Submit your post

Follow Us

पठानकोट: 3 दिन पहले छुट्टी खत्म कर लौटे थे शहीद कुलवंत

12
शेयर्स

नए साल के दूसरे दिन वो घर, परिवार से दूर ड्यूटी पर थे. ऐसी ड्यूटी जो आखिरी साबित हुई. दुखद सच ये है कि पठानकोट आतंकी हमले में हमारे 11 जवान शहीद हो गए. शहीदों में 6 डिफेंस सर्विस कोर्पस, 2 इंडियन एयरफोर्स, 2 एयरफोर्स एलीट कमांडो यूनिट के जवान थे. एयरबेस स्टेशन में मिले बम को डिफ्यूज करते वक्त धमाका होने से सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी भी शहीद हो गए.

कुछ जवानों ने आतंकियों की एके-47 का सामना राइफल से किया. शहीदों में डीएसी फतेह सिंह, सिपाही कुलवंत सिंह, सिपाही संजीव कुमार, कमांडो करतार सिंह, सिपाही गुरसेवर करपुर, सिपाही जगदीश सिंह शामिल थे. अब तक मिली जानकारी के मुताबिक, जानिए वतन के वास्ते जिंदगी कुर्बान करने वाले शहीदों के बारे में.

1. शहीद फतेह सिंह: इंटरनेशनल राइफल निशानेबाज फतेह सिंह. 1995 में कॉमनवेल्थ शूटिंग चैंपियनशिप में इंडिया के लिए गोल्ड जीता. एक सिल्वर मेडल भी जीता. सेना से रिटायर हो चुके सूबेदार मेजर फतेह सिंह डिफेंस सिक्योरिटी कोर का हिस्सा थे. डोगरा रेजिमेंट से जुड़े फतेह ने 51 बरस की उम्र में भी आतंकियों को तगड़ी टक्कर दी. लेकिन जिंदगी हार गए. फतेह सिंह पंजाब के झंडे गुज्जरां के रहने वाले थे. चार महीने पहले ही उनका ट्रांसफर पठानकोट हुआ था. फतेह सिंह का बड़ा बेटा गुरदीप सिंह भी आर्मी में है.

2. शहीद कुलवंत सिंह: कुलवंत सिंह भी सेना से रिटायर हो चुके थे. चार महीने पहले डिफेंस सर्विस कोर पठानकोट से जुड़े थे. 3 दिन पहले 29 दिसंबर को वो छुट्टी खत्म कर ड्यूटी पर लौटे थे. पठानकोट से पहले कुलवंत सिंह ओडिशा में तैनात थे. कुलवंत सिंह के दो बेटे हैं.

shaheed_kulwant singh

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

विद्या बालन ने बताया फ़िल्मों के डायरेक्टर कास्टिंग काउच के लिए क्या क्या करते हैं

डायरेक्टर्स कभी ऑडिशन, कभी मीटिंग के बहाने बुलाते थे.

10वीं की स्टूडेंट ने स्कूल में बच्ची को जन्म दिया तो पता चला 7 महीने पहले रेप हुआ था

रेपिस्ट की उम्र जानेंगे तो मनाएंगे कि धरती ख़त्म हो जाए.

चुनाव के पहले कांग्रेस जॉइन की थी, अब रिज़ाइन कर मोदी की तारीफ़ में लगीं अर्शी खान

'मेरा डांस करना, बिकिनी पहनना अच्छा नहीं लगेगा.'

टाइम मैगज़ीन ने दुनिया की 100 सबसे झामफाड़ जगहों में भारत की कौन सी दो जगहें चुनी?

दूसरी वाली जानकर आप हैरान हो जाएंगे.

Free Fire: सबसे ज्यादा डाउनलोडेड यह गेम अब भारतीयों को प्रीमियम अनुभव देगा

PUBG भूल जाइए, क्या आप फ्री फायर खेलने को तैयार हैं?

ओ तेरी! आईआईटी से एमटेक किया, फिर रेलवे में पटरियों की देखभाल वाली नौकरी जॉइन कर ली

ऐसा अनर्थ पहले कभी नहीं हुआ है.

यूपी पुलिस ने जिस बच्ची को नाले में घुसकर निकाला, उसका क्या हुआ?

जन्माष्टमी के दिन नाले में पड़ी हुई बच्ची कुछ स्कूली बच्चों को दिखी थी.

ऑस्ट्रेलिया 1 रन से मैच जीतने वाली थी, अंपायर की गलती ने पासा पलट दिया

अंपायर की इस ग़लती ने इंग्लैंड की लॉटरी लगा दी.

पीएम मोदी को यूएई ने सबसे बड़ा सम्मान दिया, पाकिस्तान को बुरा लग गया

पाकिस्तान ने इस अवॉर्ड का विरोध किया है. कश्मीर के मसले पर.

पुलिस और प्रदर्शनकारियों की झड़प के बीच बेचारा JCB ऑपरेटर फंसकर मारा गया

...और फिर राजनीति हुई. घनघोर.