Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

सरस्वती पूजा में शामिल होने गए TMC विधायक की गोली मारकर हत्या, BJP नेता पर FIR

876
शेयर्स

पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा का लंबा इतिहास रहा है. सरकार चाहे वाम दलों की रही हो या तृणमूल कांग्रेस की. हिंसा जारी रही है. इस हिंसा का शिकार अधिकतर कार्यकर्ता ही होते रहे हैं. लेकिन इस बार निशाना नादिया जिले के कृष्णागंज विधानसभा क्षेत्र से विधायक सत्यजीत बिस्वास बने हैं. 9 फरवरी की रात सत्यजीत बिस्वास अपनी पत्नी और 7 महीने के बेटे के साथ सरस्वती पूजा में शामिल होने गए थे. कार्यक्रम में तृणमूल कांग्रेस के काफी सारे नेता भी मौजूद थे. पूजा करने के बाद सत्यजीत मंच से उतर रहे थे. उसी समय भरी सभा में हमलावरों ने उन पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाईं. विधायक को तुरंत अस्पताल ले जाया गया. जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

मटुआ समुदाय से ताल्लुक रखने वाले बिस्वास पहली बार विधायक बने थे.
मटुआ समुदाय से ताल्लुक रखने वाले बिस्वास पहली बार विधायक बने थे.

बिस्वास पहली बार विधायक बने थे. उनकी मौत के बाद राजनीति गर्मा गई है. तृणमूल कांग्रेस ने विधायक की हत्या में भाजपा का हाथ बताया है. टीएमसी महासचिव पार्थ चटर्जी ने कहा कि भाजपा नेता इलाके में तनाव बढ़ाना चाहते हैं. लोग इस घृणित कार्य के अपराधियों को मुंहतोड़ जवाब देंगे. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक विधायक की हत्या में जिन चार लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है, उनमें भाजपा नेता मुकुल रॉय का भी नाम है. मुकुल पहले टीएमसी में भी रहे हैं.

वहीं भाजपा ने इसे तृणमूल कांग्रेस की आपसी कलह का नतीजा बताया है. भाजपा के प. बंगाल प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष का कहना है कि भाजपा का इससे कोई लेना-देना नहीं है. उन्होंने कहा कि हम पर आरोप लगाने वाले लोग दरअसल अपने पापों को छुपा रहे हैं.

फिलहाल पुलिस ने विधायक की हत्या से जुड़े दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. साथ ही एक व्यक्ति को हिरासत में ले रखा है. लापरवाही बरतने के चलते हंसखाली पुलिस स्टेशन के इंजार्ज को सस्पेंड कर दिया गया है.
बांग्लादेश की सीमा से सटे कृष्णागंज विधानसभा से विधायक सत्यजीत राज्य में प्रभावशाली मटुआ समुदाय से ताल्लुक रखते थे. इस समुदाय के लोग 1950 के दशक में बांग्लादेश (तत्कालीन पूर्वी पाकिस्तान) से आए थे. राज्य में इस समुदाय की आबादी लगभग 30 लाख है. उत्तर और दक्षिण परगना की 5 लोकसभा सीटों पर इस समुदाय का खासा असर है. आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा की नजर इस समुदाय पर है. पीएम मोदी हाल ही में 24 परगना के ठाकुर नगर में मटुआ समुदाय के एक कार्यक्रम में भी शामिल हुए थे.


वीडियो देखें: काम न मिलने से डिप्रेशन में थे महेश आनंद, घर में मिली लाश 

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
West Bengal: Satyajit Biswas TMC MLA from Krishnaganj constituency of Nadia district was shot dead at a Saraswati Puja

टॉप खबर

सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा, जिसे ममता-मोदी दोनों तरफ के लोग अपनी जीत मान रहे हैं

CBI और कोलकाता पुलिस की लड़ाई असल में ममता और मोदी की लड़ाई मानी जा रही है...

सीबीआई को लेकर मोदी सरकार से क्यों टकरा रही हैं ममता बनर्जी

जानिए कोलकाता से लेकर दिल्ली तक क्यों बरपा है हंगामा, क्या-क्या हुआ अब तक?

CBI पहुंची थी कोलकाता कमिश्नर के घर, पुलिस ने टीम को ही हिरासत में ले लिया

मोदी बनाम ममता की लड़ाई अब पुलिस बनाम सीबीआई, ममता बनर्जी धरने पर.

'5 लाख तक टैक्स नहीं' ये सुनने के बाद कन्फ्यूजन क्यों फैला?

अंतरिम बजट आ गया है. आपके लिए क्या निकलकर आया, वो जानो.

इन्कम टैक्स पर मोदी सरकार का सबसे बड़ा ऐलान

गाइए - 'जिसका मुझे था इंतज़ार, वो घड़ी आ गई.'

हम पकौड़ों में रोज़गार तलाश रहे थे, बेरोजगारी 45 साल के टॉप पर पहुंच गई

रिसी हुई रिपोर्ट का रहस्योद्घाटन कि रोजगार के नाम पर तो रायता फ़ैल चुका है.

क्या है मायावती सरकार में हुआ 1400 करोड़ का स्मारक घोटाला, जिसमें ED ने छापा मारा है

सवा चार लाख का हाथी, बांटे गए 60 लाख. जमके लूट मची थी!

महात्मा गांधी की हत्या के तीन आरोपी, जिनके अभी भी जिंदा होने की आशंका है

गांधीजी के पड़पोते तुषार का कहना है कि ये अकेली लापरवाही नहीं थी!

गांधी की हत्या में RSS की क्या भूमिका थी?

इस सवाल पर दशकों से सिर धुना जा रहा है, गांधीजी की डेथ एनिवर्सरी पर जानिए कुछ इनसाइट्स.

गांधी जी की हत्या पर लिखी ये किताब आप इंडिया क्यों नहीं ला सकते?

किताब में दावा है कि गांधी को अंतरराष्ट्रीय साजिश के तहत मारा गया.