Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

क्या आतंकी मसूद अजहर को आज ग्लोबल आतंकी घोषित किया जाने वाला है?

305
शेयर्स

क्या आतंकी मसूद अजहर को आज ग्लोबल आतंकी घोषित कर दिया जाएगा? संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में आज यानी 13 फरवरी, 2019 को इस पर फैसला होना है. मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की 1267 अलकायदा प्रतिबंध समिति के तहत बैन करने का प्रस्ताव है. ये प्रस्ताव फ्रांस, ब्रिटेन और अमेरिका की ओर से 27 फरवरी को रखा गया था. चीन ने प्रस्ताव में रोड़ा नहीं अटकाया तो मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित कर दिया जाएगा. पूरी दुनिया की नजरें इस वक्त चीन के कदम पर टिकी हैं. कहा जा रहा है कि चीन ने मसूद अजहर के खिलाफ सबूत मांगे हैं. साल 2017 में भी चीन ने ऐसे ही सबूत मांगकर मसूद अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित होने से बचा लिया था. मसूद अजहर जैश-ए-मोहम्मद का सरगना है.

क्या होने वाला है संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में?
मसूद को ग्लोबल आतंकी घोषित करने पर फैसला संयुक्त राष्ट्र की सैंक्शंस कमेटी यानी प्रतिबंध समिति को लेना है. कमेटी की बैठक पूरी तरह गोपनीय होती है. वैश्विक आतंकियों की सूची यही कमेटी जारी करती है. अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस मसूद पर बैन लगाने के पक्ष में हैं. भारत ने 2009 में पहली बार संयुक्त राष्ट्र में मसूद को वैश्विक आतंकी घोषित कराने का प्रस्ताव रखा था. तब चीन ने वीटो लगा दिया था. इससे सारी कसरत बेकार गई थी. 2017 में एक बार फिर भारत ने मसूद को ग्लोबल आतंकी घोषित कराने का प्रयास किया. मगर चीन ने एक बार फिर इसका विरोध किया. चीन ने प्रस्ताव के विरोध में कहा कि मसूद अजहर अब जैश-ए-मोहम्मद का सरगना नहीं है. वो बहुत बीमार है.
पर अब हालात बदल चुके हैं. पुलवामा में हमले की जिम्मेदारी मसूद के संगठन जैश ने खुद ही ली है. ऐसे में चीन के सामने उसका बचाव करना थोड़ा मुश्किल होगा.

मसूद अजहर जैश-ए-मोहम्मद का मुखिया है
मसूद अजहर जैश-ए-मोहम्मद का मुखिया है.

प्रस्ताव पास हो गया तो क्या होगा?
संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में बैन लगने पर वो कहीं सफर नहीं कर सकेगा. उसकी प्रॉपर्टी भी जब्त की जा सकती है. संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देश संबंधित आतंकी पर प्रतिबंध लगाते हैं. प्रस्ताव पारित होने पर दुनिया भर के देशों में अजहर की एंट्री बैन हो जाएगी. उसको किसी तरह की आर्थिक गतिविधि की इजाजत नहीं मिलेगी. प्रतिबंध के बाद संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देशों को उसके फंड पर रोक लगानी होगी. जिस भी देश में उसकी प्रॉपर्टी होगी, उसे वो देश जब्त कर सकेगा. साथ ही सदस्य देश मसूद को किसी तरह की आर्थिक मदद भी नहीं दे पाएंगे. संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देश मसूद अजहर और उसके संगठनों को हथियार और उसे बनाने की तकनीक भी नहीं दे सकेंगे.

क्या करना होगा पाकिस्तान को?
अगर मसूद अजहर को इंटरनेशनल आतंकी घोषित किया गया तो पाकिस्तान को उसके खिलाफ कार्रवाई करनी पड़ेगी. मसूद अजहर जमात उद दावा और फलाहे इंशानियत नाम के संगठन के जरिए पाकिस्तान में समाजसेवा के काम करता है. बैन के बाद पाकिस्तान को इन संगठनों पर कार्रवाई करनी होगी. उसे मसूद के टेरर कैंप और मदरसा भी बंद करने पड़ेंगे. अभी तक पाकिस्तान सिर्फ दिखावे की कार्रवाई करता रहा है. उसने कभी मसूद के कामकाज पर पूरी तरह रोक नहीं लगाई.

