Submit your post

Follow Us

राष्ट्र के नाम संबोधन में पीएम मोदी ने बताया क्या है उनका 'मिशन कश्मीर'

216
शेयर्स

जम्मू-कश्मीर पर ऐतिहासिक फैसले के बाद पीएम मोदी ने 8 अगस्त को रात 8 बजे राष्ट्र को संबोधित किया. अपने संबोधन में पीएम मोदी ने नए जम्मू कश्मीर और नए लद्दाख के निर्माण का वादा किया. पीएम मोदी ने कहा कि अनुच्छेद 370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के हमारे भाई बहनों की बाधा दूर हो गई है. जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में एक नए युग की शुरुआत हुई है. मैं जम्मू कश्मीर और लद्दाख के लोगों को और प्रत्येक देशवासी को बधाई देता हूं. पीएम ने कहा कि जीवन में कुछ बातें समय के साथ इतनी घुल मिल जाती हैं कि उन चीजों को लेकर मन में स्थाई भाव बन जाता है.

अनुच्छेद 370 के साथ भी यही हुआ. जो हानि हो रही थी उसकी चर्चा ही नहीं हो रही थी. कोई ये भी नहीं बता पाता था कि अनुच्छेद 370 से यहां के लोगों का क्या लाभ हुआ. अनुच्छेद 370 और 35 ए से अलगाववाद, परिवारवाद और व्यवस्थाओं में बड़े पैमाने पर फैले भ्रष्टाचार के अलावा कुछ नहीं मिला. इसका पाकिस्तान की ओर से इस्तेमाल हो रहा था. इसकी वजह से 42 हजार निर्दोष लोग मारे गए. ये आंकड़ा किसी की आंखों में आंसू ला देता है. जम्मू-कश्मीर का विकास उस गति से नहीं हो पाया, जिसका वो हकदार थे. इस व्यवस्था से वर्तमान सुधरेगा, उनका भविष्य भी सुरक्षित होगा.

पीएम ने कहा कि किसी भी दल की सरकार कानून बनाकर देश के हित के लिए काम करती है. कानून बनाते समय संसद में बहस होती है. चिंतन मनन होता है. फिर जो कानून बनता है वह देश के लोगों का भला करता है. लेकिन कोई कल्पना नहीं कर सकता था कि कोई संसद कानून बनाए और वह देश के एक हिस्से में लागू ही न हो. पहले की सरकारें कानून बनाकर वाहवाही लूटती थी, लेकिन वो दावा नहीं कर सकती थीं कि उनका कानून जम्मू-कश्मीर में लागू होगा. 1.5 करोड़ से ज्यादा लोग इन कानूनों से लोग वंचित रह जाते थे.

शिक्षा के अधिकार से जम्मू-कश्मीर के बच्चे वंचित थे. उनका क्या गुनाह है. देश के अन्य राज्यों में सफाई कर्मचारियों के लिए सफाई कर्मचारी एक्ट लागू है, लेकिन जम्मू-कश्मीर के कर्मचारी इससे वंचित थे. देश के अन्य राज्यों में दलितों पर अत्याचार रोकने के लिए सख्त कानून लागू है लेकिन जम्मू-कश्मीर में ऐसा नहीं था. अल्पसंख्यक कानून, श्रमिक कानून नहीं था. देश के अन्य राज्यों में चुनाव लड़ते सयम एसटीएससी को लाभ मिलता था लेकिन यहां नहीं था. नई व्यवस्था में केंद्र सरकार की प्राथमिकता रहेगी कि राज्य के कर्मचारियों को दूसरे केंद्र शासित प्रदेश के कर्मचारियों जैसी सुविधाएं मिलें, अभी केंद्र शासित राज्यों में एलटीसी, हाउस रेंट अलाउंस जैसी सुविधा दी जाती है. जम्मू-कश्मीर के कर्मचारियों को ये नहीं मिलता है. इसका तत्काल रिव्यू कराकर ये सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी. बहुत जल्द ही जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में रिक्त पदों को भरने की प्रक्रिया शुरू होगी. इससे स्थानीय युवाओं को रोजगार मिलेगा. प्राइवेट सेक्टर और सरकारी कंपनियों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराया जाएगा. पीएम ने कहा कि सेना में भर्ती के लिए रैलियों का आयोजन किया जाएगा.

