Submit your post

Follow Us

जो लोग गांगुली Vs तेंदुलकर कर रहे थे, उन्हें गांगुली ने करारा जवाब दिया है

2.36 K
शेयर्स

पुलवामा अटैक के बाद एक नई बहस ने जन्म लिया. क्या भारत को वर्ल्डकप में पाकिस्तान के खिलाफ खेलना चाहिए. इसको लेकर कई खिलाड़ियों के कई तरह के बयान आए. फिर आया सचिन तेंदुलकर का बयान. उन्होंने सुनील गावस्कर के विचारों का समर्थन करते हुए कहा कि भारत को विश्व कप में पाकिस्तान के साथ खेलना चाहिए. बोला था कि पाकिस्तान के साथ नहीं खेलना और उन्हें दो अंक देना पाकिस्तान की मदद करना होगा. यह उन्हें अच्छा नहीं लगेगा. सचिन के इस बयान के बाद कुछ लोगों ने उन्हें ट्रोल करने की कोशिश की. विवाद होने लगा. फिर इस बीच आया सौरव गांगुली का बयान, जिसने मामला और गरमा दिया. मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया कि गांगुली ने कहा –

वे (सचिन) पाकिस्तान के खिलाफ दो अंक चाहते हैं, लेकिन मैं वर्ल्ड कप चाहता हूं. आप इसे जिस किसी भी तरीके से देखिए.

गांगुली के इस बयान को तेंदुलकर के खिलाफ बयान के तौर पर पेश किया गया. हेडलाइनें बन गईं. गांगुली बनाम तेंदुलकर. मगर गांगुली ने खुद ही इन हेडलाइनों को फुस्स कर दिया है. एक ट्वीट करके. गांगुली ने कहा कि उन्होंने सचिन के खिलाफ कोई बयान नहीं दिया. उन्होंने लिखा –

मीडिया में बहुत सारे लोग मेरा बयान सचिन के खिलाफ दिखाने की कोशिश कर रहे हैं. जब मैंने कहा कि ‘मुझे विश्व कप चाहिए’ तो मेरी प्रतिक्रिया का उनके बयान से कोई लेना-देना नहीं है, और न ही उनके खिलाफ मेरा बयान है. पिछले 25 सालों से वह मेरे सबसे अच्छे दोस्तों में से एक हैं. आगे भी रहेंगे.

माने दादा ने साफ कर दिया कि उनकी बात को तोड़-मरोड़ के पेश किया गया. दादा की सफाई के बाद सचिन ने भी ट्वीट करते हुए कहा कि इसकी कोई जरूरत नहीं थी. लिखा –

कभी भी ऐसी आवश्यकता महसूस नहीं हुई कि आप अपनी सफाई दें. हम सभी वही चाहते हैं जो हमारे देश के लिए सबसे अच्छा है.

जैसा कि सचिन ने फिर कहा कि वो वही चाहते हैं जो देश के लिए सबसे बेहतर हो. पहले वाले बयान के आखिर में भी वो यही बोले थे कि जो निर्णय देश लेगा, वो उसका समर्थन करेंगे. मगर कुछ लोगों के दिमाग में अपना एजेंडा इस कदर हावी है कि उन्हें सचिन भी ऐंटी नैशनल लगने लगे. भूल गए कि ये वही खिलाड़ी है जिसने बीसों साल देश का बोझ अपने कंधों पर उठाए रखा. हमको आपको कितनी खूबसूरत यादों के साथ ही एक वर्ल्डकप दिया. ऐसे में अपनी राजनीति से इन खिलाड़ियों को बख्श दें.


 

 

लल्लनटॉप वीडियो देखें –

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
What Sourav Ganguly said about his statement on Sachin tendulkars statement on playing with pakistan in World cup

क्या चल रहा है?

23 मई को नरेंद्र मोदी चुनाव ही नहीं जीते हैं, इस घर में पैदा भी हुए हैं

बधाई हो, मोदी जी हुए हैं!

पाकिस्तान के इस फैसले से साफ़ हो गया कि वो वर्ल्ड कप जीतने नहीं, इंडिया को हराने आए हैं

मलतब कम से कम ऐसा लगना ज़रूर चाहिए कि कोशिश जारी है.

बंगाल में खराब प्रदर्शन के बाद ममता ने भी इस्तीफे की पेशकश की, साथ में राहुल को नसीहत भी दे गईं

मगर बीजेपी को लेकर तेवर नर्म नहीं पड़े हैं.

लोकसभा चुनावों में बंपर जीत के बाद मोदी की फिल्म ने पहले दिन कितने पैसे कमाए?

फिल्म की ये हालत देखकर विवेक ओबेरॉय अपना सिर पकड़ लेंगे.

हार्दिक पंडया की एक फोटो ने दिखा दिया कि ज़िंदगी 180 डिग्री कैसे बदल जाती है

फोटो का मतलब है- हार्दिक का टाइम आ गया.

मिलिए सूरत के उस जांबाज से जिसने अपनी जान पर खेलकर 12 जानें बचाईं

एक तरफ लोग वीडियो बना रहे थे, दूसरी तरफ केतन बच्चों को बचाने आग में कूद गया.

एग्जाम के प्लेटफॉर्म पर भी फर्स्ट डिवीज़न पास हुईं हिमा दास

400 मीटर रेस की नेशनल रिकॉर्ड होल्डर है ये 'धींग एक्सप्रेस’.

वर्ल्ड कप शुरू होने से पहले ही अफगानिस्तान ने पाकिस्तान के साथ खेल कर दिया है

लगातार 11वां मैच हारा पाकिस्तान ने.

गोरक्षकों की वापसी: गोमांस की अफवाह में तीन मुस्लिमों को पीटा, जबरन 'जय श्रीराम के नारे' लगवाए!

मध्य प्रदेश के सिवनी की घटना.

जोश-जोश में विवेक ओबेरॉय ने सलमान की फिल्म का प्रमोशन कर डाला, उन्हें खुद पता नहीं चला

लगता है विवेक इस हफ्ते 'मिस्टेक सप्ताह' मना रहे हैं.