आतंक का चेहरा बन चुका मसूद अज़हर किसी समय देवबंदी मदरसे में पढाया करता था. फाइल फोटो.
आतंक का चेहरा बन चुका मसूद अज़हर किसी समय देवबंदी मदरसे में पढाया करता था. फाइल फोटो.

अब क्या करेगा चीन?
अलग-अगल मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मसूद को ग्लोबल आतंकी घोषित करने को लेकर चीन फिर अड़ंगे लगा सकता है. चीन ने उसके खिलाफ पुख्ता सबूत की मांग की है. भारत ने फ्रांस को संतुष्ट करने के लिए कुछ सबूत मुहैया कराए हैं. मगर चीन के का रुख अभी तक साफ नहीं हो सका है. अमेरिका ने बैठक से पहले चीन को अल्टीमेटम दिया है. उसने कहा है कि अगर जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर पर बैन नहीं लगता है तो शांति का मिशन फेल हो सकता है. विदेश मामलों के जानकार और वरिष्ठ पत्रकार कमर आगा ने आजतक को बताया कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की 1267 समिति की बैठक बेहद अहम है. वीटो की ताकत रखने वाले अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस और रूस का प्रयास है कि अगर चीन मसूद अजहर पर प्रतिबंध का समर्थन नहीं करता है तो बैठक से खुद को अलग कर ले.


वीडियोः पुलवामा में सीआरपीएक काफिले पर हमले का जिम्मेदार जैश का एक और आतंकी मारा गया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
UNSC to decide calling Jaish-E-Mohammad chief Masood Azhar a global terrorist

टॉप खबर

पाकिस्तान से हुई लड़ाई में कैप्टन अमरिंदर का क्या रोल था?

कैप्टन हर जगह 65 की जंग की बात करते हैं. आज बड्डे है. जानते हैं उनसे जुड़े किस्से.

रॉयटर्स के मुताबिक भारत की बालाकोट स्ट्राइक फेल हुई! सैटेलाइट इमेज में क्या दिखा?

एक्सपर्ट के मुताबिक हाई रेजॉल्यूशन फोटो में जैश के मदरसे को कोई साफ नुकसान नहीं दिखता.

IND vs AUS : वो 5 फैक्टर, जिन्होंने भारत को दूसरा वनडे जिता दिया

कोहली तो हैं हीं...मगर असली काम तो बॉलरों ने किया.

किन तीन वजहों से दलित-आदिवासी संगठनों ने 5 मार्च को 'भारत बंद' बुलाया?

चुनाव के माहौल में इनकी नाराज़गी का क्या असर होगा? कोई असर होगा भी कि नहीं होगा...

वो पांच जवान, जो बड़गाम हेलिकॉप्टर क्रैश में शहीद हुए

ये वही क्रैश है जिसे पहले मिग विमान क्रैश समझ लिया गया था.

बडगाम में क्रैश हेलिकॉप्टर MI-17, जिसे बार-बार रूस से मंगाया जाता है

इसी हेलिकॉप्टर से एक और हादसा हो चुका है.

पाकिस्तान का लड़ाकू विमान F-16, जिसके दम पर वो इंडिया को धमकाता है

सुबह से ये खबरें चल रही हैं कि भारतीय वायुसेना ने एक F-16 गिरा दिया है.

12 लड़ाकू विमान, तीन कैंप, 1000 किलो के बम, इंडियन एयरफोर्स के हमले की खास बातें

12 दिन के अंदर पुलवामा हमले की जवाबी कार्रवाई की डिटेल्स जानिए.

वो चार जवान, जो पुलवामा में मेजर ढौंडियाल के साथ शहीद हुए

तीन सेना से थे, एक पुलिस से.