Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

आजादी मांगने तुम्हारे बच्चे क्यों नहीं जाते, इस सवाल पर कश्मीर का गुंडा यासीन नंगई पर उतर आया

21.30 K
शेयर्स

पाकिस्तान के अलगाववादी नेता यासीन मलिक को अगर पुलिस एक थप्पड़ धर दे तो जमीन पर लोट जाएंगे. पर पुलिस ऐसा करती नहीं है. क्योंकि जनतंत्र इसकी इजाजत नहीं देता. पर यासीन के लिए जनतंत्र कोई मायने नहीं रखता. वो पत्रकारों के साथ धक्का-मुक्की कर सकते हैं, हमला कर सकते हैं, उनका फोन तोड़ सकते हैं. वो पता नहीं क्या हासिल करना चाहते हैं, क्योंकि उन्हें बिल्कुल इस बात का अंदाजा नहीं रहता कि इतने बड़े देश में उनकी बात सिर्फ इसलिए सुनी जाती है क्योंकि जनतंत्र है और पत्रकार उनकी बात सब तक पहुंचाते हैं.

यासीन ने आज सुबह आठ बजे के करीब इंडिया टुडे की पत्रकार कमलजीत संधू के साथ बदसलूकी की. इंडिया टुडे के वीडियो जर्नलिस्ट विनोद के साथ भी धक्का-मुक्की की गई.

संधू ‘हुर्रियत ट्रुथ टेप्स’ पर यासीन की प्रतिक्रिया लेने गई थीं. इंडिया टुडे ने मंगलवार को एक स्टिंग जारी किया था, जिसमें सामने आया था कि कश्मीर घाटी में अस्थिरता फैलाने के लिए पाकिस्तान सरकार और वहां के कई संगठन किस तरह से काम करते हैं, हवाला के ज़रिए कैसे पैसा पहुंचाते हैं. ‘हुर्रियत ट्रुथ टेप्स’ में सामने आया था कि यासीन मलिक को घाटी में अस्थिरता फैलाने के लिए जमात उद दवा के चीफ हाफिज़ सईद से पैसा आता है. ‘हुर्रियत ट्रुथ टेप्स’ में आया सबसे बड़ा नाम हुर्रियत के प्रोविंशियल प्रेसिडेंट नईम खान का. नईम फिलहाल अंडरग्राउंड  हो गए हैं. 

हुर्रियत ट्रुथ टेप्स की पूरी पड़ताल यहां क्लिक कर के पढ़ें.

इस वी़डियो में देखें यासीन मलिक की पूरी कारस्तानी, कमलजीत संधू बता रही हैं:

 

संधू ने पहले यासीन मलिक को फोन किया. जब उन्होंने फोन नहीं उठाया, तो वो अपनी टीम के साथ श्रीनगर में यासीन के घर पहुंचीं. वहां उन्हें यासीन की बहन मिलीं, जिन्होंने उन्हें दूसरी मंज़िल पर चलने को कहा. वहां यासीन मलिक मिले. संधू ने अपना परिचय देकर यासीन से सवाल किया कि क्यों हुर्रियत नईम खान को बचाने सामने नहीं आ रही और क्यों घाटी में होने वाले प्रदर्शनों में अलगाववादियों के अपने बच्चे शामिल नहीं होते. इतना पूछने पर यासीन संधू पर चिल्लाने लगे. इसके बाद यासीन ने कमलजीत के बैग का सामान निकालकर देखना शुरू कर दिया. संधू ने उन्हें रोकने की कोशिश की, तो यासीन ने उनका फोन छीन लिया और तोड़ दिया.

 

संधू अपना टूटा हुआ फोन दिखाते हुए
संधू अपना टूटा हुआ फोन दिखाते हुए

 

इसके बाद संधू और उनकी टीम को धक्के मार कर यासीन के घर से निकाला गया. उनके साथ गए वीडियो जर्नलिस्ट विनोद को इस धक्का-मुक्की में चोट भी लग गई.

 

धक्का-मुक्की में विनोद को चोट पहुंची
धक्का-मुक्की में विनोद को चोट पहुंची

 

जब से ‘हुर्रियत ट्रुथ टेप्स’ सामने आए हैं,  तब से लगातार इंडिया टुडे अलगाववादियों के निशाने पर है. अंडरग्राउंड होने के पहले नईम खान इंडिया टुडे के दफ्तर आए थे और वहां के स्टाफ को धमकी देकर गए थे.

नज़र डालिए यासीन के अपराधियों वाले रिकॉर्ड पर

यासीन मलिक आज लाख ताव देकर आज़ादी की बात कर रहे हों, लेकिन उनका अपना रिकॉर्ड गुनाहों पर गुनाहों से भरा हुआ है. वो यासीन के लोग ही थे जिन्होंने 8 दिसंबर 1989 को तब के केंद्रीय गृह मंत्री मुफ्ती मुहम्मद सईद की बेटी रुबैय्या सईद को किडनैप कर लिया था. इसके बदले में JKLF के पांच आतंकवादियों को छोड़ना पड़ा था. फारुख अब्दुल्ला ने उस वक्त कहा था कि फ्लडगेट खोल दिये गये हैं. ये बात सही भी थी. आतंकवादियों ने इसके बाद हाई प्रोफाइल किडनैपिंग को अपनी मांगें मनवाने का एक नया तरीका मान लिया था.

