Submit your post

Follow Us

NZ vs SA: वर्ल्डकप का अब तक का सबसे इंट्रेस्टिंग मैच

5
शेयर्स

वर्ल्डकप का 25वां मैच. न्यूजीलैंड वर्सेज साउथ अफ्रीका. न्यूजीलैंड जो अब तक एक भी मैच हारी नहीं है. और दूसरी तरफ साउथ अफ्रीका जो ये मैच हर हाल में जीतना चाहती थी. वजह सेमीफाइनल की दौड़ जिसमें वो बांग्लादेश, श्रीलंका और वेस्टइंडीज से भी पीछे थी. और इस मैच के बाद भी वो पीछे ही रह गई. वजह ये मैच न्यूजीलैंड ने कांटे की टक्कर में ही सही, 4 विकेट से जीत लिया.

मैच की शुरू से बात करें तो न्यूजीलैंड ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया. ओपनिंग आए डीकॉक और हाशिम अमला. डीकॉक के सामने सबसे बड़ा चैलेंज था ट्रेंट बोल्ट को फेस करना. जो वो कर नहीं पाए और बोल्ट के पहले ही ओवर में बोल्ड हो गए. अमला और डू प्लेसी ने पारी आगे बढ़ाई मगर टीम का स्कोर 59 ही पहुंचा था कि कप्तान डू प्लेसी फरग्यूसन की यॉर्कर का शिकार बने. इसके बाद मारक्रम आए. तो कुछ देर बाद पचासा बना चुके हाशिम अमला चले गए. उन्होंने इस पारी में 8000 रनों का आंकड़ा भी पार किया. साउथ अफ्रीकी बल्लेबाजों में सबसे तगड़ा खेले इसके बाद आए वैन डर डुसेन. 67 रन बनाए 64 बॉलों पर. किलर मिलर ने 36 रन तो बनाए मगर उस अंदाज में नहीं, जिसके लिए वो जाने जाते हैं. कुल मिलाकर साउथ अफ्रीका के बल्लेबाज पहले बैटिंग करते हुए कोई ज्यादा तीर नहीं मार सके. 241 रन बना पाए. 49 ओवरों में. जी हां मैच 49 ओवर का ही था. पहले बारिश हुई थी तो एक-एक ओवर घटा के मजे का समय बचा लिया गया.

न्यूजीलैंड ने मौके दिए, फायदा नहीं उठा सकी अफ्रीका

खैर अब 242 के टार्गेट का सामने करने उतरी न्यूजीलैंड टीम. सलामी बल्लेबाज कोलिन मुनरो और मार्टिन गुप्टिल. दोनों ही विस्फोटक. मगर मुनरो पर आज फट पड़े रबाडा. तीसरे ही ओवर में उनको चलता किया. मगर मजेदार रहा इसके बाद वाला विकेट. दूसरे ओपनर गुप्टिल का विकेट. मामला मैच के 15वें ओवर का है. गुप्टिल कप्तान विलियमसन के साथ मिलके 60 रन की पार्टनरशिप कर चुके थे. बल्ला चल रहा था. मगर फिर फेलुकवायो ने 15वें ओवर की आखिरी गेंद डाली. गुप्टिल ने शॉर्ट बॉल को घुमाया. इसके साथ ही वो भी पूरा घूम गए और उनका पैर स्लिप कर गया और लगा जाकर स्टंप पर. हिट विकेट के कारण उन्हें 35 रन के स्कोर पर लौटना पड़ा.

हाशिम अमला बड़ी पारी नहीं खेल सके.
हाशिम अमला बड़ी पारी नहीं खेल सके.

अब क्रीज पर आए टेलर. मगर मॉरिस ने उनको टिकने नहीं दिया और एक ओवर बाद 17वें ओवर में ही टेलर को वापस जाना पड़ा. अपने अगले ओवर में मॉरिस ने ही टॉम लैथम का विकेट निकाल दिया. न्यूजीलैंड का स्कोर 80 रन पर 4 विकेट हो गया. लगा साउथ अफ्रीका इज बैक. मगर इस बैक के बीच अभी एक आदमी खड़ा था. केन विलियमसन. और वो आखिर तक खड़ा रहा. केन ने पहले नीशाम के साथ मिलकर 57 रनों की पार्टनरशिप की. नीशाम आउट हुए तो ग्रैंडहोम टिक गए. और एकदम मार-धाड़ मचा दी.

