Submit your post

Follow Us

AN 32 क्रैश: 13 में से 1 के भाई ने कहा, 'हमसे कोई मिलने तक नहीं आया'

5
शेयर्स

37 साल के संतोष दिल्ली के होटल अशोक के पास चाय की दुकान चलाते हैं. उनकी रिहाइश प्रधानमंत्री के घर 7 रेस कोर्स रोड के आस-पास ही एक स्लम में है. वो भारतीय वायुसेना से ख़फा हैं. और खफ़ा होने का कारण है भारतीय वायुसेना की बेरुखी.  दरअसल, संतोष के भाई राजेश कुमार अरुणाचल प्रदेश में क्रैश हुए AN-32 विमान में सवार थे. वो भारतीय वायुसेना में बतौर नॉन कॉम्बेटेंट काम कर रहे थे. संतोष के परिवार का दावा है कि हादसे के बाद बीते 11 दिनों में वायुसेना की ओर से एक भी शख़्स उनसे मिलने नहीं आया. इंडियन एक्सप्रेस में साक्षी दयाल और सौम्या लखानी की रिपोर्ट छपी है. इसके मुताबिक संतोष ने कहा,

जब से प्लेन गुम हुआ है वायुसेना से कोई भी अधिकारी हमसे मिलने नहीं आया. किसी को हमारे माता-पिता की परवाह नहीं है. हमारे घर के आस-पास भारतीय वायुसेना की बिल्डिंग्स हैं. प्रधानमंत्री का घर भी यहीं पास में ही है. लेकिन कोई हमारे घर तक नहीं पहुंचा. मेरे पिता भी भारतीय वायुसेना में थे, क्या हमारे साथ ऐसा बर्ताव होना चाहिए?

संतोष नाराज़गी जाहिर करते हैं कि उन्हें वायुसेना की ओर से कोई अपडेट तक नहीं मिली. वह कहते हैं,

मैं अशोक होटल के पास चाय की दुकान चलाता हूं. प्लेन गुम होने के बाद मुझे किसी ने सोलंकी साहब का नंबर दिया था, (राज कुमार सोलंकी, AN 32 के पायलट के ससुर) वो नज़दीक ही काम करते हैं. तब से वही हमें ताजा जानकारियां मुहैया करवा रहे हैं.

13 जून को भारतीय वायुसेना ने AN-32 में सवार किसी भी वायुसैनिक के ज़िंदा न बचने की जानकारी दी थी. लेकिन संतोष और उनके परिवार को ऐलान के बाद भी तीन घंटे तक इसकी जानकारी तक नहीं थी. वो नहीं जानते थे कि उन तक शव कैसे पहुंचेगा, एयरपोर्ट पर उनकी ज़रूरत है या नहीं. संतोष बताते हैं कि मेरा भाई हमारे पिता के काम से प्रभावित था इसीलिए उसने भारतीय वायुसेना को चुना. राजेश की शादी बीते नवंबर में ही हुई थी. 3 जून को प्लेन पर सवार होने से पहले राजेश ने पिता से बात की थी.

संतोष को अपने भाई से की आखिरी मुलाकात भी याद है. संतोष कहते हैं,

वो (राजेश) छुट्टियों के दौरान दिल्ली आया था और वापसी के वक्त मैं खुद राजेश को रेलवे स्टेशन तक छोड़ने गया था. मुझे क्या पता था कि ये हमारी आखिरी मुलाकात होगी…


वीडियो- मोदी के मुख्य आर्थिक सलाहकार रहे अरविंद सुब्रमण्यन के पेपर से जीडीपी पर नया बखेड़ा

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
No Indian Air force officials reached at our home after crash alleges IAF cook kin

टॉप खबर

राजीव गांधी के हत्यारे ने संजय दत्त की मुश्किलें बढ़ा दी हैं

जेल में बंद पेरारिवलन ने संजय दत्त से जुड़ी बहुत सी जानकारी इकट्ठी की है.

कठुआ केस के छह दोषियों को क्या सज़ा मिली?

अदालत ने सात में से छह आरोपियों को दोषी माना था. मास्टरमाइंड सांजी राम का बेटा विशाल बरी हो गया.

कठुआ केस में फैसला आ गया है, एक बरी, छह दोषी करार

दोषियों में तीन पुलिसवाले भी शामिल हैं.

पांच साल की बच्ची से रेप किया और फिर ईंटों से कूंचकर मार डाला

उज्जैन में अलीगढ़ जैसा कांड, पड़ोसी ही निकला हत्यारा...

अफगानिस्तान किन गलतियों से श्रीलंका से जीता-जिताया मैच हार गया?

मलिंगा का तो जोड़ नहीं.

क्या चुनावी नतीजे आने के 10 दिनों के अंदर यूपी में 28 यादवों की हत्या हुई है?

28 नामों की एक लिस्ट वायरल हो रही है. लेकिन सच क्या है?

मायावती ने ऐसा क्या कह दिया कि फिलहाल गठबंधन को टूटा मान लेना चाहिए

प्रेस कांफ्रेंस में मायावती ने गठबंधन तोड़ने का सीधा ऐलान तो नहीं किया, लेकिन बहुत कुछ कह गयीं.

चुनाव नतीजे आए दस दिन हुए नहीं, मायावती ने गठबंधन पर सवाल उठा दिए

वो भी तब जब मायावती के पास जीरो से बढ़कर दस सांसद हो गए हैं

अरविंद केजरीवाल ने चुनाव में बंपर वोट खींचने वाला ऐलान कर दिया है

वो ऐसी स्कीम लेकर आए हैं कि दिल्ली-NCR की महिलाएं खुश हो गईं.

आखिर क्या सोचकर मोदी ने UP के इन नेताओं को कैबिनेट में जगह दी है?

इनमें कुछ से पिछली सरकार के दौरान बीच में ही मंत्रालय छीन लिया गया था.