Submit your post

Follow Us

योगी ने फैजाबाद का नाम अयोध्या रखा लेकिन एक चूक कर दी!

42.18 K
शेयर्स

अयोध्या में रामकथा पार्क है. वहां चल रहा है प्रोग्राम दिवाली सेलिब्रेशन का. सूबे के… सॉरी प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौके पर मौजूद हैं. उन्होंने भरे मंच से ऐलान कर दिया है कि अब जनपद फैजाबाद का नाम अयोध्या किया जा रहा है.

ये तो था बड़ा वाला ऐलान. छोटा ऐलान भी साथ में संलग्न था. कि वो अयोध्या में एक मेडिकल कॉलेज की स्थापना करेंगे और उसका नाम राजा दशरथ के नाम पर होगा.

अभी आप ये खबर पढ़ रहे होंगे और कुछ लोग आपको बताने आ जाएंगे कि एक नाम बदले जाने पर कितने हजार करोड़ का नुकसान होता है. भई रुपया पइसा हमारे गौरव से बढ़कर थोड़ी है. संस्कृति की रक्षा पर लाखों करोड़ न्योछावर हैं. हां वो चूक तो बताना हम भूल ही गए. दरअसल अयोध्या नाम अयोध्या में कोई लेता नहीं है. सभी ‘अयोध्या जी’ या अजुध्या जी बोलते हैं. तो आगे जी न लगाकर माइक्रो लेवल का अपमान तो किया ही है.

नया जंक्शन
नया जंक्शन

एक बात बताते हुए और खुशी हो रही है. अब दो दो अयोध्या रेलवे स्टेशन होंगे. और क्या क्या होगा वो आगे पता चलता रहेगा. प्रयागराज के बाद ये दूसरा नामकरण है इस सरकार का. ये याद रखो बस.


 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Yogi Adityanath renames district Faizabad as Ayodhya

टॉप खबर

CM नीतीश कुमार अस्पताल में थे, बच्चे की मौत हो गई

चमकी कहें या इंसेफेलाइटिस, अब तक 129 बच्चों की मौत हो चुकी है.

मनमोहन सिंह को राज्य सभा में भेजने के लिए कांग्रेस ये तिगड़म भिड़ा रही है

अपना एक मात्र चुनाव हारने वाले मनमोहन सिंह पिछले 28 साल में पहली बार संसद के सदस्य नहीं होंगे.

राजीव गांधी के हत्यारे ने संजय दत्त की मुश्किलें बढ़ा दी हैं

जेल में बंद पेरारिवलन ने संजय दत्त से जुड़ी बहुत सी जानकारी इकट्ठी की है.

कठुआ केस के छह दोषियों को क्या सज़ा मिली?

अदालत ने सात में से छह आरोपियों को दोषी माना था. मास्टरमाइंड सांजी राम का बेटा विशाल बरी हो गया.

कठुआ केस में फैसला आ गया है, एक बरी, छह दोषी करार

दोषियों में तीन पुलिसवाले भी शामिल हैं.

पांच साल की बच्ची से रेप किया और फिर ईंटों से कूंचकर मार डाला

उज्जैन में अलीगढ़ जैसा कांड, पड़ोसी ही निकला हत्यारा...

अफगानिस्तान किन गलतियों से श्रीलंका से जीता-जिताया मैच हार गया?

मलिंगा का तो जोड़ नहीं.

क्या चुनावी नतीजे आने के 10 दिनों के अंदर यूपी में 28 यादवों की हत्या हुई है?

28 नामों की एक लिस्ट वायरल हो रही है. लेकिन सच क्या है?

मायावती ने ऐसा क्या कह दिया कि फिलहाल गठबंधन को टूटा मान लेना चाहिए

प्रेस कांफ्रेंस में मायावती ने गठबंधन तोड़ने का सीधा ऐलान तो नहीं किया, लेकिन बहुत कुछ कह गयीं.

चुनाव नतीजे आए दस दिन हुए नहीं, मायावती ने गठबंधन पर सवाल उठा दिए

वो भी तब जब मायावती के पास जीरो से बढ़कर दस सांसद हो गए हैं