Submit your post

Follow Us

पठानकोट: यूनाइटेड जेहाद काउंसिल ने ली हमले की जिम्मेदारी

21
शेयर्स

पंजाब के पठानकोट एयरफोर्स स्टेशन पर आतंकी हमले की जिम्मेदारी यूनाइटेड जेहाद काउंसिल ने ली है. आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन तीसरे दिन सोमवार को भी जारी है. सूत्रों के मुताबिक, सभी 6 आतंकी मारे जा चुके हैं. हालांकि अभी इसकी पुष्टि नहीं हुई है.

‘यूनाइटेड जेहाद काउंसिल’ का हेड ‘हिजबुल मुजाहिद्दीन’ का लीडर सैयद सलाउद्दीन है. 1994 में बना ये संगठन जम्मू-कश्मीर के इलाकों में ज्यादा एक्टिव है. 2012 को सैयद सलाउद्दीन ने एक इंटरव्यू में कहा था, इंडिया में आतंक फैलाने के लिए पाकिस्तान मदद कर रहा है, ताकि हम कश्मीर में लड़ाई लड़ सकें.

15 जनवरी को इंडिया-पाकिस्तान के बीच विदेश सचिव बैठक होनी है. सूत्रों के मुताबिक, पठानकोट हमले का इस मीटिंग पर असर पड़ सकता है. सरकार मीटिंग को टाल सकती है. ये मुलाकात इस्लामाबाद में होनी थी.

IG NSG और सिक्योरिटी फोर्सेज के दूसरे बड़े अफसरों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि अब तक चार आतंकी मार दिए गए हैं. उन्होंने कहा कि हालात पूरी तरह कंट्रोल में हैं और ऑपरेशन सही दिशा में बढ़ रहा है. एयरबेस का एरिया काफी बड़ा है और आस-पास फैमिलीज रहती हैं, इसलिए इसमें समय लग रहा है. ऑपरेशन पूरा होते ही मीडिया को बताया जाएगा.

साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में अफसरों ने बताया कि एयरबेस के सारे स्ट्रैटजिक असेट्स पूरी तरह सेफ है. ये आतंकी पूरी तैयारी और हथियारों से लैस होकर आए थे और विमानों को नुकसान पहुंचाना इनका मकसद था. एनएसजी, सेना और पंजाब पुलिस के सीनियर अधिकारी एयरबेस में मौजूद हैं. बताया जा रहा है कि सेना ने वहां ब्लास्ट किया है, जहां आतंकियों के छिपे होने की आशंका है.

रविवार को दोबारा शुरू हुई थी फायरिंग
एक दिन पहले, रविवार सुबह सेना का ऑपरेशन खत्म बताया जा रहा था, लेकिन 12 बजे के बाद फायरिंग की आवाजें सुनाई दीं. खबर आई कि दो फिदायीन आतंकी अब भी एयरबेस में मौजूद हैं. शनिवार तड़के से चल रहा मैराथन ऑपरेशन दोबारा शुरू हो गया.

अब तक पांच हमलवार फिदायीन मार गिराए गए हैं. शनिवार सुबह से लगातार 17 घंटे तक चली मुठभेड़ में हमारे 7 जवानों के शहीद होने की खबर है. 11 जवान घायल भी हुए हैं.

हमलावर आतंकियों के जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े होने का शक है. रविवार को एयरबेस में डिफ्यूज करते वक्त एक बम फट गया, जिससे एयरफोर्स के एक अफसर की मौत हो गई और दो जवान घायल हो गए.

Lt colonel Niranjan kumar
शहीद लेफ्टिनेंट कर्नल निरंजन ई कुमार.

रविवार शाम भी एयरबेस से फायरिंग की आवाजें आईं, जिससे यह खबर उड़ी कि छठा आतंकी भी वहां मौजूद हो सकता है. एयरबेस का वह हिस्सा पूरी तरह सुरक्षित है,  जहां वायुसेना के मिग-21 फाइटर जेट, MI-35 हमलावर हेलिकॉप्टर और दूसरे बड़े उपकरण रखे गए हैं.

सर्च ऑपरेशन पर प्रधानमंत्री और गृह मंत्री ने शनिवार शाम जवानों को बधाई दी है. प्रधानमंत्री  ने कहा कि ये उन लोगों की ओर से किया गया हमला था जो इंसानियत के दुश्मन हैं और भारत का विकास नहीं देख सकते, लेकिन हमारे सुरक्षा बलों ने उन्हें कामयाब नहीं होने दिया.