दूसरी तरफ से विलियमसन खड़े थे. मगर इसमें साउथ अफ्रीका की पूरी कृपा थी. ऐसे दो मौके आए जब विलियमसन आसानी से आउट हो सकते थे. पहला 37वें ओवर में. जब इमरान ताहिर की बॉल पर विलियमसन का हलका सा एज लगा था. मगर न मजबूत अपील हुई न डीआरएस के लिए साउथ अफ्रीका गई. बाद में रिव्यू में इसमें एज दिखा. ताहिर का मुंह देखने वाला था. दूसरा मौका था 41वें ओवर की पहली बॉल पर रनआउट का. रबाडा बॉल डाल रहे थे. मगर ने शॉट खेला. विलियमसन और ग्रैंडहोम के बीच रन को लेकर कुछ मिस कम्युनिकेशन हुआ. हड़बड़ी में दोनों दौड़ पड़े. मगर साउथ अफ्रीका इस मौके का भी फायदा नहीं उठा सका. तीसरा मौका 43.4 ओवर में आया जब फेलुकवायो की बॉल पर विलियमसन का कैच छूटा. हालांकि ये नोबॉल निकली.

विलियमसन ने मारा शतक.
विलियमसन ने मारा शतक.

मगर इन गल्तियों के बावजूद मैच आखिरी ओवर तक गया. इसे अब तक का सबसे इंट्रेस्टिंग मैच कहा जा सकता है. आखिरी ओवर में न्यूजीलैंड को जीत के लिए 8 रन चाहिए थे. पहली गेंद पर ही सैंटनर ने एक रन लेकर स्ट्राइक विलियमसन को दे दी. जो उस वक्त 96 रन के स्कोर पर थे. चार रन चाहिए थे शतक के लिए. मगर दूसरी गेंद पर विलियमसन ने चौका नहीं, छक्का मारकर मैच का रिजल्ट बता दिया. साथ ही अपनी सेंचुरी भी पूरी की. नाबाद रहे 103 रन बनाकर. और इस तरफ फिर साबित हो गया कि साउथ अफ्रीका वाकेयी अव्वल दर्जे की चोकर है.

न्यूजीलैंड के 80 रन पर 4 विकेट के स्कोर के बावजूद मैच नहीं बचा पाई. विलियमसन को आउट करने के कई मौके छोड़े. और इसी के साथ मैच गंवा दिया. दूसरी तरफ न्यूजीलैंड का अजेय रथ और आगे बढ़ गया. पॉइंट्स टेबल पर भी न्यूजीलैंड टॉप पर आ गई है.


लल्लनटॉप वीडियो देखें-

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
NZ vs SA : How New zealand won the match against South Africa and role of Kane Williamson Century in this

टॉप खबर

मज़दूर के बेटे ने तीरंदाज़ी में भारत को सिल्वर मेडल दिला डाला

गरीब बस्ती में पले बढ़े इस लड़के ने भारत का नाम रोशन कर दिया.

क्या सन्नी देओल से छिन जाएगी उनकी सांसदी?

वजह चुनाव आयोग का एक नियम है.

CM नीतीश कुमार अस्पताल में थे, बच्चे की मौत हो गई

चमकी कहें या इंसेफेलाइटिस, अब तक 129 बच्चों की मौत हो चुकी है.

मनमोहन सिंह को राज्य सभा में भेजने के लिए कांग्रेस ये तिगड़म भिड़ा रही है

अपना एक मात्र चुनाव हारने वाले मनमोहन सिंह पिछले 28 साल में पहली बार संसद के सदस्य नहीं होंगे.

राजीव गांधी के हत्यारे ने संजय दत्त की मुश्किलें बढ़ा दी हैं

जेल में बंद पेरारिवलन ने संजय दत्त से जुड़ी बहुत सी जानकारी इकट्ठी की है.

कठुआ केस के छह दोषियों को क्या सज़ा मिली?

अदालत ने सात में से छह आरोपियों को दोषी माना था. मास्टरमाइंड सांजी राम का बेटा विशाल बरी हो गया.

कठुआ केस में फैसला आ गया है, एक बरी, छह दोषी करार

दोषियों में तीन पुलिसवाले भी शामिल हैं.

पांच साल की बच्ची से रेप किया और फिर ईंटों से कूंचकर मार डाला

उज्जैन में अलीगढ़ जैसा कांड, पड़ोसी ही निकला हत्यारा...

अफगानिस्तान किन गलतियों से श्रीलंका से जीता-जिताया मैच हार गया?

मलिंगा का तो जोड़ नहीं.

क्या चुनावी नतीजे आने के 10 दिनों के अंदर यूपी में 28 यादवों की हत्या हुई है?

28 नामों की एक लिस्ट वायरल हो रही है. लेकिन सच क्या है?