Submit your post

Follow Us

CBI पहुंची थी कोलकाता कमिश्नर के घर, पुलिस ने टीम को ही हिरासत में ले लिया

13.98 K
शेयर्स

पूर्व में एक प्रदेश है. नाम पश्चिम बंगाल. वहां आजकल लोकतंत्र बचाने की मुहिम चल रही है. इसके लिए कभी ममता बनर्जी सभी विपक्षी पार्टियों को एक मंच पर लाती हैं. तो कभी पीएम मोदी बड़ी-बड़ी रैली करते हैं. पर पक्ष-विपक्ष की इस मुहिम में अब एक बड़ा ट्विस्ट आया है. ट्विस्ट ये कि अब तक तो ममता और बीजेपी आमने-सामने थे. अब बंगाल पुलिस और सीबीआई आमने-सामने आ गए हैं. अभी तक तो ममता पर आरोप लग रहे थे कि वे मोदी-शाह और योगी आदित्यनाथ को रैली नहीं करने दे रही हैं. अब राज्य की पुलिस पर आरोप है कि वो सीबीआई को अपना काम नहीं करने दे रही.

कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार
कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार

दरअसल बहुचर्चित शारदा चिटफंड घोटाले के लपेटे में कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार भी हैं. सीबीआई की एक टीम उनसे पूछताछ करने के लिए 3 फरवरी को उनके घर पहुंची थी. लेकिन सीबीआई टीम को गेट पर ही रोक दिया गया. वहां मौजूद कोलकाता पुलिस के अधिकारियों ने सीबीआई टीम से वारंट दिखाने की मांग की. सीबीआई और राज्य पुलिस के अधिकारियों के बीच हाथापाई भी हुई. इसके बाद पुलिस अधिकारियों ने सीबीआई टीम के पांच सदस्यों को हिरासत में ले लिया. और उन्हें लेकर शेक्सपीयर सारनी थाने आ गई. इतना ही नहीं कोलकाता पुलिस ने कोलकाता स्थित सीबीआई ऑफिस को भी चारों तरफ से घेरकर अपने कब्जे में ले लिया है. फिलहाल सीबीआई मुख्यालय के बाहर अर्धसैनिक बलों को भी तैनात कर दिया गया है. कहा जा रहा है कि कोलकाता पुलिस अब सीबीआई के जॉइंट डायरेक्टर पंकज श्रीवास्तव को भी गिरफ्तार कर सकती है. यह अपने आप में अभूतपूर्व घटना है. जब इस तरह से राज्य और केंद्र की संस्थाएं आमने-सामने आ गई हों.

उधर सीबीआई का कहना है कि कमिश्नर राजीव कुमार के घर पर स्थित जरूरी डॉक्यूमेंट को नष्ट किया जा सकता है. सीबीआई ने गवर्नर केसरीनाथ त्रिपाठी से घटनाक्रम में दखल देने की मांग की है. सीबीआई का कहना है कि घोटाले में जांच की प्रक्रिया जारी है. और राजीव कुमार से पूछताछ जरूरी है. सीबीआई ने एक कदम और बढ़ाते हुए सुप्रीम कोर्ट जाने के भी संकेत दिए हैं. इन सबके बीच तृणमूल कांग्रेस खुलकर राजीव कुमार के समर्थन में आ गई है तो भाजपा सीबीआई टीम के. भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने बंगाल सरकार के इस कदक को अलोकतांत्रिक बताया है.

बीते कुछ दिनों से मोदी सरकार पर लगातार तीखे प्रहार कर रहीं ममता बनर्जी भी खुलकर राजीव कुमार के समर्थन में आ गई हैं. उन्होंने राजीव कुमार को दुनिया का बेस्ट पुलिस कमिश्नर भी बता दिया.

सीएम ममता बनर्जी तो राजीव कुमार के घर भी पहुंच गईं. वहां धरना-प्रदर्शन टाइप माहौल है. नारेबाजी शुरू हो गई है. कहा जा रहा है कि राजीव इस वक्त अपने घर में ही हैं. उनके घर को कोलकाता पुलिस ने घेर रखा है.

 

ममता ने कहा कि सीबीआई अमित शाह और अजीत डोवाल के इशारे पर काम कर रही है. मोदी सरकार केंद्र और राज्य के मौजूदा ढांचे को खत्म करना चाहती है. इसके खिलाफ ममता ने सत्याग्रह पर बैठने की भी बात कही है. संविधान बचाने के नाम पर हो रहे इस धरने में ममता को विपक्षी दलों का समर्थन भी मिल रहा है.