बाद में यासीन ने कहा कि वे बंदूक छोड़ रहे हैं, राजनीति करेंगे. लेकिन गुंडई नहीं छोड़ी. 2014 में कश्मीर में अब तक की सबसे भयानक बाढ़ आई. हर शख्स अपनी ओर से जितना बन पड़ रहा था, मदद कर रहा था. लेकिन यासीन नहीं सुधरे. इनका ध्यान तब भी इसी बात में लगा था कि कैसे फुटेज खाएं. तो फौज की बोट से मदद का सामान लूट कर खुद बांटने लगे. ताकि ढोंग कर सकें कि लोगों की कितनी मदद कर रहे हैं.

यासीन मलिक
यासीन मलिक

जम्मू कश्मीर के अलगाववादी संगठनों की अक्सर शिकायत रहती है कि भारत का मीडिया उनका ‘सच’ लोगों को नहीं बताता. वे इल्ज़ाम लगाते हैं कि भारतीय मीडिया सरकार के एजेंट की तरह रिपोर्टिंग करता है. लेकिन आज के वाकये से मालूम चलता है कि यासीन जैसे अलगाववादी नेता मीडिया को लेकर किस तरह के पूर्वाग्रह से भरे हैं. संधू ने यासीन को एक मौका दिया था ‘हुर्रियत ट्रुथ टेप्स’ पर अपना पक्ष रखने का. वो चाहते तो अपनी बात देश-दुनिया तक पहुंचा सकते थे. कोई बात उन्हें गलत लगी थी, तो उसका खंडन कर सकते थे. लेकिन नहीं, उनका सारा ध्यान संधू के क्रू को अपने घर से धकिया कर बाहर करने में था.

हुर्रियत और जेकेएलएफ के नेता कहते हैं कि वो कश्मीर की आज़ादी के लिए लड़ रहे हैं. लेकिन एक मीडिया क्रू पर हमला कर के उन्होंने बता दिया कि आज़ादी की पहली शर्त एक बेखौफ मीडिया को लेकर उनके विचार क्या हैं. अंग्रेज़ी में एक मुहावरा है, ‘Why shoot the messenger’. इसका मतलब यूं निकलता है कि आप से कही गई बात से नफरत हो तो भी उसे आप तक पहुंचाने वाले माध्यम को दोषी ठहराना गलत होता है. संधू यहां ‘messenger’ हैं. हो सकता है कि संधू की बात यासीन को पसंद न आई हो. लेकिन उन्हें याद रखना चाहिए था कि मुश्किल सवाल पूछना संधू का पेशा है. चिढ़कर एक महिला पत्रकार से बदतमीज़ी करना, उनका सामान तोड़ देना कहां तक सही है, इसका जवाब यासीन को देना चाहिए.


ये भी पढ़ेंः

कश्मीर में पत्थर फिंकवाने वालों का सबसे बड़ा स्टिंग ऑपरेशन

जुमे के दिन फौज पर पत्थर फेंकने के 300 रुपए एक्सट्रा मिलते हैं

कौन है वो आदमी, शरीफ के मुताबिक जिसके जरिए भारत पाकिस्तान से चोरी-छिपे बात कर रहा है!

क्या है OBOR, जिसमें भारत को छोड़कर साउथ एशिया के सभी देश शामिल हो चुके हैं?

जिस मेजर ने गाड़ी के बोनट पर कश्मीरी को बांधा था, उसके साथ आर्मी ने क्या किया?

 

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

कोलकाता की पिच पर श्रीलंका के इस बॉलर को क्या हो गया है?

ईडन गार्डन्स पर सुरंगा लकमल ने गजब का स्पेल फेंका है.

योगीजी, दीपिका की नाक काटने की धमकी देने वाला यूपी में खुलेआम कैसे घूम रहा है?

बेटी के सम्मान में, अब बीजेपी नहीं उतरेगी मैदान में.

सावधान! GST के रेट तो घटे पर आप अब भी ठगे जा रहे हैं

बिल ठीक से देख लेना, मिला लेना फिर पैसा देना.

एक शब्द की वजह से बीजेपी को गुजरात में विज्ञापन बदलने पड़ रहे हैं

गुजरात के चुनाव आयोग ने बीजेपी को बड़ा झटका दिया है.

कुछ मोहल्लों के आगे बने लाल क्रॉस का कनेक्शन क्या गुजरात चुनाव से है?

बवाल होने के बाद इनपर चूना पोत दिया गया है.

जब नेहरू जी को रहना पड़ा था मवेशियों के रहने की जगह पर

पेन चुराने के लिए पड़ी थी मार. आज ही के दिन पैदा हुए थे नेहरू.

इस देश में महामना के सिद्धांतों की रक्षा डीजे नाइट कैंसिल करवा कर की जाती है!

महामना जहां भी हों, ये न ही सुनें तो बेहतर है.

