Submit your post

Follow Us

उन्नाव मामले में भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर अब लंबा फंस गए हैं

6.72 K
शेयर्स

उन्नाव बलात्कार कांड की पीड़िता पिछले एक हफ्ते से अपने जीवन के लिए संघर्ष कर रही है. पहले लखनऊ में थी. अब दिल्ली के AIIMS में. कुछ दिनों पहले एक तेज़ रफ़्तार ट्रक ने उनकी गाड़ी को टक्कर मारी थी.

इसके बाद इस अपराध के मुख्य आरोपी कुलदीप सेंगर और उनके भाई अतुल सेंगर से भाजपा ने भी दूरी कर ली है. भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कुलदीप सेंगर, जो कि उन्नाव से विधायक हैं, की भाजपा सदस्यता ख़त्म कर दी. और फिर सुप्रीम कोर्ट ने भी पीड़िता के परिवार की शिकायत पर मामले का संज्ञान लिया.

मामला यूपी से उठकर आ गया दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में. सीबीआई भी हरकत में आई. अब सीबीआई ने केस में रोचक खुलासे किए हैं. और इन खुलासों के बाद कुलदीप सेंगर और उनके भाई अतुल सेंगर तो फंसते नज़र ही आ रहे हैं. साथ ही साथ यूपी पुलिस भी सवालों के घेरे में आ गयी है. और अदालत ने कुलदीप सेंगर और उनके सहयोगी शशि सिंह पर इंडियन पीनल कोड की धाराओं 120 बी (आपराधिक षड्यंत्र), 363 (अपहरण), 366 (अपहरण व महिला पर विवाह के लिए दबाव डालना), 376 (बलात्कार) और बाल यौन अपराध संरक्षण कानून (पॉक्सो) के तहत आरोप तय किये हैं.

कुलदीप सेंगर बहुत लम्बे समय तक गिरफ्तार ही नहीं हुए थे,
कुलदीप सेंगर बहुत लम्बे समय तक गिरफ्तार ही नहीं हुए थे,

यहां बताना ज़रूरी है कि पीड़िता के पिता को पिछले साल अवैध रूप से हथियार रखने के मामले में गिरफ्तार कर लिया गया था. गिरफ्तार होने के कुछ ही दिनों बाद पीड़िता के पिता की रहस्यमयी स्थितियों में मौत हो गयी. अब सीबीआई ने इस मामले में दिल्ली कोर्ट को बताया है कि पीड़िता के पिता को आर्म्स एक्ट में फर्जी तरीके से फंसाया है. सीबीआई ने कहा है,

“विधायक सेंगर के पास सारे कारण और ताकत हैं – जो उन्हें विधायक बनने की वजह से मिले हैं – जिनकी बिना पर वे पीड़िता के पिता को अवैध हथियार रखने के फर्जी केस में फंसा सकते हैं.”

सीबीआई ने ये भी कहा है कि पीड़िता के पिता के इलाज में भी लापरवाही बरती गयी, जिसकी वजह से उनकी मौत हो गयी. इसके साथ ही, सीबीआई ने ये भी कहा कि यूपी पुलिस ने इस पूरे केस की जांच बेहद उदासीनता के साथ की.

सीबीआई की जांच में ये पता चला है कि अपने साथ दुष्कर्म के बाद पीड़िता ने मुख्यमंत्री को भी पत्र लिखा था, लेकिन 12 जनवरी, 2018 तक कुछ नहीं हुआ. इस दिन पीड़िता की मां उन्नाव की कोर्ट गयी. पीड़िता के पिता 3 अप्रैल को दिल्ली से उन्नाव कोर्ट सुनवाई के लिए गए. इतना सब होने के बावजूद पुलिस ने जांच रिपोर्ट लगाईं कि पीड़िता द्वारा लगाए गए आरोप सही नहीं हैं.

ट्रक पर नंबर हटाया गया है. चश्मदीदों का कहना है कि सिर्फ आगे वाली नंबर प्लेट पर ही पेंट लगा था.
जिस ट्रक ने पीड़िता की कार को धक्का मारा था, उसकी नम्बर प्लेट पर काला पेंट लगा था.

इसके बाद पीड़िता के पिता को बुरी तरह पीटा गया और उनकी आर्म्स एक्ट में गिरफ्तारी हो गयी. उनकी पिटाई हुई. 9 अप्रैल को जेल में उनकी मौत हो गयी.

