Thelallantop

मैच में 24 छक्के, 75 चौके, फिर 13वीं रैंक वाली स्कॉटलैंड ने नंबर 1 इंग्लैंड को हरा दिया

स्कॉटलैंड से हारी इंग्लैंड की टीम.

क्रिकेट में रोज कोई न कोई मैच होता है. बैटिंग होती है, बॉलिंग होती है और एक टीम जीत जाती है. मगर अगर ये जीतने वाली टीम स्कॉटलैंड हो और हारने वाली टीम वनडे की नंबर 1 टीम इंग्लैंड हो तो इसे मैच नहीं, अजूबा कहते हैं. और ये हो गया है. बेचारी इंग्लैंड की टीम स्कॉटलैंड ये सोचकर गई होगी कि बढ़िया वहां मैच पर मैच जीतेंगे. लड़कों को मोटिवेशन मिलेगा जो आगे होने वाली बड़ी सीरीजों में काम आएगा. मगर यहां तो सिर मुंडवाते ही ओले पड़ गए हैं. इंग्लैंड के साथ स्कॉटलैंड के खिलाफ पहले ही वनडे मैच में खेल हो गया है. बेहद खतरनाक और रोमांचक मैच में स्कॉटलैंड ने 6 रनों से इंग्लैंड को पीट दिया. ये मैच कई मायनों में खास है. मैच में रनों की जमकर बरसात हुई. 24 छक्के, 75 चौके पड़े. 736 रन बने और अंत में जीत विश्व रैंकिंग में 13वें नंबर की टीम स्कॉटलैंड के हाथ आई और इतिहास बन गया.

क्या गजब का मैच हुआ है ये. पहले बैटिंग करने उतरी स्कॉटलैंड की टीम. सारे बैट्समैन जैसे ठानकर आए थे- आज मारना है. पहले ओपनर क्रॉस और कोएट्जर ने टीम को शतकीय साझेदारी से शुरुआत दिलाई. फिर फर्स्ट डाउन आए कैलम मैकलोड ने तो मैदान छोड़ा ही नहीं. बंदा वहीं झंडा गाड़कर बैठ गया. 140 रन बना डाले. 94 बॉलों पर. 16 चौके और 3 छक्के लगाए. मैकलोड वही खिलाड़ी हैं, जिन्होंने वर्ल्डकप क्वॉलिफायर में अफगानिस्तान के खिलाफ 157 रन बनाए थे. तब भी नाबाद रहे थे और राशिद खान की खूब सुतैया की थी. यही फॉर्म अरसे बाद इस मैच में दिखा. मैकलोड का साथ बाद में आए बेरिंगटन और मुंसे ने भी दिया. शुरू के 5 बल्लेबाजों में सभी ने 30 से ज्यादा रन बनाए. इसमें एक सेंचुरी और दो हाफ सेंचुरी थीं. इसी की बदौलत स्कॉटलैंड ने 50 ओवरों में 371 रन बनाए.

मैकलोड ने मारा शानदार शतक.

शुरुआत अच्छी पर मिडिल ऑर्डर लड़खड़ाया

अब इंग्लैंड की बारी थी. 372 का टार्गेट था और दांव पर मैच ही नहीं लगा था, इज्जत भी लगी थी. अब स्कॉटलैंड जैसी टीम इतना बड़ा स्कोर बना दे तो प्रेश भी रहा होगा. मगर इंग्लैंड के बल्लेबाज भी ऐसे ही हार मानने को तैयार नहीं थे. उनके ओपनर भी जबर खेले. 129 रन की साझेदारी की और बैरस्टो तो इस मैच में ऐसा खेला जैसे वो टी20 मोड में हों. बंदे ने 59 बॉलों पर 105 रन बना डाले. 12 चौके और 6 छक्के लगाए. दूसरी तरफ से जैसन रॉय खड़े देख ही रहे थे. क्योंकि 129 के स्कोर पर जब वो आउट हुए तो उनके 34 रन ही बने थे. इनके बाद आए एलेक्स हेल्स ने भी 52 रन बनाए. पर रूट, मॉर्गन और सैम बिलिंग्स वैसा नहीं खेल सके, जैसी उनसे उम्मीद थी. 37 ओवर में इंग्लैंड का स्कोर 277 पर 7 विकेट हो गया था.

बैरस्टो ने सेंचुरी मारी मगर वो टीम के काम नहीं आई.

क्रीज पर थे दो नए बल्लेबाज मोईन अली और डेविड विली. लगा अब तो इंग्लैंड गई. मगर नहीं. मैच लड़ गया. विली तो आउट हो गए मगर उसके बाद मोइन अली और प्लंकेट टिक गए. पर अली 46वें ओवर में 46 रन बनाकर आउट हो गए. इंग्लैंड को अब 24 बॉलों पर 24 रन चाहिए थे. दो विकेट बचे थे. दारोमदार तब 35 रनों पर खेल रहे प्लंकेट पर था. आखिरी दो ओवरों में 11 रन चाहिए थे. पर 49वें ओवर की पहली बॉल पर राशिद रन आउट हो गए. एक विकेट बचा था. अब क्रीज पर आए मार्क वुड को कैसे भी टिके रहना था. पर ये हो नहीं सका. 49वें ओवरी की पांचवी बॉल पर वो भी आउट हो गए और इंग्लैंड 6 रन से चूक गई.

देखें दोनों टीमों के स्कोर कार्ड-

स्कॉटलैंड का स्कोर कार्ड.
इंग्लैंड का स्कोरकार्ड.

ये मैच कई मायनों में काफी बड़ा है. एक तो ये स्कॉटलैंड की पहली जीत है इंग्लैंड के खिलाफ. फिर अपने घर पर जीतना, इतना बड़ा स्कोर बनाकर जीतना और बड़ी बात है. ये जीत क्रिकेट के लिए भी अच्छी खबर है. वो इसलिए कि ज्यादातर जब एक बड़ी टीम और एक छोटी टीम के बीच मैच होता है तो लोग ध्यान नहीं देते. पर इसने इन कयासों को तोड़ा. सबको चौंका दिया. बता दिया कि क्रिकेट किसी की घर की खेती नहीं. यही काम कुछ दिन पहले अफगानिस्तान ने किया. बांग्लादेश को 3 टी20 मैचों की सीरीज हराकर. माने इन छोटी टीमों को हल्के में लेने की गलती तथाकथित बड़ी टीमें न ही करें तो बेहतर है.

 

ये भी पढ़ें –

सचिन-सहवाग या गांगुली-सहवाग… 2003 वर्ल्डकप में ओपनिंग जोड़ी तय करने के लिए हुई थी वोटिंग

आखिरी बॉल पर बांग्लादेश ने जिस तरह भारत से छीना एशिया कप, आप विश्वास नहीं करेंगे

वो मैच जिसमें राशिद खान पूरी वेस्टइंडीज टीम को घुटनों पर ले आए थे

न्यूजीलैंड की टीम 50 ओवरों में 500 बनाने से चूक गई!

कौन कहता है कि धोनी ही छक्का मारकर मैच जिताते हैं, कपिल देव की ये पारी भूल गए?

Read more!

Recommended