'सेक्स सीडी' पर हार्दिक का जवाब PM मोदी से सीखा हुआ लगता है

हार्दिक का ये जवाब चल गया, तो विरोधी कहीं के नहीं रहेंगे.

क्या गुजरात चुनाव की तारीख टलने वाली है?

कांग्रेस और बीजेपी ने चुनाव आयोग से तारीखें आगे बढ़ाने की मांग की है.

पाकी टॉकी

'मैं जो हूं जौन एलिया हूं जनाब, इसका बेहद लिहाज़ कीजिएगा'

जनाब कहते थे, मुझे खुद को तबाह करने का मलाल नहीं है. जानिए अकेले में रहने वाले शायर को.

70 साल बाद पाकिस्तान गए इस शख्स की कहानी हम सबके काम की है

दोनों मुल्कों के दरमियान कड़वाहट का जवाब भी मिलेगा.

पाकिस्तान में जिसे अब प्रधानमंत्री बनाया गया है, वो दो साल जेल में रह चुके हैं

जेल से छूटकर चुनाव लड़े और हार गए थे. अब 45 दिन के लिए पीएम बन गए.

मनी लॉन्ड्रिंग केस में नवाज शरीफ दोषी करार, नहीं रहेंगे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री

पनामा पेपर्स लीक ने दुनियाभर में हलचल मचाई थी.

जब अफरीदी ही औरतों को चूल्हे में झोंकना चाहते हों, इस खिलाड़ी पर ये भद्दे कमेंट हमें हैरान नहीं करते

पिता के साथ एयरपोर्ट से बाइक पर घर जाती इस पाक खिलाड़ी को निशाना बनाया जाना शर्मनाक है.

गोरमिंट को गालियां देकर वायरल हुईं इन आंटी के साथ बहुत बुरा हो रहा है

'ये गोरमिंट बिक चुकी है. अब कुछ नहीं बचा.' कहने वाली आंटी की ये बुरी खबर है.

क्या जिन्ना की बहन फातिमा का पाकिस्तान में कत्ल हुआ था?

उनके जनाज़े पर पत्थर क्यों बरसे?

'मैं अल्लाह के घर से चोरी कर रहा हूं, तुम कौन होते हो बीच में नाक घुसाने वाले'

चोर का ये ख़त पढ़ लीजिए. सोच में पड़ जाएंगे!

छिड़ी बहस, क्या सच में डॉल्फिन से सेक्स कर रहे हैं पाकिस्तानी?

रमज़ान के पाक महीने में डॉल्फिन को बचाने की बात हो रही है.

कौन है ये पाकिस्तानी पत्रकार, जिसने पूरी टीम के बदले 3 साल के लिए विराट कोहली को मांगा है

दोनों देशों में ट्रोल हुई हैं. ट्रोल करने वालों को इनके ये पांच ट्वीट देख लेने चाहिए.

भौंचक

यदि न्यूडिटी की उम्मीद है तो ‘न्यूड’ का यह ट्रेलर मत देखना!

गोवा के फ़िल्म फेस्टिवल में दिखाई जानी थी, अंतिम समय में हटा दी गयी

हॉरर मूवी 'दी ब्लैक कैट' जिसे अपने बच्चों को ज़रूर दिखाना चाहिए

बच्चों के लिए इतना सीरियस काम इससे पहले गुलज़ार को ही करते देखा था.

क्या आपको पता है कि बॉल पेन के ढक्कन में छेद क्यों होता है?

बॉल पेन के कैप में बना छेद यूं ही नहीं बना होता है. ना ही ये स्याही को सूखने से बचाता है.

नितिन गडकरी ने किसानों को बचाने का बदबूदार आइडिया दिया है

पहली नजर में आपको बकैती लगेगी लेकिन सीरियसता से पढ़ना.

पर्यटन विभाग दिया जाना चाहिए इक्यावन बार ट्रांसफर हो चुके खेमका जी को

इतनी बार तो हमने अपने बैचलर-शिप में मैगी नहीं खाई!

कांग्रेस वालो, किसी का माल उड़ाओ तो कम से कम क्रेडिट तो दे ही दो

कार्टूनिस्ट सतीश आचार्य नाराज हैं, बोले- परमिशन लेनी चाहिए थी.

चुनाव आयोग ने इस शख्स के लिए जो किया है, वो लोकतंत्र के लिए सुखद है

जंगल के बीच रहने वाला ये बुजुर्ग वोटर सबसे वोट डालने की अपील करता है.

बिना ड्राइवर दौड़ गया ट्रेन का इंजन, 13 किलोमीटर बाद पकड़ा जा सका

लोको पायलट और स्टेशन मास्टर बाइक से पीछे दौड़ पड़े.

दुनिया के सबसे बड़े वैज्ञानिक ने बताया, हमारी आठवीं पीढ़ी के बाद खत्म हो जाएंगे इंसान!

स्टीफन हॉकिंग ने दूसरी धरती पर जाने की तैयारी भी शुरू कर दी है.

नोटबंदी की बरसी पर NIA के हाथ लगा करोड़ों का खजाना!

इतना पैसा है कि गिनते गिनते सवेरे से शाम हो जाए.