इस मामले में FIR दर्ज कराने के प्रयास में पीड़िता ने यूपी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के घर के सामने खुद को आग लगाने की कोशिश की,तब जाकर कहीं कुलदीप सेंगर और शशि सिंह के खिलाफ केस दर्ज हो सका.

सीबीआई की जांच ये भी कहती है कि पीड़िता को आगे कोई कार्यवाही न करने के लिए कुलदीप सेंगर और उनके सहयोगियों की ओर से भरसक डराया गया.

अब आज शुक्रवार यानी 9 अगस्त को सुनवाई करते हुए दिल्ली जिला जज धर्मेश शर्मा ने कुलदीप सेंगर और उनके सहयोगी शशि सिंह के खिलाफ आरोप तय कर दिए हैं. अब कोर्ट में सीबीआई ने ये बताया है कि कुलदीप सेंगर ने योजनाबद्ध तरीके से पीड़िता को बुलाया और उनका बलात्कार किया. सामूहिक बलात्कार. तब, जब पीड़िता की उम्र 17 साल थी.

अब पीड़िता और उनके वकील दोनों, लम्बे समय से जीवन रक्षक सिस्टम के सहारे हैं. और आज निर्भया की मां उन्नाव की पीड़िता से मिलने पहुंचीं तो उन्हें मिलने नहीं दिया गया.

ये भी पढ़ें : 

उन्नाव रेप केस: सुप्रीम कोर्ट की फटकार से पहले जो-जो हुआ वो दिल दहलाने वाला है

उन्नाव रेप केस: टक्कर मारने वाले ट्रक के बारे में नई जानकारी सामने आई है

ये जज तय करेंगे कि विधायक कुलदीप सेंगर के साथ क्या होगा?

उन्नाव गैंगरेप केस में एक राहत भरी खबर आई है


लल्लनटॉप वीडियो : उन्नान रेप केस: पीड़िता के हादसे से जुड़ी नई जानकारी सामने आई है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

विद्या बालन ने बताया फ़िल्मों के डायरेक्टर कास्टिंग काउच के लिए क्या क्या करते हैं

डायरेक्टर्स कभी ऑडिशन, कभी मीटिंग के बहाने बुलाते थे.

10वीं की स्टूडेंट ने स्कूल में बच्ची को जन्म दिया तो पता चला 7 महीने पहले रेप हुआ था

रेपिस्ट की उम्र जानेंगे तो मनाएंगे कि धरती ख़त्म हो जाए.

चुनाव के पहले कांग्रेस जॉइन की थी, अब रिज़ाइन कर मोदी की तारीफ़ में लगीं अर्शी खान

'मेरा डांस करना, बिकिनी पहनना अच्छा नहीं लगेगा.'

टाइम मैगज़ीन ने दुनिया की 100 सबसे झामफाड़ जगहों में भारत की कौन सी दो जगहें चुनी?

दूसरी वाली जानकर आप हैरान हो जाएंगे.

Free Fire: सबसे ज्यादा डाउनलोडेड यह गेम अब भारतीयों को प्रीमियम अनुभव देगा

PUBG भूल जाइए, क्या आप फ्री फायर खेलने को तैयार हैं?

ओ तेरी! आईआईटी से एमटेक किया, फिर रेलवे में पटरियों की देखभाल वाली नौकरी जॉइन कर ली

ऐसा अनर्थ पहले कभी नहीं हुआ है.

यूपी पुलिस ने जिस बच्ची को नाले में घुसकर निकाला, उसका क्या हुआ?

जन्माष्टमी के दिन नाले में पड़ी हुई बच्ची कुछ स्कूली बच्चों को दिखी थी.

ऑस्ट्रेलिया 1 रन से मैच जीतने वाली थी, अंपायर की गलती ने पासा पलट दिया

अंपायर की इस ग़लती ने इंग्लैंड की लॉटरी लगा दी.

पीएम मोदी को यूएई ने सबसे बड़ा सम्मान दिया, पाकिस्तान को बुरा लग गया

पाकिस्तान ने इस अवॉर्ड का विरोध किया है. कश्मीर के मसले पर.

पुलिस और प्रदर्शनकारियों की झड़प के बीच बेचारा JCB ऑपरेटर फंसकर मारा गया

...और फिर राजनीति हुई. घनघोर.