पीएम ने कहा कि अनुच्छेद 370 हटाने के साथ ही कुछ काल खंड के लिए जम्मू-कश्मीर को सीधे केंद्र सरकार के शासन में रखने का फैसला सोच समझ कर लिया गया है. जब से गवर्नर रूल लगा है. जम्मू-कश्मीर का प्रशासन केंद्र के संपर्क में है. इससे गुड गवर्नेंस का प्रभाव जमीन पर दिख रहा है. कागज की योजनाओं को जमीन पर उतारा जा रहा है. इसने जम्मू-कश्मीर प्रशासन में नई संस्कृति लाने का प्रयास किया है. आईआईटी, एम्स और कई प्रोजेक्ट या एंटी करप्शन ब्यूरो के काम में तेजी आई है. सड़कों और नई रेल लाइनों का काम, तेज गति से आगे बढ़ाया जा रहा है.

जम्मू-कश्मीर में दशकों से लाखों की संख्या में लोग रहते हैं जो विधानसभा, पंचायत, नगर निकाय के चुनाव में मतदान नहीं कर सकते थे और न तो चुनाव लड़ सकते थे. पीएम ने भरोसा दिलाया कि जम्मू-कश्मीर का जनप्रतिनिधि आपके द्वारा ही चुना जाएगा, आपके बीच से ही आएगा. जैसे पहले एमएलए होते थे वैसे ही होंगें. मंत्रिपरिषद होगी. आपके सीएम होंगे. पीएम ने कहा कि उन्हें पूरा भरोसा है कि नई व्यवस्था के तहत आतंकवाद और अलगाववाद से मुक्ती मिलेगी. धरती का स्वर्ग एक बार फिर से पूरे विश्व को आकर्षित करेगा. नागरिकों का उनका हक बे रोकटोक मिलेगा. जनहिता कार्यों को तेजी से आगे बढ़ाया जाएगा. फिर मैं नहीं मानता कि यूनियन टेरिटरी की व्यवस्था की जरूरत होगी. मैं भरोसा दिलाता हूं कि पूरे पारदर्शी वातावरण में आपको अपना प्रतिनिधि चुनने का अवसर मिलेगा जैसे पंचायत चुनाव कराए गए वैसे ही चुनाव होंगे.

पीएम ने कहा कि ब्लॉक डेवलपमेंट काउंसिल का गठन जल्द से जल्द किया जाए जाएगा. पीएम ने कहा कि बॉलिवुड की फिल्मों के लिए कश्मीर पसंदीदा जगह थी. अब यहां स्थिति सामान्य होगी तो दुनिया भर से लोग शूटिंग करने आएंगे. हिन्दी, तेलुगू, तमिल फिल्म इंडस्ट्री जम्मू-कश्मीर को प्राथमिकता दें. टेक्नोलॉजी से जुड़े लोग अपनी नीतियों में अपने फैसलों में जम्मू-कश्मीर को वरीयता दें. सरकार का ये फैसला खेल की दुनिया में आने बढ़ने वाले लोगों की मदद करेगा. कश्मीर का बच्चा खेल के मैदान में दुनिया का नाम रोशन करेगा.  पीएम ने सोलो नाम के पौधे का जिक्र किया, उन्होंने कहा कि बर्फीली पहाड़ियों पर तैनात लोगों के लिए संजीवनी का काम करता है. ऐसी अद्भुत चीज दुनियाभर में बिकनी चाहिए कि नहीं बिकनी चाहिए. ऐसे अनगिनत पौधे यहां बिखरे पड़े हैं. उनकी पहचान होगी, बिक्री होगी तो इसका लाभ किसानों को मिलेगा. पीएम ने कहा कि मतभेद का सम्मान करता हूं. इस पर बहस हो रही है, उसका केंद्र सरकार जवाब दे रही है, लेकिन मेरा उनसे आग्रह है कि वे देशहित को ऊपर रखें, संसद में किसने समर्थन दिया नहीं दिया इससे आगे बढ़कर जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के हित में मिलकर काम करना है.