इससे पहले राजीव कुमार को सीबीआई ने नोटिस देकर जांच में शामिल होने को कहा था. लेकिन राजीव कुमार जांच में शामिल नहीं हुए थे. उल्टे कोलकाता पुलिस ने ट्वीट कर इस रिपोर्ट को खारिज कर दिया था कि कोलकाता पुलिस कमिश्नर सीबीआई जांच के दायरे में हैं. पुलिस ने इस तरह की खबर चलाने वालों पर कानूनी कार्रवाई की धमकी भी दी थी.

सीबीआई पूछताछ क्यों कहना चाहती है?

पश्चिम बंगाल में हुए शारदा घोटाले की जांच राजीव कुमार की अगुवाई में बनी स्पेशल इनवेस्टीगेशन टीम यानी एसआईटी ने की थी. सीबीआई का आरोप है कि साल 2013 में हुई इस जांच में राजीव कुमार ने कई सबूतों से छेड़छाड़ की. उन्होंने घोटाले के कई आरोपियों को अपनी जांच में निकाल दिया. सीबीआई इसी बाबत राजीव कुमार से पूछताछ करना चाहती है.

सीबीआई की कार्रवाई का विरोध 

सीबीआई की इस कार्रवाई का विपक्षी दलों ने जबरदस्त  विरोध किया है. कांग्रेस, सपा, आम आदमी पार्टी और तेगलुदेशम पार्टी ने सीबीआई के इस कदम को अलोकतांत्रिक बताया है. विपक्षी दलों के नेता भी धीरे-धीरे कोलकाता में इकट्ठे होने शुरू हो गए हैं. सपा नेता किरनमय नंदा ममता बनर्जी के धरना स्थल पर पहुंच चुके हैं. राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव के भी धरना स्थल पर पहुंचने की सूचना  है.


 

वीडियो देखें: नरेंद्र मोदी ने जिन ऋषि शुक्ला को नया CBI चीफ बनाया, उससे कांग्रेस नाराज क्यों है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

बुमराह का ये रिकॉर्ड टेस्ट क्रिकेट में उन्हें इंडियन बॉलिंग की सनसनी साबित करने के लिए काफी है

वनडे के बाद टेस्ट मैचों में बुमराह का कमाल.

बाबा रामदेव ने बताया क्यों बिगड़ी थी आचार्य बालकृष्ण की तबीयत

अचानक तबीयत खराब होने के बाद आचार्य बालकृष्ण को एम्स में भर्ती कराना पड़ा था.

ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड से कहा- करारा जवाब मिलेगा और लंका लगा दी

एक ओर जोफ्रा आर्चर थे तो दूसरी ओर हेजलवुड.

BCCI की टाइटल राइट्स डील में क्या झोल है?

ई-ऑक्शन नहीं होने को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं.

पतंजलि वाले बालकृष्ण को हार्ट अटैक आया, रेफर होने के बाद एम्स में भर्ती

पहले हरिद्वार के पतंजलि योगपीठ के पास भूमानंद अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

पाकिस्तानी टेरर फंडिंग के आरोप में बलराम सिंह, सुनील सिंह और शुभम मिश्रा को ATS ने धरा

बलराम सिंह को 2017 में भी गिरफ्तार किया था. फिलहाल बेल पर था.

प्रियंका चोपड़ा को हटाने की रिक्वेस्ट पर यूनिसेफ ने पाक का मूड और खराब कर देने वाला जवाब दिया

सर्जिकल स्ट्राइक के बाद प्रियंका का 'जय हिन्द' लिखने वाला मुद्दा अब जोर क्यों पकड़ रहा है?

सरकार के थिंक टैंक ने माना, 'बीते 70 साल में ऐसी बुरी मंदी नहीं देखी'

इससे पहले सुब्रमण्यम ने प्राइवेट सेक्टर को दो टूक हिदायत दे डाली थी कि,'बालिग व्यक्ति लगातार अपने पापा से मदद नहीं मांग सकता.'

जोफ्रा आर्चर ने ऑस्ट्रेलिया की बैटिंग का धागा खोलकर रख दिया

जितनी उम्मीद थी उससे ज़्यादा डिलीवर किया है.

वेल्लोर मामले में प्रशासन ने तो और भी बड़ी गड़बड़ी कर दी है

दलित की मौत के बाद उसे मजबूरी में पुल से लटकाकर उतारना पड़ा था