Submit your post

Follow Us

अयोध्या : संवैधानिक पीठ की पहली सुनवाई में एक जज पर विवाद, जज हुए अलग

1.99 K
शेयर्स

अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में संविधान बेंच की पहली सुनवाई पूरी हो गई है. बेंच में चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुआई में चार और जज एसए बोबडे, एनवी रमना, यूयू ललित और डीवाई चंद्रचूड़ थे. यह सुनवाई इलाहाबाद हाईकोर्ट के सितंबर 2010 के फैसले के खिलाफ दायर 14 अपीलों पर होनी थी. माना जा रहा था कि इस सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस मामले की तारीख तय कर देंगे. कि कब से कब तक सुनवाई होगी. सुनवाई जल्द और नियमित होनी चाहिए या नहीं. तो क्या हुआ सुनवाई के दौरान, वो जान लीजिए –

अयोध्या विवाद में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई.
अयोध्या विवाद में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई.

# सुनवाई के दौरान सबसे पहले चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि आज मामले की सुनवाई नहीं होगी बल्कि आज कोर्ट में मामले की सुनवाई के लिए समयसीमा तय होगी.

# फिर शुरू हुआ विवाद. मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन ने कोर्ट में जस्टिस यूयू ललित पर सवाल उठाते हुए कहा कि 1994 में यूयू ललित कल्याण सिंह के लिए पेश हो चुके हैं. इस पर हिंदू पक्ष की ओर से आए वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे ने कहा कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता क्योंकि जिस मामले में जस्टिस ललित पेश हुए थे, वह इस मामले से बिल्कुल अलग था. धवन इस पर बोले कि उनकी मांग जस्टिस ललित को बेंच से हटाना नहीं है. वो ये बस जानकारी के लिए बता रहे हैं.

# इस पर जस्टिस ललित ने खुद को बेंच से अलग करने का फैसला किया. जस्टिस यू यू ललित ने कहा कि जब वह वकील थे तब वह बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में सुनवाई के दौरान बतौर वकील एक पक्ष की तरफ से पेश हुए थे. इसलिए वो इस मामले से हटना चाहते हैं. चीफ जस्टिस ने इस पर कहा कि सभी जजों का मत भी यही है कि इस मामले में जस्टिस ललित का सुनवाई करना सही नहीं होगा.

# जस्टिस यूयू ललित के बेंच से हटने के बाद अब बेंच का गठन फिर से किया जाएगा. इसी लिए तय किया गया कि मामले की अगली सुनवाई 29 जनवरी को नई बेंच करेगी. तभी सुनवाई कैसे और कितने दिनों में होगी, ये तय होगा.

सुनवाई के दौरान सीजेआई ने ये भी जानने की कोशिश की कि इस मामले में जो 13,860 पन्ने के दस्तावेज रखे जाने हैं. वो ट्रांसलेट हुए कि नहीं. क्योंकि इनमें कुछ दस्तावेज हिंदी, अरबी, गुरुमुखी और उर्दू में हैं. इन दस्तावेजों की जांच के निर्देश सुप्रीम कोर्ट रजिस्ट्री को दिए गए हैं. इन दस्तावेजों को 29 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट में पेश किया जा सकता है.

# पहले इस मामले की सुनवाई पूर्व चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अगुआई वाली तीन सदस्यीय बेंच कर रही थी. 2 अक्टूबर को उनके रिटायर होने के बाद इस केस को चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुवाई वाली दो सदस्यीय बेंच में सूचीबद्ध किया गया. इस बेंच ने 4 जनवरी को केस की सुनवाई की तारीख 10 जनवरी तय की थी. साथ ही मामला संविधान बेंच के पास भेजा था.


लल्लनटॉप वीडियो देखें –

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
What happened during Ayodhya Case hearing in Supreme court

क्या चल रहा है?

मुंबई में पुल गिरने से 6 लोगों की मौत, पूरा पुल तोड़ा गया

पिछले 3 साल में पुल गिरने से तीसरा बड़ा हादसा है.

बांग्लादेश की क्रिकेट टीम न्यूजीलैंड की जिस मस्जिद में नमाज पढ़ रही थी, वहां अंधाधुंध फायरिंग हो गई

इसमें कई लोगों की मौत हो गई है.

मुंबई में जो ब्रिज गिरा है, उसे सिर्फ 6 महीने पहले 'फिट टू यूज' का सर्टिफिकेट मिला था

और सिर्फ एक महीने पहले हुई जांच में भी इसे पास बताया गया था.

आओ चीन का फोन हाथ में लेकर लिखें - चीन के सामान का बहिष्कार हो

मोदी जी वाली योगा मैट, विराट कोहली की टी-शर्ट और सेना की बुलेटप्रूफ जैकेट तक में चीन का हिस्सा है

मुंबई के जिस पुल से कसाब गुजरा था, उसका एक हिस्सा गिरने से 3 की मौत

सीएसएमटी टर्मिनस में जिस वक्त ये हादसा हुआ, वो भीड़भाड़ वाला टाइम था.

भाजपा के पूर्व विधायक की हत्या के इल्जाम में भाजपा का ही पूर्व विधायक गिरफ्तार

गुजरात में चलती ट्रेन में हत्या कर दी गई थी भाजपा के पूर्व विधायक की

अगुस्ता वेस्टलैंड घोटाले में एक नया गवाह आया है, और इससे बीजेपी खुश, कांग्रेस परेशान होगी

सौदे में इटली की कंपनी को लगभग 423 करोड़ रुपए की घूस देने का आरोप है.

क्या शीला दीक्षित ने आतंकवाद पर मनमोहन की बुराई और मोदी की तारीफ की?

शीला दीक्षित ने कहा कि मोदी की आतंकविरोधी कार्रवाइयां राजनीतिक फायदे के लिए हैं.

वर्ल्डकप से पहले शमी मुश्किल में, पत्नी से झगड़े में पुलिस ने कोर्ट में चार्जशीट फाइल की

ताजा-ताजा टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया से सीरीज हारी है. अब ये खबर.

अभिनंदन को आखिर वो मिल गया, जिसका वो बेसब्री से इंतजार कर रहे होंगे!

एयरफोर्स ने अभिनंदन की डीब्रीफिंग भी पूरी कर ली है.