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों की चिंता 130 करोड़ नागरिकों की चिंता है. उनके सुख दुख से अलग नहीं हो सकते. इस समय एहतियात के तौर पर कुछ कदम उठाने की जरूरत थी. इससे जो परेशानी हो रही है उसका मुकाबला वहीं के लोग कर रहे हैं. मुट्ठीभर लोगों को वहां के भाई-बहन जवाब दे रहे हैं. पाकिस्तानी साजिशों के खिलाफ जम्मू-कश्मीर के लोग खड़े हैं. हालात सामान्य होने पर उनकी परेशानी कम हो जाएगी.

पीएम ने कहा कि ईद का मुबारक त्योहार भी नजदीक है. मेरी ओर से ईद की शुभकामनाएं. जम्मू-कश्मीर में ईद मनाने में लोगों को परेशानी न हो. ईद पर घर जाने वालों की सरकार हर संभव मदद कर रही है.

पीएम ने कहा कि जम्मू-कश्मीर हमारे देश का मुकुट है. इसकी रक्षा के लिए अनेकों वीरों ने बलिदान दिया है.


आर्टिकल 370 पर वो बातें जो अमित शाह भी आपको नहीं बताएंगे

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

टीम इंडिया की सबसे बड़ी दिक्कत का इलाज कोच शास्त्री और कोहली ने निकाल लिया है!

ये मसला पहले सुलझा होता तो वर्ल्डकप सेमीफाइनल में वो न होता जो हुआ.

जम्मू-कश्मीर में स्पेशल पुलिस ऑफिसर्स के हथियार ज़ब्त किए जाने वाली खबर पर सरकार ने जवाब दिया है

ख़बर में कहा गया था कि हथियार चोरी करके आतंकी बन सकते हैं जम्मू-कश्मीर पुलिस के SPO.

स्मिथ घायल थे और जोफ्रा आर्चर मुस्कुरा रहे थे, शोएब अख्तर ने दिमाग ठिकाने पर ला दिया

जोफ्रा आर्चर की गेंद पर स्मिथ की गर्दन पर जा लगी थी.

लद्दाख के बीजेपी एमपी की पत्नी ने क्यूं कहा कि JNU में कन्हैया कुमार के विडियो और ऑडियो फर्ज़ी थे

एमपी जमयांग, संसद में दिए अपने हिंदी वाले भाषण के चलते देशभर में चर्चा में आ गए थे.

शिल्पा शेट्टी ने 10 करोड़ ठुकरा दिए लेकिन पतला करने वाली गोलियों का ऐड नहीं किया

अब सब लोग तारीफों के पुल बांध रहे हैं.

'मिशन मंगल' की कमाई से अक्षय कुमार ने '2.0' को भी पीछे छोड़ दिया है

जॉन की फिल्म 'बाटला हाउस' से टक्कर नहीं मिलने पर अक्षय अपना ही रिकॉर्ड तोड़ने लगे हैं.

विदेश में इंडिया के खिलाफ नारे लग रहे थे, शाज़िया इल्मी भिड़ गईं

वीडियो वायरल हो गया है, जिसमें शाज़िया को 'इंडिया ज़िंदाबाद' कहते सुना जा सकता है.

खालिस्तानी-पाकिस्तानी समर्थक पैरों तले रौंद रहे थे, पत्रकार ने भीड़ में घुसकर तिरंगा छीना

खालिस्तानी टी-शर्ट पहने प्रदर्शनकारियों के पास से खंजर मिले हैं.

शेहला राशिद ने कश्मीर को लेकर इंडियन आर्मी पर जो इल्ज़ाम लगाया था, उसका जवाब आया है

शेहला ने ट्वीट और आरोपों की झड़ी लगा दी, लिखा कि कश्मीर में सुरक्षा एजेंसियां रात के समय घरों में घुसकर लड़कों को पकड़ रही हैं.

वीडियो देखकर पता चलता है कि क्यूं कभी शराब पीकर गाड़ी नहीं चलानी चाहिए

बेंगलुरु के शराबी ड्राइवर ने फुटपाथ पर चल रहे दसियों लोगों को जिस तरह रौंदा वो देखकर आप अंदर तक हिल जाते हैं.