Submit your post

Follow Us

मंगेतर के सामने प्रेगनेंट लड़की का 5 लोगों ने 11 बार रेप किया, पेट का बच्चा मर गया

626
शेयर्स

राजस्थान में एक जिला है बांसवाड़ा. यहां के बस्ती गांव में 14 जुलाई के दिन एक लड़के ने खुद को फांसी लगा ली थी. लड़के का नाम था प्रभु. पुलिस ने इस केस की जांच शुरू की. छानबीन में एक दर्दनाक गैंगरेप की घटना का खुलासा हुआ. गैंगरेप प्रभु की 19 साल की मंगेतर नीमा (काल्पनिक नाम) का हुआ था.

क्या है पूरा मामला? ये ठीक-ठीक तरह से जानने के लिए हमने हमारे रिपोर्टर शरत कुमार से बात की. जो भी हमें पता चला हम आगे बता रहे हैं-

दरअसल, 13 जुलाई के दिन प्रभु नीमा के साथ घूमने गया था. दोनों रात में अपने गांव लौट रहे थे. रास्ते में तीन लोगों ने प्रभु और नीमा को रोक लिया. उन पर तलवार से हमला किया. जब वो बेहोश हो गए, तो उन्हें घनी झाड़ियों के पीछे लेकर गए. वहां बारी-बारी से तीनों लड़कों ने नीमा का रेप किया. उसके बाद एक कमरे में लेकर गए. जहां आरोपियों के दो और साथी पहले से ही मौजूद थे. उन सबने मिलकर बारी-बारी से नीमा का रेप किया. 12 घंटे में 11 बार उसका रेप हुआ. इधर प्रभु को बुरी तरह पीटा.

सदर बांसवाड़ा पुलिस स्टेशन में केस चल रहा है. फोटो- रिपोर्टर शरत कुमार.
सदर बांसवाड़ा पुलिस स्टेशन में केस चल रहा है. फोटो- रिपोर्टर शरत कुमार.

नीमा प्रेगनेंट थी. प्रेग्नेंसी का दूसरा महीना चल रहा था. बार-बार रेप और पिटाई की वजह से उसका एबॉर्शन हो गया. दूसरे दिन सुबह-सुबह पांचों आरोपियों ने प्रभु और नीमा को सड़क के किनारे फेंक किया. दोनों किसी तरह अपने गांव पहुंचे. पुलिस के मुताबिक, नीमा को गांव में छोड़ने के थोड़ी देर बाद ही प्रभु ने पेड़ से लटककर फांसी लगा ली. उसने नीमा के रेप की घटना किसी को भी नहीं बताई.

पुलिस कैसे पहुंची आरोपियों तक?

लड़के के सुसाइड के बाद, पुलिस ने छानबीन शुरू की. सबसे पहले उसका फोन खोजना शुरू किया. प्रभु का फोन उन पांच आरोपियों ने छीन लिया था. डीएस प्रभाती लाल ने बताया,

‘उन पांचों में से जिसके पास ये फोन था, उसने अपनी पत्नी को दे दिया था. तब तक फोन स्विच ऑफ था. हम यहां से प्रभु के फोन नंबर पर लगातार कॉल कर रहे थे. जैसे ही वो फोन ऑन हुआ, रिंग चली गई. फिर हमने उसे ट्रेस किया. फोन जितेंद्र नाम के आदमी की पत्नी के पास था.’

डीएसपी प्रभाती लाल. इन्होंने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है. फोटो- रिपोर्टर शरत कुमार.
डीएसपी प्रभाती लाल. इन्होंने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है. फोटो- रिपोर्टर शरत कुमार.

इधर पुलिस प्रभु के कॉल डिटेल्स भी निकाल रही थी. डिटेल्स निकालने के बाद पता चला कि नीमा ने प्रभु को कई बार कॉल किया था 13 जुलाई के दिन. पुलिस ने नीमा से पूछताछ की. वो बिना किसी को गैंगरेप की बात बताए मेडिकल ट्रीटमेंट ले रही थी. बहुत बार पूछने पर नीमा ने सारी बात बताई.

नीमा ने पुलिस को जो कुछ भी बताया, वो हम आपको पहले ही बता चुके हैं. उसके बयान के बाद पुलिस ने जितेंद्र को 17 जुलाई के दिन गिरफ्तार कर लिया. फिर बाकी चार भी कब्ज़े में आ गए. अभी तक इस मामले में पुलिस ने आरोपी सुनील चरपोटा, विकास, नरेश गुर्जर, विजय और जितेंद्र को गिरफ्तार कर लिया है. इन पांचों पर पहले से ही लूट और चोरी के 7 केस दर्ज हैं.


वीडियो देखें: कटिहार में गला काटकर दो बच्चियों की हत्या, आंखें भी फोड़ दीं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कांग्रेस और सपा छोड़कर भाजपा में आए नेताओं ने मोदी के बारे में क्या कहा?

वो भी कल लखनऊ में...

कश्मीर में बैन के बाद भी किसकी मेहरबानी से गिलानी इस्तेमाल कर रहे थे फोन-इंटरनेट?

बैन के चार दिन बाद तक गिलानी के पास इंटरनेट और फोन था. प्रशासन को इसकी भनक भी नहीं थी.

पीएम मोदी ने छठवीं बार लाल किले पर फहराया तिरंगा, 92 मिनट के भाषण में नया क्या था?

पीएम मोदी ने अपने कार्यकाल की उपलब्धियां गिनाई.

बीफ़-पोर्क के नाम पर ज़ोमैटो कर्मचारियों को भड़काने वाले लोकल भाजपा नेता निकले!

और एक नहीं, कई हैं ऐसे. देखिए तो...

यूपी के एक और अस्पताल में 32 बच्चों की मौत, डॉक्टरों को कारण का पता नहीं

किसी ने कहा था, "अगस्त में तो बच्चे मरते ही हैं"

भगवान राम के इतने वंशज निकल आए हैं कि आप भी माथा पकड़ लेंगे

अभी राम पर खानदानी बहस हो रही है. खुद ही देखिए...

उन्नाव मामले में भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर अब लंबा फंस गए हैं

सीबीआई ने केस में रोचक खुलासे किए हैं

राष्ट्र के नाम संबोधन में पीएम मोदी ने बताया क्या है उनका 'मिशन कश्मीर'

पीएम मोदी ने लगभग 40 मिनट तक अपनी बात रखी.

जम्मू-कश्मीर के मामले में आत्माओं का भी प्रवेश हो गया है

और एक समय एक "आत्मा" बहुत दुखी हुई थी

मायावती का ऐसा हृदय परिवर्तन कैसे हुआ कि कश्मीर पर सरकार के साथ हो गयीं?

धारा 370 हटवाना चाहती थीं या वजह कुछ और है?