पंजाब के पठानकोट एयरफोर्स स्टेशन पर शनिवार तड़के 4 बजे आतंकियों ने हमला किया. सेना और पुलिस के साझा ऑपरेशन में दोपहर तक चार आतंकी ढेर हो गए थे और एक छिपा बताया जा रहा था, जिसे बाद में मार गिराया गया. शाम 5 बजे के बाद आतंकियों की तरफ से गोलीबारी नहीं हो रही थी.

25 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सबको चौंकाते हुए नवाज शरीफ को बर्थडे विश करने अचानक पाकिस्तान पहुंच गए थे. इसे दोनों देशों के बीच शांति बहाली की दिशा में बड़ा कदम माना जा रहा था. लेकिन हमले में पाकिस्तान की जमीन से ऑपरेट करने वाले आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का नाम सामने आ रहा है.

आतंकियों की कॉल डिटेल से पता चला है कि उन्होंने पाकिस्तान बात की थी. एक आतंकी ने अपने घर पर बात की. मां से कहा कि फिदायीन हमला करने जा रहा है. आतंकी की मां ने कहा मरने के पहले खाना खा लेना.

आतंकियों के जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर से जुड़े होने की खबर मिल रही है. सूत्र बता रहे हैं कि इस कार से एक कागज मिला है, जिस पर अस्पष्ट अक्षरों में ‘जैश’ लिखा है. बताया जा रहा है कि आतंकी दो-तीन दिन पहले सीमापार से घुसे थे और उनका मकसद सेना के विमानों को तबाह करना था. यह एयरफोर्स स्टेशन पाकिस्तानी सीमा से बहुत दूर नहीं है. हमलावर सेना की वर्दी में थे और शुक्रवार रात उन्होंने गुरदासपुर एसपी पर हमला करके उनकी इनोवा कार छीन ली थी.

राजनाथ ने कहा, ‘पड़ोसी देश से अच्छे संबंध चाहते हैं. पर अगर हम पर हमला हुआ तो मुंहतोड़ जवाब देंगे.’

हमले के बाद सुरक्षा कारणों से जम्मू हाईवे बंद कर दिया गया. दिल्ली में भी सुरक्षा बढ़ाने और पंजाब के सभी थानों और पुलिस बिल्डिंग के आस-पास चौकसी बढ़ाने के निर्देश दिए गए. जानकारी के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक कार्यक्रम में शरीक होने के लिए मैसूर रवाना हो रहे थे, तभी पालम एयरपोर्ट पर रक्षा मंत्री पर्रिकर ने उनसे मुलाकात की. रक्षा मंत्री ने बातचीत में पीएम को पठानकोट के हालात पर जानकारी दी. गोवा से दिल्ली लौटकर रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने देशभर के मिलिट्री बेस की सुरक्षा को लेकर उच्च स्तरीय बैठक की.

आतंकी हमले की इनसाइड स्टोरी

-सूत्र बता रहे हैं कि जैश ए मोहम्मद के 6 आत्मघाती आतंकी 30 दिसंबर को गुरदासपुर से लगी सरहद से भारत की सीमा में दाखिल हुए. ये आतंकी लैंड क्रुजर और पजेरो गाड़ी से पठानकोट एयर बेस पहुंचे.

-सभी आतंकी आत्मघाती थे और भारी गोला बारूद से लैस थे. ये आतंकी पाकिस्तान के बहावलपुर से ट्रेनिंग लेकर आए और अल रहमान ट्रस्ट से जुड़े हैं. इनके हैंडलर मौलाना अशफाक अहमद और हाजी अब्दुल शकूर हैं जिनसे ये लगातार बात कर रहे थे. जबकि पिछले 6 महीने से ये आतंकी इस हमले की ट्रेनिंग कर रहे थे.

-इन 6 आतंकियों को पठानकोट में वायुसेना स्टेशन पर हमले का टास्क दिया गया था. इनकी योजना आत्मघाती विस्फोट से वायुसेना के विमानों को उड़ाने की थी.

