी स्क्रीन में नज़रें टिकाकर इतवार से शनिवार कर देते हैं, टीवी अभी भी बहुत से घरों का मेन सेंटर बना हुआ है. वक़्त के साथ टीवी बदलता आया है. सीआरटी वाले टीवी की जगह एलसीडी ने ली और फिर एलईडी ने. और अब एलईडी वाले स्मार्ट … और पढ़ें 15,000 रुपए के अंदर 32 इंची स्मार्ट टीवी के कितने बेहतर ऑप्शन मौजूद हैं

भैरंट

क्या है वीवो का गिम्बल कैमरा सिस्टम, ये कैसे काम करता है?

इस नई तकनीक से स्मार्टफ़ोन में क्या बेहतर हो जाएगा?

क्या है वीवो का गिम्बल कैमरा सिस्टम, ये कैसे काम करता है?

आजकल के स्मार्टफ़ोन में इन-डिस्प्ले फ़िंगरप्रिंट सेन्सर, फ़ुल स्क्रीन डिस्प्ले और पॉप-अप सेल्फ़ी कैमरा इतना कॉमन हो गया है कि 10,000-15,000 रुपए के फ़ोन में भी मिल जाता है. लेकिन सबसे पहले इन टेक्नॉलजी को लेकर कौन आया था? चाइनीज़ स्मार्टफ़ोन कम्पनी वीवो. और अब यही कम्पनी स्मार्टफ़ोन के लिए एक और नई टेक्नॉलजी लेकर … और पढ़ें क्या है वीवो का गिम्बल कैमरा सिस्टम, ये कैसे काम करता है?

वीडियो

जानिए फेसबुक का मैसेंजर 'रूम्स' कैसे इस्तेमाल करना है, जो सबको टक्कर दे रहा है

तमाम लोग फेसबुक पर पूछ रहे हैं कि ये रूम्स क्या है और इसकी चाबी कहां से मिलेगी. दरअसल कोविड-19 लॉकडाउन के बाद से विडियो कॉलिंग ऐप्स की चांदी हो रखी है. ऐसे में फेसबुक ने भी मेसेंजर रूम्स (Messenger Rooms) नाम से एक विडियो कॉन्फ़्रेन्स वाली घुट्टी बना डाली. वैसे तो मेसेंजर रूम्स कुछ वक्त पहले ही आ गया था, पर शायद एक जैसे नाम होने की वजह से कुछ कन्फ़्यूज़न हो गया. देखिए वीडियो.

 

जानिए फेसबुक का मैसेंजर 'रूम्स' कैसे इस्तेमाल करना है, जो सबको टक्कर दे रहा है

तमाम लोग फेसबुक पर पूछ रहे हैं कि ये रूम्स क्या है और इसकी चाबी कहां से मिलेगी. दरअसल कोविड-19 लॉकडाउन के बाद से विडियो कॉलिंग ऐप्स की चांदी हो रखी है. ऐसे में फेसबुक ने भी मेसेंजर रूम्स (Messenger Rooms) नाम से एक विडियो कॉन्फ़्रेन्स वाली घुट्टी बना डाली. वैसे तो मेसेंजर रूम्स कुछ वक्त पहले ही आ गया था, पर शायद एक जैसे नाम होने की वजह से कुछ कन्फ़्यूज़न हो गया. देखिए वीडियो.

 
वीडियो

नेटफ़्लिक्स के 199 रुपये वाले प्लान के बाद आए 349 रुपये वाले प्लान में क्या खास है?

नेटफ़्लिक्स (Netflix) ने पिछले साल इंडिया के लिए 199 रुपए महीने वाला एक स्पेशल मोबाइल-ओनली, यानी कि सिर्फ़ मोबाइल फ़ोन पर चलने वाला प्लान लॉन्च किया था. प्लान की कामयाबी को देखते हुए स्ट्रीमिंग सर्विस अब एक नया मोबाइल+ प्लान टेस्ट कर रही है. इस प्लान की क़ीमत 349 रुपए महीना है. एंड्रॉयड-प्योर नाम की वेबसाइट ने सबसे पहले इस प्लान को देखा और रिपोर्ट किया. ख़बर के मुताबिक़, 349 वाला प्लान स्मार्टफोन के साथ-साथ टैबलेट और कम्प्यूटर पर भी चलेगा. देखिए वीडियो.

 

नेटफ़्लिक्स के 199 रुपये वाले प्लान के बाद आए 349 रुपये वाले प्लान में क्या खास है?

नेटफ़्लिक्स (Netflix) ने पिछले साल इंडिया के लिए 199 रुपए महीने वाला एक स्पेशल मोबाइल-ओनली, यानी कि सिर्फ़ मोबाइल फ़ोन पर चलने वाला प्लान लॉन्च किया था. प्लान की कामयाबी को देखते हुए स्ट्रीमिंग सर्विस अब एक नया मोबाइल+ प्लान टेस्ट कर रही है. इस प्लान की क़ीमत 349 रुपए महीना है. एंड्रॉयड-प्योर नाम की वेबसाइट ने सबसे पहले इस प्लान को देखा और रिपोर्ट किया. ख़बर के मुताबिक़, 349 वाला प्लान स्मार्टफोन के साथ-साथ टैबलेट और कम्प्यूटर पर भी चलेगा. देखिए वीडियो.

 
न्यूज़

रिलायंस जियो की किराने की दुकान 'जियो मार्ट' अब आ गई ऐप पर, ऐसे करें ऑर्डर

ग्रोफर्स और बिग बास्केट के 'भैया' आ गए!

रिलायंस जियो की किराने की दुकान 'जियो मार्ट' अब आ गई ऐप पर, ऐसे करें ऑर्डर

कोरोना संकट के दौरान ही रिलायंस जियो ने एक ऑनलाइन कंज्यूमर ग्रॉसरी प्लेटफॉर्म या किराना की दुकान जियो मार्ट (JioMart) लॉन्च की थी. अब इसका ऐप आ गया है, जो एंड्रॉयड और आईओएस (iOS), दोनों के लिए मौजूद है. जियो मार्ट सबसे पहले टेस्टिंग फ़ेज़ में लॉन्च हुआ था. तब सिर्फ़ ठाणे, नवी मुंबई और … और पढ़ें रिलायंस जियो की किराने की दुकान ‘जियो मार्ट’ अब आ गई ऐप पर, ऐसे करें ऑर्डर

भैरंट

वनप्लस नॉर्ड की वो बातें, जिन्होंने इसकी चमक कम कर दी

तारीफ़ बहुत सुन ली, अब तनिक ये भी सुन लीजिए.

वनप्लस नॉर्ड की वो बातें, जिन्होंने इसकी चमक कम कर दी

हाइप कैसे बनाते हैं, ये कोई वनप्लस और उसके नए नवेले मिड-रेंज फ़ोन नॉर्ड से पूछे. जिनके पास फ़्लैगशिप लेवल का वनप्लस फ़ोन पहले से था, वो भी पूछने में पड़े थे, “इसको बेचकर नॉर्ड ले लूं क्या?” फ़ोन के लॉन्च होने से पहले ही हज़ारों लोग प्री-बुकिंग कर चुके थे. देश में एंटी-चाइना सेंटिमेंट … और पढ़ें वनप्लस नॉर्ड की वो बातें, जिन्होंने इसकी चमक कम कर दी