Submit your post

Follow Us

और अचानक से लोगों ने कारें खरीदना कम कर दिया है

1.03 K
शेयर्स

कार कंपनियों का बेड़ा गर्क है. कंपनियां बिक्री बढ़ाने के हर जतन कर रही हैं. ऑफर पर ऑफर दे रही हैं. मगर फिलहाल ग्राहक कार बाजार से दूरी बनाए हुए हैं. वे कार नहीं खरीद रहे तो नहीं खरीद रहे. नतीजा ये है कि कंपनियां मुश्किल में हैं. उनके सामने बड़ी मुसीबत आती जा रही है. वे उत्पादन घटाने को मजबूर हो रही हैं. सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्यूफैक्चरर्स यानी SIAM के ताजा डेटा इसी ओर इशारा कर रहे हैं.

हालात ये हैं कि मई के महीने में कारों की बिक्री में बीते 18 साल की सबसे बड़ी गिरावट देखने को मिल रही है. बीते महीने कारों की बिक्री में 20.55 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई. इससे पहले सितंबर 2001 में पैसेंजर गाड़ियों की बिक्री में 21.91 फीसदी की गिरावट देखी गई थी. मई में 2,39,347 कारें बिकीं. जबकि मई 2018 में 3,01,238 कारें बिकी थीं.

गिरावट कितनी है इसे इस चार्ट के जरिए समझें

graph

हर तरफ गिरावट का रुख
ऊपर के चार्ट से आपको ये तो समझ में आ ही गया होगा कि हर तरफ गिरावट का रुख है. कारें ही नहीं, कमर्शियल गाड़ियों की बिक्री में भी गिरावट दिख रही है. तिपहिया और दो पहिया वाहनों की बिक्री भी कम हुई है.

मारुति की बिक्री भी गिर रही
इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के मुताबिक देश की दिग्गज कंपनी मारुति की बिक्री में भी गिरावट देखने को मिल रही है. मई के महीने में कंपनी की बिक्री में बीते साल के मुकाबले 22 फीसदी गिरावट देखने को मिली. ये लगातार चौथा महीना है, जब मारुति की कारों की सेल्स में गिरावट देखने को मिली. अप्रैल में 17.2, मार्च में 1.6 और फरवरी के महीने में 0.8 फीसदी की बिक्री कम दर्ज की गई. मारुति आल्टो, वैगन आर, सेलेरियो, इग्निस, स्विफ्ट, बैलेनो, डिजायर जैसी छोटी गाड़ियां बनाती है. सियाज, जिप्सी, अर्टिगा, विटारा ब्रेजा और एस क्रॉस भी मारुति के पॉपुलर ब्रैंड हैं. इनमें से ज्यादातर कारों की सेल्स में गिरावट देख रही है.

क्या कहना है इंडस्ट्री के दिग्गजों का?
सियाम के डायरेक्टर जनरल विष्णु माथुर के मुताबिक

‘सेल्स में गिरावट का रुख मई में भी देखने को मिला. वैसे, रिटेल सेल्स के आंकड़े होलसेल डेटा से बेहतर रहे, जिससे इंडस्ट्री की तरफ से प्रोडक्शन घटाने के कदम उठाए जाने के संकेत मिलते हैं. सियाम ने सरकार से भी गुजारिश की है कि ऑटोमोबाइल्स पर GST कम किया जाए. हम लोग चाहते हैं कि हर तरह की गाड़ियों पर जीएसटी 28 फीसदी से कम करके 18 परसेंट कर दिया जाए. वैसे 1 अप्रैल, 2020 से BS-6 मानक लागू किए जा रहे हैं. ऐसे में अगले कुछ दिनों में गाड़ियों की खरीददारी तेज होने के आसार हैं.’


ये स्टोरी हमारे साथ इंटर्नशिप कर रहीं प्रियंका ने की है.


वीडियोः अमेठी से तो हारे ही, अब अपना घर भी हार रहे हैं कांग्रेस प्रेसीडेंट राहुल गांधी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

बीच सुनवाई चीफ जस्टिस बोले- जरूरत पड़ी तो खुद श्रीनगर जाऊंगा

आर्टिकल 370, जम्मू-कश्मीर के हालात पर सुनवाई चल रही थी.

चंद्रयान की लैंडिंग की रात मोदी बेचैनी में क्या-क्या कर रहे थे? पता चल गया

एक-एक मिनट का हिसाब दे दिया है.

आंध्र प्रदेश : 61 सवारियों को लेकर नाव गोदावरी नदी में डूब गयी

क्या था नाव के डूबने का कारण?

छात्राओं के कपड़ों में हाथ डालने और यौन शोषण के आरोपी प्रोफ़ेसर को BHU ने बुला लिया, अब बवाल हो गया

BHU ने कहा, प्रोफेसर के खिलाफ इससे ज्यादा कुछ नहीं कर सकती है यूनिवर्सिटी.

इसरो चेयरमैन को गले लगाकर मोदी क्या फुसफुसाए? पता चल गया

क्या चंद्रयान - 3 मिशन भी आने वाला है?

नासा ने बताया कि इसरो के चंद्रयान से कनेक्शन कहां फंसा हुआ है?

चंद्रयान को बस ये एक काम करना है.

इसरो के चंद्रयान को लेकर नासा ने ये बड़ी खबर दे दी है

चंद्रयान से सम्पर्क कैसे होगा?

राजस्थान में गैंगस्टर को साथियों ने जैसे छुड़ाया, वैसा तो बस साउथ की फिल्मों में होता है

पुलिस को नहीं पता था कि किसे पकड़ा है. जब गैंग ने हमला किया, तब कुछ पुलिसवाले सो रहे थे. कुछ नहा रहे थे.

नयी सरकार में निवेशकों के 12.5 लाख करोड़ रुपए डूब गए

ये नुकसान किस खाते में जाएगा?

पड़ताल : क्या जवाहरलाल नेहरू ने इसरो की स्थापना नहीं की?

चंद्रयान की यात्रा के बाद ये दावे सामने आने लगे हैं.