-इनके पास एके 47, हैंड ग्रेनेड, जीपीएस सिस्टम समेत भारी गोला बारूद मौजूद था. इसके लिए इन्होंने लैंड क्रुजर और पजेरो गाड़ी का इस्तेमाल किया.लेकिन ख़ुफ़िया और सुरक्षा एजेंसियों को इस ऑपरेशन की जानकारी समय रहते मिल गयी और ऐसे में ये आतंकी बड़ा हमला करने में सफल नहीं हो पाए.

-साल के पहले दिन शुकवार को ही एनएसए अजित डोभाल ने इस हमले को नाकाम करने के लिए वायु सेना, सेना, एनएसजी और पंजाब पुलिस को अलर्ट कर दिया था. वायुसेना की पश्चिमी कमान के प्रमुख एयर मार्शल एस बी कल रात ही पठानकोट पहुंच गए थे.

गिरफ्तार फौजी यहीं करता था काम
कुछ दिन पहले एयरफोर्स के पूर्व फौजी के रंजीत को ISI के लिए जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. के रंजीत इसी एयरफोर्स स्टेशन में काम करता था. पठानकोट में सेना के ऑपरेशन की निगरानी नेशनल सिक्योरिटी एडवाइजर अजीत डोभाल कर रहे हैं. दिल्ली में IB, सेना प्रमुख समेत सुरक्षा एजेंसियों की हाईप्रोफाइल मीटिंग शनिवार दोपहर को होनी है.

ISI ने कहा था, बड़े हमले करो?
सूत्र बता रहे हैं कि हमले से पहले पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (PoK) में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI और आतंकी संगठनों की बैठक हुई थी. इसमें ISI ने आतंकी गुटों से जम्मू-कश्मीर और पंजाब में बड़े हमले करने को कहा था और इसके लिए फंड भी मुहैया कराया था.

पठानकोट में रखे जाते हैं बड़े हथियार
पठानकोट एयरफोर्स स्टेशन इंडिया के लिए मायने रखता है. यहां सेना के बड़े हथियार रखे जाते हैं. युद्ध होने पर यहीं से रणनीति बनाई जाती है. मिग-21 लड़ाकू विमानों के लिए ये बेस स्टेशन है.

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
terrorist attacked at punjab pathankot air force station

क्या चल रहा है?

नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री पद की शपथ कब लेंगे, डेट आ गई है

उनके साथ कई मंत्री भी शपथ लेंगे.

जेसन रॉय ने अपनी टीम के बारे में जो बताया, वो सच हो गया तो इंग्लैंड ही वर्ल्ड कप जीतेगी

इंग्लैंड अपनी इसी बात के चलते वर्ल्ड कप जीतने का दावा कर रही है.

सूरत में लोगों की जान बचाने के लिए जिसे हीरो बताया गया, पुलिस ने उसी को क्यों गिरफ्तार कर लिया?

सोशल मीडिया पर लोग गिरफ्तारी का विरोध कर रहे हैं.

स्मृति ईरानी ने अमेठी पहुंचकर पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की अर्थी को कंधा दिया

गोली मारकर हत्या, ईरानी की जीत में निभाई थी महत्वपूर्ण भूमिका.

फोन पर पापा को कहा 'बिल्डिंग से कूद रही हूं, कोशिश करूंगी कि बच जाऊं', लेकिन...

सूरत हादसे से सबको सबक लेने की जरूरत है.

हरियाणा के शाकाहारी बुजुर्ग को चिकन सैंडविच खिलाने वाली फ्लाइट पर 1.54 लाख का जुर्माना

नवरात्र के दौरान परिवार के साथ एयर एशिया से यात्रा की थी.

सलमान खान अपने स्टारडम के बारे में जो बोल रहे हैं, वो उनका कॉन्फिडेंस या ओवरकॉन्फिडेंस?

सलमान ने अपने अलावा सिर्फ तीन और लोगों को सुपरस्टार बताया है.

अंबती रायडू के 3D चश्मे का अब विजय शंकर ने बढ़िया जवाब दिया है

विजय शंकर में काफी मैच्योरिटी आ गई है.

जब इंग्लैंड टीम के पास कोई फील्डर नहीं बचा तो खुद कोच फील्डिंग करने आ गए!

ऐसा पहले कभी नहीं देखा होगा.

जिस पूर्व प्रधान ने स्मृति ईरानी को जिताने के लिए जी जान लगा दी, उनकी गोली मारकर हत्या

अमेठी का माहौल गर्माया, ईरानी गांव पहुंच रही हैं.